(Video) राज्य सभा टीवी आयुष्मान भवः Rajya Sabha TV (RSTV) Ayushman Bhava : अस्थमा (Asthma)


(Video) राज्य सभा टीवी आयुष्मान भवः Rajya Sabha TV (RSTV) Ayushman Bhava : अस्थमा (Asthma)


विषय (Topic): अस्थमा (Asthma)

अतिथि (Guest):

  • Dr. Varinder Singh, (Professor, Department of Pediatrics, Lady Hardinge Medical College)
  • Dr. Bindu Sharma, (Scientist 4,Central Counsil for Research in Homoeopathy)
  • Prof. Tanuja Manoj Nesari, (Director ,All India Institute of Ayurveda)

विषय विवरण (Topic Description):

अस्थमा यानि दमा अगर एक बार किसी को हो जाए तो जिंदगी भर उसे इस बीमारी से जूझना पड़ता है। अस्थमा का खतरा समय के साथ लगातार बढ़ता भी जा है। दुनिया भर में लगभग 35 करोड़ लोग अस्थमा की समस्या से ग्रसित हैं। इनमें से लगभग 5 से 10 प्रतिशत रोगियों में मुश्किल किस्म का अस्थमा है, क्योंकि उन्हें इसके तीव्र दौरे पड़ते रहते हैं । इसके बावजूद इस पर नियंत्रण पाने में ज्यादातर देश विफल हैं। अस्थमा के बढ़ते मामलों के लिए वायु प्रदूषण को जिम्मेदार ठहराया जा सकता है। इसके चलते हर साल तीन करोड़ से ज्यादा लोगों को अस्पताल का मुंह देखना पड़ता है। कारों, ऊर्जा संयंत्रों और फैक्टियों के उत्सर्जन से हर साल दुनियाभर में बड़ी संख्या में अस्थमा के मामले सामने आ रहे हैं। भारत की बात करें तो ... कई शहरों खासकर राजधानी दिल्ली.. एनसीआर में वायु प्रदूषण बेहद खतरनाक स्तर पर बना हुआ है। हाल ही में आई विश्व स्वास्थ्य संगठन यानि डब्ल्यूएचओ की एक रिपोर्ट से इस समस्या की और भयावह तस्वीर सामने आई। रिपोर्ट के अनुसार, जहरीली हवा के चलते भारत में 2016 में 5 साल के कम उम्र के लगभग एक लाख मासूम बच्चों को जान गंवानी पड़ी। प्रदूषण के चलते सन 2016 में 15 साल से कम उम्र के लगभग 6 लाख बच्चों की मौत हुई। वहीं ग्रीनपीस की तरफ से जारी एक अन्य रिपोर्ट में कहा गया है कि पीएम 2.5 और ओजोन के निर्माण के प्रमुख कारणों में शुमार दुनिया के तीन सर्वाधिक नाइट्रोजन ऑक्साइड वायु प्रदूषण उत्सर्जन स्थल भारत में ही हैं, जिनमें से एक दिल्ली-एनसीआर में है।

पुरालेख (Archive) के लिए यहां क्लिक करें C।ick Here for Archive

Courtesy: RSTV




ई-मेल के माध्यम से दैनिक ध्येय IAS हिंदी वेबसाइट की अपडेट प्राप्त करें।

ई-मेल आईडी

सदस्यता के बाद पुष्टि लिंक सक्रिय करने के लिए अपने ईमेल की जांच करें