Daily Current Affairs for UPSC, IAS, State PCS, SSC, Bank, SBI, Railway, & All Competitive Exams - 23 February 2020


Daily Current Affairs for UPSC, IAS, State PCS, SSC, Bank, SBI, Railway, & All Competitive Exams - 23 February 2020



Art bill 2020

  • जब कोई युगल प्राकृतिक रूप से संतानोंपत्ती नहीं कर पाता है तो इस प्रकार की तकनीक के मदद ऐसे युगल बच्चे प्राप्त करते हैं !
  • सामान्य शब्दों में इस तकनीक का प्रयोग बांझपन की समस्या के समाधान के रूप में किया जाता है !
  • पिछले कुछ समय से ART के प्रयोग में बढ़ोतरी के कारण इसके लिए एक ऐसे कानून की आवश्यकता थी जो इसके मुद्दों को कवर कर सकें !
  • इसी गंभीरता को देखते हुए और महिलाओं के स्वास्थ्य कल्याण को सुनिश्चित करने के लिए प्रधानमंत्री की अध्यक्षता में केंद्रीय मंत्रिमंडल ने सहायक प्रजनन तकनीक नियमन विधेयक 2020 को स्वीकृति प्रदान कर दी है !
  • संसद द्वारा पारित होने और कानून के अधिसूचित हो जाने के बाद राष्ट्रीय बोर्ड राज्य बोर्ड का गठन किया जाएगा !
  • यह बोर्ड सहायक प्रौद्योगिकी से जुड़े क्लीनिक एवं सहायक प्रजनन प्रौद्योगिकी बैंकों का नियमन एवं निगरानी कर सकेंगे !
  • यही बोर्ड विशेषज्ञों के लिए न्यूनतम मानक आधारभूत संरचना एवं नियमों संबंधित प्रावधानों को लागू करवाएंगे !
  • विधेयक में केंद्रीय डेटाबेस के रखरखाव के लिए राष्ट्रीय राष्ट्रीय प्राधिकरण का भी प्रावधान किया गया है !
  • विधेयक में उन लोगों के लिए कठोर दंड का भी प्रस्ताव किया गया है जो लिंग जांच मानव भ्रूण कोष की बिक्री का काम करते हैं !
  • इस विधेयक में इसके वाणिज्य करण पर रोक लगाने का भी प्रस्ताव है !
  • IVF (इन विट्रो फर्टिलाइजेशन) ART का ही एक रूप है !
  • इसमें महिलाओं के शरीर से अंडे प्राप्त कर जोड़ बनाने के लिए ले में शुक्राणु के साथ मिलाया जाता है और बाद में भ्रूण को महिलाओं के अंदर शरीर में डाल दिया जाता है !
  • 1970 के अंत में पहले टेस्ट ट्यूब बेबी Louise brown का जन्म हुआ था यहीं से ART की प्रक्रिया तेजी से आगे बढ़े !
  • पहले टेस्ट ट्यूब बेबी के जन्म के कुछ समय बाद ही कोलकाता के सुभाष मुखर्जी ने घोषणा किया कि उन्होंने विश्व के दूसरे टेस्ट ट्यूब बेबी का जन्म करवाया !
  • इसके बाद पैसे अस्पतालों की संख्या तेजी से बढ़ी !
  • इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च के आंकड़ों के अनुसार नवंबर 2019 तक 1269 ART क्लीनिक कार्य कर रहे थे !
  • सर्वाधिक ART क्लिनिक महाराष्ट्र में 266 है इसके बाद तमिलनाडु (164) दिल्ली (113) कर्नाटक (102) एवं उत्तर प्रदेश (92) का स्थान आता है !
  • यहां पर यह ध्यान देना आवश्यक है कि ART क्लीनिक को ICMR के तहत रजिस्टर करवाना आवश्यक नहीं है इसलिए संख्या इससे ज्यादा ही होगी !
  • भारत में ART क्लीनिक बड़ी संख्या में सस्ती कीमत पर कार्य कर रहे हैं इसलिए बड़ी संख्या में बाहर से लोग आकर सुविधा प्राप्त करते हैं !
  • इनका मार्केट काफी व्यापक जो 2026 तक 45 बिलियन USD तक पहुंच सकता है !
  • बढ़ते उत्पन्न चुनौतियों से निपटने के लिए सर्वप्रथम 2008 में कानून बनाने का प्रयास किया गया लेकिन बन नहीं पाया !

स्वच्छ भारत मिशन ( ग्रामीण)

  • प्रधानमंत्री की अध्यक्षता वाली केंद्रीय मंत्रिमंडल ने स्वच्छ भारत मिशन के दूसरे चरण की अनुमति दे दी है !
  • इसका समय काल 2024- 25 तक होगा और इस पर 140881 करोड रुपए खर्च किए जाएंगे !
  • 2 अक्टूबर 2014 को प्रारंभ किए स्वच्छ भारत अभियान प्रारंभ किया गया था !
  • इसमें 2 अक्टूबर 2019 तक खुले में शौच मुक्त भारत का लक्ष्य रखा गया था !
  • इस मिशन के अंतर्गत 10 करोड़ से ज्यादा शौचालयों का निर्माण सरकार के आंकड़ों के अनुसार किया गया है इसी के कारण सभी राज्यों के ग्रामीण क्षेत्रों ने स्वयं को 2 अक्टूबर 2019 तक ODF घोषित कर दिया है !
  • फेज-2 के अंतर्गत ODF प्लस के अंतर्गत ठोस एवं तरल अपशिष्ट प्रबंधन को बढ़ावा दिया जाएगा तो साथ ही खुले में शौच मुक्त अभियान को जारी रखा जाएगा !
  • अपशिष्ट प्रबंधन के अंतर्गत प्लास्टिक जेब अपगठित मल युक्त कीचड़ प्रबंधन एवं धूसर जल प्रबंधन को देखा जाएगा !
  • इस कार्यक्रम के द्वारा यह सुनिश्चित किया जाएगा कि प्रत्येक व्यक्ति शौचालय का प्रयोग करें !
  • नए पात्र परिवारों को 12000 रूपये की राशि प्रदान किए जाने का प्रावधान पहले की जारी रखा जाएगा !
  • ग्रामीण स्तर पर सामुदायिक स्वच्छता परिसर के निर्माण के लिए वित्तीय सहायता 2 लाख से बढ़कर तीन लाख कर दिया गया है !
  • अपशिष्ट प्रबंधन हेतु गड्ढा खोदना शोधन संयंत्र स्थापित करना आदि प्रावधानों को इसमें शामिल किया गया है !
  • आवंटित 140881 करोड़ में से 52497 करोड़ रुपए पेयजल एवं स्वच्छता विभाग के बजट में से आवंटित किए जाएंगे !
  • वित्त का बंटवारा राज्यों एवं केंद्र सरकार के बीच निम्न प्रकार होगा !
  1. पूर्वोत्तर राज्यों हिमालयी राज्यों जम्मू कश्मीर केंद्र शासितप्रदेश के संदर्भ में 90:10 के अनुपात मे
  2. अन्य केंद्र शासित राज्यों के संदर्भ में 100:0
  3. अन्य राज्यों के संबंध में 60:40 के अनुपात में होगा

दक्षिण पूर्व एशिया में सूखा क्यों गंभीर है ?

  • 15 फरवरी 2020 को NASA (National Aeronautics and Space Admission) के Earth Observatory द्वारा एक मानचित्र जारी किया गया !
  • इस मानचित्र में दक्षिण पूर्व एशिया में सतह की मिट्टी की नमी के बारे में जानकारी दी है ! जो सामान्य से कम है !
  • थाईलैंड में सतह की मिट्टी की नमी सबसे कम पाई गई हो !
  • NASA का Soil Moisture Active Passive Mission मिट्टी में पानी की मात्रा का मापन करता है और जमीन के नीचे 5 सेंटीमीटर तक पानी का पता लगाता है !
  • सूखा एक असामान्य व लंबा शुष्क मौसम होता है जो किसी क्षेत्र विशेष में स्पष्ट जलीय और असंतुलन पैदा करता है !

सूखा क्यों ?

  • मानसून का सामान्य से कम आना
  • मानसून का देरी से आना
  • वर्षा का कम होना
  • अल नीनो की स्थिति
  • तापमान में वृद्धि
  • तापमान वृद्धि से वाष्पीकरण में वृद्धि

सूखे के प्रभाव

  • समुद्री जल वायु का प्रभाव होने के बावजूद यहां सूखे की वजह से जलाशयों में पानी कम होने लगा है !
  • नदियों का जलस्तर कम होने से समुद्र का खारा पानी प्रवेश करने लगा है जिससे स्वच्छ जल के स्रोत सीमित हो रहे हैं !
  • मिट्टी में कम नमी से फसलों की उत्पादकता कम हो रही है ! उदाहरण स्वरूप चीनी उत्पादन में 30% की कमी हुई है !
  • वर्षा कम होने और नदियों में जल की कमी से नदियों का डेल्टा क्षेत्र प्रभावित हो रहा है उदाहरण स्वरूप लोअर मकांग बेसिन सूख रहा है !

सूखे के प्रकार

  1. मौसमी सूखा- अपेक्षा से 75% कम वर्षा की स्थिति
  2. जलीय सूखा- मौसमी सूखा जब बढ़ जाता है तो नदी, तालाब, झील, सूख जाते हैं !
  3. कृषिगत सूखा- नमी कम होने पर फसल का विकास प्रभावित
  • यह सूखा इसलिए गंभीर है क्योंकि सागरीय प्रभाव के कारण यह क्षेत्र पर्याप्त वर्षा प्राप्त करता आया है !
  • यहाँ की अर्थव्यवस्थाओं का आधार यह वर्षा ही ऐसे में यह अवस्था दीर्घकालिक तौर पर यहां कई प्रकार की समस्या को जन्म दे सकता है !
  • भविष्य मे क्या करने की अवश्यकता है ?