(India This Week) Weekly Current Affairs for UPSC, IAS, Civil Service, State PCS, SSC, IBPS, SBI, RRB & All Competitive Exams (3rd - 9th October 2019)

India This Week Weekly Current Affairs


(India This Week) Weekly Current Affairs for UPSC, IAS, Civil Service, State PCS, SSC, IBPS, SBI, RRB & All Competitive Exams (3rd - 9th October 2019)



इण्डिया दिस वीक कार्यक्रम का मक़सद आपको हफ्ते भर की उन अहम ख़बरों से रूबरू करना हैं जो आपकी परीक्षा के लिहाज़ से बेहद ही ज़रूरी है। तो आइये इस सप्ताह की कुछ महत्वपूर्ण ख़बरों के साथ शुरू करते हैं इस हफ़्ते का इण्डिया दिस वीक कार्यक्रम...

न्यूज़ हाईलाइट (News Highlight):

  • वर्ल्ड इकोनॉमिक फोरम ने जारी किया वैश्विक प्रतिस्पर्द्धात्मकता सूचकांक- 2019 । भारत की रैंकिंग में दर्ज़ हुई 10 अंकों की गिरावट
  • WTO ने की पहले वर्ल्ड कॉटन डे की मेज़बानी। कपास प्रौद्योगिकी सहायता कार्यक्रम में भारत ने किया 5 और अफ्रीकी देशों को शामिल
  • भारत दौरे पर आईं बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख़ हसीना के साथ हुए कुल 7 अहम समझौते। भारत आर्थिक शिखर सम्मलेन में भी शमिल हुआ बांग्लादेश।
  • देश भर के स्कूलों का होगा जियोग्राफिकल इंफार्मेशन सिस्टम सर्वे GIS । GIS के ज़रिए अब स्कूलों से जुड़ी कई महत्वपूर्ण जानकारियां होंगी ऑनलाइन
  • कई राज्यों में प्रतिमा विसर्जन पर केंद्र सरकार ने लगाए प्रतिबन्ध। गंगा व् उसकी कई अन्य सहायक नदियों को प्रदूषण से बचाने के लिए लगाए गए हैं ये प्रतिबन्ध
  • केन्‍द्रीय विद्युत और नवीन एवं नवीकरणीय ऊर्जा मंत्रालय ने की प्रकाश पोर्टल की शुरुआत। प्रकाश पोर्टल का मक़सद सभी हित धारकों के बीच कोयला आपूर्ति के लिए बेहतर समन्‍वय करना है सुनिश्चित
  • मौद्रिक नीति समीक्षा में 2020-21 में जीडीपी विकास दर फिर से 7 फीसदी पहुंच जाने का अनुमान। हालाँकि भविष्य में अभी भी है संकट बरक़रार
  • वर्ल्ड ट्रेड ऑर्गनाइजेशन ने इस साल के लिए ट्रेड ग्रोथ के अनुमान को घटाकर किया आधा। WTO ने वैश्विक ट्रेड वॉर को लेकर जारी किए हैं ये अनुमान
  • उड़ीसा के नीलगिरि में हुई मकड़ी की एक नई प्रजाति की खोज। 8-13 मिलीमीटर की लम्बाई वाली इस मकड़ी को इडियोप्स नीलगिरि दिया गया है नाम
  • और नंदनकानन जूलॉजिकल पार्क में एलीफैंट एंडोथिलियोट्रोपिक हर्पीस वायरस EEHV से हुई पाँच हाथियों मौत। दुनिया भर में पाए जाते हैं सात तरह के EEHV वायरस।

खबरें विस्तार से:

1.

बीते दिनों वर्ल्ड इकोनॉमिक फोरम WEF ने वैश्विक प्रतिस्पर्द्धात्मकता सूचकांक- 2019 जारी किया। WEF द्वारा इस इंडेक्स में भारत को 68वीं रैंक हासिल हुई है। जबकि 2018 के वैश्विक प्रतिस्पर्द्धात्मकता सूचकांक में भारत 58 वें पायदान पर था। ग़ौरतलब है कि इस रैंकिंग में सिंगापुर को पहला स्थान मिला है। सिंगापुर को इस रैंकिंग में मिला पहला स्थान दुनिया की सबसे अधिक प्रतिस्पर्द्धी अर्थव्यवस्था के रूप में दिया गया है। इसके अलावा इस सूची में अमेरिका दूसरे, हांगकांग  तीसरे, नीदरलैंड्स चौथे और स्विट्जरलैंड 5 वें पायदान पर क़ाबिज़ है। इस सूचकांक में दुनिया की कुल 140 अर्थव्यवस्थाओं को शामिल किया गया है।

आपको बता दें कि वैश्विक प्रतिस्पर्द्धात्मकता सूचकांक एक वार्षिक रिपोर्ट है जो वर्ल्ड इकोनॉमिक फोरम द्वारा जारी की जाती है । वर्ल्ड इकोनॉमिक फोरम साल 2004 से ही उपयुक्त आधारभूत संरचना, नवाचार और कुशल श्रम बाजार जैसे 12 संकेतकों पर आधारित ये रिपोर्ट जारी करता है।

2.

विश्व व्यापार संगठन WTO जिनेवा में आयोजित हो रहे पहले विश्व कपास दिवस की मेजबानी कर रहा है। WTO ये कार्यक्रम संयुक्त राष्ट्र खाद्य व कृषि संगठन FAO, संयुक्त राष्ट्र व्यापार व विकास सम्मेलन UNCTAD, अंतर्राष्ट्रीय व्यापार केन्द्र ITC और अंतर्राष्ट्रीय कपास परामर्श समिति ICAC के सहयोग से आयोजित कर रहा है। आपको बता दे कि 4 कॉटन कंट्रीज़ बेनिन, बुर्किना फासो, चाड और माली जैसे देशों के अनुरोध पर WTO 7 अक्टूबर को वर्ल्ड कॉटन डे के रूप में मना रहा है। दरअसल इन चारों देशों ने संयुक्त राष्ट्र महासभा में विश्व कपास दिवस को आधिकारिक मान्यता दिए जाने की बात कही थी।

इस मौके पर भारत का प्रतिनिधित्व कर रही केंद्रीय कपड़ा मंत्री समृति ईरानी ने अफ्रीका के लिए कपास प्रौद्योगिकी सहायता कार्यक्रम के दूसरे चरण की घोषणा की है। इसका दूसरा चरण पांच वर्षों का होगा जिसमें पांच नए अफ्रीकी देशों माली, घाना, टोगो, जाम्बिया और तन्‍जानिया को शामिल किया जाएगा। इससे पहले 2012 से 2018 तक कपास प्रौद्योगिकी सहायता कार्यक्रम TAP संचालित किया था,जिसमें छह अफ्रीकी देश शामिल थे।

मौजूदा वक़्त में कपास प्रौद्योगिकी सहायता कार्यक्रम में शामिल होने वाले देशों की संख्‍या अब बढ़ कर 11 हो गई हैं।

आपको बता दें कि कपास दुनिया के क़रीब 27 प्रतिशत कपडे की ज़रूरतों को पूरा करती है। इसके अलावा कपास विकासशील देशों में लाखों छोटे व सीमान्‍त किसानों की आजीविका का स्रोत भी है। भारत के लिहाज़ से देखे तो भारत दुनिया के सबसे बड़े कपास उत्‍पादक और उपभोक्‍ता देशों में शामिल है। हालाँकि 2018 - 19 की अंतर्राष्ट्रीय कपास सलाहकार समिति ICAC की रिपोर्ट में यह दावा किया गया है कि भारत प्रतिकूल जलवायु और कम वर्षा के कारण कपास उत्पादन में 7 प्रतिशत तक की कमी आ सकती है जिससे भारत ‘शीर्ष कपास उत्पादक’ होने का अपना तमगा खो सकता है।

3.

बीते दिनों बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख़ हसीना चार दिवसीय भारत दौरे पर थी। इस दौरन दोनों देशों के बीच तीन महत्वपूर्ण द्विपक्षीय परियोजनाओं समेत कुल 7 सझौते हुए। समझौतों के तहत बांग्लादेश अब पूर्वोत्तर भारत के राज्यों के लिए LPG गैस मुहैया कराएगा। इसके अलावा बांग्लादेश की फेनी नदी से 1.82 क्यूसेक पेयजल की आपूर्ति भी त्रिपुरा में की जाएगी। साथ ही समझौतों में बांग्लादेश की तटीय सुरक्षा की जिम्मेदारी भी भारत को दी गई है जिसके तहत भारत बंगाल की खाड़ी पर नजर रख सकेगा। इन सब के अलावा भारत ने बांग्लादेशी नागरिकों को ईलाज व शिक्षा के लिए भारत आने जाने में सहूलियत दी है। साथ ही भारत की ओर से जल्द से जल्द तीस्ता नदी जल बंटवारे को लागू करने का आश्वासन भी दिया गया है।

ग़ौरतलब है द्विपक्षीय मुलाक़ात से पहले प्रधानमंत्री शेख हसीना विश्‍व आर्थिक फोरम द्वारा आयोजित दो दिवसीय भारत आर्थिक शिखर सम्‍मेलन में भी बतौर मुख्‍य अतिथि शामिल हुई थी। इस मौके पर केन्‍द्रीय वाणिज्‍य और उद्योग तथा रेल मंत्री पीयूष गोयल ने कहा कि भारत बांग्लादेश में रेलवे क्षेत्र के लिए प्रतिबद्ध है। क्‍योंकि रेलवे संपर्क बढ़ने से न सिर्फ दोनों देशों के बीच व्‍यापार को बढ़ावा मिलेगा बल्कि भारत के पूर्वोत्तर राज्यों की कई मुश्किलें हल हो जाएंगी। दरअसल बांग्‍लादेश दक्षिण एशिया में भारत का सबसे बड़ा व्‍यापारिक साझेदार है। पिछले एक दशक के दौरान दोनों देशों के बीच द्विपक्षीय व्‍यापार में खासी प्रगति हुयी है।

4.

मानव संसाधन विकास मंत्रालय देश के निजी और सरकारी स्कूलों की जियोग्राफिकल इंफार्मेशन सिस्टम सर्वे कर रहा है। इस सर्वे के ज़रिए स्कूलों में शिक्षकों की तैनाती, छात्रों की संख्या और इंफ्रास्ट्रक्चर को लेकर होने वाला फर्जीवाड़ा अब पूरी तरह से समाप्त हो जायेगा। दरअसल इस सर्वे के ज़रिए सभी निजी और सरकारी स्कूलों की जियो टैगिंग की जायेगी जिसके तहत कई महत्वपूर्ण जानकारी ऑनलाइन उपलब्ध रहेगी।

ग़ौरतलब है कि मानव संसाधन विकास मंत्रालय ने ये काम तमाम सरकारी सहायता प्राप्त स्कूलों की ओर से ग़लत जानकारी देकर वित्तीय मदद लेने की शिकायतों पर शुरू किया है। इसके अलावा देश में सरकारी स्कूलों की स्थति भी काफी ख़राब है। मौजूदा वक़्त में देश में कुल 70 फीसद से अधिक यानी 15.59 लाख सरकारी स्कूल है। इनमें से सिर्फ 2.47 लाख स्कूल शहरी क्षेत्रों में है, जबकि 13.12 लाख स्कूल ग्रामीण क्षेत्रों में मौजूद है। ग्रामीण क्षेत्रों में तमाम स्कूल ऐसे हैं जहां सिर्फ एक या दो शिक्षकों के भरोसे ही काम चल रहे है। साथ ही इन स्कूलों में आधारभूत ढांचों की भी कमी है।

जियोग्राफिकल इंफार्मेशन सिस्टम GIS के बारे में आपको बताएं तो ये भौगोलिक सूचना तंत्र के नाम से भी जाना जाता है। GIS सिस्टम एक कंप्यूटर-आधारित उपकरण है जो मैप के ज़रिए भौगोलिक जानकारी का विश्लेषण करता है। इसके अलावा GIS सिस्टम में डेटा को स्टोर करने, दोबारा उन्हें प्राप्त करने, तथा उनके प्रबंधन व प्रदर्शन के साथ विश्लेषण का भी काम शामिल होता है।

5.

भारतीय मौसम विभाग जलवायु परिवर्तन के कारण हिंदू-कुश की पहाड़ियों में हो रहे बदलाव का पता लगाने के लिए चीन और पाकिस्तान की मौसम एजेंसियों के साथ काम करने जा रहा है। इसके तहत डेटा इकट्ठा कर जलवायु परिवर्तन के प्रभावों का आकलन किया जायेगा साथ ही देशों को जलवायु पूर्वानुमान सेवाएँ भी दी जाएंगी।

दरअसल ये फैसला बीते दिनों इंटरगवर्नमेंटल पैनल ऑन क्लाइमेट चेंज IPCC द्वारा जारी एक रिपोर्ट के बाद लिया गया है। IPCC की इस रिपोर्ट में हिंदू-कुश पर्वतीय क्षेत्र में जलवायु परिवर्तन के कारणों को लेकर चिंता ज़ाहिर की गई थी। रिपोर्ट में इस बात का ज़िक्र है कि ज़्यादा बारिश के चलते सिंधु, गंगा और ब्रह्मपुत्र नदी घाटियों के पहाड़ी और निचले इलाकों में बाढ़ की आशंका है। विश्व मौसम विज्ञान संगठन WMO ने इस सन्दर्भ में इस्लामाबाद, दिल्ली और बीजिंग में क्षेत्रीय जलवायु केंद्रों की स्थापना का प्रस्ताव दिया है।

हिंदू-कुश हिमालय क्षेत्र के बारे में आपको बताएं तो ये अफगानिस्तान, बांग्लादेश, भूटान, चीन, और भारत के अलावा किर्गिज़स्तान, मंगोलिया, म्याँमार, नेपाल, पाकिस्तान, ताज़िकिस्तान और उज़्बेकिस्तान तक फैला है। इसके अलावा हिंदू-कुश हिमालय क्षेत्र को तीसरा ध्रुव भी कहा जाता है। क़रीब 5 मिलियन वर्ग किलोमीटर के क्षेत्र तक फैला हिंदू-कुश हिमालयी क्षेत्र काफी बड़े क्रायोस्फेरिक क्षेत्र से घिरा हुआ है।

6.

बीते दिनों केंद्र सरकार ने गंगा व उसकी कई अन्य सहायक नदियों में प्रदूषण फैलाने वाली कई गतिविधियों को लेकर 15 सूत्रीय दिशा-निर्देश जारी किए हैं। ये गाइडलाइन्स मूर्ति विसर्जन के सन्दर्भ में जारी किए गए थे। हालाँकि ये दिशा निर्देश किसी भी त्योहार या आम दिनों में भी लागू रहेंगे। सरकार ने ये निर्देश ख़ास तौर पर हरियाणा, उत्तर प्रदेश और बिहार समेत 11 राज्यों में जारी किए हैं।

ग़ौरतलब है कि दिशा - निर्देशों के उल्लंघन पर 50 हजार रुपये का जुर्माने का प्रावधान किया गया है। इसके अलावा ये दिशा निर्देशों पर्यावरण संरक्षण अधिनियम 1986 की धारा पांच के तहत दिए हैं।

पर्यावरण अधिनियम 1986 के बारे में आपको बताएं तो इसमें पर्यावरण में मौजूद सभी चीज़ों को शामिल किया गया हैं। इनमें जल, हवा और ज़मीन के साथ - साथ मानव समेत सजीव वस्तुओ जैसे पेड़-पौधे, सूक्ष्म जीवों और संपत्ति आदि शुमार हैं। पर्यावरण अधिनियम 1986 में इस बात का ज़िक्र है कि पर्यावरण के अधिकार के बिना व्यक्ति का विकास संभव नहीं है। इसके अलावा संविधान के अनुच्छेद 51A के तहत भी जंगल, तालाब, नदी व अन्य वन्यजीव समेत सभी प्राकृतिक पर्यावरण की रक्षा करने को हर नागरिक का कर्त्तव्य बताया गया है।

7.

सर्दियों के नज़दीक आते दिल्ली में एक बार फिर से वायु प्रदुषण को लेकर चिंताएं ज़ाहिर की जाने लगी हैं। इसी सन्दर्भ में 15 अक्टूबर से ग्रेडेड रिस्पांस एक्शन प्लान ग्रेप के तहत पर्यावरण प्रदूषण नियंत्रण एवं संरक्षण प्राधिकरण EPCA ने समीक्षा बैठक की बात कही है। इस बैठक में दिल्ली, हरियाणा, राजस्थान और उत्तर प्रदेश के राज्य प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड और स्थानीय निकायों के अधिकारी शामिल होंगे । बैठक में एक ओर जहां ग्रेप की तैयारियों पर चर्चा होगी और तो वहीं कुछ नए प्रतिबंधों को लेकर भी सुझाव रखे जाएंगे।

दरअसल ग्रेडेड रिस्पांस एक्शन प्लान के तहत दिल्ली में ट्रकों के प्रवेश और निर्माण कार्यों पर रोक लगा दी जाती है। इसके अलावा इस दौरान सड़कों की सफाई मैकेनाइज्ड तरीके से होने लगती है। साथ ही ग्रेप के लागू होने के बाद जनरेटर सेटों पर भी पाबंदी होती है।

8.

बीते दिनों रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने युद्ध में शहीद और घायल सैनिकों के परिवारों को दी जाने वाली आर्थिक सहायता राशि को बढ़ाने की सैद्धांतिक मंजूरी दे दी है। ये राशि अब दो लाख से बढ़ा कर आठ लाख रुपये कर दी गई है। ग़ौरतलब है कि अभी तक युद्ध में शहीद और 60 फीसद से अधिक अपंगता झेलने वालों के अलावा कई अन्य श्रेणी के तहत सैनिकों को दो लाख रुपये तक की आर्थिक सहायता दी जाती है।
आपको बता दें कि बढ़ाई गई आर्थिक सहायता राशि सैनिक कल्याण निधि ABCWF के तहत दी जाएगी। फरवरी 2016 में सियाचिन में आए भूस्खलन के बाद ABCWF का गठन किया गया था। सैनिक कल्याण निधि अप्रैल 2016 से ही प्रभावी है। ग़ौरतलब है कि इस कोष की स्थापना अन्य योजनाओं के अतिरिक्त की गई है।

9.

बीते दिनों केन्‍द्रीय विद्युत और नवीन एवं नवीकरणीय ऊर्जा मंत्रालय ने संयुक्‍त रूप से ‘प्रकाश पोर्टल को लॉन्‍च किया। NTPC द्वारा तैयार इस पोर्टल का मक़सद सभी हितधारकों जैसे विद्युत मंत्रालय, कोयला मंत्रालय, कोल इंडिया, रेलवे और विद्युत उपक्रमों के बीच कोयला आपूर्ति के लिए बेहतर समन्‍वय सुनिश्चित करना है। बताया जा रहा है कि ये ताप विद्युत संयंत्रों में कोयले की पर्याप्‍त उपलब्‍धता और बेहतर उपयोग सुनिश्चित करने की दिशा में एक महत्‍वपूर्ण कदम है।

आपको बता दें कि इस पोर्टल इस तरह से डिजाइन किया गया है जिसके ज़रिए विद्युत संयंत्रों के लिए समूची कोयला आपूर्ति चेन के मानचित्रण एवं निगरानी में मदद मिलेगी सकेगी। इसके अलावा ये पोर्टल कोयला कंपनी स्‍टॉक के साथ-साथ उत्‍पादन संबंधी प्रभावकारी नियोजन के लिए विद्युत केन्‍द्रों पर कोयले की आवश्‍यकता जैसे कई अन्य काम भी कर सकेगा।

10.

पिछले हफ्ते जारी मौद्रिक नीति समीक्षा में केंद्रीय बैंक ने कहा है कि 2020-21 में जीडीपी विकास दर फिर से 7 फीसदी पहुंच जाने का अनुमान है। हालाँकि समीक्षा में बताया गया है कि भविष्य में अभी भी संकट बरक़रार रहने की उम्मीद है। समीक्षा में विकास दर के अनुमान में कटौती के कारणों का ज़िक्र करते हुए कहा गया है कि अभी तक निजी निवेश और खपत में बढ़ोतरी नहीं हुई है। इसके अलावा विश्व अर्थव्यवस्था में सुस्ती के कारण निर्यात भी ज़ोर नहीं पकड़ सका है। RBI के मुताबिक़ सरकार ने अर्थव्यवस्था को गति देने के लिए जो क़दम उठाए हैं, उनसे आगे निजी खपत और निवेश में इज़ाफ़ा होगा। साथ ही इससे वित्त वर्ष की दूसरी छमाही में स्थिति में सुधार की भी उम्मीद है।

मौद्रिक नीति समीक्षा के बारे में आपको बताएं तो ये RBI हर दूसरे महीने मौद्रिक नीति की समीक्षा करता है। ये काम RBI की मौद्रिक नीति समिति द्वारा किया जाता है। इस समीक्षा में अर्थव्यवस्था की हालत को देखते हुए नीतिगत ब्याज दरें घटाने या बढ़ाने का फैसला लिया जाता है।

11.

दुनिया में जारी ट्रेड को देखते हुए WTO ने इस साल के लिए ट्रेड ग्रोथ का अनुमान घटाकर आधा कर दिया है। WTO ने 2019 के लिए वैश्विक व्यापार बढ़ने के अनुमान को घटाकर 1.2% कर दिया है। इससे पहले अप्रैल महीने में उम्मीद ज़ाहिर की जा रही थी कि इस साल ट्रेड ग्रोथ 2.6 % रहेगी। WTO ने वैश्विक आर्थिक विकास का अनुमान भी 2.6% से घटाकर 2.3% कर दिया है। WTO का कहना है कि अगर वैश्विक ट्रेड वॉर नहीं रुका तो इसके दुष्परिणाम सबको भुगतने होंगे। दुनिया में जारी ट्रेड वॉर से जीवन स्तर तो गिरेगा ही साथ ही इसके कारण और नौकरियों पर भी ख़तरा बढ़ जायेगा।

आपको बता दें कि मुक्त और निष्पक्ष व्यापार को बढ़ावा देने के लिए जनवरी 1995 में WTO का गठन हुआ था। इससे पहले WTO एग्रीमेंट ऑन ट्रेड एंड टैरिफ GATT के रूप में काम करता था। मौजूदा वक़्त में विश्व व्यापर संगठन एकमात्र ऐसा अंतराष्ट्रीय संगठन है जो देशों के बीच वैश्विक नियमों को तय करता है। इसके अलावा WTO दुनिया भर के देशों के लिए बनाए गए व्यापर नियमों को नियंत्रित करता है और इसके सदस्य देशों के बीच होने वाले विवादों का भी निपटारा करने का काम करता है। जिनेवा में मौजूद WTO की बैठक आमतौर पर हर 2 साल पर होती है और भारत इसके 164 सदस्य देशों की सूची में शुमार है।

12.

बीते दिनों RBI ने एक बार फिर से रेपो रेट में कटौती की घोषणा की है। RBI ने इस बार रेपो रेट में 25 आधार अंकों की कटौती की है। इस कटौती के बाद अब रेपो रेट 5.40 फीसदी से घटकर 5.15 फीसदी पर आ गया है। ग़ौरतलब है कि RBI ने चालू वित्त वर्ष में लगातार चौथी और रेपो रेट में कुल पांचवी बार कटौती की है। दरअसल रेपो रेट वो दर होती है जिस पर आरबीआई बैंकों को कर्ज देता है। इसके अलावा बैंक इस कर्ज के ज़रिए ग्राहकों को ऋण देते हैं।

13.

बीते दिनों वित्त मंत्रालय ने आयकर विभाग के राष्ट्रीय ई-आकलन केंद्र NEAC का उद्घाटन किया। वित्त मंत्रालय के मुताबिक़ NEAC प्रधानमंत्री के डिजिटल इंडिया के दृष्टिकोण के अनुरूप करदाताओं की शिकायतों में कमी लाने और कारोबार सुगमता को बढ़ाने की दिशा में महत्वपूर्ण कदम है। राष्ट्रीय ई-आकलन केंद्र के बाद अब करदाताओं को आयकर विभाग में नहीं जाना पड़ेगा । इस नई सुविधा से टैक्सपेयर को रजिस्टर्ड ई-मेल और वेब पोर्टल से रजिस्टर्ड खातों पर नोटिस मिलेगा। साथ ही इस नई शुरुआत से आकलन प्रक्रिया में दक्षता, पारदर्शिता और जवाबदेही भी मज़बूत होगी।

14.

बीते दिनों उड़ीसा में एक नई प्रजाति की मकड़ी की खोज हुई। इस नई मायगलोमॉर्फ प्रजाति की मकड़ी को इडियोप्स नीलागिरी का नाम दिया गया है। ये एक मध्यम आकार की मकड़ी है जिसकी लम्बाई क़रीब 8-13 मिलीमीटर है। इस खोज के बाद जीनस इडियोप्स प्रजाति की संख्या विश्वस्तर पर 95 तक पहुंच गई जिनमें से 12 भारत में मौजूद हैं। इसके अलावा इस खोज से दुनिया में मौजूदा मकड़ियों की कुल संख्या 48,277 हो गई है। साथ ही भारतीय में भी मौजूद मकड़ियों की संख्या अब बढ़कर 1,910 हो गई है, जिसमें से 263 प्रजातियां अकेले उड़ीसा में मौजूद हैं।

आपको बता दें कि भारतीय मकड़ियों में से केवल 8 मायगलोमॉर्फ परिवारों से संबंधित हैं। यह अपेक्षाकृत बड़े और लंबे समय तक रहने वाली मकड़ी हैं और आदिम मकड़ियों का प्रतिनिधित्व करती हैं जिनमें टारेंटयुल्स, फनल वेब और ट्रैर्पड मकड़ियों शामिल हैं। इसके अलावा प्राणीविदों का मानना नीलगिरी का क्षेत्र बायोग्राफिकल रूप से महत्वपूर्ण है जो छोटानागपुर पठार का हिस्सा है।

15.

बीते दिनों ऑस्ट्रेलिया में प्रागैतिहासिक काल के विशालकाय टेरोसोर का जीवाश्म पाया गया। शोधकर्ता के मुताबिक फेरोड्राको लेंटोनी नामक ये सरीसृप जीव क़रीब 10 करोड़ साल पहले आसमान पर लंबी दूरियां आसानी से तय कर लेते थे। शोध में इस बात का भी ज़िक्र है कि इस नई प्रजाति के जीव और इंग्लैंड में पाए गए अन्य सरीसृप जीवों के जीवाश्मों में काफी समानताएं हैं। इसका मतलब ये कि ये सरीसृप जीव उस काल में महाद्वीपों और महासागरों को भी आसानी से पार करने में सक्षम थे।

इससे पहले चीन के शिनजियांग में भी खुदाई के दौरान उड़ने वाले टेरोसार के 215 अंडों का जीवाश्म मिला था। वैज्ञानिकों के मुताबिक टेरोसोर उड़ने वाले सरीसृपों की एक श्रेणी थी। बताया जाता है कि पृथ्वी पर 21 करोड़ से 6.5 करोड़ वर्ष पहले के बीच ये विशालकाय टेरोसार मौजूद रहे हैं। हालाँकि ये अपने भारी वजन के कारण ये धीरे-धीरे विलुप्त हो गए।

16.

बीते दिनों ओडिशा के नंदनकानन जूलॉजिकल पार्क में एलीफैंट एंडोथिलियोट्रोपिक हर्पीस वायरस EEHV के कारण पाँच हाथियों की मौत हो गई। इससे पहले केरल में साल 2013 और असम में साल 2017 में भी EEHV संक्रमण सामने आया था। दरअसल EEHV एक प्रकार का हर्पीस वायरस है। EEHV - 1 वायरस मुख्य रूप से एशियाई हाथियों में पाया जाता है। इस वायरस से ग्रसित हाथियों में भूख कम लगना, नाक से पानी निकलना और सूजी हुई ग्रंथियाँ जैसे मामले सामने आते हैं। इसके अलावा EEHV वायरस के कारण काफी अधिक मात्रा में आंतरिक रक्तस्राव होता है जोकि मृत्यु का कारण बनता है।

आपको बता दें कि ये वायरस आमतौर पर 1 साल से 12 साल तक के युवा हाथियों के लिये ज़्यादा घातक होता है। EEHV वयस्क हाथियों की सूंड़ के ज़रिये उनके शरीर में पहुंचता है। हालाँकि वयस्क हाथियों की रोग प्रतिरोधक क्षमता अधिक होने के कारण ये उन पर उतना अधिक असर नहीं करता। लेकिन अधिकतर वयस्क हाथी जब अपने शावकों के साथ किसी तालाब या झील वगैरह में पानी पीते हैं तो ऐसे में ये वायरस छोटे हाथियों के शरीर में पहुंच जाता। ग़ौरतलब है एलिफेंट एंडोथिलियोट्रोपिक हर्पीस वायरस EEHV को एलिफेंटिड बेटाहैरपिस वायरस-1 और EIHV - 1 के रूप में भी जाना जाता है।

तो ये थी पिछली सप्ताह की कुछ महत्वपूर्ण ख़बरें...आइये अब आपको लिए चलते हैं इस कार्यक्रम के बेहद ही ख़ास सेगमेंट यानी इंडिया राउंडअप में.... जहां आपको मिलेंगी हफ्ते भर की कुछ और ज़रूरी ख़बरें, वो भी फटाफट अंदाज़ में...

फटाफट न्यूज़ (India Roundup):

  1. केंद्रीय मानव संसाधन मंत्री रमेश पोखिरयाल ने की प्रधानमंत्री नवाचार शिक्षण कार्यक्रम- ध्रुव की शुरूआत। प्रतिभावान बच्चों की पहचान करने और उन्हें प्रोत्साहित करने के लिए की गई है प्रधानमंत्री नवाचार शिक्षण कार्यक्रम ध्रुव की शुरुआत।
  2. तमिलनाडु के शिवगंगा ज़िले में चल रही पुरातात्विक स्थल की खुदाई में मिली संगम युग की दीवारें। शिवगंगा ज़िले के कीलाड़ी में चल रही इस खुदाई में राज्य पुरातत्व विभाग को मिली हैं, 2,600 साल पुरानी चार दीवारें।
  3. क्रिकेटर सचिन तेंदुलकर को किया गया सर्वाधिक प्रभावी स्वच्छता एंबेसडर पुरस्कार से सम्मानित। महात्मा गांधी की 150वीं जयंती पर राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने दिए ये सम्मान
  4. भारत और कजाकिस्तान के बीच 3 अक्टूबर से शुरू हुआ पिथौरागढ़ में संयुक्त सैन्य अभ्यास । 12 दिवसीय इस अभ्यास के दौरान दोनों देशों की सेनाएं आतंकवाद से निपटने के अनुभवों को साझा करने के साथ ही करेंगी अभ्यास।
  5. तीन दिन फ़्रांस की यात्रा पर रहे रक्षामंत्री राजनाथ सिंह। उनके इस दौरे के दौरान भारत को फ़्रांस ने सौपा पहला लाडू विमान राफेल
  6. रेलवे के स्वच्छता सर्वेक्षण में राजस्थान के तीन रेलवे स्टेशनों को मिला शीर्ष स्थान। जयपुर, जोधपुर और दुर्गापुरा रेलवे स्टेशनों को मिला है रेलवे के स्वच्छता सर्वेक्षण का शीर्ष स्थान।
  7. दिल्ली रेलवे स्टेशन से हुई दूसरी वंदे भारत एक्सप्रेस ट्रेन की शुरुआत। वंदे भारत एक्सप्रेस के ज़रिए दिल्ली से कटरा के बीच का सफर अब 8 घंटे में होगा पूरा ।
  8. गाजियाबाद के हिंडन एयरबेस पर बनाया गया वायुसेना का 87वां स्थापना दिवस। आठ अक्टूबर 1932 को की गई थी भारतीय वायुसेना की स्थापना
  9. स्वच्छ भारत अभियान के दूसरे चरण में शामिल हुआ प्लास्टिक से मुक्ति दिलाने का लक्ष्य। महात्मा गांधी की 150वीं जयंती से इस अभियान को शुरू किया गया है और 2022 तक भारत को
  10. 4 अक्टूबर को लखनऊ जंक्शन से नई दिल्ली के लिए चलने वाली पहली प्राइवेट ट्रेन तेजस की हुई शुरुआत। यह देश की पहली प्राइवेट ट्रेन है जिसका संचालन पूर्ण रूप से आईआरसीटीसी द्वारा किया जायेगा।
  11. भारत और मालदीव की सेना के बीच 07 से 20 अक्टूबर के दौरान आयोजित होगा दसवां संयुक्त सैन्य अभ्यास एक्यूवरिन। महाराष्ट्र के पुणे के औंध मिलिट्री स्टेशन में होगा ये संयुक्त सैन्य अभ्यास।
  12. राष्ट्रपति रामनाथ कोविन्द ने सामाजिक न्याय और अधिकारिता मंत्रालय द्वारा आयोजित कार्यक्रम में गणमान्य वरिष्ठ नागरिकों और संस्थाओं को दिए वयोश्रेष्ठ सम्मान-2019। अंतर्राष्ट्रीय वृद्धजन दिवस’ के अवसर पर आयोजित किया गया था ये कार्यक्रम
  13. भारत और मंगोलिया के बीच भी आयोजित हो रहा है 14 दिवसीय संयुक्त सैन्य प्रशिक्षण अभ्यास नोमाडिक एलीफैंट-14 का 14वां संस्करण। हिमांचल के बाकलोह में आयोजित हो रहा संयुक्त सैन्य प्रशिक्षण 5 अक्टूबर शुरू होकर 18 अक्टूबर तक चलेगा।
  14. 8वें अंतर्राष्ट्रीय शेफ सम्मेलन का नई दिल्ली में हो रहा है आयोजन। केन्द्रीय स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने 8वें अंतर्राष्ट्रीय शेफ सम्मेलन में भारतीय खाद्य संरक्षा एवं मानक प्राधिकरण FSSAI का ‘ट्रांस-फैट फ्री लोगो किया जारी। ये ट्रांस फैट के ख़िलाफ़ अभियान का एक महत्वपूर्ण पड़ाव होने के साथ ही FSSAI के ईट राइट डंडिया के जनअभियान को नई गति देगा।
  15. राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत कुमार डोभाल ने गोवा में किया गोवा समुद्री सम्मेलन-2019 का उद्घाटन। भारतीय समुद्री क्षेत्र के 10 देश इंडोनेशिया, मलेशिया, सिंगापुर, थाईलैंड, बांग्लादेश, म्यांमार, श्रीलंका, सेशल्स, मालदीव और मॉरीशस जैसे देशों के नौसेना प्रमुखों और वरिष्ठ प्रतिनिधि हुए इस सम्मेलन में शामिल।
  16. मानसून सत्र में पारित राष्ट्रीय आयुर्विज्ञान आयोग का जल्द होगा गठन। शैक्षिक सत्र 2020-21 से देश के सभी मेडिकल कॉलेजों में MBBS प्रवेश के लिए देनी होगी सिर्फ NEET परीक्षा।
  17. वाणिज्य मंत्रालय ने सोने के गहनों की हॉलमार्किंग को अनिवार्य करने किए जाने के प्रस्ताव को दी मंजूरी। हालाँकि WTO दवारा नोटिफाई होने के बाद ही हो सकेगा ये लागू।
  18. रूस ने किया मिसाइल हमले की सूचना देने वाले अर्ली वार्निंग सिस्टम के लिए चीन की मदद का ऐलान। मौजूदा वक़्त में अमेरिका और रूस के ही पास है अर्ली वार्निंग सिस्टम।
  19. 20 से 28 नवंबर के बीच गोवा में आयोजित होगा 50 वां भारतीय अंतरराष्ट्रीय फिल्म महोत्सव IFFI । इस दौरान सिनेमा में उत्कृष्ट योगदान के लिए सदी के महानायक अमिताभ बच्चन किया जायेगा दादा साहब फाल्के पुरस्कार से सम्मानित।
  20. भाभा एटॉमिक रिसर्च सेंटर ने सुरक्षाबलों के लिए तैयार की बुलेटप्रूफ जैकेट भाभा कवच। वजन में हल्की और विदेश से आयात की जाने वाली जैकेट की तुलना में बेहद सस्ती है ये बुलेटप्रूफ जैकेट।
  21. एंटी मिसाइल तकनीक से लैस लंबी दूरी के दो बोइंग 777 विमान ‘एयर इंडिया वन’का बेड़ा जून 2020 तक पहुंचेगा भारत। प्रधानमंत्री, राष्ट्रपति और उपराष्ट्रपति की अंतराष्ट्रीय उड़ानों के लिए प्रयोग किया जायेगा ये विमान।
  22. 9 अक्टूबर को मनाया गया विश्व डाक दिवस। 1874 में यूनिवर्सल पोस्टल के निर्माण की वर्षगांठ के मौके पर तोक्यों में यूनिवर्सल पोस्टल कांग्रेस द्वारा घोषित किया गया विश्व डाक दिवस।
  23. भौतिकी के लिए जारी हुआ 2019 का नोबेल पुरस्कार। जेम्स पीबल्स, माइकल मेयर और दिदिअर क्वैलोज को दिया गया भौतिकी के लिए 2019 का नोबेल पुरस्कार।
  24. दिल्ली मंत्रिमंडल ने दी दिल्ली में भारत के पहले राजकीय खेल विश्वविद्यालय को स्थापित करने के विधेयक को मंजूरी। ये विधेयक खेल विश्वविद्यालय को खेल स्कूलों और कॉलेजों की स्थापना करने का देगा अधिकार। आपको बता दें कि दिल्ली खेल विश्वविद्यालय को एक राजकीय विश्वविद्यालय के रूप में बनाए जाने की योजना है। इसके अलावा खेल विश्वविद्यालय कई अन्य खेलों के साथ क्रिकेट, फुटबॉल और हॉकी में ग्रेजुएट, पोस्ट ग्रेजुएट और डॉक्टरेट की डिग्री प्रदान करेगा।
  25. पर्यटन पर्व के मौके पर पर्यटन मंत्रालय ने भारत के 12 स्थलों के लिए लंच किया ऑडियो गाइड सुविधा ऐप। इस अप्लीकेशन का नाम ऑडियो ओडिगोज है।
  26. 11-13 अक्टूबर के बीच नई दिल्ली में आयोजित हो रहा है पहला भारतीय अंतर्राष्ट्रीय सहकारी व्यापार मेला। किसानों की आय दोगुनी करने के लक्ष्य को हासिल करने के उद्देश्य से आयोजित हो रहा है भारतीय अंतर्राष्ट्रीय सहकारी व्यापार मेला
  27. 7 अक्तूबर को मैक्सिको में आयोजित हुआ विश्व पर्यावास दिवस 2019 । हर साल अक्तूबर महीने के पहले सोमवार को आयोजित होता है विश्व पर्यावास दिवस विश्व पर्यावास दिवस का मक़सद टिकाऊ शहरी दुनिया के लिये संयुक्त दृष्टिकोण, संभावनाओं को बढ़ावा देना, भेदभाव और गैरबराबरी को कम कर अमीर व गरीब दोनों के लिये आवास सुनिश्चित करने जैसे उद्देश्य इसके लक्ष्यों में शामिल हैं।
  28. केंद्रीय स्वास्थ्य और परिवार कल्याण डॉ. हर्षवर्धन ने “भारत सहयोग रणनीति 2019-2023 किया लांच। स्वास्थ्य क्षेत्र के लक्ष्यों को हासिल करना और लोगों के स्वास्थ्य को बेहतर बना कर स्वास्थ्य क्षेत्र में बदलाव लाना है इसका मक़सद।
  29. पर्यटन मंत्रालय ने लद्दाख में शुरू किया साहसिक ट्रेकिंग प्रशिक्षण पाठ्यक्रम। पर्यटन गतिविधियों को बढ़ावा देना और युवाओं में ट्रेकिंग का मूलभूत कौशल विकसित करना है पाठ्यक्रम का लक्ष्य ।
  30. अगले साल अप्रैल तक लागू हो जायेंगे बीएस VI वाहन उत्सर्जन के मानक। दिल्ली–एनसीआर में प्रदूषण की स्थिति का जायजा ले रहे केन्द्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड केरे बैठक के दौरान केन्द्रीय पर्यावरण, वन एवं जलवायु परिवर्तन मंत्री श्री प्रकाश जावड़ेकर ने किया एलान।

तो इस सप्ताह के इण्डिया दिस वीक कर्यक्रम में इतना ही। परीक्षा के लिहाज़ से ज़रूरी और भी तमाम महत्वपूर्ण ख़बरों के लिए सब्सक्राइब कीजिए हमारे यूट्यूब चैनल ध्येय IAS को। नमस्कार।