अंतर्राष्ट्रीय सौर गठबंधन (International Solar Alliance) : डेली करेंट अफेयर्स

अंतर्राष्ट्रीय सौर गठबंधन (International Solar Alliance)

चर्चा में क्यों?

  • हाल ही में संशोधित अंतर्राष्ट्रीय सौर गठबंधन (ISA) फ्रेमवर्क समझौते के तहत संयुक्त राष्ट्र के सभी सदस्य अंतर्राष्ट्रीय सौर गठबंधन में शामिल हो सकते हैं।
  • आईएसए के फ्रेमवर्क समझौते द्वारा अनिवार्य किए गए सदस्य देशों की अपेक्षित संख्या से आवश्यक अनुसमर्थन/अनुमोदन/स्वीकृति प्राप्त होने के बाद, उक्त संशोधन 15 जुलाई 2020 से लागू हो गया है।
  • आईएसए के संशोधन के लागू होने के बाद फ्रेमवर्क समझौता अब संयुक्त राष्ट्र के सभी सदस्य राष्ट्रों को अंतर्राष्ट्रीय सौर गठबंधन में शामिल होने की अनुमति देता है।

अंतर्राष्ट्रीय सौर गठबंधन

  • अंतर्राष्ट्रीय सौर गठबंधन (आईएसए) की कल्पना कर्क रेखा और मकर रेखा के बीच में पूरी तरह से या आंशिक रूप से स्थित सौर-संसाधन संपन्न देशों के गठबंधन के रूप में की गई थी।
  • अंतर्राष्ट्रीय सौर गठबंधन के शुभारंभ की घोषणा भारत के प्रधान मंत्री श्री नरेंद्र मोदी और फ्रांस के पूर्व राष्ट्रपति फ़्रांस्वा ओलान्द द्वारा 30 नवंबर 2015 को पेरिस में संयुक्त राष्ट्र जलवायु परिवर्तन सम्मेलन के 21 वें सत्र (UNFCCC-COP21) के दौरान की गई थी।
  • इसका उद्देश्य इस देशों की विशेष ऊर्जा जरूरतों को पूरा करने के लिए वैकल्पिक ऊर्जा के साधन के रूप में सौर ऊर्जा के उपयोग को आगे बढ़ाना है। यह गठबंधन उद्देश्य जीवाश्म ईंधन पर ऊर्जा की निर्भरता को खत्म कर सौर ऊर्जा को बढ़ावा देता है।
  • इसके अतिरिक्त सदस्य देशों को सस्ती दरों पर सोलर टेक्नोलॉजी का प्रबंध कराना व इस क्षेत्र में अनुसंधान एवं विकास (Research & Development) को बढ़ावा देना भी इसका प्रमुख उद्देश्य है।
  • आईएसए सौर-संसाधन संपन्न देशों के बीच सहयोग के लिए एक समर्पित मंच प्रदान करता है, जिसके माध्यम से सरकारों, द्विपक्षीय और बहुपक्षीय संगठनों, कॉरपोरेट्स, उद्योग और अन्य हितधारकों सहित वैश्विक समुदाय सौर ऊर्जा के उपयोग और गुणवत्ता को बढ़ाने के सामान्य लक्ष्य को प्राप्त करने में मदद कर सकता है।
  • अंतर्राष्ट्रीय सौर गठबंधन एक संधि-आधारित अंतर्राष्ट्रीय अंतर-सरकारी संगठन है।
  • वर्तमान में 122 देश इसके सदस्य हैं और 87 देशों ने आईएसए के फ्रेमवर्क समझौते पर हस्ताक्षर किए हैं, जिसमें से 67 ने अनुसमर्थन पत्र भी जमा कर दिये हैं।
  • इसका मुख्यालय हरियाणा के गुरुग्राम में है।

आईएसए महानिदेशक

  • अंतर्राष्ट्रीय सौर गठबंधन का नेतृत्व महानिदेशक द्वारा किया जाता है, जो आईएसए सचिवालय के कार्यों का संचालन करता है।
  • महानिदेशक का कार्यकाल चार वर्ष का होता है और वह पुन: चुनाव के लिए पात्र होता है। महामहिम श्री उपेन्द्र त्रिपाठी वर्तमान में महानिदेशक का पद संभाल रहे हैं।