Daily Current Affairs for UPSC, IAS, State PCS, SSC, Bank, SBI, Railway, & All Competitive Exams - 20 November 2019


Daily Current Affairs for UPSC, IAS, State PCS, SSC, Bank, SBI, Railway, & All Competitive Exams - 20 November 2019



जलियावाला बाग राष्ट्रीय स्मारक (संशोधन) विधेयक 2019

  • लोकसभा से पहले ही पारित हो चुके इस विधेयक को राज्यसभा से भी मंजूरी मिल गई है
  • पिछले सत्र में 7 अगस्त को पर्यटन मंत्री प्रहलाद सिंह पटेल ने राज्य सभा में प्रस्तुत किया था।
  • जलियावाला बाग में 13 अप्रैल 1919 को मारे गये और घायल हुए लोगों की स्मृति में राष्ट्रीय स्मारक के निर्माण का 1951 का अधिनियम प्रावधान करता है।
  • इसी अधिनियम के तहत स्मारक के प्रबंधन के लिए एक टूस्ट का भी प्रापधान है।

टूस्टीज में निम्नलिखित शामिल

  • अध्यक्ष के रूप में प्रधानमंत्री
  • लोक सभा में विपक्ष का नेता या सबसे बड़े दल का नेता
  • भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के अध्यक्ष भी सदस्य होते थे, जिनका नाम अब हटा दिया गया है।
  • पंजाब के गवर्नर एवं मुख्यमंत्री
  • केन्द्र सरकार द्वारा नामित तीन सदस्य, कार्यकाल 5 साल, पहले भी बिना कारण बताये हटाना जा सकता है।
  • शहीदों के परिवार के लोगों को भी न्यास का सदस्य बनाये जाने का सुझाव आया।

International Seeds Treaty

  • अधिकारिक नाम - इंटरनेशनल ट्रिटी ऑफ प्लांट जेनेटिक रिसोर्सेज फॉर फूड एंड एग्रीकल्चर (ITPGRFA)
  • इसके गवर्निंग बॉडी का 8वां सेशन रोम (इटली) में 11 से 16 नवंबर 2019 को आयोजित हुआ। प्रत्येक 2 साल में 1 बार बैठक
  • इसे FAO (फूड एंड एग्रीकल्चर ऑर्गनाइजेशन) के 31वें अधिवेशनम में 3 नवंबर 2001 को अपनाया गया था।
  • महत्वपूर्ण बिंदु -
  • हस्ताक्षर 2001
  • प्रभावी 2004
  • सदस्य 146
  • पहला सम्मेलन - 2006-मैड्रिड (स्पेन)
  • दूसरा सम्मेलन - 2007- रोम इटली
  • उद्देश्य - खाद्य सुरक्षा प्रदान करना, प्लांट एवं फसलों के जेनेटिक मेटेरियल के विनिमय एवं समावेशी प्रयोग को बढ़ाना
  • किसानों के परंपरागत ज्ञान एवं कानूनी अधिकार का संरक्षण
  • किसानों/फार्मर या संबंधित व्यक्ति के लाभों, जानकारियों का संरक्षण
  • पौधों या जेनेटिक मैटेरियल को यूज करने पर होने वाले लाभ में भागीदारी सुनिश्चित करना
  • प्लांट जैनेटिक मैटेरियल के संरक्षाण के लिए जो विधि राष्ट्रीय स्तर पर बनायी जायेगी, उसमें भागीदारी सुनिश्चित करना

Comprehensive National Nutrition Survey

  • भारत में अल्प पोषण की समस्या बहुत जटिल है।
  • बिना पोषक तत्व के भोजन की मात्र कितनी भी हो कम फायदेमंद होती है।
  • कम लंबाई, दुबले-पतले, मोटापा ग्रस्त बच्चों की संख्या बढ़ रही है
  • यह रिपोर्ट स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा जारी की गई है
  • ग्लोबल हंगर इंडेक्स 2019 में भारत की रेंक 102वीं है जो 117 देशों को मिलाकर बनायी गई थी।
  • 2005-06 - 2015-16 बच्चों में Stunting 10% कम हुई है। जबकि अंडरवेट में कमी लगभग 7% हुई है।
  • Wasting (लंबाई के अनुसार वजन नहीं बढ़ना) की समस्या में बहुत कम सुधार - सिर्फ 1%
  • 2015-16 के बाद से अब तक Wasting की समस्या में 4% की गिरावट
  • पिछले 22 माह में 6 राज्यों में Wasting की समस्या में 10% से अधिक गिरावट आई है। - UT, ARP, GJ, PB, HR
  • सबसे अच्छा सुधार उत्तराखंड में - 14%
  • कारण - मात्र शिक्षा का अभाव (यदि 12 पास - 19% एवं अशिक्षित होने पर 46%)
  • अमीर-गरीब का गैप बढ़ना
  • एक ही प्रकार के भोजन की प्रवृप्ति
  • जंक फूड का बढ़ता कल्चर