(Video) राज्य सभा टीवी आयुष्मान भवः Rajya Sabha TV (RSTV) Ayushman Bhava : अंगदान (Organ Donation)


(Video) राज्य सभा टीवी आयुष्मान भवः Rajya Sabha TV (RSTV) Ayushman Bhava : अंगदान (Organ Donation)


विषय (Topic): अंगदान (Organ Donation)

विषय विवरण (Topic Description):

अंगदान... यानि वो महादान जिसके जरिए हम दूसरों की जिंदगी को रोशन कर सकते हैं। अंगदान से मौत से जूझ रहे मरीजों को नई जिंदगी की सौगात मिल जाती है।हर वर्ष लाखों लोग मात्र इस वजह से मौत के मुंह में समा जाते हैं, क्योंकि उन्हें कोई डोनर नहीं मिल पाता। अंगदान पूरी तरह से आपकी सोच पर निर्भर करता है। यदि आप दूसरों को जीवन दान करना चाहते हैं, तो अंगदान बेहतर विकल्प हो सकता है। जरूरतमंद कोई भी हो सकता है, मित्र या परिवार का सदस्य भी। जीवित रहते हुए दान किए जाने वाले अंग लिवर, गुर्दा,फेफड़े,अग्न्याशय, आँत।कैंसर और एचआईवी से पीड़ित व्यक्ति और सेप्सिस या इंट्रावेनस (IV) दवाओं का इस्तेमाल करने वाले व्यक्ति सक्रिय संक्रमण के कारण, अंगों को दान नहीं कर सकते हैं। जबकि मृत शरीर से निम्न अंगों और ऊतकों को निकाला जा सकता है: गुर्दा, लिवर यानि यकृत, फेफडे, इसके अलावा हृदय, अग्न्याशय, आँत,रक्त वाहिनी, रक्त और प्लेटलेट्स,ऊतक, कॉर्निया, हड्डियाँ, त्वचा, नसें, अस्थि-बंधन,हृदय के वाल्व, कार्टिलेज आदि को दान किया जा सकता है। डोनर के शरीर से निकाले गए अधिकांश अंगो को 6 से 72 घंटों के अन्दर ही ट्रांसप्लांट कर देना चाहिए। जबकि कॉर्निया, त्वचा, हृदय के वाल्व, हड्डी, टेडन, अस्थि-बंधन और कार्टिलेज जैसे ऊतकों को बाद में उपयोग के लिए संरक्षित और संग्रहित किया जा सकता है।अंगदान के लिए दो तरीके हो सकते हैं। कई एनजीओ और अस्पतालों में अंगदान से जुड़ा काम होता है। आपके निकट संबंधी आपकी इस इच्छा को पूरा कर सकते हैं, अगर आप उन्हें अपनी इच्छा बता दें।

पुरालेख (Archive) के लिए यहां क्लिक करें C।ick Here for Archive

Courtesy: RSTV