Daily Current Affairs for UPSC, IAS, State PCS, SSC, Bank, SBI, Railway, & All Competitive Exams - 13 January 2020


Daily Current Affairs for UPSC, IAS, State PCS, SSC, Bank, SBI, Railway, & All Competitive Exams - 13 January 2020



विश्व बैंक का ग्लोबल इकॉनामिक प्रोस्पेक्टस रिपोर्ट 2020

  • यह रिपोर्ट विश्व बैंक द्वारा वर्ष में दो बार जारी किया जाता है।
  • इस रिपोर्ट के माध्यम से वैश्विक अर्थव्यवस्था की स्थिति, संभावना, चुनौतियों एवं रणनीतियों का जिक्र किया जाता है।
  • इस रिपोर्ट के अनुसार 2020 में वैश्विक ग्रोथ 2.5% रहने की उम्मीद है।
  • यहाँ यह ध्यान देना आवश्यक है कि जून 2019 में जो रिपोर्ट आई थी उसमें यह वृद्धि 2.4% अनुमानित थी।
  • रिपोर्ट के अनुसार 2021 में यह वृद्धि 2.6 एवं 2020 में यह 2.7% अनुमानित है।
  • देशों को दो श्रेणियों में विभाजित किया गया है।
  • एडवांस इकॉनामी वाले देश (यूरोपीय पश्चिमी देश अमेंरीका) में वृद्धि दर सिर्फ 1.4% रहने की संभावना है। वहीं भारत, ब्राजील, दक्षिण अफ्रीका जैसे Emerging इकॉनामी वाले देशों में यह दर 4.1% तक रहने की संभावना है।
  • वर्ष 2020 में चीन की वृद्धि दर 5.9%, इन्डोनेशिया 5.1%, म्यामार की 6.7%, फिलीपींय की 6.1%, वियतनाम की 6.5%, रूस का 1.6%, ब्राजील का 2.0% ईरान 0% (शून्य) इराक का 5.1% रहने की संभावना है।
  • दक्षिण एशिया के देशों में
क्रमांक देश 2019/20  20/21  21/22
1  भारत  5.0%  5.8%  6.1%
2  बांग्लादेश  7.2%  7.3%  7.3%
3  पाकिस्तान  2.4%  3.0%  3.9%
4  नेपाल  6.4%  6.5%  6.6%
  • भारत की वृद्धि दर कम होने का प्रमुख कारण इस रिपोर्ट में NBFCS से वित्त प्रवाह की कमी एवं NBFCS संकट को बताया गया है।
  • इस रिपोर्ट में Global Debt Crisis की ओर इशारा विश्व बैंक द्वारा किया गया है।
  • 2018 के अभी तक पूरे आंकड़े आ चुके हैं उनका उल्लेख करते हुए बताया गया है कि 2018 Global Debt GDP 230% पहुँच गया है।
  • अगर हम इसे डॉलर में व्यक्त करें तो लगभग 190 ट्रिलियन डॉलर होगा, जबकि इस समय की वैश्विक GDP लगभग 80 ट्रिलियन डॉलर की है।
  • एक और चुनौती Slowing Productivity Growth को लेकर की गई है।
  • इसके वजह से गरीबी कम होने की दर कम हो गई है।
  • दोनों चुनौतियों की वजह से हम Global Financial Crisis की ओर बढ़ सकते हैं, जिसे रोकने की जरूरत है।
  • यह रिपोर्ट जब जारी की जाती है तब उसकी एक थीम रखी जाती है। इस बार की थीम Slow Growth, Policy Challenges रखा गया है।

केरल में बिल्डिंगो को क्यों गिराया जा रहा है?

  • केरल के कोच्ची के Maradu क्षेत्र में यह 4 बिल्डिंग को गिराया गया।
  • इसे प्रशासन के द्वारा सुप्रीम कोर्ट के आदेश के पालन में गिराया गया।
  • सुप्रीम कोर्ट ने यह पाया कि इन बिल्डिंगों को Coastal Regulation Zone (CRZ) में गैर वैधानिक तरीके से बनाया गया है।
  • यह बिल्डिंग तटीय जलीय क्षेत्र के बिल्कुल किनारे थी।
  • तट समुद्र और जमीन के बीच एक संक्रमण क्षेत्र होता है।
  • भारत की तटीय जलीय क्षेत्र के बिल्कुल किनारे थी।
  • तट समुद्र और जमीन के बीच एक संक्रमण क्षेत्र होता है।
  • भारत की तटीय सीमा 7516 किमी. है।
  • तटीय क्षेत्रों में निर्माण गतिविधियों के लिए भ्पही ज्पकम स्पदम ओर स्वू ज्पकम कांसेप्ट का प्रयोग किया जाता है।
  • भारत की लगभग 20 मिलियन आबादी तटीय क्षेत्र में रहती है।
  • इस संख्या के द्वारा बड़ी मात्रा में अपशिष्ट उत्पन्न किया जाता है।
  • मानवीय क्रियाओं द्वारा उत्पन्न नकारात्मक प्रभाव से बचाने के लिए पर्यावरण संरक्षण अधिनियम 1986 के अंतर्गत Coastal Regulation Zone को 1991 में अधिसूचित किया गया।
  • High Tide Line से 500 मीटर अंदर तक के एरिया को CRZ के अंतर्गत आता है। जहाँ पर ज्वार नहीं आते वहाँ 100 मीटर तक एरिया में अनेक प्रकार के रेगुलेशन लागू होते हैं।
  • जो बिल्डिंग गिरायी जा रही है वह इसी 100 मीटर के दायरे के नियमों / कानूनों का उल्लंघन करता है।
  • 1991 के नियमों में 2011 एवं 2018 में परिवर्तन किये गये लेकिन इसका उद्देश्य बड़े निर्माण को रोकना, उद्योगों की स्थापना पर विनियमन लागू करना, खनन, अपशिष्ट नियंत्रण आदि है।
  • 2011 एवं 2018 के कानूनी परिवर्तनों में 2 कमेंटियों का योगदान प्रमुख है। यह है Dr. MS स्वामिनाथन कमेंटी एवं शैलेश नायक कमेटी।

विक्रमादित्य पर तेजस की सफलतापूर्वक लैंडिंग

  • INS विक्रमादित्य एयरक्राफ्ट कैरियर पर तेजस ने सफलतापूर्वक लैंडिंग करके भारतीय नेवी की मजबूती को बढ़ाया है।
  • विक्रमादित्य भारत का एकमात्र एयर क्राफ्ट कैरियर है।
  • एयरक्राफ्ट कैरियर पानी के लड़ाकू जहाज होते हैं, जिसका मुख्य काम लड़ाकू हवाई जहाजों को लैंडिंग एवं टेक-ऑफ के लिए जगह प्रदान करना होता है।
  • यह चलता फिरता समुद्री एयर बेस होता है।
  • विक्रमादित्य पर सामान्यतः 26 MIG-29K फाइटर प्लेन एवं 10 KAMOV हेलीकॉप्टर तैनात कर सकते हैं।
  • भारत के पास अभी मात्र एक ही एयरक्राफ्ट कैरियर है। वही चीन के पास 2, यू. के. के पास 2, रूस के पास 1, यू. एस. ए. के पास 11 है।
  • विश्व में कुल एक्टिव एयरक्राफ्ट कैरियर 22 है।
  • भारत के दो एयरक्राफ्ट कैरियर निर्माणाधीन है। यह है INS विक्रांत और INS विशाल
  • तेजस
  1. पहली उड़ान- 4 जनवरी 2001 को
  2. इसका नाम तेजस पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी ने तेजस दिया था, इसका अर्थ अत्यधिक ताकतवर ऊर्जा वाला।
  3. इसका निर्माण Light Combat Aircraft के तहत किया गया है।
  4. इसका उद्देश्य MIG-21 फाइटर प्लेन को रिप्लेस करना था।
  5. निर्माण- Hindustan Aeronautics Limited (HAL) द्वारा किया गया है।