Daily Current Affairs for UPSC, IAS, State PCS, SSC, Bank, SBI, Railway, & All Competitive Exams - 29 February 2020


Daily Current Affairs for UPSC, IAS, State PCS, SSC, Bank, SBI, Railway, & All Competitive Exams - 29 February 2020



मानवाधिकार जांच से पीछे हटा श्रीलंका

  • श्रीलंका के विदेश मंत्री दिनेश गुणवर्धन ने कुछ समय पहले कहा था कि वह (श्रीलंका) 2015 के युद्धोत्तर जवाबदेही एवं सुलह पर संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद प्रस्ताव से खुद को बाहर कर सकता है !
  • 2 दिन पहले श्रीलंका ने आधिकारिक रूप से घोषणा की कि वह अब इसका भाग नहीं रहेगा !
  • श्रीलंका ने अपने यहां 2009 तक चले गृह युद्ध के दौरान कथित मानवाधिकार उल्लंघन की जांच के लिए अमेरिका और ब्रिटेन सहित 11 अन्य देशों के 7 प्रस्ताव को सह-प्रायोजित किया था !
  • इस प्रस्ताव में व्यापक सुधारों एवं अंतर्राष्ट्रीय सहयोग के माध्यम से घरेलू जवाबदेही तंत्र विकसित करने का प्रावधान रखा गया था !
  • श्रीलंका राष्ट्रमंडल और अन्य विदेशी न्यायाधीशों, बचाव पक्ष के वकीलों और जांचकर्ताओं की भागीदारी के साथ एक विश्वसनीय न्यायिक प्रक्रिया स्थापित करेगा इस प्रस्ताव में शामिल था !
  • श्रीलंका सेना पर गृह युद्ध ( वर्ष 2009) के अंतिम समय में लगभग 45000 से अधिक निर्दोष लोगों की हत्या और मानवाधिकार के उल्लंघन का आरोप है !
  • ग्रह युद्ध के दौरान वर्तमान श्रीलंका राष्ट्रपति गोतवाया राजपक्षे उस समय रक्षा सचिव थे तो महिंद्रा राजपक्षे श्रीलंका के राष्ट्रपति थे !
  • श्रीलंका की 2001 की जनगणना के अनुसार सिंहली समुदाय की आबादी सर्वाधिक 82% तमिल समुदाय की 9% मुख्य है बाकी में अन्य समूह है !
  • 1948 में स्वतंत्रता प्राप्त होने के बाद से ही जातीय संघर्ष प्रारंभ हो गए थे !
  • सिंहलियों का मानना है कि ब्रिटिश सरकार तमिलों के पक्ष में पक्षपात करती थी इसलिए तमिल प्रवासी बागान श्रमिकों को विस्थापित करना प्रारंभ किया और 1972 में देश का नाम "सीलोन" से बदलकर श्रीलंका कर दिया तथा बौद्ध धर्म को प्राथमिक धर्म के रूप में मान्यता प्रदान कर दिया है !
  • 1970 के दशक में बढ़ते तनाव के कारण उत्तर और पूर्वी क्षेत्र में एक अलग तमिल राज्य की मांग बढ़ने लगी !
  • 1972 में बेलू पिल्लई प्रभाकरण में तमिल न्यू टाईगर नामक एक संगठन का निर्माण किया ! इसमें पहले युवा स्कूली बच्चे शामिल किए गए !
  • 1976 में इसका नाम लिबरेशन टाइगर्स ऑफ तमिल ईलम (LTTE) कर दिया गया !
  • 1983 में लिट्टे ने श्रीलंकाई सेना की एक टुकड़ी पर हमला कर दिया जिसमें 13 सैनिक शहीद हो गए !
  • इस घटना से श्रीलंका में दंगे प्रारंभ हो गए और लगभग 2500 तमिल मारे गए !
  • इस घटना के बाद लिट्टे और घातक हो गया ! कहा जाता है इसके लड़ाके ताबीज में साइनाइड कैप्सूल बांधकर चलते थे !
  • 1980 के दशक तक इसे विदेशी समर्थन मिलने लगा था ! बाहर रहने वाले तमिल समुदाय ने बड़ी मात्रा में धन भेजा जिसका उपयोग हथियार खरीदने में किया जाता था !
  • लिट्टे के कई देशों में विदेशी कार्यालय जैसे ब्रिटेन और फ्रांस में बनाए गए !
  • 1985 में श्रीलंका सरकार और तमिल विद्रोहियों के बीच शांति वार्ता का प्रयास विफल हो गया !
  • 1987 में सेना ने उत्तरी जाफना में तमिल विद्रोहियों को पीछे हटा दिया !
  • श्रीलंका में एक राजनीतिक समाधान प्राप्त करने के लिए 1987 में भारत-श्रीलंका समझौते पर हस्ताक्षर हुआ !
  • भारत में ऑपरेशन पवन के तहत लिट्टे को समाप्त करने के लिए श्रीलंका में इंडियन पीस कॉपिंग फोर्स (IPKF) तैनात कर दिया गया ! हालांकि वहां बढ़ते विरोध के कारण 3 वर्ष बाद ही IPKF को वहां से हटा दिया गया !
  • 2006 तक आते-आते कई प्रकार की शांति प्रक्रिया पूरी तरह असफल हो गई और तमिल सेना ने लिट्टे का पूरी तरह से सफाया करना प्रारंभ कर दिया !
  • 17 मई 2009 को लिट्टे ने हार स्वीकार कर लिया !
  • 17 मई 2009 को सेना ने प्रभाकरण को मार गिराया और लिट्टे का अंत मान लिया गया !
  • इस दौरान तमिल समुदाय पर सेना द्वारा कई प्रकार अत्याचार, बलात्कार और नरसंहार की भी सूचना सामने आए !
  • श्रीलंका पर मानवाधिकार हनन के आरोप और अनेक प्रकार के प्रतिबंध लगने के कारण 2015 में अपनी स्पष्टता रखने के लिए चिलम का एक प्रस्ताव से जुड़ गया जिससे वह अपने को अलग कर चुका है !
  • इससे मानवाधिकार संरक्षण को लेकर वैश्विक समुदाय के प्रयासों पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ा है !

DIETHYLENE GLYCOL

  • बाजार में अनेक प्रकार के Syrup अनेक प्रकार की बीमारियों के समाधान के रूप में बेचे जाते हैं लेकिन इनका प्रभाव कई बार बहुत घातक सिद्ध होता है !
  • बहुत से Syrup में Diethylene Glycol का प्रयोग होता है !
  • खांसी के लिए प्रयोग किए जाने वाले सीरप में यह एक प्राथमिक कंपोजिशन माना जाता है !
  • यह एक Anti Freezing Agent है जिस की अधिकता होने पर पैरालाइसिस और किडनी फेल होने तक की घटनाएं भी होती हैं ! यह मौत का भी कारण बन जाता है !
  • Coldbest-PC कफ- सिरप की वजह से जम्मू कश्मीर के उधमपुर जिले में 12 बच्चों की मौत हो गई !
  • चंडीगढ़ PGI ने अपनी रिपोर्ट में इसके लिए सिर्फ में Diethylene Glycole की अधिक मात्रा में मिलाया जाना इन मौतों का कारण माना गया है !
  • इस तरह यह Glycol एक दवा से जहर बन गया !
  • भारत में या अधिक Glycol की वजह से होने वाली मौतों का पहला उदाहरण नहीं है !
  • 1973 में चेन्नई में इसी प्रकार की घटना हुई थी जिसमें 14 बच्चों की मृत्यु हो गई थी !
  • 1986 में मुंबई में और 1998 नई दिल्ली में इस प्रकार की घटना हो चुकी है !
  • Coldbest-PC की वजह से यह आंकड़ा बढ़ भी सकता है इसलिए सरकार को चाहिए कि इस पर तुरंत प्रतिबंध लगाया जाए !
  • दवाओं की वजह से होने वाली क्षति के लिए हमें वैश्विक समुदाय से सीख लेने की आवश्यकता है !
  • इसकी 3400 बोतलों को ट्रेस नहीं किया जा सका है इसलिए समस्या गंभीर है !
  • Drug Controller General Of India (DCGI) दवाओं पर रेगुलेशन के लिए काम करने वाली प्रमुख संस्था है लेकिन इसकी कार्यप्रणाली वैश्विक मानकों पर खरी नहीं उतरती है !
  • Coldbest-PC पर किसी प्रकार की सूचना इसके तरफ से अभी प्रेषित नहीं की गई है !
  • Dangerous Drugs Recalling का सिस्टम भारत में बहुत ही कमजोर है इसके कारण दवाएं जहर बन कर भी बाजार में बिकती रहती हैं !
  • इसीलिए कई समीक्षक National Drug Recalling Authority के निर्माण की आवश्यकता मान रहे हैं !
  • इसके साथ दवा निर्माता कंपनियों पर नियंत्रण बढ़ाने, समय-समय पर दवाओं का परीक्षण करने की भी आवश्यकता है !