यूपीएससी और राज्य पीसीएस परीक्षा के लिए ब्रेन बूस्टर (विषय: विजिटिंग फोर्सेज एग्रीमेंट (Visiting Forces Agreement)

यूपीएससी और राज्य पीसीएस परीक्षा के लिए ब्रेन बूस्टर (Brain Booster for UPSC & State PCS Examination)


यूपीएससी और राज्य पीसीएस परीक्षा के लिए ब्रेन बूस्टर (Brain Booster for UPSC & State PCS Examination)


विषय (Topic): विजिटिंग फोर्सेज एग्रीमेंट (Visiting Forces Agreement)

विजिटिंग फोर्सेज एग्रीमेंट (Visiting Forces Agreement)

चर्चा का कारण

  • हाल ही में फिलीपीन्स के राष्ट्रपति रोड्रिगो डुटर्टे ने अमेरिका के साथ दो दशक पुराने विजिटिंग फोर्सेज एग्रीमेंट (Visiting Forces Agreement VFA) को आगे बढ़ाने का फैसला किया है। गौरतलब है कि 2016 में सत्ता में आने के बाद से रोड्रिगो डुटर्टे का झुकाव चीन की तरफ ज्यादा था, जिस कारण अमेरिका से फिलीपीन्स की तलि्खयां भी बढ़ी थीं ।

उद्देश्य

  • फिलीपीन्स को अमेरिका के साथ गठबंधन करने का उद्देश्य अपने देश के हितों की रक्षा और चीन के बढ़ते प्रभाव का मुकाबला करना है क्योंकि, फिलीपीन्स यह जानता है कि सैन्य और आर्थिक शत्तिफ़ के मामले में वह चीन के सामने कुछ नहीं है।
  • मनीला और वाशिंगटन के राजनयिकों ने विजिटिंग फोर्सेज एग्रीमेंट (VFA) को फिर से लागू करने में बड़ी भूमिका निभाई है।
  • फिलीपीन्स के साथ बढ़ते तनाव को देखते हुए अमेरिका ने मनीला के पास स्थित अपने सैन्य बेस को वियतनाम में शिफ्रट करने का ऐलान कर दिया था लेकिन कोरोना वायरस के कारण बदली परिस्थितियां, देश में चीन का व्यापक विरोध और बिगड़ती अर्थव्यवस्था ने रोड्रिगो डुटर्टे को अपने कदम पीछे खींचने को मजबूर कर दिया जिसके बाद से उन्होंने अमेरिका के साथ सैन्य बेस को बनाए रखने के लिए समझौते पर हस्ताक्षर किए।

विजिटिंग फोर्सेज एग्रीमेंट क्या है?

  • विजिटिंग फोर्सेज एग्रीमेंट (Visiting Forces Agreement) फिलीपींस और संयुत्तफ़ राज्य अमेरिका के बीच एक संधि है जिसमें अमेरिकी सैन्य और नागरिक कर्मियों के लिए दिशानिर्देश और शर्तें शामिल हैं जिन्हें अस्थायी रूप से फिलीपींस भेजा जाता है।
  • सामान्य शब्दों में कहें तो अमेरिकी सरकार फिलीपींस में तैनात अपने सैन्यकर्मियों के ऊपर न्यायाधिकार रखेगी और कुछ ही मामलों में उन पर स्थानीय न्यायालयों में मुकदमा चल सकता है साथ ही इस समझौते के अनुसार, अमेरिकी सैन्यकर्मियों पर फिलीपीन्स के वीजा और पासपोर्ट नियम नहीं चलेंगे। विजिटिंग फोर्सेज एग्रीमेंट में यह स्पष्ट किया गया है कि यदि अमेरिका की सेना फिलीपींस में आई तो उसका वैधानिक दर्जा क्या होगा और इसके लिए नियम और मार्गनिर्देश कौन-से होंगे।
  • यह समझौता 1951 में हस्ताक्षरित आपसी रक्षा संधि (Multi Defense treaty) के तहत दोनों देशों के दायित्वों का पुष्टिकरण था। एमडीटी (MDT) संवैधानिक प्रक्रियाओं के अनुसार सशस्त्र हमले की स्थिति में एक दूसरे की रक्षा करने की प्रतिबद्धता को दर्शाता है ।

एग्रीमेंट क्यों बढ़ाया गया

  • विशेषज्ञों ने फिलीपीन्स के इस यूटर्न को साउथ चाइना सी में चीन के बढ़ते प्रभाव से जोड़ा है। बता दें कि साउथ चाइना सी से दुनिया का 30 फीसदी व्यापार होता है।
  • चीन पूरे साउथ चाइना सी पर ही अपना दावा करता है जबकि उसके दावे को वियतनाम, फिलीपींस, ब्रुनेई, मलेशिया और ताइवान नकारते रहे हैं। चीन ने पिछले एक दशक में कई कृत्रिम द्वीपों का निर्माण कर अपनी विस्तारवादी रणनीति को खुलेआम दर्शाया है।
  • गौरतलब है कि चीन के दक्षिण साउथ चाइना सी में दावों के िखलाफ मलेशिया, फिलीपींस, वियतनाम और इंडोनेशिया ने संयुत्तफ़ राष्ट्र में कई राजनयिक नोट भी दािखल किए हैं। इतना ही नही चीन ने भी जवाबी कार्रवाई करते हुए अपने सैन्य जहाजों के जरिेए बाकी देशों के परिवहन और मछली पकड़ने वाली नौकाओं के िखलाफ कार्रवाई की है।

फिलीपींस के लिए निहितार्थ

  • फिलीपींस की राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए अमेरिकी गठबंधन और वीएफए महत्वपूर्ण हैं। फिलीपींस में चीन के िखलाफ जबरदस्त आक्रोश है, साथ ही फिलीपींस की जनता अमेरिका पर अत्यधिक विश्वास करती है, वहीं दूसरी ओर दक्षिणी चीन सागर में चीन की गतिविधियों से फिलीपींस के लोग आशंकित रहते हैं। इसलिए अमेरिका और फिलीपींस का सैन्य गठजोड़ तथा विजिटिंग फोर्सेज एग्रीमेंट चीनी खतरों के विरुद्ध एक बीमा के जैसा काम करेगा।े

ब्रेन बूस्टर को पीडीएफ में डाउनलोड करने के लिए यहां क्लिक करें


<< मुख्य पृष्ठ पर वापस जाने के लिये यहां क्लिक करें