यूपीएससी और राज्य पीसीएस परीक्षा के लिए ब्रेन बूस्टर (विषय: आपराधिक वित्त और क्रिप्टोकरेंसी पर वैश्विक सम्मेलन (Global Conference on Criminal Finance and Cryptocurrency)

यूपीएससी और राज्य पीसीएस परीक्षा के लिए ब्रेन बूस्टर (Brain Booster for UPSC & State PCS Examination)


यूपीएससी और राज्य पीसीएस परीक्षा के लिए करेंट अफेयर्स ब्रेन बूस्टर (Current Affairs Brain Booster for UPSC & State PCS Examination)


विषय (Topic): आपराधिक वित्त और क्रिप्टोकरेंसी पर वैश्विक सम्मेलन (Global Conference on Criminal Finance and Cryptocurrency)

आपराधिक वित्त और क्रिप्टोकरेंसी पर वैश्विक सम्मेलन (Global Conference on Criminal Finance and Cryptocurrency)

चर्चा का कारण

  • हाल ही में इंटरपोल (Interpol) यूरोपोल (Europol) और बेसेल इंस्टीटड्ढूट ऑन गवर्नेंस (Basel Institute on Governance) द्वारा आयोजित आपराधिक वित्त (Criminal Finances) और क्रिप्टोकरेंसी (Cryptocurrencies) पर चौथे वैश्विक सम्मेलन में 132 देशों के 2,000 से अधिक प्रतिनिधियों ने भाग लिया।

प्रमुख बिन्दु

  • 18 से 19 नवंबर तक आपराधिक वित्त (Criminal Finances) और क्रिप्टोकरेंसी (Cryptocurrencies) पर चौथा आभासी वैश्विक सम्मेलन (4th Virtual Global Conference) आयोजित किया गया। इस सम्मेलन में विश्व के कई देशों के प्रतिनिधियों ने भाग लिया।
  • यह सम्मेलन इंटरपोल (Interpol), यूरोपोल (Europol) और बेसेल इंस्टीटड्ढूट ऑन गवर्नेंस (Basel Institute on Governance) द्वारा मिलकर आयोजित किया गया।
  • इस सम्मेलन में धन शोधन (money laundering) को रोकने हेतु आभासी संपत्ति सेवा प्रदाताओं (virtual asset service providers) को विनियमित करने के तरीकों पर क्षमताओं का विस्तार करने की आवश्यकता पर बल दिया गया।
  • इसके अतिरिक्त, सम्मेलन में यह भी रेखांकित किया गया कि आभासी संपत्ति (virtual assets) की जांच करने के तौर-तरीकों को और सुदृढ़ किया जाय।
  • सरकार को एक बहु-विषयक दृष्टिकोण (multi-disciplinary approach) वाली एजेंसी के गठन पर बल देना चाहिए, जो निजी और सार्वजनिक दोनों क्षेत्रों में आपराधिक वित्त और क्रिप्टोकरेंसी के दुरुपयोग से निपटने में सक्षम हो।
  • चौथे वैश्विक सम्मेलन में इस बात पर भी जोर दिया गया कि मनी लॉन्ड्रिंग को रोकने के लिए स्पष्ट विनियामक ढांचे की स्थापना की जरूरत है। इस हेतु नई-नई प्रौद्योगिकियों को अपनाने की आवश्यकता है।

वैश्विक सम्मेलन के बारे में

  • यह सम्मेलन वैश्विक स्तर पर आपराधिक वित्त (Criminal Finances) और क्रिप्टोकरेंसी (Cryptocurrencies) के दुरूपयोग को रोकने हेतु एक पहल है।
  • इसे वर्ष 2016 में इंटरपोल (Interpol), यूरोपोल (Europol) और बेसेल इंस्टीटड्ढूट ऑन गवर्नेंस (Basel Institute on Governance) द्वारा शुरू किया गया था।

क्रिप्टोकरेंसी क्या है?

  • क्रिप्टोकरेंसी एक ऐसी मुद्रा है जो कंप्यूटर एल्गोरिथ्म पर बनी होती है। इसमें लेन-देन संबंधी सभी जानकारियों को कूटबद्ध (Encrypt) तरीके से विकेंद्रित डेटाबेस (Decentrelised Database) में सुरक्षित रखा जाता है।
  • अमूमन रुपया, डॉलर, यूरो या अन्य मुद्राओं की तरह ही इस मुद्रा का संचालन किसी राज्य, देश, संस्था या सरकार द्वारा नहीं किया जाता। यह एक डिजिटल करेंसी होती है जिसके लिए क्रिप्टोग्राफी का प्रयोग किया जाता है। आमतौर पर इसका प्रयोग किसी सामान की खरीदारी या कोई सर्विस खरीदने के लिए किया जा सकता है।

इंटरपोल

  • इंटरनेशनल क्रिमिनल पुलिस ऑर्गेनाइजेशन (इंटरपोल) एक संस्था है जो अंतरराष्ट्रीय स्तर पर पुलिस के बीच समन्वय का काम करती है। इंटरपोल उन देशों के बीच समन्वय का काम करती है जो इस संस्था के सदस्य हैं।
  • इंटरपोल की स्थापना का विचार सबसे पहले 1914 में मोनाको में आयोजित पहली अंतर्राष्ट्रीय आपराधिक पुलिस कांग्रेस में रखा गया और उसके बाद इंटरपोल की स्थापना आधिकारिक रूप से 1923 में की गयी और इसका नाम ‘अंतर्राष्ट्रीय अपराध पुलिस आयोग’ रखा गया। बाद में साल 1956 में इसका नाम ‘इंटरपोल’ रखा गया।
  • इंटरपोल मुख्य रूप से इन तीन प्रकार के अपराधों (काउंटर-टेरेरिज्म,साइबर अपराध,संगठित अपराध) के लिए अपनी पुलिस विशेषज्ञता और क्षमताओं का इस्तेमाल करता है।