(डेली न्यूज़ स्कैन - DNS हिंदी) भारत नवाचार सूचकांक 2019 (India Innovation Index 2019)


(डेली न्यूज़ स्कैन - DNS हिंदी) भारत नवाचार सूचकांक 2019 (India Innovation Index 2019)


महत्वपूर्ण बिंदु

  • इस वर्ष का India innovative index, Niti Ayog और Institute for competitiveness ने मिलकर प्रकाशित किया।
  • इस सूची का उद्देश्य भारतीय राज्यों और केन्द्रशासित प्रदेशों में Innovation यानि नवाचार के माहौल की जाँच करना है।

हमारे आज के DNS कार्यक्रम में हम Indian Innovative Index के विभिन्न पहलुओं को जानने का प्रयास करेंगे साथ ही यह भी जानेंगे कि इसका भारतीय नवाचार में क्या प्रभाव पड़ेगा।

  • नीति आयोग की यह पहल global innovative index की तर्ज पर ही है जो राज्यों के मध्य innovation के क्षेत्रा में प्रतिस्पर्धात्मक भावना को पैदा करेगा।
  • इस सूची के माध्यम से क्षेत्रीय स्तर पर नवाचार की चुनौतियों का सामना करने में मजबूती मिलेगी।
  • इस सूची में राज्यों को तीन भागों में विभक्त किया गया है-
  1. बड़े राज्य
  2. उत्तर पूर्वी और पहाड़ी राज्य
  3. केन्द्रशासित प्रदेश और छोटे राज्य
  • इस सूची का आकलन दो मुख्य पहलुओं को ध्यान में रखकर किया गया है- Enablers और Performers Enablers में उन पहलुओं को ध्यान में रखा जाता है जिनकी जरूरत एक राज्य को नवोन्मेष के क्षेत्र में बेहतर प्रदर्शन करने के आवश्यक है जैसे पूँजी, योग्य कर्मचारी इत्यादि।
  • और Performers में वे पहलू ध्यान में रखे जाते है जैसे knowledge output और knowledge diffusion
  • इस रिपोर्ट में कुछ रोचक तथ्य भी सामने आये हैं जो इस प्रकार हैं-
  • शीर्ष 10 राज्य जिन्होंने इस सूचकांक में बेहतर प्रदर्शन किया वे या तो दक्षिण भारत से हैं या फिर पश्चिम भारत से।
  • बड़े राज्यों में कर्नाटक सबसे ज्यादा innovative राज्य है।
  • Enablers की सूची में महाराष्ट्र का स्थान सबसे ऊपर है।
  • उत्तर पूर्वी राज्यों व पहाड़ी राज्यों में सिक्किम का स्थान नम्बर 1 है।
  • जबकि केन्द्रशासित प्रदेशों में दिल्ली ने टॉप किया है।
  • दिल्ली, कर्नाटक, महाराष्ट्र, तमिलनाडु, तेलंगाना और उत्तर प्रदेश सबसे अधिक मििपबपमदज राज्य माने गये है।