(Video) राज्य सभा टीवी देश देशांतर Rajya Sabha TV (RSTV) Desh Deshantar : एनजीटी - वायु प्रदूषण पर मुआवजे का अधिकार (NGT - Right to Compensation for Air Pollution)


(Video) राज्य सभा टीवी देश देशांतर Rajya Sabha TV (RSTV) Desh Deshantar : एनजीटी - वायु प्रदूषण पर मुआवजे का अधिकार (NGT - Right to Compensation for Air Pollution)


विषय (Topic): एनजीटी - वायु प्रदूषण पर मुआवजे का अधिकार (NGT - Right to Compensation for Air Pollution)

अतिथि (Guest):

  • Balendu Shekhar, (Advocate, NGT) (बालेन्दु शेखर, अधिवक्ता, एनजीटी)
  • Polash Mukerjee, (Lead, Air Quality, NRDC) (पोलाश मुखर्जी, विशेषज्ञ, NRDC)
  • Dr. Sanjeev Agrawal, (Former Additional Director, CPCB) (डॉ. संजीव अग्रवाल, पूर्व अतिरिक्त निदेशक, CPCB)

विषय विवरण (Topic Description):

एनजीटी की दिल्ली पीठ ने कहा है कि वायु प्रदूषण का शिकार लोग मुआवजे की मांग कर सकते हैं। NGT ने यह आदेश तीन याचिकाओं के जवाब में दिया। याचिकाकर्ताओं ने बताया कि एनसीआर में एनसीआर में दिवाली के दौरान पटाखों पर प्रतिबंध और शहरों में जहां AQI I खराब या बदतर है, लोगों ने पटाखे फोड़े, जिससे न केवल हवा की गुणवत्ता खराब हुई, बल्कि इससे कोरोनोवायरस महामारी भी बढ़ गई। पटाखों पर रोक के अलावा NGT ने अहम बात ये कही कि जो व्यक्ति प्रदूषण की मार से प्रभावित हुए हैं, वो डिस्ट्रिक्ट मजिस्ट्रेट के यहां जाकर मुआवजे के लिए अप्लाई कर सकते हैं. प्रदूषण से उन्हें क्या नुकसान हुआ, इसका सबूत देना होगा. उसके आधार पर कंपनसेशन का आदेश जारी किया जाएगा. NGT का कहना था कि अगर 6 महीने तक इस रकम का इस्तेमाल कंपनसेशन में नहीं हो पाता, तो इसे डिस्ट्रिक्ट एनवायरमेंटल कंपनसेशन फंड में ट्रांसफर कर दिया जाएगा. सभी मजिस्ट्रेटों से इस बैन का सख्ती से पालन करवाने और जुर्माना वसूलने को कहा गया है.

Click Here for RSTV The Big Picture

पुरालेख (Archive) के लिए यहां क्लिक करें Click Here for Archive

Courtesy: RSTV