आहार क्रांति मिशन (Aahaar Kranti Mission) : डेली करेंट अफेयर्स

आहार क्रांति मिशन (Aahaar Kranti Mission)

चर्चा में क्यों?

  • हाल ही में केंद्रीय मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने “आहार क्रांति”( Aahaar Kranti) नाम के एक नए मिशन की शुरुआत की है।

प्रमुख बिन्दु

  • “आहार क्रांति मिशन” का लक्ष्य पोषक संतुलित आहार की ज़रूरत और सभी स्थानीय फलों और सब्ज़ियों तक पहुंच कायम करने की ज़रूरत को समझना है।
  • विज्ञान भारती तथा ग्लोबल इंडियन साइंटिस्ट एंड टैक्नोक्रैट्स फोरम (जीआईएसटी) ने मिलकर “उत्तम आहार-उत्तम विचार” के लक्ष्य को लेकर यह मिशन शुरू किया है ।
  • “आहार क्रांति आंदोलन” का उद्देश्य भारत में हंगर और विभिन्न प्रकार की बीमारियों की समस्या का समाधान तलाशना है।
  • गौरतलब है कि अध्ययनों में पाया गया है कि भारत उपभोग से दो गुना ज्यादा कैलोरी का उत्पादन करता है लेकिन फिर भी देश में बहुत से लोग अभी भी कुपोषित हैं। इस समस्या की जड़ सामान्यतया भारतीय समाज में पोषण के संबंध में जागरूकता का अभाव है।
  • मौजूदा कोविड -19 महामारी के समय में पोषक संतुलित आहार की और भी ज्यादा ज़रूरत है। जबकि एक स्वस्थ शरीर ही ज्यादा रोग प्रतिरोधक क्षमता और उच्च सहनशक्ति से इस संक्रमण का मुकाबला कर सकता है।
  • भारत में आयुर्वेद का अनूठा ज्ञान है । इसलिए जब आयुर्वेद आधारित पोषण के इस समृद्ध ज्ञान को अभ्यास में लाना ज़रूरी है। यह आंदोलन इस दिशा में भी कार्य करेगा।
  • यह आंदोलन भारत में हंगर की विकराल समस्या का समाधान करने के लिए लोगों को अपने पारंपरिक भारतीय खानपान को सुधारने तथा स्थानीय फलों व सब्ज़ियों को अपने आहार में अपनाने के लिए प्रेरित करेगा।
  • विज्ञान भारती और ग्लोबल साइंटिस्ट एंड टैक्नोक्रैट्स फोरम का लक्ष्य आहार क्रांति को पूरे विश्व के लिए एक मॉडल बनाना है ।

“आहार क्रांति मिशन” और सतत विकास लक्ष्य

  • संयुक्त राष्ट्र ने भी 2021 को “अंतरराष्ट्रीय फल एवं सब्ज़ी वर्ष” घोषित किया है जो “आहार क्रांति मिशन” के सर्वथा अनुरूप है। क्योंकि फल एवं सब्ज़ियां हमारे संतुलित आहार का एक बड़ा और अभिन्न हिस्सा हैं।
  • संयुक्त राष्ट्र का ‘सतत विकास लक्ष्य- 3’ में “सभी के लिए और सभी उम्र के लोगों के लिए स्वस्थ जीवन और कल्याण सुनिश्चित’’ करने पर बल दिया गया है। इस प्रकार संयुक्त राष्ट्र का ‘सतत विकास लक्ष्य- 3’ भी भारत सरकार की आहार क्रांति को और सार्थक बनाता है।