(डेली न्यूज़ स्कैन - DNS हिंदी) क्या है कोरोना की चौथी स्टेज (What are 4th Stages of (COVID-19) Corona Virus)


(डेली न्यूज़ स्कैन - DNS हिंदी) क्या है कोरोना की चौथी स्टेज (What are 4th Stages of (COVID-19) Corona Virus)



कोरोना वायरस जहाँ पूरी दुनिया में अपना आतंक फैला रहा है...वहीँ भारत भी इससे कुछ अछुता नही है....वर्तमान में भारत में भी इसके कारण ख़तरनाक स्थिति पैदा हो चुकी है....इसकी जाँच इंडियन काउंसिल ऑफ़ मेडिकल रिसर्च यानी आई सी एम आर ने शुरू कर दी है...भारत में अब तक लगभग 150 से ज्यादा लोग कोरोना वायरस की चपेट में आ चुके हैं...

जहाँ चीन में कोरोनावायरस अपने तीसरे चरण में है...वहीँ इटली में इस आतंक अपनी चरम सीमा पर है....वर्तमान में 100 से ज्यादा देश कोरोना वायरस की चपेट में है...जहाँ संक्रमित लोगों की संख्या की अगर

बात की जाए तो पूरी दुनिया में लगभग 2 लाख से ज्यादा लोग इसकी चपेट में है....वहीँ लगभग 8 हज़ार से ज्यादा लोग इस वायरस की वजह से गवां चुके है....

आज DNS में हम बात करेंगे वर्तमान में भारत की स्थिति की, जहाँ कोरोनावायरस अपने दूसरे स्टेज में है और कोरोना वायरस के चलते खतरनाक स्थिति पैदा हो चुकी है..

आखिर क्या है STAGE-2

इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च (आईसीएमआर) के मुताबिक, स्टेज-2 का मतलब है कि अभी वायरस का कम्युनिटी ट्रांसमिशन (लोगों के बीच आपस में नहीं फैला है) नहीं हुआ है.....भारत में इससे 150 से ज्यादा लोग संक्रमित हैं और अभी तक करीब 4 लोगों की बात कही जा रही है......भारत कोशिश कर रहा है कि वह कोरोना वायरस के स्टेज-3 में नहीं पहुंचे....

  • स्टेज 1: इस स्थिति में संक्रमण के मामले वायरस से प्रभावित देशों से आते हैं. इसमें वहीं लोग संक्रमित पाए जाते हैं जिन्होंने विदेश की यात्रा की होती है.
  • स्टेज 2: जब संक्रमित लोगों से बीमारी का फैलाव स्थानीय लोगों में होता है. उदाहरण के लिए, जब कोई वायरस प्रभावित देश जाता या लौटता है और अपने रिश्तेदारों या परिचितों के संपर्क में आता है, जिससे वे भी संक्रमित हो जाते हैं...इस स्थिति में स्थानीय ट्रांसमिशन में बहुत कम लोग प्रभावित होते हैं. इस स्थिति में वायरस का सोर्स पता होता है और उसे आसानी से ट्रेस किया जा सकता है..
  • स्टेज 3: जब वायरस कम्युनिटी ट्रांसमिशन में पहुंच जाता है तो बहुत बड़ा क्षेत्र इससे प्रभावित होता है. इस स्टेज में यह बीमारी भारत के अंदर मौजूद संक्रमित लोगों से यहीं के दूसरे लोगों में फैलने लगेगी. यह बेहद खतरनाक स्थिति है. इस स्टेज में टेस्ट में पॉजिटिव पाए गए लोग यह नहीं जानते हैं कि उनमें वायरस कहां से आया है. इटली और स्पेन अभी इसी चरण में हैं...
  • स्टेज 4: यह सबसे भयावह स्थिति है, जब बीमारी महामारी को रूप ले लेती है और यह स्पष्ट नहीं होता है कि इसका खात्मा कब होगी. चीन में ऐसा ही हुआ है.

क्‍या है कम्‍युनिटी ट्रांसमिशन?

कम्‍युनिटी ट्रांसमिशन थर्ड स्‍टेज होती है...यह तब आती है जब एक बड़े इलाके के लोग वायरस से संक्रमित पाए जाते हैं..कम्युनिटी ट्रांसमिशन में कोई ऐसा व्यक्ति भी संक्रमित हो सकता है जो न तो कोरोना वायरस से प्रभावित देश से लौटा है और न ही वह किसी दूसरे कोरोना वायरस संक्रमित व्यक्ति के संपर्क में आया हो. इस स्टेज में यह पता नहीं चलता कि कोई व्यक्ति कहां से संक्रमित हो रहा है...

क्‍या है लोकल ट्रांसमिशन?

अभी भारत में कोरोना वायरस दूसरे चरण यानी लोकल ट्रांसमिशन के स्‍टेज में है. यह तब आती है जब विदेश से लौटे संक्रमित व्यक्ति के संपर्क में आने से उसके परिजन, रिश्तेदार आदि संक्रमित होना शुरू होते हैं...लोकल ट्रांसमिशन में यह पता होता है कि वायरस कहां से फैल रहा है. इस तरह उस स्रोत के संपर्क में आए लोगों की पहचान आसान होती है.