नगा शांति वार्ता (Naga Peace Talk) : डेली करेंट अफेयर्स

नगा शांति वार्ता (Naga Peace Talk)

चर्चा में क्यों?

  • हाल ही में नगालैंड सरकार ने “इंडो-नगा" राजनीतिक वार्ता के लिए क्षेत्रीय राजनीतिक समूहों और सशस्त्र नागा समूहों से सकारात्मक दृष्टिकोण के साथ शांति वार्ता फिर से शुरू करने के लिए अपील की है ।

Nagaland State Government Efforts for Naga Peace Talks: Daily ...

प्रमुख बिन्दु

  • भारत सरकार और नगा चरमपंथी समूहों के दो वर्गों के बीच शांति प्रक्रिया 23 वर्षों से अधिक समय से लटकी हुई है।
  • नेशनल सोशलिस्ट काउंसिल ऑफ नगालैंड-इसाक मुइवाह (एनएससीएन-आईएम) नगाओं के लिए अलग झंडा और नगालैंड के लिए अलग संविधान की अपनी मांग पर अड़ा हुआ है। हालांकि केंद्र सरकार अलग झंडा और अलग संविधान जैसी मांगों को पहले ही खारिज कर चुका है, जिसके कारण शांति वार्ता अब तक बेनतीजा रही है ।
  • उत्तर पूर्व के सभी उग्रवादी संगठनों का अगुवा माने जाने वाला एनएससीएन-आईएम अनाधिकारिक तौर पर केंद्र सरकार से साल 1994 से बात कर रहा है। सरकार और संगठन के बीच औपचारिक वार्ता वर्ष 1997 से शुरू हुई थी। अगस्त 2015 में भारत सरकार ने एनएससीएन-आईएम के साथ अंतिम समाधान की तलाश के लिए एक समझौते पर हस्ताक्षर किए। इसके बाद 2017 में केंद्र सरकार ने एक समझौते (डीड ऑफ कमिटमेंट) पर हस्ताक्षर कर आधिकारिक रूप से छह नगा राष्ट्रीय राजनीतिक समूहों (एनएनपीजी) के साथ बातचीत का दायरा बढ़ाया था।

नगा समूहों की मांग

  • एनएससीएन (आई-एम) शुरू से ही असम, मणिपुर और अरुणाचल प्रदेश के नागा-बहुल इलाकों को मिला कर नागालिम यानी ग्रेटर नागालैंड के गठन की मांग करता रहा है।

नगालैंड का इतिहास

  • 1947 में देश के आजाद होने के समय नगा समुदाय के लोग असम के एक हिस्से में रहते थे। देश आजाद होने के बाद नागा कबीलों ने संप्रभुता की मांग में आंदोलन शुरू किया था। उस दौरान बड़े पैमाने पर हिंसा भी हुई थी।
  • 1957 में केंद्र सरकार और नागा गुटों के बीच शांति बहाली पर आम राय बनी। इस सहमित के आधार पर असम के पर्वतीय क्षेत्र में रहने वाले तमाम नागा समुदायों को एक साथ लाया गया। बावजूद इसके इलाके में उग्रवादी गतिविधयां जारी रहीं।
  • एक दिसंबर 1963 को भारत का 16वां राज्य बना नागालैंड पूर्व में म्यांमार, पश्चिम में असम, उत्तर में अरुणाचल प्रदेश और दक्षिण में मणिपुर से सटा है।
  • 1975 में तमाम उग्रवादी नेताओं ने शिलॉन्ग समझौते के तहत हथियार डाल कर भारतीय संविधान के प्रति आस्था जताई। लेकिन यह शांति क्षणभंगुर ही रही। 1980 में राज्य नें सबसे बड़े उग्रवादी संगठन नेशनल सोशलिस्ट काउंसिल ऑफ नागालैंड (एनएससीएन) का गठन किया गया।
  • वर्ष 1988 में एक हिंसक झड़प के बाद ‘नेशनल सोशलिस्ट काउंसिल ऑफ नगालैंड’ (NSCN) का विभाजन एनएससीएन (आई-एम) और एनएससीएन (K) में हो गया।

नगा समुदाय

  • नगा पहाड़ी नृजातीय समुदाय हैं, जिसमें कई जनजातियाँ शामिल हैं, जो नगालैंड और उसके पड़ोसी क्षेत्रों में निवास करती हैं। नगा समुदाय इंडो-मंगोलॉयड वंश से संबंध रखते हैं।