यूपीएससी और राज्य पीसीएस परीक्षा के लिए ब्रेन बूस्टर (विषय: कोडेक्स एलीमेंटेरियस कमीशन (Codex Alimentarius Commission)

यूपीएससी और राज्य पीसीएस परीक्षा के लिए ब्रेन बूस्टर (Brain Booster for UPSC & State PCS Examination)


यूपीएससी और राज्य पीसीएस परीक्षा के लिए करेंट अफेयर्स ब्रेन बूस्टर (Current Affairs Brain Booster for UPSC & State PCS Examination)


विषय (Topic): कोडेक्स एलीमेंटेरियस कमीशन (Codex Alimentarius Commission)

कोडेक्स एलीमेंटेरियस कमीशन (Codex Alimentarius Commission)

चर्चा का कारण

  • 28 सितंबर से 2 अक्टूबर 2020 तक 27वीं कमेटी ऑन एग्रीकल्चर (Committee on Agriculture- COAG) वर्चुअल रूप से आयोजित की गई। इसमें भाग लेने वाली सभी प्रतिनिधियों ने खाद्य सुरक्षा रणनीति की दिशा में खाद्य और कृषि संगठन द्वारा नए नियमों के विकास हेतु एक उत्तरदाई और कठोर कोडेक्स (CODEX) का अनुसमर्थन किया है।
  • सभी हितधारकों का मानना है कि एक मजबूत कोडेक्स मानक ना केवल सतत विकास के लक्ष्य की प्राप्ति हेतु खाद्य सुरक्षा के मुद्दों को हल करने में सक्षम होगा बल्कि इससे वैश्विक खाद्य प्रणालियों में भी सुधार होंगे।

क्या है कोडेक्स एलीमेंटेरियस

  • कोडेक्स एलीमेंटेरियस खाद्य पदार्थों एवम उत्पादन और सुरक्षा से संबंधित अंतरराष्ट्रीय स्तर पर मान्यता प्राप्त मानकों, प्रथाओं, दिशानिर्देशों, सिफारिशों का एक संग्रह है।
  • इसमें उपभोक्ताओं को उपलब्ध कराये जाने वाले सभी प्रमुख खाद्य पदार्थों के लिए मानक शामिल हैं, चाहे वह प्रसंस्कृत हो, अर्ध-प्रसंस्कृत हो या गैर-प्रसंस्कृत।
  • इसमें खाद्य योजकों, प्रदूषकों, कीटनाशकों के अवशेषों, लेबलिंग और प्रस्तुति, विश्लेषण के तरीकों और नमूने के संबंध में मानकीकृत प्रावधान भी शामिल हैं।

कोडेक्स मानक

  • कोडेक्स मानकों को डबल्यूटीओ समझौतों द्वारा संदर्भ मानकों के रूप में मान्यता प्राप्त है। कोडेक्स मानक बाध्यकारी नहीं होते हैं और ये मानक सामान्य या विशिष्ट हो सकते हैं।
  • सामान्य मानक, दिशानिर्देश और प्रथाओं के कोड : ये मुख्य कोडेक्स मानक होते हैं जो आमतौर पर स्वच्छ व्यवहार, लेबलिंग, संदूषण, योजक, निरीक्षण और प्रमाणीकरण, पशु दवाओं और कीटनाशकों के पोषण और अवशेषों से निपटान तथा उत्पादों और उत्पाद श्रेणियों के लिए क्षैतिज रूप से लागू होते हैं।
  • कमोडिटी मानक : कोडेक्स कमोडिटी मानक एक विशिष्ट उत्पाद को संदर्भित करते हैं, हालांकि अब खाद्य समूहों के लिए भी मानक विकसित किए जा रहे हैं।
  • क्षेत्रीय मानक : संबंधित क्षेत्रीय समन्वय समितियों द्वारा विकसित मानक, संबंधित क्षेत्रें के लिए लागू होते हैं।

कोडेक्स एलीमेंटेरियस कमीशन

  • खाद्य एवं कृषि संगठन और विश्व स्वास्थ्य संगठन के संयुक्त खाद्य मानक कार्यक्रम को लागू करने के लिए 1962 में कोडेक्स एलीमेंटेरिअस कमीशन (CAC) की स्थापना की गई थी।
  • यह संयुक्त खाद्य मानक कार्यक्रम के ढांचे के अंतर्गत स्थापित एक अंतर-सरकारी निकाय है।
  • वर्तमान में कोडेक्स एलीमेंटेरियस कमीशन में 189 सदस्य हैं जिसमें 188 देश और एक यूरोपियन यूनियन है।
  • भारत 1964 में इसका सदस्य बना था तथा भारत में कोडेक्स एलीमेंटेरियस के मानकों को क्रियान्वित करने के लिए भारतीय खाद्य सुरक्षा एवं मानक प्राधिकरण (FSSAI) अधिकृत किया गया है।
  • कोडेक्स एलीमेंटेरियस कमीशन के उद्देश्यों में उपभोक्ताओं के स्वास्थ्य की सुरक्षा और खाद्य व्यापार में निष्पक्ष प्रथाओं का आश्वासन शामिल है।