यूपीएससी और राज्य पीसीएस परीक्षा के लिए ब्रेन बूस्टर (विषय: मालदीव में भारत का नया वाणिज्य दूतावास (New Consulate of India in Maldives)

यूपीएससी और राज्य पीसीएस परीक्षा के लिए ब्रेन बूस्टर (Brain Booster for UPSC & State PCS Examination)


यूपीएससी और राज्य पीसीएस परीक्षा के लिए करेंट अफेयर्स ब्रेन बूस्टर (Current Affairs Brain Booster for UPSC & State PCS Examination)


विषय (Topic): मालदीव में भारत का नया वाणिज्य दूतावास (New Consulate of India in Maldives)

मालदीव में भारत का नया वाणिज्य दूतावास (New Consulate of India in Maldives)

चर्चा में क्यों?

  • हाल ही में भारत सरकार के केन्द्रीय मंत्रिमंडल ने मालदीव के अड्डू शहर में भारत के एक नए वाणिज्य दूतावास को खोलने की मंजूरी दी है।

प्रमुख बिन्दु

  • प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी की अध्यक्षता में केन्द्रीय मंत्रिमंडल की बैठक में वर्ष 2021 में मालदीव के अड्डू शहर में भारत के एक नए वाणिज्य दूतावास को खोलने की मंजूरी दी गई है।
  • भारत और मालदीव के बीच प्राचीन काल से ही जातीय, भाषाई, सांस्कृतिक, धार्मिक और व्यापारिक संबंध रहे हैं।
  • भविष्य के लिए भारत की दूरगामी सोच में ‘नेबरहुड फर्स्ट नीति’ (Neighbourhood first policy) और ‘क्षेत्र में सभी के लिए सुरक्षा एवं विकास’ (सिक्योरिटी एंड ग्रोथ फॉर ऑल इन द रिजन) नीतियाँ हैं। इन नीतियों में मालदीव का प्रमुख स्थान है।
  • अड्डू शहर में नया वाणिज्य दूतावास खोलने से मालदीव में भारत की राजनयिक उपस्थिति और बढ़ेगी और इससे वर्तमान संबंधों और आकांक्षाओं को सुदृढ़ बनाया जा सकेगा।
  • भारत की राजनयिक उपस्थिति में बढ़ोतरी से भारतीय कम्पनियों को वहां के बाजारों में अपनी पैठ बनाने और भारतीय वस्तुओं और सेवाओं के निर्यात को बढ़ाने में भी सहायता मिलेगी। इससे "आत्मनिर्भर भारत" के हमारे लक्ष्यों के अनुरूप घरेलू उत्पादन और रोजगार के अवसरों में वृद्धि पर भी सीधा असर होगा।

नेबरहुड फर्स्ट नीति

  • भारत अपनी ‘नेबरहुड फर्स्ट नीति’ (Neighbourhood first policy) के तहत अपने पड़ोसी देशों को प्राथमिकता देता है।
  • इस नीति के तहत सीमा क्षेत्रें के विकास, क्षेत्र की बेहतर कनेक्टिविटी एवं सांस्कृतिक विकास तथा लोगों के आपसी संपर्क को प्रोत्साहित करने पर ध्यान केंद्रित किया जाता है।
  • हाल ही में भारत द्वारा पड़ोसियों को कोरोना वैक्सीन की आपूर्ति सुनिश्चित करने से ‘नेबरहुड फर्स्ट नीति’ को और बल मिला है।
  • गौरतलब है कि भारत ने अपनी कोविड -19 वैक्सीन कूटनीति के तहत भूटान और मालदीव को वैक्सीन की पहली खेप भेजी थी।

भारत-मालदीव संबंध

  • भारत और मालदीव के बीच जातीय, भाषाई, सांस्कृतिक, धार्मिक और वाणिज्यिक संबंध हैं। भारत की पड़ोसी को तरजीह देने और इस क्षेत्र में सबके लिए सुरक्षा तथा विकास की नीति में मालदीव का महत्वपूर्ण स्थान है।
  • मालदीव और भारत के बीच राजनैतिक संबंध के अलावा सामाजिक, धार्मिक और कारोबारी रिश्ता भी रहा है। मालदीव में लगभग 25 हजार भारतीय भी निवास करते हैं। भारतीय समुदाय मालदीव में निवास करने वाला दूसरा सबसे बड़ा समुदाय है।
  • मालदीव के विकास में भारत एक प्रमुख भागीदार रहा है और उसने मालदीव के कई प्रमुख संस्थानों की स्थापना करने में सहायता की है। भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआई) फरवरी 1974 से मालदीव के आर्थिक विकास में महत्त्वपूर्ण भूमिका निभा रहा है।
  • भारत ने मालदीव को उसकी आवश्यकता के समय हमेशा सहायता की पेशकश की है। मालदीव में 26 दिसंबर 2004 को आई सुनामी के बाद मालदीव को राहत और सहायता पहुँचाने वाला भारत पहला देश था।

मालदीव

  • मालदीव, हिन्द महासागर में स्थित एक द्वीपीय देश है।
  • दरअसल यहाँ प्रवाल द्वीप पाये जाते हैं। इसलिए यह देश पर्यावरण के प्रति संवेदनशील है।
  • मालदीव, जनसंख्या और क्षेत्र दोनों ही प्रकार से एशिया का सबसे छोटा देश है।
  • मालदीव की राजधानी माले है।