यूपीएससी और सभी राज्य लोक सेवा आयोग परीक्षाओं के लिए हिंदी में डेली करेंट अफेयर्स MCQ क्विज़ (Daily Hindi Current Affair MCQ Quiz for UPSC/State PSC Exams) : 27, अक्टूबर 2021


यूपीएससी और सभी राज्य लोक सेवा आयोग परीक्षाओं के लिए हिंदी में डेली करेंट अफेयर्स MCQ क्विज़

(Daily Current Affairs MCQ Quiz for UPSC, IAS, UPPSC/UPPCS, MPPSC. BPSC, RPSC & All State PSC Exams)

तारीख (Date): 27, अक्टूबर 2021


प्रश्न 1. निम्नलिखित कथनों पर विचार कीजिए।

1. बिम्सटेक का गठन बैंकॉक उद्घोषणा के जरिए किया गया था।
2. बिम्सटेक का मुख्यालय काठमांडू में स्थित है।
3. बिम्सटेक सदस्य देशों के बीच मुक्त व्यापार समझौता हो चुका है।

उपरोक्त में से कौन से / सा कथन सत्य है / हैं ?

A. केवल 1
B. 1 और 3
C. 2 और 3
D. 1 , 2 और 3

उत्तर: (A)

व्याख्या : बिम्सटेक अभी सुर्खियों में है क्योंकि भारत के विदेश सचिव ने हाल ही में कहा है कि बिम्सटेक सदस्य देशों द्वारा 55.2 बिलियन डॉलर मूल्य के रीजनल कनेक्टिविटी प्रोजेक्ट्स चलाये जा रहे हैं ।

बिम्सटेक देश इस समय मजबूत कनेक्टिविटी अथवा ट्रांसपोर्ट लिंक को विकसित करने पर ध्यान केंद्रित कर रहे हैं। इसी कड़ीं में बिम्सटेक देश मोटर वेहिकल अग्रीमेंट और कोस्टल शिपिंग एग्रीमेंट को अंतिम रूप देने में लगे हैं। भारत की अध्यक्षता वाले एक्सपर्ट ग्रुप ने ही पिछले साल बिम्सटेक मास्टर प्लान फ़ॉर ट्रांसपोर्ट कनेक्टिविटी को फाइनल रूप दिया था।

बे ऑफ बंगाल इनिशिएटिव फॉर मल्टी-सेक्टोरल टेक्निकल एंड इकोनॉमिक को-ऑपरेशन यानी बिम्सटेक क्षेत्रीय बहुपक्षीय संगठन है जिसके 7 सदस्यों में से 5 दक्षिण एशिया से हैं, जिनमें बांग्लादेश, भूटान, भारत, नेपाल और श्रीलंका शामिल हैं तथा दो- म्याँमार और थाईलैंड दक्षिण-पूर्व एशिया से हैं।

इसका मुख्यालय बांग्लादेश के ढाका में स्थित है और अभी तक बिम्सटेक सदस्य देशों में FTA को लेकर वार्ता भर हुई है , इसपर हस्ताक्षर नही हुआ है।

प्रश्न 2. उत्तर पूर्वी भारत में कारबोंग जनजाति के विलुप्त होने के अंतिम चरण में होने की रिपोर्ट हाल ही में आई है। यह जनजाति किस उत्तर पूर्वी भारतीय राज्य की है ?

A. सिक्किम
B. मेघालय
C. त्रिपुरा
D. मणिपुर

उत्तर: (C)

व्याख्या: त्रिपुरा में हलम समुदाय की एक उप-जनजाति कारबोंग (Karbong Tribe) अब विलुप्त होने की कगार पर है। जनजातीय विशेषज्ञों की एक रिपोर्ट में हाल ही बताया गया है कि इस जनजाति के केवल 250 लोग हैं, जो पश्चिम त्रिपुरा और धलाई जिलों में रहते हैं।

अन्य सभी जनजातियों से अलग भाषा होने के बावजूद कारबोंग को एक उप-जनजाति माना जाता है, इसलिए भारत की जनगणना उन्हें अलग से नहीं गिनती है.

1940 की गजट अधिसूचना के अनुसार, त्रिपुरा में 19 आदिवासी समूह हैं, जिनमें कारबोंग समुदाय को हलम में शामिल किया गया है.

विशेषज्ञों ने कहा कि हाल ही में उन्हें केंद्र द्वारा अनुसूचित जनजाति का दर्जा दिया गया है. लुप्तप्राय ‘कारबोंग’ अपनी भाषा के माध्यम से अन्य स्वदेशी आदिवासी समूहों से खुद को अलग करते हैं, जो त्रिपुरा के अधिकांश आदिवासी समूहों की भाषा कोकबोरोक से अलग है और ये सभी हिंदू धर्म को मानते हैं।

प्रश्न 3. सिल्वर फॉरगेट मी नॉट बटरफ्लाई की उपस्थिति पहली बार भारत के निम्नलिखित में से किस राज्य में हाल ही में दर्ज की गई है ?

A. उत्तराखंड
B. हिमाचल प्रदेश
C. तमिलनाडु
D. कर्नाटक

उत्तर: (C)

व्याख्या : सिल्वर फॉरगेट मी नॉट बटरफ्लाई की उपस्थिति हाल ही में पहली बार तमिलनाडु के श्रीविल्लीपुथुर मेघमलाई टाईगर रिज़र्व में दर्ज की गई है। इस नई प्रजाति के साथ अब तमिलनाडु में तितलियों की कुल 318 रिकार्डेड स्पीसीज हो गई हैं। इसे तमिलनाडु के श्रीविल्लीपुथुर ग्रिजल्ड स्क्विरल सैंक्चुअरी और अय्यनार जलप्रपात क्षेत्र में भी देखा गया है।

इसके पहले यह तितली 2019 में केरल के चिन्नार , 2015 और 2017 में अंडमान निकोबार द्वीपसमूह और 2005 तथा 2020 में सिक्किम , पश्चिम बंगाल, अरुणाचल प्रदेश, असम , मेघालय, मिज़ोरम , त्रिपुरा में भी देखी जा चुकी है।

प्रश्न 4. निम्नलिखित कथनों पर विचार करें ।

1. नेशनल मिशन ऑन कल्चरल मैपिंग को क्रियान्वित करने की जिम्मेदारी हाल में इंदिरा गांधी नेशनल सेंटर फॉर दिआर्ट्स को दी गई है ।
2. इंदिरा गांधी नेशनल सेंटर फॉर दि आर्ट्स अक्टूबर 2021 से भारत के 100 गांवों की कल्चरल मैपिंग से जुड़े प्रायोगिक परीक्षण को शुरू कर रहा है।

उपरोक्त में से कौन से कथन सत्य हैं ?

A. केवल 1
B. केवल 2
C. 1 और 2 दोनों
D. न तो 1 न ही 2

उत्तर: (A)

व्याख्या: नेशनल मिशन ऑन कल्चरल मैपिंग को प्रभावी रूप से क्रियान्वित करने के लिए अब यह जिम्मेदारी इंदिरा गांधी नेशनल सेंटर फॉर दि आर्ट्स को दी गई है जो अक्टूबर 2021 से ही भारत के 75 गांव में कल्चरल मैपिंग से जुड़ा प्रायोगिक परीक्षण शुरू कर रहा है ।

कल्चरल मैपिंग प्रोजेक्ट के तहत गावों के के फोक आर्ट्स और धरोहरों की मैपिंग से जुड़ा डेटाबेस निर्मित किया जाएगा और यह कार्य अगले 5 वर्षों तक चलेगा। इस कार्य को सुचारू रूप से संपन्न करने के लिए नेहरू युवा केंद्र संगठन के वॉलिंटियर्स की टीम, नेशनल सर्विस स्कीम से जुड़े लोग , समाजशास्त्र और समाज कार्य से जुड़े छात्रों को गांव में भेजा जाएगा और और वे गांव के आर्ट फॉर्म्स यानी कलाओं के भिन्न-भिन्न रूपों और धरोहरों से जुड़े आंकड़ों को इकट्ठा करेंगे इस क्रम में प्रत्येक राज्य और प्रत्येक संघ शासित प्रदेश में एक गांव का चयन किया जा रहा है और ऐसे गांव का भी चयन किया जा रहा है जो हमारे स्वतंत्रता आंदोलन के भाग रहे हैं ।

वर्तमान में इस प्रोजेक्ट पर 89 करोड़ के बजट को मंजूरी दी गई है और आईजीएनसीए का लक्ष्य है कि वित्तवर्ष 2021- 22 तक भारत के 5000 गांवों की पूर्ण कल्चरल मैपिंग को अंजाम दिया जा सके । यह 5 वर्षीय परियोजना है जिस पर भारत सरकार के संस्कृति मंत्रालय ने गतिशीलता के साथ कार्य करना शुरू कर दिया है। इस कल्चरल मैपिंग मिशन के तहत कलाकारों आर्ट फॉर्म्स और संगठनों के अन्य संसाधनों का एक व्यापक डेटाबेस तैयार किया जा रहा है और भारत सरकार के संस्कृति मंत्रालय के अनुसार अभी तक 14.53 लाख कलाकारों को नेशनल मिशन ऑन कल्चरल मैपिंग के पोर्टल पर पंजीकृत किया जा चुका है।

वर्ष 2017 में ‘संस्कृति मंत्रालय’ ने भारत की समृद्ध कला और सांस्कृतिक विरासत को संरक्षित करने के लिये ‘सांस्कृतिक मानचित्रण पर राष्ट्रीय मिशन’ की शुरुआत की थी।

प्रश्न 5. कोकिलाबारी सीड फार्म जो अति संकटापन्न बंगाल फ्लोरिकन का आदर्श निवास स्थान है , कहाँ स्थित है ?

A. पश्चिम बंगाल
B. ओडिशा
C. असम
D. त्रिपुरा

उत्तर: (C)

व्याख्या: IUCN ने हाल ही में असम के मुख्यमंत्री को लिखे एक लेटर में निवेदन किया है कि असम स्थित कोकिलाबारी सीड फार्म जोकि बंगाल फ्लोरिकन पक्षियों के लिए स्वर्ग स्थल जैसा है उसको संरक्षण दिया जाय। IUCN ने कहा है कि कोकिलाबारी सीड फार्म को असम सरकार द्वारा एक कम्युनिटी रिज़र्व घोषित किया जाना चाहिए। यह सीड फार्म मानस नेशनल पार्क के पास ही पड़ता है और यहां राज्य सरकार ने एक विश्वविद्यालय गठित करने के साथ विकास गतिविधियों को आगे बढ़ाने का फैसला लिया है जिसके चलते IUCN के मुताबिक बंगाल फ्लोरिकन पक्षी खतरे में पड़ जाएंगे।

मात्र 9 वर्ग किलोमीटर क्षेत्र में फैले कोकिलाबारी सीड फार्म 25 बंगाल फ्लोरिकन और 850 वर्ग किलोमीटर क्षेत्र में फैले मानस नेशनल पार्क में 33 बंगाल फ्लोरिकन हैं । कुल 58 बंगाल फ्लोरिकन के साथ मानस - कोकिलाबारी पृथ्वी पर बंगाल फ्लोरिकन पक्षी के 3 सबसे बड़े हॉटस्पॉट के रूप में हैं। इसके अलावा अरुणाचल प्रदेश के डी एरिंग अभ्यारण्य में 100 और नेपाल के कोशी टप्पू में 100 ऐसे पक्षी हैं।

IUCN ने अपने रेड डेटा लिस्ट में बंगाल फ्लोरिकन को Critically Endangered यानी अति संकटापन्न के रूप में सूचीबद्ध किया है। बॉम्बे नेचुरल हिस्ट्री सोसाइटी के मुताबिक इस अभ्यारण्य में करीब 100 बंगाल फ्लोरिकन हैं।

इसे वन्यजीव संरक्षण अधिनियम , 1972 के तहत शेड्यूल वन स्पीशीज घोषित किया गया है यह अपने "मेटिंग डांस" के लिए विश्व प्रसिद्ध है।

यह एक ग्रासलैंड स्पीशीज है जो भारत में मुख्यतया उत्तर प्रदेश के दुधवा , किशनपुर और पीलीभीत रिजर्व में , असम के मानस , ओरंग और काज़ीरंगा रिजर्व में और अरुणाचल प्रदेश के डेइंग एरिंग वन्य जीव अभ्यारण्य में और पश्चिम बंगाल के जलदपारा नेशनल पार्क में पाया जाता है। भारतीय उपमहाद्वीप में ये केवल भारत और नेपाल और दक्षिण पूर्वी एशिया के वियतनाम और कम्बोडिया में ही पाया जाता है।