Daily Current Affairs for UPSC, IAS, State PCS, SSC, Bank, SBI, Railway, & All Competitive Exams - 19 October 2019


Daily Current Affairs for UPSC, IAS, State PCS, SSC, Bank, SBI, Railway, & All Competitive Exams - 19 October 2019



FATF (Financial Action Task Force on Money Laundering)

स्थापना- 1989 (आज से 30 साल पहले) (ळ7 सम्मेलन के दौरान)
Purpose-
Combat Money Laundring and Terrorism Financing आतंकवाद इसी के वजह से ही संभव हो पाता है।
मुख्यालय-
पेरिस फ्रांस
सदस्य- 39-इसमें दो संगठन भी है- यूरोपीय यूनियन एवं गल्फ कॉपरेशन (GC)

  • यह देश नजर रखते हैं मनी लांड्रिग और आतंकवाद के स्रोत पर।
  • जो देश ऐसा करते हुए पाये जाते हैं उनके लिए दो लिस्ट में ग्रे लिस्ट (जून 2018 पाकिस्तान, इथियोपिया, सर्बिया, श्रीलंका, सीरिया, यमन) एवं ब्लैक लिस्ट (नार्थ कोरिया, ईरान) में शामिल किया जाता है।
  • इससे संबंधित देश को लोन प्राप्ति में कठिनाई होती है, निवेश कम होता है, क्रेडिट रेटिंग कम कर दी जाती है-रेटिंग एजेंसियों के द्वारा।
  • FATF- President Xiangmin Liu ने फरवरी 2020 तक का समय पाकिस्तान को दिया है।
  • USA एवं इंडिया ने पाकिस्तान को ठसंबा स्पेज में शामिल करने का प्रस्ताव रखा था।
  • मलेशिया एवं तुर्की ने शामिल न किए जाने के पक्ष में वोट किया जबकि चीन तटस्थ बना रहा।

नासा की महिला यात्रियों (क्रिस्टिना कोच और जेसिका मीर) ने पहली बार स्पेस वॉक किया

  • Space Walk?- अंतरिक्ष यान से अंतरिक्ष यात्री जब बाहर कदम रखते हैं तो यह स्पेस वॉक कहलाता है। इसे (EVA (Extra Vehicular Activity) के नाम से भी जाना जाता है।
  • प्रथम अंतरिक्ष यात्री- एलेक्सी लियोनोव (रूस), 18 मार्च, 1965, 10 मिनट
  • स्कॉट कैली- सबसे लंबे समय (340 दिन) तक स्पेस स्टेशन में रहने वाली महिला।
  • पेंगी व्हिटसन- 288 दिन रह चुकी हैं।
  • इंटरनेशनल स्पेस स्टेशन में Power System की कुछ खराबी थी।
  • सोलर पैनल में लगी लीथियम आयन बैटरी को दुरूस्त करना था।
  • 14 मार्च 2019 को क्रिस्टिना कोच अंतर्राष्ट्रीय अंतरिक्ष स्टेशन को पहुँची। वह फरवरी 2020 तक वहाँ रहेंगी। पेंगी व्हिटसन का रिकॉर्ड तोडेंगी।

अयोध्या विवाद की पृष्ठभूमि

  • 1528: माना जाता है कि मुगल शहंशाह बाबर ने अयोध्या में राम मंदिर ढहाकर बाबरी मस्जिद बनवाई
  • 1813: हिन्दू संगठनों ने दावा किया कि विवादित स्थल रामजन्मस्थान है, यहां भव्य राममंदिर हुआ करता था।
  • 1859: ब्रिटिश हुकूमत ने विवादित स्थल पर बाड़ लगाते हुए उसके भीतरी हिस्से में मुसलमानों और बाहरी हिस्से में हिंदुओं को प्रार्थना की अनुमति दी।
  • 1885: निर्मोही अखाड़े के महंत रघुबर दास ने राम चबूतरे पर मंदिर निर्माण की अनुमति के लिए मुकदमा दायर किया, अदालत ने उसकी मांग ठुकराई।
  • 1949: 22 दिसंबर की रात मस्जिद में राम, सीता और लक्ष्मण की मूर्तिया रख दी गईं, 29 दिसंबर को संपत्ति कुर्क करते हुए वहां रिसीवर बैठा दिया गया।
  • 1950: गोपाल दास विशारद ने मूर्तियों की पूजा की अनुमति मांगी, कोर्ट ने कहा-विवादित स्थल पर सिर्फ पुजारी पूजा करेगा, जनता बाहर से दर्शन करेगी।
  • 1959: निर्मोही अखाड़े ने विवादित स्थल पर दावा ठोका, 1961 में सुन्नी सेंट्रल वक्फ बोर्ड ने बाबरी मस्जिद के मालिकाना हक के लिए मुकदमा दायर किया।
  • 1986: फरवरी में फैजाबाद के जिला जज ने विवादित स्थल पर पूजा की इजाजत दी, विहिप नेता ने रामलला की तरफ से मंदिर पर दावे का मुकदमा किया।
  • 1989: नवंबर में बाबरी मस्जिद से थोड़ी दूर पर राम मंदिर का शिलानयास किया गया।
  • 1990: लालकृष्ण आडवाणी ने 25 सितंबर को सोमनाथ से रथयात्र शुरू की, पूरे देश में राममंदिर के लिए माहौल बनाना था मकसद, 23 अक्तूबर को बिहार में गिरफ्रतार हुए, 30 अक्तूबर को अयोध्या में श्रीराम जन्मभूमि आंदोलन के लिए पहली कारसेवा हुई, कारसेवकों ने मस्जिद पर चढ़कर झंडा फहराया, जिससे दंगे भड़क गए।
  • 1992: 6 दिसंबर को कारसेवकों ने बाबरी मस्जिद ढहाई, देश भर में सांप्रदायिक दंगे भड़के।
  • 2003: उच्च न्यायालय ने विवादित स्थल पर खुदाई करवाई, ताकि पता चल सके कि वहां राममंदिर था या नहीं।
  • 2010: उच्च न्यायालय ने विवादित स्थल को रामलला विराजमान, निर्मोही अखाड़ा और सुन्नी वक्फ बोर्ड में बराबर बांटने का फैसला दिया।
  • 2011: उच्चतम न्यायालय ने इलाहाबाद उच्च न्यायालय के फैसले पर रोक लगाई।
  • 2019: मध्यस्थता की कोशिश नाकाम होने पर मामले की नियमित सुनवाई शुरू हुई, 16 अक्तूबर को सुनवाई खत्म हुई, फैसला सुरक्षित।

विवाद क्या?

  • 30 सितम्बर 2010 को इलाहाबाद हाई कोर्ट ने अयोध्या विवाद पर फैसला दिया।
  • विवादित 2.77 एकड़ भूमि को 3 बराबर भागों में बांटना:-
  • भाग-1 राममूर्ति का रामलला विराजमान को दिया गया।
  • भाग-2 निर्मोही अखाड़े को राम चबूतरा और सीता रसोई।
  • भाग-3 तीसरा भाग सुन्नी वक्फ बोर्ड को।
  •  आर्कियोलॉजिकल सर्वे ऑफ इंडिया की रिपोर्ट को फैसले का आधार बनाया।
  • इस फैसले को किसी पक्ष ने नहीं माना।
  • वर्तमान में 5 न्यायाधीशों की संवैधानिक पीठ द्वारा सुनवाई की अध्यक्षता
  • SC के मुख्य न्यायाधीश रंजन गोगोई द्वारा

अन्य सदस्य-

  • जस्टिस शरद अरविंद बोबडे (18 नवंबर) अगले CJI भारत के
  • जस्टिस अशोक भूषण
  • जस्टिस D.V. चंद्रचूड
  • जस्टिस नजीर