(दैनिक समसामयिकी और प्रिलिम्स बूस्टर) यूपीएससी और सभी राज्य लोक सेवा आयोग परीक्षाओं के लिए हिंदी में समाचार पत्रों का संकलन (26 फरवरी 2020)

दैनिक समसामयिकी और प्रिलिम्स बूस्टर


(दैनिक समसामयिकी और प्रिलिम्स बूस्टर) यूपीएससी और सभी राज्य लोक सेवा आयोग परीक्षाओं के लिए हिंदी में समाचार पत्रों का संकलन (26 फरवरी 2020)


:: राष्ट्रीय समाचार ::

असम समझौते के अनुच्छेद छह पर उच्च-स्तरीय समिति की रिपोर्ट

  • असम में अवैध घुसपैठ के खिलाफ छह साल तक चले आंदोलन के बाद हुए असम समझौते के लगभग 35 साल बाद इसके अनुच्छेद छह को लागू करने के लिए बनी उच्च-स्तरीय समिति ने अपनी सिफारिशें तो राज्य की सर्बानंद सोनोवाल सरकार को सौंप दी हैं.

रिपोर्ट के महत्वपूर्ण तथ्य

  • समिति ने असम के मूल निवासियों की पहचान के लिए वर्ष 1951 को कटआफ वर्ष तय करने औऱ पूरे राज्य में इनर लाइन परमिट (आईएलपी) शुरू करने की सिफारिश की है. इसके अलावा असम में उच्च सदन की स्थापना औऱ मूल असमिया लोगों के लिए विधानसभा और नौकरियों में 67 फीसदी आरक्षण की भी सिफारिश की गई है.

क्या है असम समझौता

  • अस्सी के दशक में विदेशी घुसपैठ के खिलाफ असम आंदोलन के कारण वर्ष 1985 में असम समझौते पर हस्ताक्षर हुए. असम समझौते का अनुच्छेद छह असमिया लोगों की सांस्कृतिक, सामाजिक, भाषाई पहचान एवं विरासत की रक्षा करने, उसे संरक्षित करने एवं उसका प्रचार करने के लिए संवैधानिक, कानूनी और प्रशासनिक सुरक्षा देने से संबंधित है।
  • हाल ही में सरकार ने इस अनुच्छेद को लागू करने के लिए समुचित सिफारिशों के लिए बेजबरुआ समिति का गठन किया था. लेकिन एनआरसी के विरोध में उस समिति के तमाम सदस्यों ने इस्तीफा दे दिया. उसके बाद न्यायमूर्ति (सेवानिवृत्त) बिप्लब कुमार शर्मा की अध्यक्षता में एक उच्च-स्तरीय समिति बनाई गई.

बालाकोट एयर स्ट्राइक के एक वर्ष पूर्ण

  • आज उस बालाकोट एयर स्ट्राइक की पहली बरसी है, जब भारतीय वायुसेना ने पाकिस्तान में घुस कर जैश-ए-मोहम्मद के आतंकी कैंपों पर बमबारी कर उसे तबाह कर दिया था। 14 फरवरी को हुए जम्मू-कश्मीर के पुलवामा आतंकी हमले के बाद भारत ने 26 फरवरी की देर रात इसका बदला लिया था और पाकिस्तान के बालाकोट में स्थित जैश के आतंकी कैंप को नेस्तानबूद कर दिया था। भारतीय वायुसेना के इस एयर स्ट्राइक में जैश के करीब 250 से अधिक आतंकवादियों को मार गिराया था। भारत ने इसका वीडियो जारी कर सबूत भी दिखाए थे।

पृष्ठभूमि

  • दरअसल, 14 फरवरी को जम्मू श्रीनगर राष्ट्रीय राजमार्ग पर सीआरपीएफ का काफिला गुजर रहा था। सामान्य दिन की तरह ही उस दिन भी सीआरपीएफ के वाहनों का काफिला अपनी धुन में जा रहा था। तभी एक कार ने सड़क की दूसरी तरफ से आकर इस काफिले के साथ चल रहे वाहन में टक्‍कर मार दी। इसके साथ ही एक जबरदस्‍त धमाका हुआ। यह आत्मघाती हमला इतना बड़ा था कि मौके पर ही सीआरपीएफ के करीब 42 जवान शहीद हो गए। पुलवामा आतंकी हमले से पूरे देश में रोष पैदा हो गया।
  • पुलवामा आतंकी हमले से सभी सन्न थे। हर कोई आतंकियों से इसका बदला लेना चाहता था। सरकार ने भी पुलवामा के शहीदों की शहादत का बदला लेने के लिए 12 दिन बाद 26 फरवरी को पाकिस्तान के बालाकोट में स्थित आतंकी कैंप पर हमला कर दिया।
  • पुलवामा हमले का बदला लेने के लिए सरकार ने भारतीय वायुसेना को चुना। भारतीय वायुसेना ने 26 फरवरी को तड़के बालाकोट में आसमान से बमवर्षा शुरू कर दी। भारतीय वायुसेना के इस एयर स्ट्राइक में जैश के न सिर्फ आतंकी ठिकाने तबाह हुए, बल्कि करीब 250 से अधिक आतंकियों को मौत के घाट उतार दिया।
  • भारतीय वायु सेना (IAF) की तरफ से पाकिस्तान स्थित बालाकोट में जैश-ए-मोहम्मद (जेईएम) के आतंकी शिविर पर 'मिशन' को सिर्फ 90 सेकेंड के भीतर अंजाम दिया गया था और इस ऑपरेशन के लिए जिस तरह की सीक्रेसी रखी गई थी उसका अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि इसे अंजाम देने वाले पायलट के परिवार के सदस्यों को भी इस बारे में कुछ नहीं मालूम था।
  • बालाकोट में आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद के ठिकाने ध्वस्त कर दिए थे और इसकी गोपनीयता बनाए रखने के लिए इसका कोडनेम ‘ऑपरेशन बंदर’ रखा था। वायुसेना के इस सैन्य ऑपरेशन के लिए 12 मिराज लड़ाकू विमानों को भेजा था। गोपनीयता बनाए रखने और योजना की जानकारी सार्वजनिक न हो यह सुनिश्चित करने के लिए बालाकोट ऑपरेशन को ‘ऑपरेशन बंदर’ कोडनेम दिया गया था।’ यह कोडनेम इसलिए रखा गया क्योंकि बंदरों का भारत में युद्ध में हमेशा से एक विशेष स्थान रहा है। भगवान राम के सेनानायक प्रभु हनुमान चुपके से लंका में घुस जाते हैं और शक्तिशाली रावण का पूरा साम्राज्य उजाड़ देते हैं।

‘अजेय वारियर–2020’

  • भारत और ब्रिटेन के बीच संयुक्‍त सैन्‍य प्रशिक्षण अभ्‍यास ‘अजेय वारियर–2020’ का समापन ब्रिटेन के सैलिसबरी प्लेन्स ट्रेनिंग एरिया के वेस्ट डाउन कैंप में हुआ। इस संयुक्‍त अभ्‍यास के पांचवें संस्‍करण में शहरी और अर्द्ध-शहरी क्षेत्रों में संयुक्‍त प्रशिक्षण शामिल थे। इस अभ्‍यास के तहत महत्‍वपूर्ण व्‍याख्‍यानों के साथ-साथ उग्रवाद एवं आतंकवाद से निपटने के अनूठे तरीकों से जुड़े प्रदर्शन का संयुक्‍त रूप से पूर्वाभ्यास किया गया।

:: अंतर्राष्ट्रीय समाचार ::

मिस्र के पूर्व राष्ट्रपति हुस्नी मुबारक का निधन

  • मिस्र के पूर्व राष्ट्रपति हुस्नी मुबारक का निधन हो गया है। वह 91 वर्ष के थे। लगभग तीन दशकों तक शासन करने वाले मुबारक को देश में 18 दिनों तक चले विरोध प्रदर्शनों के बाद 11 फरवरी, 2011 को इस्तीफा देना पड़ा था।

अमेरिका में ग्रीन कार्ड प्राप्त करना कठिन

  • सोमवार से प्रभावी हुए 'पब्लिक चार्ज रूल' के बाद सरकारी सहायता पर निर्भर कानूनी अप्रवासियों के लिए अमेरिका में ग्रीन कार्ड प्राप्त करना कठिन हो जाएगा। नया नियम उन गैर अप्रवासी आवेदकों पर भी लागू होगा, जो अमेरिका में कुछ और समय तक रहना चाहते हैं या फिर अपने गैर अप्रवासी स्टेटस को बदलना चाहते हैं। बता दें कि ग्रीन कार्ड (स्थायी निवासी कार्ड) एक ऐसा कार्ड है, जिससे पता चलता है कि आप अमेरिका के एक वैध स्थायी निवासी हैं। फिलहाल अमेरिका प्रति वर्ष करीब 1,40,000 लोगों को ग्रीन कार्ड देता है। इस हिसाब से भारत के खाते में 9800 ग्रीन कार्ड आते हैं।
  • नई आव्रजन प्रणाली में प्रवासियों की आय, आयु और शैक्षणिक योग्यता पर जोर दिया गया है। नए नियम के खिलाफ अमेरिका की विभिन्न अदालतों में अपील अभी भी लंबित हैं, लेकिन इलिनोइस जिला अदालत द्वारा लगाई गई रोक को सुप्रीम कोर्ट द्वारा खारिज किए जाने के बाद कानून को लागू कर दिया गया है। इससे पहले हाईकोर्ट ने न्यूयॉर्क, कैलिफोर्निया, वाशिंगटन और मेरीलैंड राज्यों की विभिन्न अदालतों द्वारा लगाई गई रोक हटाई थी।
  • नए नियम उन अप्रवासियों पर लागू नहीं होंगे, जो पहले से ग्रीन कार्ड होल्डर हैं या फिर जिन्होंने नागरिकता के लिए आवेदन दे रखा है। शरणार्थी और राजनीतिक शरण मांगने वालों को भी नए नियमों के दायरे से बाहर रखा गया है। 2016 में जब ट्रंप राष्ट्रपति बने थे, तब उन्होंने शरणार्थियों को आने से रोकने के लिए मैक्सिको की सीमा पर दीवार बनाने और अवैध अप्रवासियों को रोकने के लिए कड़े कदम उठाने की बात कही थी। हालांकि पूर्व में उनके समर्थक रहे कुछ आलोचकों को कहना है कि उन्होंने इस मुद्दे पर पर्याप्त काम नहीं किया है।

:: भारतीय राजव्यवस्था ::

55 राज्यसभा सीटों पर चुनाव

  • 17 राज्यों की 55 राज्यसभा सीटों के लिए द्विवार्षिक चुनाव 26 मार्च को होगा। चुनाव आयोग ने बताया है कि 17 राज्यों से चुने गए राज्यसभा सदस्यों का कार्यकाल अप्रैल में समाप्त हो रहा है।

राज्यसभा से संबंधित महत्वपूर्ण तथ्य

  • संसद का उच्च सदन राज्यसभा होता है। लोकसभा में बिल पेश होने के बाद राज्यसभा में भी उस बिल का पास होना अनिवार्य होता है। जबतक कोई भी बिल राज्यसभा में पास नहीं होता तब तक वो कानून नहीं बन पाता है।
  • राज्यसभा में कुल 258 सदस्य का चुनाव होता है। इसमें से 12 सदस्य राष्ट्रपति नॉमिनेट कर सकते हैं। हर दो साल में से एक तिहाई सदस्यों का कार्यकाल खत्म भी होता है। जिसके बाद उनकी सीटों के लिए चुनाव होता है। हालांकी राज्यसभा चुनाव की प्रक्रिया लोकसभा और विधानसभा चुनाव से अलग है क्योंकि उसके सदस्य का कार्यकाल 6 साल का होता है।
  • लोकसभा चुनाव में आम आदमी वोट करते है वैसे राज्यसभा चुनाव के लिए आम आदमी वोट नहीं कर सकता है। इसके लिए जनता द्वारा चुने गए जन प्रतिनिधि यानी की विधायक ही इस चुनाव में हिस्सा लेते है।
  • सांसद बनने के लिए सबसे अहम बात ये है शख्स के पास भारतीय नागरिक होना चाहिए साथ ही उसकी आयु भी 30 साल की होनी ही चाहिए। संविधान के अनुच्छेद 102 प्रावधान के अनुसार उम्मीदवार दिवालिया और चुछ अन्य वर्ग के लोगों को राज्सयभा सदस्य बनने के लिए आयोग्य बताया गया है।
  • इन चुनावों में हर राज्य के विधायकों की संख्या के आधार पर जीत होती है राज्यों की कुल विधानसभा सीटों के आधार पर ये तय किया जाता है कि जीतने के लिए कितने वोट की आवश्यकता होगी। सरल भाषा में बात करे तो जैसे राजस्थान में 200 विधायक है और अगर यहां पर 9 सीटों पर राज्यसभा चुनाव होने है तो सदस्यों की संख्या में एक जोड़कर 200 को 10 से भाग कर दिया जाता है उसके बाद फिर उसमें एक जोड़ दिया जाता। यानी की जीतने के लिए कुल 21 सीटों की आवश्यकता होता है।
  • राज्यसभा के चुनाव में सभी विधायक प्राथमिकता के आधार पर वोट देता है। निधायक को बताना होता है कि उम्मीदवारों में उसकी पहली पसंद कौन है उसके बाद दूसरी और फिर तीसरी पसंद।

देवस्थानम एक्ट

  • उत्तराखंड सरकार के देवस्थानम एक्ट के विरोध में सांसद व पूर्व केंद्रीय मंत्री सुब्रमण्यम स्वामी की याचिका पर मंगलवार को हाइकोर्ट में सुनवाई हुई। स्वामी ने इस अधिनियम को असंवैधानिक करार देने के साथ ही सुप्रीम कोर्ट के आदेश का उल्लंघन करार दिया। कहा कि 2014 में सुप्रीम कोर्ट ने एक आदेश में साफ कहा है कि सरकार मंदिर का प्रबंधन हाथ में नहीं ले सकती। उन्होंने चारधाम देवस्थानम एक्ट रद्द किए जाने की मांग की।

देवस्थानम एक्ट रद्द करने के तर्क

  • तमिलनाडु केस में सुप्रीम कोर्ट ने कहा है मंदिरों का प्रबंधन स्थायी रूप से नहीं ले सकती है सरकार। उत्तराखंड सरकार का 13 जनवरी
  • 2014 में सुप्रीम कोर्ट ने एक आदेश में साफ कहा है कि सरकार मंदिर का प्रबंधन हाथ में नहीं ले सकती। वित्तीय गड़बड़ी होने पर सरकार अल्पकालिक प्रबंधन ले सकती है मगर सुधार के बाद सरकार को प्रबंधन सौंपना होगा। उन्होंने साफ कहा कि मंदिर का संचालन सरकार का काम नहीं बल्कि भक्त व हक हकूकधारियों का है।

क्या है देवस्थानम एक्ट?

  • सरकार ने आदिधाम श्री बदरीनाथ, श्री केदारनाथ, श्री गंगोत्री, श्री यमुनोत्री समेत 51 मंदिरों की व्यवस्था श्राइन एक्ट यानि देवस्थानम एक्ट के तहत कर दी है। इसके तहत मंदिर का प्रबंधन सरकार के द्वारा किया जायेगा।

:: भारतीय अर्थव्यवस्था ::

बिहार का पहला ग्रीन बजट

  • राज्य के वित्त मंत्री सुशील कुमार मोदी ने नीतीश सरकार के इस कार्यकाल का आखिरी बजट पेश किया। इस साल बिहार में चुनाव होने हैं। 2020-21 का बजट 2 लाख 11 हजार 761 करोड़ रुपए है, जो पिछली साल से 11 हजार 260 करोड़ रुपए ज्यादा है। इसे देश का पहला ग्रीन बजट बताया गया है, इसमें 9 अगस्त को 2 करोड़ 51 लाख पौधे लगाने का संकल्प लिया गया। साथ ही जल-जीवन-हरियाली योजना पर 6 हजार करोड़ रुपए खर्च करने का ऐलान किया गया है।

बिहार बजट की मुख्य तथ्य

  • शिक्षा के लिए 35 हजार करोड़ के बजट को मंजूरी, सिमुलतला आवासीय विद्यालय के लिए 75 करोड़ की स्वीकृति
  • मौसम अनुकूल कृषि कार्यक्रम पर जोर, 12 जिलों में जैविक खेती के लिए 155.88 करोड़ रुपए का प्रावधान
  • पथ निर्माण के लिए 17 हजार करोड़ का बजट, 121 करोड़ की लागत से मीठापुर फ्लाईओवर से जुड़ेगा करबिगहिया और चिरैयाटांड़
  • 509 करोड़ की लागत से गोपालगंज से मुजफ्फरपुर और सारण को जोड़ने के लिए 18.5 किलोमीटर लंबी सड़क का होगा निर्माण
  • चार हजार से अधिक टोलों को जोड़ने के लिए 2888 करोड़ की मंजूरी, 848 किलोमीटर होगा सड़क निर्माण
  • ग्रीन बजट पेश करने वाला पहला राज्य बना बिहार, जल-जीवन-हरियाली योजना पर खर्च होंगे 6 हजार करोड़
  • स्वास्थ्य विभाग को 10 हजार करोड़ का बजट, आईजीआईएमएस को बनाया जाएगा सुपर स्पेशियलिटी हॉस्पिटल
  • आजीआईएमएस में 138 करोड़ की लागत से 100 बेड के अत्याधुनिक स्टेट कैंसर संस्थान का निर्माण 2020 में पूरा हो जाएगा
  • 9 अगस्त 2020 को एक दिन में 2 करोड़ 51 लाख पौधरोपण होगा, 60 लाख पौधे मनरेगा के माध्यम से लगाए जाएंगे
  • राजगीर में 472 एकड़ में 176 करोड़ की लागत से जू-सफारी का निर्माण, 2020 के अंत तक पूरा होगा कार्य
  • नमामि गंगे पर 6145 करोड़, अमृत मिशन पर 2657 करोड़ एशियन डेवलपमेंट बैंक पर 1122 करोड़ रुपए खर्च होंगे
  • पटना शहर में अंतर्राज्यीय बस टर्मिनल का निर्माण 2020 तक पूरा होगा, 302 करोड़ रुपए खर्च होंगे
  • राज्य सेवाओं में नियुक्ति के लिए महिलाओं को 35 प्रतिशत आरक्षण, अब तक 20,572 महिलाओं को मिला लाभ
  • अनुसूचित जाति-जनजाति, अल्पसंख्यक एवं पिछड़ा-अतिपिछड़ा वर्ग के लिए 11,911 करोड़ रुपए का बजट
  • हर घर नल का जल और पक्की नाली-गली पर सरकार का विशेष फोकस, 2020 तक पाइप से पानी पहुंचाने का लक्ष्य

EPFO ने पेंशन कम्युटेशन लागू किया

  • श्रम मंत्रालय ने कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (ईपीएफओ) के कर्मचारी पेंशन योजना के तहत पेंशन कोष से आंशिक निकासी की सुविधा (कम्युटेशन) बहाल करने के निर्णय को लागू कर दिया है। इस कदम से 6.3 लाख पेंशनभोगियों को लाभ होगा। पेंशन कम्युटेशन के तहत अंशधारकों को अग्रिम रूप से पेंशन कोष से आंशिक निकासी की सुविधा मिलती है। इस सुविधा का लाभ लेने पर पेंशन राशि 15 साल तक घटी हुई दर से मिलती है। मंत्रालय के ताजा निर्णय के अनुसार ऐसे पेंशनभोगियों को 15 साल बाद पूरी पेंशन प्राप्त होगी। पूर्व में ईपीएसफ-95 के तहत सदस्यों को अपनी पेंशन का 10 साल के लिए का एक तिहाई की कटौती की अनुमति थी। पूरी पेंशन 15 साल बाद बहाल हो जाती थी. केंद्र सरकार के कुछ श्रेणी के कर्मचारियों के लिये यह सुविधा अब भी उपलब्ध है।
  • श्रम मंत्रालय ने ईपीएफओ के 25 सितंबर 2008 को या उसके पहले पेंशन कोष से आंशिक निकासी की सुविधा का लाभ उठाने वाले पेंशनभोगियों का पेंशन बहाल करने के निर्णय को लेकर अधिसूचना 20 फरवरी को अधिसूचित किया। इसके लिए ईपीएफओ की पेंशन योजना को संशोधित किया गया है। इस निर्णय से 6.3 लाख पेंशनभोगी लाभान्वित हुए हैं। इन लोगों ने 25 सितंबर 2008 को या उसके पहले अपनी पेंशन से आंशिक निकासी का विकल्प चुना था।

क्या है पेंशन कम्युटेशन?

  • अब इस सुविधा को उन लोगों के लिए बहाल कर दिया गया है, जिन्होंने 25 सितंबर 2008 को या उसके पहले इसका विकल्प चुना था। पेंशन कम्युटेशन के तहत पेंशन में अगले 15 साल तक एक तिहाई की कटौती होती है और घटी हुई राशि एक मुश्त दे दी जाती है। 15 साल बाद पेंशनभोगी पूरी राशि लेने का हकदार होता है।बता दें कि अगस्त 2019 में श्रम मंत्री की अध्यक्षता में ईपीएफओ का फैसला लेने वाला शीर्ष निकाय केंद्रीय न्यासी बोर्ड ने 6.3 लाख पेंशनभोगियों के लिए कम्युटेशन की सुविधा बहाल करने के प्रस्ताव को मंजूरी दे दी थी।

:: विज्ञान और प्रौद्योगिकी ::

जियो इमेजिंग सेटेलाइट GISAT- 1

  • भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) पांच मार्च को जीएसएलवी-एफ 10 जियो इमेजिंग सैटेलाइट-1 (GISAT- 1) को श्रीहरिकोटा के सतीश धवन स्पेस सेंटर लॉन्च करेगा है।
  • इसरो द्वारा जारी किए गए आधिकारिक बयान के अनुसार इस सैटेलाइट का प्रक्षेपण पांच मार्च को मौसम की स्थिति को देखते हुए 5:43 बजे किया जाना तय किया गया है।

जियो इमेजिंग सेटेलाइट के बारे में

  • इसरो का कहना है कि 2,275 किलोग्राम वजनी जीआईसैट-1 एक अत्याधुनिक तेजी से धरती का अवलोकन करने वाला उपग्रह है। इसे भूसमकालीन स्थानांतरण कक्षा में स्थापित किया जाएगा।
  • लगभग 2,275 किलोग्राम वजनी, जीआईएसएटी -1 एक अत्याधुनिक तेज पृथ्वी अवलोकन उपग्रह है जिसे जीएसएलवी-एफ 10 द्वारा जियोसिंक्रोनस ट्रांसफर ऑर्बिट (जीटीओ) में रखा जाएगा। इसके बाद, उपग्रह प्रणोदन प्रणाली का उपयोग करके अंतिम भूस्थिर कक्षा में पहुंच जाएगा।
  • इस जीएसएलवी उड़ान में पहली बार चार मीटर व्यास का ओगिव आकार का पेलोड फेयरिंग (हीट शील्ड) प्रवाहित किया जा रहा है। यह जीएसएलवी की 14वीं उड़ान है। प्रक्षेपण के 18 मिनट बाद जीएसएलवी मार्क-2 रॉकेट उपग्रह को उसकी रक्षा में स्थापित कर देगा।

:: पर्यावरण एवं पारिस्थितिकी ::

वैश्विक वायु गुणवत्ता रिपोर्ट, 2019

  • दुनिया के सबसे प्रदूषित शहरों की सूची में भारत एक बार फिर शीर्ष पर रहा है। सबसे खराब वायु गुणवत्ता वाले दुनिया के 30 शहरों में 21 भारत के हैं। आइक्यू एयरविजुअल ने 2019 विश्र्व वायु गुणवत्ता रिपोर्ट जारी की है। इसके आंकड़े भारत के शहरों का बुरा हाल बताते हैं।

रिपोर्ट के मुख्य तथ्य

  • दुनिया की 90% आबादी प्रदूषित हवा में सांस ले रही है, ऐसे में अब वायु प्रदूषण नियंत्रण केवल पर्यावरण का मसला नहीं रहा बल्कि ये मानवाधिकार का गंभीर मुद्दा बन गया है.
  • दुनिया भर के एयर क्वालिटी मॉनीटरिंग स्टेशनों से एक्यूएयर द्वारा आंकड़े इकट्ठा कर तैयार की गई वैश्विक वायु गुणवत्ता रिपोर्ट, 2019 में दुनिया के तमाम शहरों में साल 2019 में पार्टिकुलेट मैटर (पीएम) 2.5 की स्थिति में बदलाव का खुलासा हुआ है.
  • दक्षिणी एशिया के संदर्भ में देखें, तो पीएम 2.5 के मामले में भारतीय शहर इस बार भी फ़ेहरिस्त में शीर्ष पायदान पर बने हुए हैं. रिपोर्ट के मुताबिक, दुनिया के 30 सबसे प्रदूषित शहरों में भारत के 21 शहर शामिल हैं. ग़ाज़ियाबाद दुनिया का सबसे प्रदूषित शहर है. छठे नंबर पर नोएडा, सातवें नंबर पर गुरुग्राम और नौवें नंबर पर ग्रेटर नोएडा है. वहीं देश की राजधानी दिल्ली पांचवें पायदान पर है.
  • दुनिया के प्रदूषित देशों की सूची में भारत पांचवें स्थान पर है. यहां के वायुमंडल में प्रति क्यूबिक मीटर 58.1 माइक्रोग्राम पीएम 2.5 मौजूद है. सबसे प्रदूषित मुल्क बांग्लादेश है. दूसरे पायदान पर पाकिस्तान, तीसरे नंबर पर मंगोलिया और चौथे स्थान पर अफग़ानिस्तान है.
  • हालांकि, रिपोर्ट में ये भी कहा गया है कि भारत के शहरों में पिछले साल की तुलना में प्रदूषण में सुधार हुआ है. लेकिन, ये सुधार पीएम 2.5 कम करने के विश्व स्वास्थ्य संगठन के सालाना लक्ष्य से बहुत कम है. विश्व स्वास्थ्य संगठन ने हर साल पीएम 2.5 में 500% की कमी लाने का लक्ष्य रखा है, लेकिन भारत में वायु प्रदूषण में महज 20 प्रतिशत कमी आई है. रिपोर्ट में कहा गया है कि 98% शहरों में वायु प्रदूषण में सुधार हो रहा है.
  • साल 2019 के वायु गुणवत्ता के आंकड़े साफ तौर पर बताते हैं कि जलवायु परिवर्तन सीधे तौर पर वायु प्रदूषण बढ़ा सकता है क्योंकि जलवायु परिवर्तन के चलते दावानल व धूल और बालू भरे तूफान ज्यादा आते हैं और उनकी तीव्रता भी अधिक होती है. इसी तरह बहुत सारे क्षेत्रों में पीएम2.5 से प्रदूषण और जलवायु परिवर्तन से ग्रीनहाउस गैस उत्सर्जन के कारण एक दूसरे से जुड़े हुए हैं, मसलन कोयला जैसे जीवाश्म ईंधन का इस्तेमाल.

इन विट्रो तकनीक से सरोगेट मां ने चीता के दो शावकों को दिया जन्म

  • ओहियो कोलंबस जू में दुनिया में 30 साल बाद पहली बार इन विट्रो तकनीक द्वारा सरोगेट मदर से चीता के दो शावकों का जन्म हुआ है। इन बच्चों की जैविक मां छह साल की माता चीता किबिबी है। किबिबी अपने जीवनकाल में कभी मां नहीं बन पाई। साथ ही उसकी प्राकृतिक रूप से मां बनने की उम्र भी नहीं रही। इसलिए किबिबी से अंडाणु और एक अन्य नर चीता से शुक्राणु लेकर उन्हें कोलंबस जू लैबोरेटरी में 19 नवंबर को निषेचित करवाया गया था।
  • ये भ्रूण 21 नवंबर को सरोगेट इज्जी मादा चीता में प्रत्यारोपित किए गए। करीब एक माह बाद यानी 23 दिसंबर को अल्ट्रासाउंड जांच से पता चला कि इज्जी गर्भवती है और उसके पेट में दो शावक हैं। गर्भधारण के तीन महीने बाद तीन साल इज्जी ने पिछले बुधवार को एक नर और एक मादा शावक को जन्म दिया।
  • चिड़ियाघर से जुड़े डॉ. रैंडी जंग के मुताबिक, इस प्रक्रिया से विभिन्न प्रजातियों को सहेजने में मदद मिलेगी। यह तीसरी बार था, जब वैज्ञानिकों ने इस प्रक्रिया की कोशिश की गई। हालांकि इसमें पहली बार 1990 में सफलता मिली थी। तब तीन चीता के बच्चों को जन्म हुआ था। अभी दुनिया में चीतों की संख्या करीब 7500 है। इस तकनीक से इनकी संख्या बढ़ाने में मदद मिलेगी।

:: विविध ::

सुश्री जिया

  • सुश्री जिया राय ने 15 फरवरी, 2020 को खुले पानी में 14 किलोमीटर तैराकी कर विश्व रिकार्ड बनाया। नेवी चिल्ड्रन स्कूल (एनसीएस), मुम्बई की छठी कक्षा की छात्रा सुश्री जिया ने मुम्बई एलिफेंटा द्वीप से गेटवे ऑफ इंडिया तक खुले पानी में तैरते हुए 14 किलोमीटर की दूरी 3 घंटे 27 मिनट और 30 सेकंड में पूरी की। एकल तैराकी का आयोजन भारतीय तैराकी परिसंघ के अधिकृत निकाय महाराष्ट्र तैराकी संघ की देखरेख में किया गया था।
  • सुश्री जिया की यह असाधारण उपलब्धि इंडिया बुक ऑफ रिकार्ड्स, एशिया बुक और लिम्का बुक ऑफ रिकॉर्ड्स में दर्ज करने के लिए योग्य माना गया है। सुश्री जिया दुनिया की सबसे कम उम्र की पहली दिव्यांग लड़की है, जिसने 03 घंटे 27 मिनट और 30 सेकंड में खुले पानी में 14 किलोमीटर की तैराकी पूरी की।

काशवी गौतम

  • काशवी गौतम ने मंगलवार को वनडे क्रिकेट में नया रिकॉर्ड बनाया। चंडीगढ़ की ओर से खेलते हुए तेज गेंदबाज काशवी ने अरुणाचल प्रदेश के खिलाफ 4.5 ओवर में 12 रन देकर सभी 10 विकेट झटके। उन्होंने हैट्रिक भी बनाई। वे लिमिटेड ओवर क्रिकेट में ऐसा करने वाली पहली महिला खिलाड़ी बन गई हैं। बीसीसीआई अंडर-19 वनडे टूर्नामेंट में चंडीगढ़ ने पहले खेलते हुए 4 विकेट पर 186 रन बनाए। कप्तान काशवी ने बल्लेबाजी करते हुए 49 रन भी बनाए। जवाब में अरुणाचल की टीम 8.5 ओवर में 25 रन बनाकर आउट हो गई।

:: प्रिलिम्स बूस्टर ::

  • असम समझौते के अनुच्छेद 6 को लागू करने के हेतु गठित समिति ने अपनी रिपोर्ट प्रस्तुत की है। इस समिति के अध्यक्ष कौन हैं ? (न्यायमूर्ति बिप्लब कुमार शर्मा)
  • किस तिथि को बालाकोट एयर स्ट्राइक अंजाम दिया गया था? (26 फरवरी 2019)
  • बालाकोट एयर स्ट्राइक का कोड नेम क्या था? (ऑपरेशन बंदर)
  • हाल ही में किन दो देशों के मध्य अजेय वारियर 2020 संयुक्त युद्धाभ्यास संपन्न हुआ? (भारत और ब्रिटेन)
  • हाल ही में दिवंगत हुए हुस्नी मुबारक किस देश के राष्ट्रपति थे? (मिस्र)
  • किस राज्य के द्वारा मंदिरों के प्रबंधन हेतु देवस्थानम एक्ट को पारित किया था? (उत्तराखंड)
  • हाल ही में किस राज्य के द्वारा देश का पहला ग्रीन बजट प्रस्तुत किया गया? (बिहार)
  • हाल ही में किस संगठन ने पेंशन कोष से आंशिक निकासी किस सुविधा के लिए कम्युटेशन सेवा को बहाल किया? (ईपीएफओ)
  • इसरो के द्वारा मार्च में किस भू-अवलोकन सैटेलाइट का परीक्षण किया जाएगा? (जियो इमेजिंग सेटेलाइट GISAT- 1)
  • हाल ही में जारी हुए वैश्विक वायु गुणवत्ता रिपोर्ट 2019 के अनुसार दुनिया का शीर्ष प्रदूषित शहर कौन है? (गाजियाबाद)
  • दुनिया के शीर्ष प्रदूषित शहरों के संदर्भ में वैश्विक वायु गुणवत्ता रिपोर्ट 2019 में भारत की रैंकिंग कितनी रही? (पांचवी)
  • हाल ही में खुले पानी में किस दिव्यांग के द्वारा सबसे कम समय में 14 किलोमीटर की तैराकी करने का विश्व रिकॉर्ड मनाया गया है? (सुश्री जिया)
  • बीसीसीआई अंडर-19 वनडे टूर्नामेंट में सीमित ओवर के खेल में सभी 10 विकेट लेने का रिकॉर्ड बनाने वाली प्रथम महिला का क्या नाम है? (काशवी गौतम)
  • हाल ही में किस जू में इन विट्रो तकनीक के द्वारा सरोगेट मदर से चीता के दो शावकों का जन्म हुआ? (कोलंबस जू-ओहियो, अमेरिका)

स्रोत साभार: Dainik Jagran (Rashtriya Sanskaran), Dainik Bhaskar (Rashtriya Sanskaran), Rashtriya Sahara (Rashtriya Sanskaran) Hindustan Dainik (Delhi), Nai Duniya, Hindustan Times, The Hindu, BBC Portal, The Economic Times (Hindi & English), PTI, PIB

<< मुख्य पृष्ठ पर वापस जाने के लिये यहां क्लिक करें