यूपीएससी और राज्य पीसीएस परीक्षा के लिए ब्रेन बूस्टर (विषय: पब्लिक अफेयर इंडेक्स (पीएआई) 2020 (Public Affairs Index - 2020)

यूपीएससी और राज्य पीसीएस परीक्षा के लिए ब्रेन बूस्टर (Brain Booster for UPSC & State PCS Examination)


यूपीएससी और राज्य पीसीएस परीक्षा के लिए करेंट अफेयर्स ब्रेन बूस्टर (Current Affairs Brain Booster for UPSC & State PCS Examination)


विषय (Topic): पब्लिक अफेयर इंडेक्स (पीएआई) 2020 (Public Affairs Index - 2020)

पब्लिक अफेयर इंडेक्स (पीएआई) 2020 (Public Affairs Index - 2020)

चर्चा का कारण

  • बेंगलुरु से संचालित गैर लाभकारी संगठन पब्लिक अफेयर सेंटर (पीएसी) ने हाल ही में अपनी वार्षिक रिपोर्ट पब्लिक अफेयर इंडेक्स (पीएआई)- 2020 जारी की है।

पब्लिक अफेयर सेंटर

  • पब्लिक अफेयर सेंटर भारत में सतत विकास लक्ष्यों पर केन्द्रित कार्यवाहियों पर अनुसंधान में संलग्न संस्था है।
  • पब्लिक अफेयर सेंटर कर्नाटक सोसाइटी पंजीकरण अधिनियम 1960 के तहत पंजीकृत एक गैर-लाभकारी सोसाइटी है, जिसकी स्थापना भारत में सुशासन की गुणवत्ता में सुधार के उद्देश्य से 1994 में बंगलुरु में की गयी थी।
  • यह केंद्र सार्वजनिक सेवाओं की गुणवत्ता और पर्याप्तता को मापने के लिए अभिनव सामाजिक जवाबदेही उपकरण (Social Accountability Tools-SAT) का उपयोग करने वाली पहली संस्था है।
  • पब्लिक अफेयर्स सेंटर नागरिक समाज के नेतृत्व वाली यह पहली संस्थागत पहल है जो भारत में सुशासन की मांग को बढ़ाने के लिए कार्यरत है।
  • पब्लिक अफेयर सेंटर ने 2016 में पहली पब्लिक अफेयर इंडेक्स (पीएआई) जारी किया था।
  • इस संगठन के वर्तमान अध्यक्ष भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) के पूर्व प्रमुख के- कस्तूरीरंगन है।

पब्लिक अफेयर इंडेक्स (पीएआई)-2020 से जुड़े महत्वपूर्ण तथ्य

  • पब्लिक अफेयर इंडेक्स (PAI) भारत के राज्यों को वहाँ के सुशासन के आधार पर रैंकिंग प्रदान करने के लिए एक डेटा-संचालित मंच है।
  • पब्लिक अफेयर इंडेक्स में सुशासन का आकलन सतत विकास के संदर्भ में तीन आधारों समानता, विकास और निरंतरता के आधार पर किया गया।
  • पब्लिक अफेयर सेंटर (पीएसी) द्वारा जारी पब्लिक अफेयर इंडेक्स (पीएआई)-2020 के अनुसार बड़े राज्यों की श्रेणी में केरल देश का सबसे सुशासित राज्य है जबकि उत्तर प्रदेश सबसे निचले पायदान पर है।

बड़े राज्यों की रैंकिंग

  • इस इंडेक्स के अनुसार सुशासन के संदर्भ में बड़े राज्यों की श्रेणी में शीर्ष चार रैंकों पर दक्षिणी राज्य काबिज है-
  • केरल (1.388 अंक),
  • तमिलनाडु (0.912),
  • आंध्र प्रदेश (0.531)
  • कर्नाटक (0.468)
  • वहीं बड़े राज्यों की श्रेणी में नीचे के तीन राज्य हैं-
  • उत्तर प्रदेश (-1.461),
  • ओडिशा (-1.201)
  • बिहार (-1.158)
  • छोटे राज्यों की रैंकिंग
  • छोटे राज्यों की श्रेणी में गोवा को 1.745 पीएआई के साथ शीर्ष रैंकिंग मिली है। इसके बाद मेघालय (0.797), और हिमाचल प्रदेश (0.725) का स्थान है।
  • इस श्रेणी में सबसे खराब प्रदर्शन मणिपुर (-0.363), दिल्ली (-0.289) और उत्तराखंड (-0.277) का है।
  • केंद्रशासित प्रदेश
  • पब्लिक अफेयर इंडेक्स के अनुसार 1.05 अंकों के साथ चंड़ीगढ़ देश का सबसे सुशासित केंद्र शासित प्रदेश है। इसके बाद पुडुचेरी (0.52), लक्षद्वीप (0.003), दादरा और नगर हवेली (-0.69) का स्थान है।

निष्कर्ष

  • इस सूचकांक के निष्कर्षतः कहा जा सकता है कि तो दक्षिणी राज्यों ने उत्तरी राज्यों की तुलना में समता (Equity), वृद्धि (Growth) और संधारणीयता (Sustainability) में बेहतर प्रदर्शन किया है।