(डेली न्यूज़ स्कैन - DNS हिंदी) वैश्विक भूख सूचकांक 2019 (Global Hunger Index 2019)


(डेली न्यूज़ स्कैन - DNS हिंदी) वैश्विक भूख सूचकांक 2019 (Global Hunger Index 2019)


महत्वपूर्ण बिंदु

  • International food policy research institute, concern worldwide और welt hunger life द्वारा हाल ही में प्रकाशित किये गये Global Hunger Index में भारत का स्थान बहुत खराब रहा है।
  • भारत को कुल 117 देशों की सूची में 102 स्थान प्राप्त हुआ।

हमारे आज के DNS में हम जानेगें के क्या होता है Global Hunger Index एवं इसको प्रकाशित करने के लिये किन पैमानों का ध्यान रखा जाता है।

  • Global Hunger Index को प्रथम बार वर्ष 2000 में शुरू किया गया था और इस बार यह 14वीं सूची है।
  • इस सूची को जारी करने में कुछ पैमानों पर खास ध्यान दिया जाता है जो इस प्रकार है-
  • कुपोषण - जो यह बताता है कि भोजन पर्याप्त मात्रा व पर्याप्त Quality का नहीं है।
  • बच्चों के शरीर का धीमा विकास यानि Child stunting।
  • शिशु मृत्युदर
  • शिशु अपक्षय यानि Child Wasting
  • इस सूची में Ranking 100 को आधर मानकर की जाती है यानि अधिकतम अंक या पूर्णांक 100 का होता है।
  • जिन देशों का प्राप्तांक जितना ज्यादा होता है उन्हें उतना ही खराब श्रेणी का माना जाता है।
  • 2019 की इस रिपोर्ट में विश्व में भूखे लोगों की संख्या में बढ़ोत्तरी हुई है।
  • 2015 में यह संख्या 785 Million थी जो अब 822 Million पहुँच गई है।
  • 30.3 अंकों के प्राप्तांक के साथ भारत को 'Serious Category' में रखा गया है।
  • इस रिपोर्ट में यह भी बताया गया है कि भारत में विश्व के सबसे ज्यादा कुपोषित बच्चे रहते है।
  • BRICS देशों में भारत की Ranking सबसे खराब बताई गई है।
  • श्रीलंका, नेपाल, बांग्लादेश और पाकिस्तान इन सब देशों की Ranking भारत से अच्छी है। वहीं चीन को इस Index में 25वाँ स्थान प्राप्त हुआ है।

इस Index के आने से एक बात तो सापफ हो गई है कि भारत को अभी भुखमरी से उबरने के लिये और अध्कि सख्त कदम उठाने की जरूरत है ताकि एक बेहतर भविष्य एवं अच्छे स्वास्थ्य की तरपफ हम अग्रसर हो सकें।