Daily Current Affairs for UPSC, IAS, State PCS, SSC, Bank, SBI, Railway, & All Competitive Exams - 12 May 2020


Daily Current Affairs for UPSC, IAS, State PCS, SSC, Bank, SBI, Railway, & All Competitive Exams - 12 May 2020



सीमा पर अधिक सैनिकों की नियुक्ति करेगा नेपाल

  • अनुच्छेद 370 में परिवर्तन कर भारत सरकार ने जम्मू-कश्मीर को दो भागों में विभाजित कर जम्मू-कश्मीर और लद्दाख के रूप में 2 केंद्र शासित प्रदेशों का निर्माण किया !
  • इसलिए मैप की आवश्यकता थी जिसके माध्यम से इसका सीमांकन हो सके !
  • भारत सरकार ने 2 नवंबर को देश का नया नक्शा जारी किया जिसमें 28 राज्यों एवं 9 केंद्र शासित क्षेत्रों को दिखाया गया !
  • एक नक्शे में पाकिस्तान के कब्जे कश्मीर को हमारे केंद्र शासित प्रदेश जम्मू-कश्मीर के हिस्से के रूप में एवं गिलगिट बाल्टिस्तान क्षेत्र को लद्दाख क्षेत्र में प्रदर्शित किया गया !
  • पाकिस्तान के साथ-साथ नेपाल ने भी इस मैप पर अपनी आपत्ति दर्ज की !
  • नेपाल के साथ विवाद यहाँ कालापानी नामक क्षेत्र को लेकर है !
  • कालापानी क्षेत्र भारत एवं नेपाल की सीमा के पास स्थित लगभग 372 वर्ग किलोमीटर का क्षेत्र है !
  • भारत का दावा है कि कालापानी क्षेत्र उत्तराखंड के पिथौरागढ़ जिले का भाग है वही नेपाल का दावा यह रहता है कि यह उसका पश्चिमी क्षेत्र है और उसके Darchula ( दार्चुला ) जिले का भाग है !
  • दरअसल इस क्षेत्र में शारदा नदी ( कालीनदी या महाकाली नदी ) की एक शाखा कालापानी रिवर (नदी) प्रवाहित होती है, इसी नदी के नाम पर इस क्षेत्र को कालापानी के रूप में जाना जाता है ! यह भारत-चीन-नेपाल के ट्राई जंक्शन पर स्थित है !
  • 1962 में भारत चीन युद्ध के दौरान भारत ने अपना बेस बनाकर चीन के आक्रमण का सामना किया ! यह क्षेत्र का सबसे ऊंचा क्षेत्र है जिसके कारण जिसका भी इस पर नियंत्रण होगा उसे फायदा मिलेगा !
  • युद्ध के बाद भारत ने यहां अपना स्थाई पोस्ट बनाया जिसका उस समय विरोध नेपाल द्वारा नहीं किया गया और अब यह क्षेत्र 1962 से ही इंडो- तिब्बतन बॉर्डर पुलिस के पास है !
  • नेपाल भारत सरकार पर 1816 कि सुगौली संधि के उल्लंघन का भी आरोप लगाता है !
  • यह संधि 1816 में नेपाल सरकार और तत्कालीन ईस्ट इंडिया कंपनी के बीच हुआ था ! नेपाल का कहना है कि इस संधि के अनुसार यह क्षेत्र नेपाल का हिस्सा है !
  • हालांकि इस संधि के आर्टिकल 5 में यह भी कहा गया है कि नेपाल कालीनदी (अब महाकाली नदी) के पश्चिम में पढ़ने वाले इलाके में अपना दावा नहीं करेगा !
  • विवाद की एक प्रकृति प्राकृतिक भी है ! दरअसल यह पहाड़ी नदी बराबर अपना रास्ता बदलती रहती है ऐसे में बॉर्डर में थोड़े बहुत बदलाव आते रहते हैं ! वही नदी की कौन सी शाखा में सीमांकन किया जाए यह भी निश्चित नहीं है !
  • 1860 के दशक में पहली बार इस इलाके की जमीन का सर्वे हुआ था !
  • वर्तमान क्षेत्र को 1929 में भारत ( ब्रिटिश भारत ) का हिस्सा घोषित किया गया था और नेपाल ने भी इसकी पुष्टि की थी !
  • वर्तमान एक दशक के दौरान समय-समय पर मुद्दा उठता रहता है वर्ष 2017 में डोकलाम विवाद के समय भी चीन ने इस मुद्दे को उठाया था !
  • कालापानी विवाद नेपाल में एक राजनीतिक मुद्दा भी है ! दरअसल वहां भारत विरोधी राजनीतिक पार्टियां इसे बहुत मजबूती से उठाती रहीं हैं !
  • हाल ही भारत सरकार द्वारा कैलाश मानसरोवर सड़क मार्ग के संबंध में भारत से नेपाल ने किसी भी गतिविधि को न करने को कहा है !
  • नेपाल की सरकार ने इसे भारत पर उसकी संप्रभुता को कम करने का आरोप लगाया है !
  • नेपाल के अनुसार धारचूला को लिपुलेख दर्रा से जोड़ने वाली 80 किलोमीटर लंबी सड़क पूर्ण रूप से एकतरफा कृत्य है और यह सीमा विवाद का समाधान करने वाली नीति के पूर्णत: विपरीत है !
  • नेपाल की सरकार ने यह भी कहा है कि भारत सरकार द्वारा प्रकाशित नए मान चित्रों की भिन्नता से स्पष्ट था कि भारत ने इस क्षेत्र के मानचित्र में छेड़खानी की है !
  • नेपाल सरकार ने कहा है कि मैत्रीपूर्ण संबंधों की भावना को ध्यान में रखते हुए ऐतिहासिक संधि, दस्तावेजों और तथ्यों, एवं नक्शों के आधार पर कोई समाधान किया जाना चाहिए !
  • वहीं भारत के विदेश मंत्रालय ने जारी मैप और निर्माण कार्य को उचित और वैध ठहराया है और कहा है कि नेपाल के साथ सीमा परिसीमन ( Boundary Delineation ) का कार्य जारी है और भारत कूटनीतिक संवाद के माध्यम से सीमा मुद्दों को हल करने के लिए प्रतिबद्ध है !
  • हालांकि इन सकारात्मक स्टेटमेंट के पीछे भी बहुत कुछ चल रहा है !
  • द हिंदू को नेपाल के Foreign Minister Pradeep Gyawali ने एक इंटरव्यू दिया है जिसमें उन्होंने कहा है कि नेपाल अब ऐसे किसी भी निर्माण कार्य को स्वीकार नहीं करेगा इसलिए वह अपने पश्चिमी हिस्से में अधिक सैनिकों को तैनात करेगा जिससे किसी भी अतिक्रमण को रोका जा सके !
  • नेपाल सरकार ने अभी कहा है कि इस समय बॉर्डर पर लगभग 120 पोस्ट है जिसे हैं जिसे वह बढ़ाएगा और उन सभी क्षेत्रों में पोस्ट का निर्माण करेगा जिसे वह अपना मानता है ताकि वह इसकी सुरक्षा कर सके !
  • यदि ऐसा होता है तो दोनों देशों के बीच संबंध बहुत ज्यादा तनावपूर्ण हो सकता है !
  • अधिकांश समीक्षक इसमें चीन की भूमिका देख रहे हैं ! दरअसल चीन भारत को घेरने के लिए नेपाल का प्रयोग कर रहा है इसलिए डोकलाम विवाद के समय भी इस मुद्दे को उसने उठाया था !
  • चीन ने नेपाल में अरबों डालर का निवेश किया है लगभग 60 बिलियन का सहयोग दिया है और अब वहां की राजनीति में हस्तक्षेप भी कर रहा है यही कारण है कि नेपाल भारत से दूर होता जा रहा है तो चीन के करीब !