Daily Current Affairs for UPSC, IAS, State PCS, SSC, Bank, SBI, Railway, & All Competitive Exams - 25 November 2019


Daily Current Affairs for UPSC, IAS, State PCS, SSC, Bank, SBI, Railway, & All Competitive Exams - 25 November 2019



LUMPY SKIN DISEASE

  • ओडिशा में पशुओं की मृत्यु के कारण यह बीमारी चर्चा का कारण बनी हुई है।
  • प्रारंभ में तीन पशुओं की मृत्यु हुई लेकिन जब मृत्यु के कारणों की खोज किया गया तो पता चला इस बीमारी से 2356 पशुओं की मृत्यु 409 गाँवों में हो चुकी है।
  • इस बीमारी से पहले पशु को बुखार होता है फिर स्कीन ढ़ीली पड़ने लगती है और अंततः यह मृत्यु का कारण बन जाती है।
  • यह बीमारी सिर्फ पशुओं-खासकर गाय-भैंस में होती है।
  • इनका दूसरा नाम- ‘Go-Basant’ है।
  • इस बीमारी का कारण - NEETHLING VIRUS को माना जाता है
  • इससे दूध देने की क्षमता कम हो जाती है, बीमार रहने लगते हैं
  • बीमारी फैलने की सूचना प्रकाश में आते है। चीन एवं कुछ अन्य देशों ने भारत से भैंस के मांस के आयात पर प्रतिबंध लगाने की बात कही
  • भारत द्वारा भैंस के मीट से 3.58 मिलियन डॉलर प्राप्त किया गया था 2018-2019 में। इसलिए यह मुद्दा ज्यादा चुनौतीपूर्ण हो गया।
  • हालांकि चीन प्रत्यक्ष रूप से इसका आयात नहीं करता है।
  • World Organization of Animal Health
  • मुख्यालय-पेरिस
  • सदस्य - 182
  • स्थापना - 1924

जायर-अल-बहार

  • भारत और कतर के बीच संयुक्त नेवी सैन्य अभ्यास है
  • इंग्लिश में इसे Roar of the Sea के नाम से जाना जाता है जबकि अरबी भाषा में जायर-अल बहार कहा जाता है।
  • उद्देश्य-दोनों देशों के बीच सैन्य सहयोग को मजबूत करना जिससे- भविष्य में यह एक दूसरे का सहयोग कर सकें या ज्वाइंट ऑपरेशन चला सकें।
  • आतंकवाद, समुद्री लूटपाट एवं डकैती तथा शांति एवं स्थिरता हिंद महासागर में
  • कतर गल्फ क्षेत्र (पर्सियन गल्फ) में स्थित देश है। इस क्षेत्र में तेल एवं प्रकृति गैस के पर्याप्त भंडार
  • कुल जनसंख्या लगभग 27 लाख, इसमें लगभग 7 लाख भारतीय
  • अभ्यास-कतर में पहला अभ्यास है यह
  • तिथि 18-23 नवंबर
  • तीन चरणीय प्रोग्राम
  • हार्वर क्षेत्र में सेमिनार, प्रोफेशनल, आफिशियल विजिट, स्पोर्टस, सामाजिक-सांस्कृतिक मजबूती
  • सैन्य अभ्यास - समुद्र में
  • भविष्य में आने वाली चुनौतियों के लिए तैयार रहना
  • इसमें भारत की नेवी का फ्रीगेट Trikand और पेट्रोल एयर क्राफ्ट P8-1 भेजा गया है।
  • फॉर्मर प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह कतर जाने वाले पहले PM थे।
  • इस समय जो रक्षा संधि हुई थी उसे लेण्डमार्क संधि माना जाता है दोनो देशों के बीच।
  • इस संधि के अनुसार एक दूसरे के बेस और अन्य संसाधनों का उपयोग कर सकते हैं।

Kimberley Process Certification Scheme (KPCS)

  • KPCS के सदस्य देशों की बैठक का आयोजन 18-22 नवंबर को दिल्ली में हुआ।
  • खनन के माध्यम से जो प्रारंभिक हीरा मिलता है उसे Rough Dimond या खुरदुरा हीरा के नाम से जाना जाता है।
  • यह कम किमती होता है, क्योंकि फिनिशिंग इसकी अच्छी नहीं होती है।
  • यह रफ डाइमंड कई बार ऐसे लोगों (आतंकियों एवं रिबेल ग्रुप) द्वारा प्राप्त कर लिये जाते हैं जो इस डायमंड को बेचकर आतंकी गतिविधियों और क्राइम को बढ़ाने के हथियार और सामान खरीदते हैं। इस प्रकार की गतिविधियों को रोकने तथा वित्त का सही उपयोग हो इसीलिए वर्ष 2003 में किम्बर्ले प्रोसेस सर्टिफिकेशन स्कीम को प्रारंभ किया गया।
  • यह सर्टिफिकेट सिर्फ रफ डायमंड के लिए है।
  • इस स्कीम जुडे सदस्यों की संख्या 55 है तो वहीं इसमें 82 देशों की भागीदारी है। सदस्य संख्या में यूरोपीय यूनियन (28 देशों) को एक सदस्य के रूप में गिना जाता है इसलिए सदस्यों की संख्या कम एवं देशों की संख्या ज्यादा है।
  • यह रफ डायमंड के व्यापार को सुनिश्चित करते है। सर्टिफिकेट होने पर ही व्यापार होता है। यह लगभग 99.8% व्यापार की सुरक्षा कर पा रहा है
  • भारत इसका संस्थापक सदस्य है
  • इससे पहले भारत ने 2008 में इसकी अध्यक्षता की थी।
  • भारत सरकार वाणिज्य विभाग KPCS को लागू करने वाला नोडल विभाग है।
  • इस विभाग के अधीन Gem and Jawellery Export Promotion Council (GJEPC) को आथॉरिटी प्रदान की गई। निर्यात एवं आयात को रेगुलेट करने के लिए यही KPCS सर्टिफिकेट प्रदान करता है।
  • भारत 24 बिलियन डॉलर के डायमंड का व्यापार प्रत्येक साल करता है।
  • KPCS को यूनाइटेडनेशंस की सिक्योरिटी काउंसिल की सहमति प्राप्त है।
  • KPCS मीटिंग-प्रथम - 2003 दक्षिण अफ्रीका
  • 2004 - कनाडा

International Energy Agency

  • 1973 के तेल संकट की परिस्थिति दुबारा उत्पन्न न हो इस प्रकार का प्रयास करने के लिए 1974 में इसकी स्थापना हुई।
  • विचार- OECD - Organisation for Economic Co-operation and Development
  • सदस्य - 30
  • मुख्यालय - पेरिस
  • कार्य - 3Es
  • Energy Security
  • Economic Development
  • Environmental protection

World Energy Outlook 2019

  • International Energy Agency द्वारा जारी
  • प्रत्येक साल ऊर्जा की डिमांड 2% की दर से बढ़ रही है।
  • तेल की मांग में 2025 के बाद कमी आयेगी
  • इलेक्ट्रिक वेहिकल की संख्या बढ़ने के कारण
  • तेल की मांग कुछ क्षेत्रों में ज्यादा बनी रहेगी, USA इसमें प्रमुख देश होगा
  • स्थापित सौर क्षमता 2040 तक 3142 गीगावाट हो जायेगी, अभी 495 गीगावाट है
  • अफ्रीकन देशों में गैस एवं नवीकरणीय ऊर्जा का प्रतिशत बढ़ेगा तो साथ ही कोयले की मांग भी बनी रहेगी।