‘तेलंगाना दलित बंधु’ योजना ('Telangana Dalit Bandhu' Scheme) : डेली करेंट अफेयर्स

‘तेलंगाना दलित बंधु’ योजना ('Telangana Dalit Bandhu' Scheme)

हाल ही में, तेलंगाना सरकार ने ऐलान किया कि राज्य के दलितों के सशक्तिकरण के लिए शीघ्र ही ‘तेलंगाना दलित बंधु’ नामक एक योजना शुरू की जाएगी। इसे पायलट प्रोजेक्ट के आधार पर राज्य के करीमनगर जिले के हुजूराबाद विधानसभा क्षेत्र से शुरू किया जाएगा। वहीं विपक्ष ने सरकार के इस फैसले पर निशाना साधते हुए इसे महज एक चुनावी स्टंट बताया। हालांकि तेलंगाना के मुख्यमंत्री के चंद्रशेखर राव ने इस योजना का बचाव करते हुए कहा कि टीआरएस पूरी तरह से एक राजनीतिक पार्टी है। अगर उनके किसी योजना से दलितों का कल्याण होता है और उसका उन्हें राजनीतिक लाभ होता है तो इसमें बुराई क्या है।

Banks, NBFCs can do Co-lending to Priority Sector : Daily Current ...

गौरतलब है कि शुरुआत में इस योजना का नाम मुख्यमंत्री दलित अधिकारिता योजना था‚ लेकिन बाद में इसे बदल कर ‘तेलंगाना दलित बंधु’ कर दिया गया। इस योजना के तहत पात्र दलित परिवारों को बिना किसी बैंक गारंटी के 10 लाख रुपये की वित्तीय सहायता दी जाएगी। यह पैसा सीधे लाभार्थियों के बैंक खातों में जमा किया जाएगा। इससे लाभार्थियों को उनकी जरूरतों के मुताबिक‚ योजना तैयार करने, आर्थिक सशक्तिकरण और आत्मनिर्भरता प्राप्त करने के लिए उद्यम विकसित करने में मदद मिलेगी।

पहले चरण में योजना को लागू करने के लिए 119 विधानसभा क्षेत्रों में से 118 में से प्रत्येक में 100 परिवारों को चुना जाएगा। योजना के सफल कार्यान्वयन की निगरानी के लिए सरकार ने जिला कलेक्टरों सहित 100 वरिष्ठ अधिकारियों को तैनात करने की बात कही है। वे लाभार्थियों और राज्य सरकार की भागीदारी के साथ एक ‘सुरक्षा कोष’ बनाने के अलावा परिणामों का विश्लेषण भी करेंगे। इस योजना के तहत प्रदान किए जाने वाले 10 लाख रुपये के अलावा ‘सुरक्षा कोष’ किसी भी आपात स्थिति में लाभार्थियों को आवश्यक सहायता भी प्रदान करेगा।