यूपीएससी और राज्य पीसीएस परीक्षा के लिए ब्रेन बूस्टर (विषय: क्षुद्रग्रह बेन्नू (Asteroid Bennu)

यूपीएससी और राज्य पीसीएस परीक्षा के लिए ब्रेन बूस्टर (Brain Booster for UPSC & State PCS Examination)


यूपीएससी और राज्य पीसीएस परीक्षा के लिए करेंट अफेयर्स ब्रेन बूस्टर (Current Affairs Brain Booster for UPSC & State PCS Examination)


विषय (Topic): क्षुद्रग्रह बेन्नू (Asteroid Bennu)

क्षुद्रग्रह बेन्नू (Asteroid Bennu)

चर्चा का कारण

  • हाल ही में नासा के ओसीरिस रेक्स अंतरिक्षयान (OSIRIS-REx Spacecraft) ने बेन्नू की सतह से चट्टानों के नमूने एकत्र किए हैं जिन्हें यह वर्ष 2023 तक पृथ्वी पर पहुँचाएगा।

बेन्नू क्या है?

  • बेन्नू भी एक क्षुद्रग्रह है जिसे ‘1999 RQ36’ के नाम से भी जाना जाता है।
  • इ से सबसे पहले 1999 में पृथ्वी के नजदीक से गुजरने के दौरान नासा की अन्तरिक्ष स्थित टेलेस्कोप से इसे देखा गया था।
  • यह एम्पायर स्टेट बिल्डिंग जितना लंबा है और पृथ्वी से लगभग 200 मिलियन मील की दूरी पर स्थित है।

क्या होते है क्षुद्रग्रह (एस्टेरायड)

  • क्षुद्रग्रह अथवा एस्टेरायड अंतरिक्ष में तैरते एक प्रकार के मलबे के ढेर होते हैं, जिन्हें लघु ग्रह भी कहा जाता है। यह अपने आकार में ग्रहों से छोटे और उल्का पिंडो से बड़े होते हैं।
  • अधिकांश क्षुद्रग्रह मंगल और बृहस्पति ग्रह के बीच में स्थित है। ये सब भी सूर्य की परिक्रमा करते हैं। सीरीस (Ceres) क्षुद्रग्रह सबसे बड़ा क्षुद्रग्रह है।
  • वैज्ञानिकों का मानना है कि इनका निर्माण सौरमंडल के निर्माण के साथ ही हुआ था एवं अतीत में इन क्षुद्रग्रहों के लम्बे काल तक पृथ्वी से टक्कर के चलते पृथ्वी के निर्माण में मदद मिली है।
  • क्षुद्रग्रह को उनकी उपस्थिति के संदर्भ में तीन वर्गों में विभाजित किया गया है।
  • मंगल और बृहस्पति ग्रहों के बीच मुख्य क्षुद्रग्रहों की पट्टी में लगभग 1.1-1.9 मिलियन क्षुद्रग्रह के पाए जाते हैं।
  • दूसरे वर्ग के क्षुद्र ग्रह एक बड़े ग्रह के साथ कक्षा को साझा करते हैं उन्हें ट्रोजन नाम दिया गया है। नासा द्वारा बृहस्पति, नेपच्यून और मार्स के साथ-साथ वर्ष 2011 में पृथ्वी की कक्षा में भी ट्रोजन की उपस्थिति दर्ज की गई थी।
  • तीसरे वर्ग में पृथ्वी के करीब से परिक्रमा करने वाले नियर-अर्थ एस्ट्रोइड्स (NEA) है, जिन्हें सम्भावित खतरनाक क्षुद्रग्रहों (PHAs) के रूप में जाना जाता है। इनकी संख्या 1,400 से अधिक है।

ओसीरिस-रेक्स अंतरिक्षयान

  • नासा द्वारा फ्रलोरिडा के केप केनेवरल एयरफोर्स स्टेशन से 8 सितंबर, 2016 को पृथ्वी के समीप स्थित क्षुद्रग्रह बेन्नू से नमूने एकत्र करने और उनका अध्ययन करने के लिए अंतरिक्ष यान ओसीरिस-रेक्स (Osiris-REx) का प्रक्षेपण किया गया था।
  • यह अंतरिक्ष यान लॉकहीड मार्टीन स्पेस सिस्टम्स द्वारा निर्मित किया गया है।
  • ओसीरिस-रेक्स का पूरा नाम- Origins Spectral Interpretation Resource Identification Security Regolith Explorer (ओरिजिन्स स्पेक्ट्रल इंटरप्रिटेशन रिसोर्स आइडेंटिफिकेशन सिक्योरिटी रेगोलिथ एक्सप्लोरर) है।
  • इसने रोबोटिक भुजा की सहायता से क्षुद्र ग्रह की सतह से चट्टानों एवं खनिज तत्वों के नमूने एकत्र किए हैं।
  • यहां यह ध्यान देने योग्य है कि यह दुनिया का पहला ऐसा कृत्रिम उपग्रह नहीं है जो क्षुद्रग्रह तक पहुंचा है इससे पहले जापान का उपग्रह यह उपलब्धि हासिल कर चुका है और जापान के बाद अमेरिका यह उपलब्धि हासिल करने वाला दूसरा देश बन जाएगा।