Daily Current Affairs for UPSC, IAS, State PCS, SSC, Bank, SBI, Railway, & All Competitive Exams - 30 December 2019


Daily Current Affairs for UPSC, IAS, State PCS, SSC, Bank, SBI, Railway, & All Competitive Exams - 30 December 2019



कम होता Gross NPA Ratio क्या संकेत देता है?

  • 7 साल में यह पहली बार हुआ है कि सकल NPA रेशियो में कमी आयी हो।
  • बढ़ता हुआ NPA रेशियो किसी भी अर्थव्यवस्था के लिए बिल्कुल भी ठीक नहीं होता है।
  • बैंक वर्तमान समय में अर्थव्यवस्था के लिए इंजन काम करते हैं क्योंकि वित्त की उपलब्धता के बिना निवेश की कल्पना नहीं की जा सकती है।
  • NPA से ताप्तर्य बैंक के उस ऋण से है जिस पर मूलधन एवं ब्याज की प्राप्ति लगातार 90 दिनों तक न हो पाये। वहीं गैर बैकिंग वित्तीय के संदर्भ में यह समय सीमा 180 दिनों की होती है।
  • NPA भी विभिन्न प्रकार के होते हैं। यह वर्गीकरण RBI के दिशा.निर्देशों के अनुसार होता है।
  1. SUB Standard Asset- जब NPA 90 दिनों से 12 महिने पुराना हो।
  2. Doubtful Assets - ऋण 12 माह से 36 गुना पुराना हो।
  3. Loss Asset- जब NPA 3 साल से पुराना हो।
  • 24 दिसम्बर 2019 को RBI द्वारा Report on Trend and Progress Of Banking in India जारी किया गया है।
  • इस रिपोर्ट में यह बताया गया है कि मार्च 2018 के 11.2% से NPA गिरकर मार्च 2019 में यह 9.1 हो गया है।

यह कैसे हो रहा है ?

  • Conducive Policy Environment
  • The Insolvency and Bank Ruputcy (IBC)
  • Write- Off

NATO स्थापना के 70 वर्ष

  • 3-4 दिसम्बर लंदन मे नाटो की बैठक आयोजित हुई थी !
  • नाटो की स्थापना- 4 अप्रैल 1949 को हुई थी इस तरह नाटो ने अपने 70 वर्ष पूरे कर लिए हैं।
  • इसकी स्थापना संयुक्त राष्ट्र संघ के चार्टर के अनुच्छेद 15 के तहत क्षेत्रीय संगठनों के प्रावधानों के अनुसार हुयी है।
  • वर्तमान समय में इसके 29 सदस्य हैं। मेसिडोनिया 30वां सदस्य बनने की प्रक्रिया में है।
  • नाटो की स्थापना के निम्नलिखित उद्देश्य थे।
  • यूरोप पर आक्रमण रक्षक की भूमिका निभाना
  • सोवियत संघ के विस्तार को रोकना
  • पश्चिमी यूरोप को संगठित करना एवं रक्षा करना
  • वर्तमान समय में यह संगठन खर्च के मुद्दे एवं आंतरिक सामंजस्य के आभाव के कारण चर्चा में है।
  • दरअसल 2014 के बैठक में यह समति बनी की सभी देश अपनी GDP का कम से कम 2% सेना पर खर्च करेंगे लेकिन कुछ देशों को छोड़कर अधिकांश देश 2% खर्च नहीं कर रहे हैं।
  • सर्वाधिक खर्च USA, फ्रांस, ब्रिटेन, इटली कर रहे हैं। USA अपनी GDP का लगभग 3.4% खर्च कर रहा है।
  • नाटो के अनुच्छेद 15 में प्रावधान है कि सभी देश सामूहिक रूप से रक्षा करेंगे।
  • पहली बार नाटो के सम्मेलन में रूस की जगह NATO की सबसे बड़ी चुनौती के रूप में चीन को स्वीकार किया गया है।
  • तुर्की ने धमकी दिया है कि USA के जो दो सैनिक बेस USA में है वह उसे बंद कर देगा।
  • तुर्की और USA के बीच यह खटास 2016 से दिखाई दे रहा है। इस समय तुर्की में तख्ता-पलट की कोशिश हुई थी।
  • तख्ता-पलट का आरोप US. Based Turkish Islamic Preacher पर। तुर्की इनके प्रत्यर्पण की मांग कर रहा था लेकिन USA ने मना कर दिया था।
  • कुछ समय पहले तुर्की सीरिया के कुर्दों के खिलाफ आपरेशन चलाया था, जबकि USA ऐसा नहीं चाहता था।
  • USA से बढ़ती दूरी के साथ तुर्की की नजदीकी रूस के साथ बढ़ती जा रही है। हाल ही में तुर्की ने रूस से 5400 मिसाइल प्रणाली खरीदा है।
  • USA ने इस पर आपत्ति प्रकट करते हुए F-35 एयरक्राफ्ट न देने की बात कही।
  • USA इस समय तुर्की पर और अनेक प्रकार के प्रतिबंध लगाने की बात कह रहा है।
  • आतंकवाद, चीन, रूस आदि को लेकर सभी देशों में एकमत भी दिखाई नहीं देता है।

अफगानिस्तान चुनाव 2019

  • 2001 में तालिबान के हारने के बाद 2001 के अंत में हामिद करजई को अंतरिम राष्ट्रपति बना दिया गया। यह 2004 तक शासन चलाते रहे।
  • 2004 में चुनाव हुए और हामिद करजई को जीत प्राप्त हुई। और यह 5 साल सत्ता में रहे।
  • 2009 में पुनः चुनाव हुए और फिर से इन्हे जीत प्राप्त हुई। इस चुनाव में करजई पर धांधली के आरोप लगे।
  • 2014 में हामिद करजई खड़े नहीं हुए और अशरफ घनी को जीत हासिल हुई। इन्हें 55.27% वोट प्राप्त हुए। प्रतिद्वंदी थे अब्दुल्ला-अब्दुल्ला, अब्दुल्ला ने चुनाव में धांधली का आरोप लगाया और परिणामों को मानने से मना कर दिया। सरकार बनने में गतिरोध हो रहा था। इसी बीच USA के हस्तक्षेप से National Unity Government की सरकार बनी।
  • अभी प्राइमरी रिजल्ट जारी किये गये हैं। इसमें असरफ घनी को पहला एवं अब्दुल्ला-अब्दुल्ला को दूसरा स्थान प्राप्त हुआ है।
  • असरफ घनी को 50.64% वोट, अब्दुल्ला.अब्दुल्ला को 39.52% एवं दो अन्य कैंडिडेट्स को मिलाकर लगभग 6% वोट प्राप्त हुआ है।
  • यह चुनाव 6 माह से विलंब होता आ रहा है। तो साथ ही कई तरह की हिंसा भी हुई है। यह चुनाव 28 सितंबर को हुइा जिसमें लगभग 2 मिलियन लोगों के वोट गिने गये हैं। यहाँ की कुल वोट देने वाली आबादी 37 मिलियन है जिसमें 9.7 मिलियन लोगों के वोट देने का अधिकार है।
  • यह परिणाम पहले 19 अक्टूबर को आना था लेकिन चुनाव आयोग द्वारा तकनीकी समस्या को कारण बताकर इसे विलंब किया गया।
  • एक समस्या इस चुनाव में यह देखने में आई की लगभग 16000 कंप्लेन चुनाव आयोग के सामने आई। इसमें 8000 कंप्लेन सिर्फ अब्दुल्ला.अब्दुल्ला की पार्टी एवं उनके द्वारा की गई हैं। इसमें बड़े पैमाने पर धांधली के आरोप लगे।
  • इस चुनाव में बायोमैट्रिक सूचनाएं ली गई थी। यह पहली बार हुआ है। इसीकारण चुनाव में वोट तो 27% पड़े थे लेकिन परिणाम 19% के जारी किये गये हैं। क्योंकि लगभग 1/3 वोट फर्जी पाये गये थे।
  • स्वतंत्र आब्जर्वर ने चुनाव आयोग पर प्रश्न खड़े किये हैं, उनका मानना है कि एक तो चुनाव आयोग ने सही से चुनाव नहीं कराया तो साथ ही लगभग एक तिहाई वोट को फर्जी बता दिया गया है।
  • फाइनल रिजल्ट आने में अभी समय लग सकता है। यदि दूसरे चरण का चुनाव होता है तो चार माह बाद ही हो पायेगा, क्योंकि इस बीच बर्फ गिरेगी तो साथ ही दूसरे चुनाव के परिणाम की गणना में भी इतना ही समय लग सकता है।
  • अफगानिस्तान
  • राजधानी एंव सबसे बड़ा शहर- काबुल
  • सरकारी भाषा- Pasto, Dari
  • नृजातीय समूह- 4% पश्तून, 27% ताजिक, 9% हजारा, 9% उज्बेक
  • सीमा- पाकिस्तान, ईरान, तुर्कमेंनिस्तान, उज्बेकिस्तान, ताजिकिस्तान, चीन, भारत
  • Landlocked Country-
  • सर्वोच्च चोटी- Nashaq (7492मी.)