भारतीय मूल की अनीता आनंद बनी कनाडा की नई रक्षा मंत्री : डेली करेंट अफेयर्स

भारतीय मूल की अनीता आनंद बनी कनाडा की नई रक्षा मंत्री

कनाडा के मंत्रिमंडल में एक बड़ा बदलाव करते हुए वहां के प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रुडो ने हाल ही में भारतीय मूल की अनीता आनंद को देश की नई रक्षा मंत्री बनाया है। सुश्री आनंद ने लंबे समय से कनाडा के रक्षा मंत्री रहे हरजीत सज्जन की जगह ली है।

हरजीत सज्जन अब अंतर्राष्ट्रीय मामलों के मंत्री बनाए गए हैं।

अनीता आनंद कनाडा के इतिहास में रक्षा मंत्री बनने वाली दूसरी महिला है। इससे पहले कनाडा की पूर्व प्रधानमंत्री किम कैम्पबेल भी 1990 के दशक में रक्षा मंत्री रह चुकी हैं। जिन्होंने 1993 में 4 जनवरी से 25 जून तक छह महीने के लिए पोर्टफोलियो संभाला था।

2019 से अनीता आनंद कनाडा के हाउस ऑफ कॉमंस की मेंबर हैं । वह 2019 में पहली बार सार्वजनिक सेवाओं और खरीद की कैबिनेट मंत्री नियुक्त की गईं थीं। विशेष बात यह है कि वह कनाडा की पहली हिंदू कैबिनेट मंत्री हैं।

कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो द्वारा देश के लिए कोविड-19 टीकों की खरीद में उनकी सफलता के लिए प्रशंसा के बाद महत्वपूर्ण रक्षा पोर्टफोलियो में पदोन्नत किया गया है।  इसके अलावा भारतीय-कनाडाई महिला कमल खेड़ा को वरिष्ठ नागरिकों के लिए मंत्री के तौर पर नियुक्त किया गया है। वे ब्रैम्पटन वेस्ट से 32 वर्षीय सांसद हैं। इसके साथ ही ट्रूडो कैबिनेट में भारतीय-कनाडाई महिला मंत्रियों की संख्या तीन हो गई है।  नए मंत्रिमंडल में छह महिला मंत्रियों में दो भारतीय-कनाडाई महिलाएं शामिल हैं।

अनीता का जन्म 1967 में नोवा स्कोटिया में हुआ। उनके माता-पिता भारतीय मूल के हैं। पंजाब से मां सरोज डी. राम और तमिलनाडु से पिता एस. वी. आनंद हैं। टोरंटो विश्वविद्यालय में अनिता कानून की प्रोफेसर हैं। टोरंटो के करीब ओकविले से सांसद निर्वाचित होने के बाद साल 2019 में उन्हें प्रधानमंत्री ट्रूडो ने सार्वजनिक सेवा और खरीद मंत्री की जिम्मेदारी दी थी।