Daily Current Affairs for UPSC, IAS, State PCS, SSC, Bank, SBI, Railway, & All Competitive Exams - 09 May 2020


Daily Current Affairs for UPSC, IAS, State PCS, SSC, Bank, SBI, Railway, & All Competitive Exams - 09 May 2020



पर्ल हार्बर अटैक (PEARL HARBOR ATTACK)

  • अमेरिका शुरू से ही कोरोनावायरस की वजह चीन को बताता आ रहा है !
  • Five Eyes के देशों ने चीन पर प्रतिबंध की बात भी आगे बढ़ा दिया है तो अब अमेरिका ने इसे अपने ऊपर अमेरिकी इतिहास का सबसे बड़ा हमला बताया है !
  • ट्रंप ने इससे अमेरिका पर हुए पर्ल हार्बर अटैक और 9/11 वर्ल्ड ट्रेड सेंटर के हमले से भी बड़ा हमला बताया है !
  • कोरोना वायरस को प्रारंभिक स्थान पर ही रोका जा सकता था !
  • जापान एक द्वीपीय देश है ! जहां अधिकांश द्वीपों का निर्माण ज्वालामुखी क्रिया से हुआ है !
  • यहां चार बड़े द्वीप होंशू, होक्केड़ों, क्यूशू, और शिकोकू है, जिनका विस्तार जापान के 97% भाग पर है !
  • जापानी अपने देश को निप्पन के नाम से ही पुकारते हैं जिसका अर्थ सूर्योदय वाला देश है !
  • यहां के लोगों को दुनिया में सर्वाधिक मेहनती होने का खिताब प्राप्त है !
  • यहां के इतिहास का प्रारंभ 960 ईसा पूर्व जिम्मू नामक एक सम्राट के गद्दी पर बैठने से प्रारंभ होता है !
  • अन्य देशों की तरह ही यहां भी शासन परिवर्तन और समुदाय के बीच संघर्ष चलते रहे, और सत्ता परिवार तक सीमित रही !
  • पांचवी शताब्दी में यहां के लोग चीन और कोरिया के संपर्क में आए !
  • यहां से (चीन) शासन नीति जापानियों से सीखा लेकिन सत्ता पहले की तरह परिवार के पास ही रही !
  • यहां " मीनामोतो" जाति के एक नेता योरितोमे ने 1192 ईस्वी में एक क्षेत्र में (कामकुरा) सैनिक शक्ति स्थापित किया और फिर कई ऐसे शासक अलग-अलग क्षेत्र में उभरे और 600 वर्ष के लिए यह देश सामंती प्रथा ( सैनिक शासन) के अधीन चला गया ! राजा नाम मात्र का होता था !
  • 1590 में हिदेयोशी तोयोतोमी ने सत्ता को संगठित किया और जापान को संगठित किया !
  • सत्ता संगठित होने के बाद आर्थिक प्रभुत्व बढ़ाने की प्रक्रिया यहां 1603 में तोगुकावा वंश के सत्ता पर काबिज होने पर प्रारंभ होती है !
  • इस वंश ने लगभग 250 साल में सभी प्रकार के बाहरी हस्तक्षेप से खुद को बचाया तथा गृह उद्योगों की वृद्धि की ! हालांकि इसी समय एक और घटना हुई ! 1853 में USA ने इसकी इकॉनमी खोलने का दबाव जापान पर बना लिया !
  • 1868 में सम्राट मीजी ने सत्ता पर कब्जा किया और आक्रामक नीति का यहां से प्रारंभ हुआ !
  • 1880 के दशक में जापान का नया संविधान बना और देश को संगठित करके सत्ता को आगे बढ़ाया गया ! इसी समय इंपीरियल आर्मी ऑफ जापान की स्थापना की गई !
  • जापान के नए संविधान, एकीकरण की नीति, और आक्रामक राष्ट्र नीति ने जापान को कुछ समय में ही बहुत मजबूत बना दिया !
  • इसके बाद जापान ने अपने विस्तार की नीति अपनाई !
  • 1894-95 में इसने कोरिया के प्रश्न पर चीन को और 1904-05 में मंचूरिया और कोरिया के मुद्दों पर इस ने रूस को हराया ! और कोरिया तथा मंचूरिया पर जापान का अधिकार हो गया !
  • प्रथम विश्वयुद्ध में इसने बहुत ही सीमित रूप में भाग लिया और विश्व युद्ध के दौरान और इसके बाद इसने अपनी अर्थव्यवस्था को तेजी से बढ़ाया और औद्योगीकरण का विस्तार किया !
  • 1936 तक देश की राजनीति सैनिक अधिकारियों के हाथ में आ गई !
  • इसके बाद अपनी आंतरिक परेशानियों (Economic and Demographic ) को दूर करने का एक विकल्प पड़ोसी क्षेत्रों के अधिग्रहण के रूप में देखा इन सब से USA बहुत नाराज था और वह जापान को रोकना चाहता था !
  • 1937 में जापान ने चीन पर पुनः आक्रमण कर दिया और मानवता की सारी हदें पार कर दी ! Nanking Massacre पूरे विश्व में चर्चा का कारण बन गया !
  • USA इस हमले से पहले से ही चीन को सपोर्ट कर रहा था, इससे भी जापान नाराज था ! क्योंकि वह अपने आप को पूर्वी एशिया का एकमात्र शक्ति मानता था !
  • इस हमले के बाद USA ने जापान पर अनेक प्रकार के आर्थिक प्रतिबंध लगा दिए !
  • इससे जापान का व्यापार, आयात, ऊर्जा, अर्थव्यवस्था, क्षेत्र का प्रसार सब प्रभावित होने लगा !
  • 1939 में जर्मनी ने द्वितीय विश्वयुद्ध प्रारंभ कर दिया !
  • इस युद्ध में जर्मनी, जापान, इटली ने एक साथ मिलकर युद्ध लड़ा !
  • जर्मनी ने ब्रिटेन को छोड़कर लगभग पूरे यूरोप को जीत लिया !
  • इटली अफ्रीका में और जापान एशिया में अपना विस्तार और दबदबा बना रहे थे !
  • जापान ने एशिया प्रशांत क्षेत्र पर अपनी पकड़ मजबूत करना प्रारंभ कर दिया ! जो USA को पसंद नहीं था !
  • ब्रिटिश अधिकार वाले बहुत से क्षेत्र पर जापान ने कब्जा कर लिया !
  • बढ़ते तनाव को कम करने के लिए जापान और USA ने बातचीत प्रारंभ किया ! लेकिन जापान का मनोबल इस समय अपने शिखर पर था ! इस कारण 1941 के प्रारंभ से ही जापान ने अपने ऊपर लगाए गए प्रतिबंध का बदला लेने और एशिया प्रशांत क्षेत्र पर एकक्षत्र राज कायम करने के उद्देश्य से USA पर आक्रमण करने की राजनीति बनाने लगा तो साथ ही USA से बातचीत भी करता रहा जिससे USA को शंका ना हो !
  • इस समय हवाई द्वीप पर स्थित Pearl Harbor यू.एस.ए का प्रमुख नेवी बेस था ! यह एक बंदरगाह भी था !
  • जापान ने अपने सैनिकों और जहाजों को इसके लिए प्रशिक्षित करना और रणनीति बनाना प्रारंभ कर दिया !
  • उद्देश्य रखा गया USA कि नेवी को बर्बाद करना ! जिससे एशिया प्रशांत क्षेत्र में सिर्फ एक मजबूत सकती बचे !
  • जापान की नेवी यहां आमने-सामने लड़ नहीं सकती थी इसलिए हवाई हमला करने की रणनीति बनाई गई !
  • 7 दिसंबर 1941 रविवार के दिन सुबह 8:00 बजे पर्ल हार्वर पर जापान ने हमला कर दिया ! इसमें 180 जापानी जहाजों ने 4000 मील की दूरी तय किया 1000 लोग लापता हो गए !
  • 300 हवाई जहाज, 20 अमेरिकन Naval Vessels USA के बर्बाद हो गए ! लगभग 2400 अमेरिकन की मौत हो गई !
  • रविवार का दिन छुट्टी का दिन था और अमेरिका इसके लिए तैयार नहीं था !
  • USA ने थोड़ा संभलने का प्रयास किया लेकिन उसके सभी हवाई जहाज लगभग बर्बाद हो चुके थे ! फिर भी लगभग 25 जापानी जहाजों को USA ने मार गिराया !
  • दोपहर 12:00 बजे फिर से जापान का यहां हमला हुआ और आम नागरिक भी निशाना बनाए गए !
  • तीसरा अटैक 1.30 बजे होना था लेकिन जापान को लगा कि वह USA के एयरक्राफ्ट को नष्ट कर चुका है इसलिए उसमे तीसरा हमला नहीं किया !
  • राष्ट्रपति फ्रैंकलिन रूजवेल्ट एकदम स्तब्ध हो गए ! उन्हें एक चिंता यह भी थी कि यदि इसी समय जर्मनी भी USA पर हमला कर दे तो दो मोर्चों पर एक साथ अमेरिका को लड़ना भारी पड़ जाएगा !
  • इसके लिए राष्ट्रपति ने ब्रिटेन के प्रधानमंत्री विंस्टन चर्चिल से भी बात किया और उन्हें अपने साथ लिया !
  • अगले दिन कांग्रेस की बैठक बुलाई गई और उसमें रूज़वेल्ट ने कहा कि अमेरिका यह दिन कभी नहीं भूलेगा ! और USA ने यहां से अपने को दूसरे विश्व युद्ध में शामिल घोषित किया !
  • दूसरे विश्व युद्ध में नाजी जर्मनी समर्पण कर चुका था लेकिन तत्कालीन राष्ट्रपति हैरी ट्रूमेन के सामने जापान अभी चुनौती बना हुआ था ! और प्रत्येक जापानी पूरी शिद्दत से युद्ध में लड़ रहा था वह सुसाइड अटैक तक कर रहा था !
  • अमेरिकी वैज्ञानिक जुलाई 1945 में परमाणु बम का सफल परीक्षण कर चुका था ऐसे जापान से चुनौती समाप्त करने के लिए ट्रूमेन ने अपने युद्ध सचिव हेनरी स्टीमसन की अध्यक्षता में जापान पर परमाणु हमला करने पर विचार करने के लिए कमेटी गठित की जिसने हमला करने के लिए सहमति भी दे दी !
  • दरअसल इस रिपोर्ट में यह भी सामने आया कि अमेरिका मनोवैज्ञानिक रूप से यह महसूस करने लगा था कि बगैर परमाणु बम के उपयोग के जापान का समर्पण नहीं करवाया जा सकता है !
  • 6 अगस्त 1945 को जापान में हिरोशिमा शहर पर परमाणु बम गिराया जिसमें 80 हजार लोगों की तुरंत मौत हो गई और रेडिएशन से यह दो लाख पहुंच गया !
  • 3 दिन बाद 9 अगस्त को नागासाकी पर फिर परमाणु हमला किया गया और 14 अगस्त को जापान ने समर्पण कर दिया !