Daily Current Affairs for UPSC, IAS, State PCS, SSC, Bank, SBI, Railway, & All Competitive Exams - 13 May 2020


Daily Current Affairs for UPSC, IAS, State PCS, SSC, Bank, SBI, Railway, & All Competitive Exams - 13 May 2020



नेपाल में बढ़ता चीन का हस्तक्षेप

  • मध्य भारत के उत्तर में नेपाल एक स्थल अवरुद्ध देश है !
  • यह एक पर्वतीय देश है जहां संसार के 14 सबसे ऊंचे पर्वतीय क्षेत्र में से 8 यहीं स्थित है !
  • इस देश की राजधानी एवं सबसे बड़ा शहर काठमांडू है और 85% नागरिक हिंदू हैं ! प्रतिशत के आधार पर यह सबसे बड़ा ( 85%) हिंदू धर्मावलंबी राष्ट्र है !
  • मई 2008 तक यह एक संवैधानिक राजतंत्र था ! उसके बाद नेपाली संविधान सभा द्वारा नेपाल को गणतांत्रिक राज्य में बदल दिया गया !
  • नेपाल इस समय बहुदलीय प्रणाली के तहत संचालित होता है ! यहां राज्य का प्रमुख राष्ट्रपति ( विद्या देवी भंडारी) एवं कार्यपालिका प्रमुख ( सरकार का प्रमुख ) प्रधानमंत्री होता है ! वर्तमान समय में यहां के PM के. पी. शर्मा ओली हैं ! वैधानिक शक्ति संसद में निहित है !
  • यहां के उच्च सदन को नेशनल एसेंबली और निम्न सदन को हाउस ऑफ रिप्रेजेंटेटिव (Representatives) कहा जाता है !
  • इस समय नेपाल के निम्न सदन की 275 सीटों में से 174 सीटें नेपाल कम्युनिस्ट पार्टी और 63 सीटें नेपाली कांग्रेस बाकी अन्य के पास हैं !
  • नेपाल कम्युनिस्ट पार्टी (NCP) का निर्माण कम्युनिस्ट विचारधारा के सभी दलों का एक साथ आकर एक पार्टी के रूप में 17 मई 2018 को आने से हुआ था ! इसमें कम्युनिस्ट पार्टी ऑफ़ नेपाल ( यूनिफाइड मार्किस्ट- लेनिनिस्ट) और Communist Party Of Nepal ( maoist) प्रमुख हैं !
  • चीन ने 2017 में नेपाल के साथ अपनी बेल्ट एवं रोड परियोजना के लिए समझौता किया था !
  • इसी के साथ नेपाल में Cross-border इकोनमी जोन बनाने, रेलवे को विस्तार देने, हाईवे और एयरपोर्ट को विकसित करने का समझौता हुआ !
  • यहां कई स्कूलों में चीनी भाषा मंडारिन को भी पढ़ाना अनिवार्य कर दिया गया है जिसका खर्च की चीन की सरकार उठाती है !
  • चीन ने नेपाल की कानून प्रवर्तन एजेंसियों की क्षमता बढ़ाने और नेपाल ने अपनी धरती पर चीन विरोधी गतिविधियों की अनुमति न देने का वादा किया है !
  • वहां के लोगों का मानना है कि चीन नेपाल के लिए बहुत उपयोगी हो सकता है ! उनका कहना है कि चीन नेपाल के लिए सब कुछ बनाता है केवल पेट्रोल भारत से आता है !
  • वर्ष 2015 में आए भूकंप के बाद चीन ने बड़ी मात्रा में सहयोग और निवेश किया है और नेपाल का सबसे बड़ा FDI स्रोत भी है !
  • नेपाल में रह रहे तिब्बती लोग ( शरणार्थी) चीन का विरोध ना करें नेपाल की सरकार द्वारा इसका भी ख्याल रखा जाता है !
  • कुछ विश्लेषकों का कहना है कि नेपालियों को अब अपनी सरकार से ज्यादा चीन पर भरोसा हो गया है अर्थात चीन विकास कार्य में गति लाने में ज्यादा सक्षम है !
  • हाल ही में NCP पार्टी के बीच मतभेद पैदा हो गया और प्रधानमंत्री की कुर्सी अस्थिर दिखने लगी !
  • एक तरफ राष्ट्रपति एवं NCP प्रमुख के. पी. ओली (PM) थे दूसरी ओर NCP के ही कई बड़े नेता थे !
  • यहां दोबारा चुनाव कराए जाने की भी बातें उठने लगी थी !
  • चीन की एंबेसडर Hou Yanqi ने NCP के शीर्ष नेताओं के साथ कई मीटिंग की और NCP के मतभेद को दूर किया !
  • चीन के राष्ट्रपति शी-जिनपिंग ने भी प्रेस रिलीज कर वर्तमान सरकार पर भरोसा जताया और सरकार को काम करने देने की मंशा प्रकट की !
  • इस प्रेस रिलीज से NCP के असंतुष्ट नेताओं को निर्देशित किया गया !
  • हिमालय पर्वत का विस्तार नंगापर्वत से नामचाबरवा तक है !
  • इसकी औसत ऊंचाई 6000 मीटर एवं चौड़ाई 120 से 190 किलोमीटर तक है !
  • इसे कश्मीर या पंजाब हिमालय, कुमायूं हिमालय, नेपाल हिमालय तथा असम हिमालय के रूप में विभाजित किया जाता है !
  • नेपाल हिमालय का विस्तार काली और तीस्ता नदियों के बीच लगभग 800 किलोमीटर की लंबाई में है ! हिमालय का यह भाग कम चौड़ा लेकिन सर्वाधिक ऊंचाई वाला है !
  • यहीं पर दुनिया का सबसे ऊंचा पर्वत माउंट एवरेस्ट है ! जिसकी ऊंचाई 8848 मीटर माना जाता है !
  • नेपाल के लोग इसे सागरमाथा (Sagarmatha) के नाम से बुलाते हैं वही अंग्रेजी में इसे Mount-Everest तिब्बती भाषा में चोमोलूंगमा ( Chomolungma) और चीनी भाषा में Zhumulangma के नाम से जाना जाता है ! यह नेपाल- चीन सीमा पर स्थित है ! उत्तरी भाग चीन में एवं दक्षिणी भाग नेपाल के अंतर्गत आता है !
  • विश्व के पर्वतारोहियों के लिए यह बहुत बड़ा आकर्षक का केंद्र है !
  • एक पर्वतारोही के द्वारा लगभग 35-40 हजार डॉलर का भुगतान इसके लिए करना होता है ! सिर्फ एवरेस्ट के Climbing Permit के लिए 11,000 USD का भुगतान करना होता है !
  • लगभग 50 सालों में नेपाल इसके लिए कई प्रकार के आधारभूत संरचना का विकास किया है !
  • हाल के समय में चीन ने कहा कि वह माउंट एवरेस्ट ( चीनी शब्द Zhumulangma) की ऊंचाई नापने के लिए एक टीम भेजेगा ! टीम ने चढ़ाई प्रारंभ कर दिया है ! 1975 एवं 2005 में वह ऐसा कर चुका है !
  • इस टीम द्वारा भेजी गई तस्वीरें चीन की मीडिया में 2 मई को प्रकाशित की गई जिसमें उन्होंने यह लिखा कि है चीन के तिब्बत क्षेत्र में स्थित Zhumulangma की है ! अर्थात एवरेस्ट को पूर्णत: चीन का भाग बताया गया है !
  • इसके कारण एवरेस्ट की अवस्थिति को लेकर भारत, और चीन के सोशल साइट्स में काफी चर्चा रही लेकिन नेपाल की सरकार द्वारा कोई प्रतिक्रिया नहीं दी गई !
  • चीन ने एवरेस्ट का सामरिक उपयोग करना भी प्रारंभ कर दिया है ! उसने एवरेस्ट के उत्तरी हिसस्मे पर दुनिया का सबसे ऊंचा (6500 मीटर) 5G टावर लगा दिया है लेकिन नेपाल ने इस पर भी कोई प्रतिक्रिया नहीं दी है !
  • पर्वतों के संदर्भ में सामान्यतः सबसे ऊंचे भाग (चोटी) को अलग करने वाली सीमांत रेखा को आधार रेखा के रूप में माना जाता है !
  • 1961 में नेपाल और चीन ने यह निर्धारित किया कि उच्च पर्वतीय क्षेत्र को अलग करने वाले रेखा (ढ़ाल) को सीमा माना जाएगा !
  • समीक्षकों का मानना है कि चीन जिस तरह नेपाल पर अपना अधिकार जता रहा है उससे आने वाले समय में भारत के लिए कई प्रकार की चुनौतियां उत्पन्न हो सकती हैं और एवरेस्ट सामरिक महत्व का स्थल बन सकता है !
  • भारत से दूर जाते नेपाल को भी श्रीलंका की तरह कई चुनौतियों का सामना करना पड़ सकता है !