(डेली न्यूज़ स्कैन - DNS हिंदी) खेल विश्वविद्यालय (Sports University)


(डेली न्यूज़ स्कैन - DNS हिंदी) खेल विश्वविद्यालय (Sports University)


सुर्ख़ियों में क्यों?

  • हाल ही में दिल्ली में खेल विश्वविद्यालय स्थापित करने सम्बन्धी विधयेक को मंजूरी दी गई।
  • इस कदम का उद्देश्य खेल में शिक्षा प्रदान कर छात्रों के करियर को सुदृढ़ करना है।

खेल विश्वविद्यालय विधेयक

  • इस विधयेक के माध्यम से खेल विश्वविद्यालय खेल स्कूलों और कॉलेज की स्थापना कर सकते हैं
  • छात्रों को विभिन्न खेलों जैसे क्रिकेट, फुटबॉल और हॉकी में स्नातक, स्नातकोत्तर और डॉक्टरेट की उपाधि प्रदान करेगा।
  • इस विधेयक में दिल्ली खेल विश्वविद्यालय को एक राजकीय विश्वविद्यालय के रूप में स्थापित करने का प्रस्ताव है
  • यह सीबीएसई से संबद्ध दिल्ली स्पोर्ट्स स्कूल होगा, जो खेल में छात्रों का करियर बनाने के लिये खेल शिक्षा प्रदान करने पर जोर देगा।

खेल विश्वविद्यालय विधेयक की संरचना

  • इसे राज्य विश्वविद्यालय के तौर पर बनाया जाएगा।
  • देश के नामचीन खिलाड़ी इस विश्वविद्यालय में वाइस चांसलर के तौर पर नियुक्त होंगे, जबकि उपराज्यपाल पदेन चांसलर होंगे।
  • यहां स्नातक और स्नातकोत्तर स्तर पर शिक्षा के साथ खेलों में शोध भी होंगे।
  • संबंधित खेलों को बढ़ावा देने के लिए विशिष्ट खेल प्रभाग बनेंगे।
  • यह कोचिंग से लेकर दूसरी अत्याधुनिक तकनीक से लैस होगा।

पहले के प्रयास

  • पूर्व में खेल शिक्षा, अनुसंधान और प्रशिक्षण हेतु राष्ट्रीय खेल विश्वविद्यालय की स्थापना हेतु संबंधित विधेयक को संसद के दोनों सदनों में पारित किया गया था।
  • इस विधेयक को राष्ट्रीय खेल विश्वविद्यालय अध्यादे ,2018 की जगह पर लाया गया था जो 31 मई 2018 से प्रभावी हो चुका है।
  • इस विधेयक में मणिपुर में एक राष्ट्रीय खेल विश्वविद्यालय स्थापित करने का प्रावधान था।
  • मणिपुर राष्ट्रीय खेल विश्वविद्यालय को विश्वविद्यालय अनुदान आयोग द्वारा मान्यता प्राप्त है।