(दैनिक समसामयिकी और प्रिलिम्स बूस्टर) यूपीएससी और सभी राज्य लोक सेवा आयोग परीक्षाओं के लिए हिंदी में समाचार पत्रों का संकलन (25 फरवरी 2020)

दैनिक समसामयिकी और प्रिलिम्स बूस्टर


(दैनिक समसामयिकी और प्रिलिम्स बूस्टर) यूपीएससी और सभी राज्य लोक सेवा आयोग परीक्षाओं के लिए हिंदी में समाचार पत्रों का संकलन (25 फरवरी 2020)


:: राष्ट्रीय समाचार ::

भारत करेगा कॉमनवेल्थ निशानेबाजी और तीरंदाजी चैंपियनशिप की मेजबानी

  • भारत कॉमनवेल्थ निशानेबाजी और तीरंदाजी चैंपियनशिप की मेजबानी जनवरी 2022 में चंडीगढ़ में करेगा और बर्मिंघम में होने वाले खेलों में इसके पदकों को 'प्रतिस्पर्धी देशों की रैंकिंग' के लिए शामिल किया जाएगा। कॉमनवेल्थ गेम्स महासंघ (सीजीएफ) ने कहा कि इन दोनों स्पर्धाओं के पदकों को कॉमनवेल्थ गेम्स के समापन समारोह के एक सप्ताह बाद अंतिम तालिका में जोड़ा जाएगा।

पृष्ठभूमि

  • भारत ने निशानेबाजी को हटाए जाने के बाद 2022 बर्मिंघम गेम्स के बहिष्कार की चेतावनी दी थी। इससे पहले जुलाई 2019 में भारतीय ओलंपिक संघ (आइओए) ने 2022 बर्मिंघम कॉमनवेल्थ गेम्स से निशानेबाजी को हटाए जाने के विरोध में इसका बहिष्कार करने की धमकी दी थी। सीजीएफ अध्यक्ष लुइस मार्टिन और मुख्य कार्यकारी अधिकारी डेविड ग्रेवेमबर्ग के नवंबर में भारत दौरे के बाद आइओए ने दिसंबर में वार्षिक आम सभा की बैठक के बाद इस बहिष्कार को वापस ले लिया था। आइओए ने इसके बाद निशानेबाजी के साथ तीरंदाजी की मेजबानी का प्रस्ताव इस शर्त के साथ रखा था कि इसके पदकों को 2022 कॉमनवेल्थ गेम्स की तालिका में जोड़ा जाए। भारत के इस प्रस्ताव का अंतरराष्ट्रीय निशानेबाजी खेल महासंघ और विश्व तीरंदाजी ने भी समर्थन किया था।

वाराणसी में मिला 4000 साल पुराना शिल्प ग्राम एवं 1800 साल पुरानी लिपि

  • बनारस हिंदू विश्वविद्यालय(बीएचयू) की एक टीम ने वाराणसी में 4000 साल पुराने शिल्प ग्राम का पता लगाया है। विशेषज्ञों का कहना है कि यह प्राचीन ग्रंथों में दर्ज शिल्प ग्रामों में से एक है।
  • वाराणसी से 13 किलोमीटर दूर बभानियाव गांव में प्रारंभिक सर्वेक्षण करने वाले विश्वविद्यालय के प्राचीन भारतीय इतिहास, संस्कृति एवं पुरातत्व विभाग ने कहा कि उसे एक ऐसी बस्ती के निशान मिले हैं, जिसका वाराणसी से संबंधित साहित्य में जिक्र मिलता है।
  • बीएचयू से 13 किलोमीटर की दूरी पर स्थित बभनियाव गांव में टीम पहुंची तो वहां मंदिर के अवशेष मिले हैं। साथ ही 1800 साल पुरानी लिपि की जानकारी भी टीम को मिली है। अभी उत्खनन का कार्य चल रहा है। यहाँ पर भारतीय पुरातत्व विभाग के सहयोग से उत्खनन कराया जाएगा। यहां शिल्पग्राम का पता चला है।
  • वाराणसी के पास होने के कारण इसका खास महत्व है। पौराणिक कथाओं के अनुसार वाराणसी को 5,000 साल पहले हिंदू देवता भगवान शिव ने स्थापित किया था, हालांकि आधुनिक विद्वानों का मानना है कि यह लगभग 3,000 साल पुराना है। बाभनियाव स्थल वाराणसी का एक छोटा उप-केंद्र हो सकता है, जो एक शहरी शहर के रूप में विकसित हुआ है।

‘एसेंबल इन इंडिया’

  • वाणिज्य एवं उद्योग मंत्रालय ‘एसेंबल इन इंडिया’ के तहत विश्व निर्यात बाजार में भारत की हिस्सेदारी बढ़ाने के लिए रोडमैप तैयार करने जा रहा है। एसेंबल इन इंडिया के तहत वर्ष 2025 तक दुनियाभर के निर्यात बाजार में भारत की हिस्सेदारी को बढ़ाकर 3.5 फीसद करने का लक्ष्य है। इस लक्ष्य को हासिल करने पर वर्ष 2025 तक चार करोड़ रोजगार का सृजन होगा।
  • वाणिज्य एवं उद्योग मंत्रालय के आंकड़ों के मुताबिक, वर्ष 2018 के अंत में विश्व निर्यात बाजार में भारत की हिस्सेदारी मात्र 1.7 फीसद थी। विश्व बाजार में निर्यात के लिहाज से भारत का स्थान 19वां है।
  • एसेंबल इन इंडिया के तहत निर्यात हिस्सेदारी बढ़ाने की दिशा में काम शुरू हो गया है। इस मामले में प्रमुख औद्योगिक संगठनों से भी विचार-विमर्श किया जा रहा है।
  • उद्योग जगत का मानना है कि एसेंबल इन इंडिया को बढ़ावा देने के लिए मुख्य रूप से इज ऑफ डूइंग बिजनेस को और सरल बनाने के साथ श्रम नियमों को लचीला बनाने की आवश्यकता है। मंत्रालय की तरफ से इन मसलों को ध्यान में रखते हुए रोडमैप तैयार किया जाएगा।
  • सरकार एसेंबल इन इंडिया के तहत भारत को सप्लाई चेन का प्रमुख केंद्र बनाना चाहती है। आसपास के देशों के लिए सप्लाई चेन बनने से निर्यात में आसानी से बढ़ोतरी की जा सकती है। एसेंबल इन इंडिया असल में मेक इन इंडिया का ही हिस्सा होगा।
  • इस साल पेश आर्थिक सर्वे में पहली बार एसेंबल इन इंडिया का जिक्र किया गया था। एसेंबल इन इंडिया के तहत वर्ष 2030 तक विश्व निर्यात बाजार में भारत की हिस्सेदारी को छह फीसद करने का लक्ष्य है। पिछले वित्त वर्ष में भारत से वस्तुओं का निर्यात 330 अरब डॉलर (करीब 23 लाख करोड़ रुपये) मूल्य का रहा।

पृष्ठभूमि

  • आर्थिक समीक्षा में ‘मेक इन इंडिया’ को नयाम आयाम दिया गया है। इसमें सुझाव दिया गया है कि सरकार को निर्यात बढ़ाने और रोजगार सृजित करने के लिये अपने प्रमुख कार्यक्रम में दुनिया के लिये ‘भारत में एसेंबल’ को जोड़ना चाहिए। 2019-20 में कहा गया, ‘‘मेक इन इंडिया कार्यक्रम में दुनिया के लिये 2020-21 को अगर जोड़ा जाता है, भारत निर्यात बाजार में अपनी हिस्सेदारी 2025 तक बढ़ाकर करीब 3.5 प्रतिशत और 2030 तक 6 प्रतिशत कर सकता है।’’

प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि (पीएम-किसान) योजना की पहली वर्षगांठ

  • प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 29 फरवरी को उत्तर प्रदेश के चित्रकूट में 'पीएम किसान' की पहली वर्षगांठ मनाएंगे। इस दौरान प्रधानमंत्री मोदी किसान क्रेडिट कार्ड के देशव्यापी अभियान की शुरुआत करेंगे।

पृष्ठभूमि

  • लोकसभा चुनाव से ठीक पहले 24 फरवरी 2019 को गोरखपुर में आयोजित एक समारोह में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि (पीएम-किसान) योजना को लांच किया था। इस योजना के तहत देश के सभी 14 करोड़ से अधिक किसानों को 2000 रुपये की तीन बराबर किश्तों में सालाना 6000 रुपये दिये जाने का प्रावधान किया गया है। पश्चिम बंगाल को छोड़कर बाकी सभी राज्यों ने इस योजना में हिस्सा लिया है।

योजना से लाभ

  • अब तक देश के कुल 9.74 करोड़ किसानों ने अपना रजिस्ट्रेशन करा लिया है। जबकि 8.45 करोड़ किसानों को इसका लाभ प्राप्त होने लगा है। रजिस्टर्ड किसानों में से 84 फीसद को आधार नंबर से लिंक कर दिया गया है। इससे योजना में किसी तरह की गड़बड़ी की संभावना नगण्य हो गई है।

संत तिरुमंकाई अलवार की प्रतिमा

  • भारत ने तमिलनाडु के मंदिर से चुराई गई 15वीं शताब्दी की संत तिरुमंकाई अलवार की प्रतिमा को वापस देने के लिए ब्रिटिश सरकार से अनुरोध किया है। कांसे की बनी यह प्रतिमा इस समय ऑक्सफोर्ड विश्वविद्यालय के संग्रहालय में है। रिपोर्ट में कहा गया है कि ऑक्सफोर्ड विश्वविद्यालय के एश्मोलियन म्यूजियम को यह प्रतिमा सोथबी ऑक्शन हाउस के जरिये 1967 में मिली थी। सोथबी ने इसे जेआर बेलमॉन्ट के संग्रह से लेकर नीलाम किया था।
  • म्यूजियम ने बताया कि प्राचीन प्रतिमा के विषय में नवंबर 2019 में एक स्वतंत्र शोधकर्ता ने आशंका जताई थी। इसके बाद भारतीय उच्चायोग ने प्रतिमा के बारे में विश्वविद्यालय प्रशासन से बात की। सोमवार को म्यूजियम ने बयान जारी कर कहा कि जांच में पता चला कि इंस्टीट्यूट फ्रैंकाइस डी पॉन्डिचेरी एंड द इकोल फ्रैंकाइस डी एक्सट्रीम-ओरिएंट (आइएफपी-ईएफईओ) फोटो संग्रह से पता चलता है कि तमिलनाडु के श्री सुंदरराजा पेरुमल कोविल के मंदिर में सन 1957 में संत की ऐसी ही कांसे की प्रतिमा थी।

श्यामाप्रसाद मुखर्जी ग्रामीण मिशन

  • केन्द्रीय ग्रामीण विकास, पंचायती राज, कृषि और किसान कल्याण मंत्री श्री नरेन्द्र सिंह तोमर ने नई दिल्ली स्थित डॉ. अम्बेडकर अंतर्राष्ट्रीय केन्द्र में श्यामा प्रसाद मुखर्जी ग्रामीण मिशन के चौथे वार्षिक समारोह का उद्घाटन किया। इस आयोजन का शीर्षक है ‘आत्मा गांव की सुविधा शहर की’।

पृष्ठभूमि

  • इस मिशन की शुरुआत प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने 21 फरवरी, 2016 को विकास की दहलीज पर खड़े ग्रामीण इलाकों के उत्प्रेरक प्रयासों की संकल्पना के साथ की थी। इसका उद्देश्य समन्वित और समयबद्ध तरीके से सभी मूलभूत सुविधाएं, बुनियादी ढांचे के साथ ही आर्थिक विकास के अवसर प्रदान करके संपूर्ण रूप से समूह बनाना है।

रेलवे स्टेशनों पर मुफ्त वाई-फाई

  • स्टेशनों पर वाई-फाई की लोकप्रियता को देखते हुए रेलवे गूगल का कांट्रैक्ट खत्म होने के बाद बाद भी स्टेशनों को वाई-फाई सुविधा से लैस करने का काम जारी रखेगा। रेलवे अब तक तकरीबन 5600 से ज्यादा स्टेशनों पर फ्री वाई-फाई की सुविधा प्रदान कर चुका है। जहां हर माह 2.9 करोड़ यात्री इस सुविधा का इस्तेमाल करते हैं। गूगल के साथ रेलवे का कांटैक्ट मई में खत्म हो रहा है। इसके बाद स्टेशनों को वाई-फाई संपन्न करने का बकाया काम रेलटेल पूरा कर रहा है।

पृष्ठभूमि

  • स्टेशनों को वाई-फाई सुविधा से लैस करने की मुहिम रेलवे ने मई, 2015 में शुरू की थी। इसके लिए गूगल के सीईओ सुंदर पिचाई भारत के भारत दौरे के दौरान बाकायदा समझौता हुआ था। समझौते के तहत गूगल ने रेलटेल को रेडियो एक्सेस नेटवर्क (रैन) के साथ टेक्नालॉजी सपोर्ट प्रदान किया था। जबकि रेलटेल की ओर से इंफ्रास्ट्रक्चर के साथ इंटरनेट सर्विस प्रोवाइडर के तौर पर इंटरनेट बैंडविड्थ सुविधाएं मुहैया कराई गई थीं।
  • टेक दिग्गज गूगल ने 17 फरवरी 2020 को कहा कि उसने 2020 तक भारत सहित पूरी दुनिया में अपने 'स्टेशन' प्रोग्राम को बंद करने का फैसला किया है। गूगल का कहना है कि पिछले पांच वर्षों में इंटरनेट और ऑनलाइन सेवा पहले की तुलना में अधिक आसान और सस्ती हो गई है।
  • गूगल ने 2015 में भारतीय रेल और रेलटेल के साथ मिलकर 'स्टेशन' प्रोग्राम शुरू किया था, ताकि 2020 के मध्य तक देश में 400 रेलवे स्टेशनों पर लोगों के लिए मुफ्त वाई-फाई सुविधा मुहैया कराई जा सके।

उपलब्धि

  • पंचवर्षीय समझौते के तहत गूगल ने ए1 तथा ए श्रेणी के 415 प्रमुख रेलवे स्टेशनों पर वाई-फाई सुविधा प्रदान करने का काम किया है। जबकि ए, बी, सी, डी तथा ई श्रेणी के स्टेशनों को वाई-फाई देने की जिम्मेदारी रेलटेल पर छोड़ दी। इस व्यवस्था के तहत रेलटेल अब तक बी, सी और डी श्रेणी के 5190 से ज्यादा रेलवे स्टेशनों को वाई-फाई सुविधा से लैस कर चुकी है। इस तरह गूगल और रेलटेल दोनो के प्रयासों से अब तक 5600 से ज्यादा स्टेशन वाई-फाई सुविधा से संपन्न हो चुके हैं। जबकि बाकी स्टेशनों में वाई-फाई देने का काम जारी है।ये क्रम तब तक जारी रहेगा जब तक कि देश के सभी 7349 स्टेशन वाई-फाई सुविधा से समृद्ध नहीं हो जाते।
  • वाई-फाई प्रोजेक्ट के लिए शुरू में गूगल से तकनीकी मदद लेने के बाद कंपनी ने कई दूसरी कंपनियों के साथ सहयोग समझौते किए हैं। जिसकी बदौलत रेल यात्रियों को गूगल वाले ए1 और ए श्रेणी के 415 स्टेशनों समेत अब तक वाई-फाई संपन्न हो चुके सभी 5610 स्टेशनों पर आगे भी उसी स्पीड पर अनवरत मुफ्त वाई-फाई सेवा मिलती रहेगी।
  • रेलटेल के अनुसार वाई-फाई सुविधा का सबसे ज्यादा उपयोग हावड़ा स्टेशन पर देखने को मिला है। जबकि उसके बाद सिकंदराबाद, पटना तथा इलाहाबाद स्टेशन का नंबर आता है।

:: अंतर्राष्ट्रीय समाचार ::

महातिर मोहम्मद

  • मलेशिया के प्रधानमंत्री महातिर मोहम्मद ने सोमवार को इस्तीफा दे दिया। प्रधानमंत्री कार्यालय ने बताया कि महातिर ने वहां के राजा सुल्तान अब्दुल्लाह सुल्तान शाह को इस्तीफा सौंपा दिया है। इसके साथ ही मलेशिया में अब नई सरकार के गठन की संभावनाएं तेज हो गईं हैं।
  • आपको बता दे महातिर मोहम्मद ने कश्मीर से अनुच्छेद-370 और धारा-35ए हटाने का विरोध किया था। मोहम्मद ने नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) का भी विरोध किया था।

:: भारतीय राजव्यवस्था ::

इलाहाबाद हाईकोर्ट का एससी/एसटी एक्ट पर निर्देश

  • इलाहाबाद हाई कोर्ट एससी/एसटी एक्ट के दुरुपयोग को लेकर लगातार टिप्पणी कर रहा है। एक मामले में कोर्ट ने बंद साफ कहा कि बिना किसी गवाह के इस के तहत कोई मामला तभी बनता है जब अपराध लोक स्थल पर किया गया हो। जिसे लोगों ने देखा हो। बंद कमरे में हुई घटना में एससी एसटी एक्ट की धारा आकर्षित नहीं होती है, क्योंकि बंद कमरे में हुई बात कोई बाहरी नहीं सुन पाता। जिसके चलते समाज में उसकी छवि पर कोई प्रभाव नहीं पडेगा। सुप्रीम कोर्ट ने एक मामले में कहा है कि यदि घटना लोक स्थल पर नहीं हुई है तो इस एक्ट के तहत अपराध नहीं बनता।

आरक्षण पर झारखंड हाई कोर्ट का निर्णय

  • झारखंड हाई कोर्ट का आरक्षण पर बड़ा फैसला आया है। बिहारियों को झारखंड प्रदेश में किसी प्रकार का कोई आरक्षण नहीं मिलेगा। उच्‍च न्‍यायालय के लार्जर बेंच के दो जजों ने इस संबंध में सोमवार को अपना फैसला सुनाया। यह व्‍यवस्‍था बिहार के सभी मूल निवासियों पर लागू होगी। हालांकि फैसला सुनाने वाले हाई कोर्ट के इस लार्जर बेंच के एक जज का आदेश इन दोनों जजों से अलग था।
  • पूर्व में सुनवाई के दौरान पूर्व महाधिवक्ता अजीत कुमार ने अदालत को बताया था कि एकीकृत बिहार या 15 नवंबर 2000 से राज्य में रहने के बाद भी वैसे लोग आरक्षण के हकदार नहीं होंगे, जिनका ओरिजिन (मूल) झारखंड नहीं होगा। आरक्षण का लाभ सिर्फ उन्हें ही मिलेगा जो झारखंड के ओरिजिन (मूल) होंगे। जहां तक 18 अप्रैल 2016 से लागू स्थानीय नीति का सवाल है। जो लोग इसकी परिधि में आते हैं। उन्हें सिर्फ सामान्य कैटगरी में ही विचार किया जा सकता है।

पृष्ठभूमि

  • दरअसल झारखंड में सिपाही की बहाली हुई थी। इस दौरान बिहार के स्थाई निवासियों ने आरक्षण का लाभ लिया था। बाद में मामला उजागर होने पर उन्हें नौकरी से बर्खास्त कर दिया गया। इसके बाद पंकज कुमार ने हाई कोर्ट में याचिका दाखिल की। एकलपीठ ने सरकार के फैसले खारिज करते हुए उन्हें बहाल करने का निर्देश दिया। इसके बाद सरकार ने खंडपीठ में अपील दाखिल की थी। वहीं, रंजीत कुमार सहित सात अभ्यर्थियों ने पुलिस में बहाली आरक्षण का लाभ नहीं मिलने पर हाई कोर्ट की शरण ली थी। एकलपीठ ने सरकार के फैसले को सही ठहराते हुए याचिका खारिज कर दी थी। इन्होंने भी खंडपीठ में अपील दाखिल की थी। मामले की गंभीरता को देखते हुए खंडपीठ ने सभी मामलों को एक साथ टैग करते हुए 9 अगस्त 2018 को लार्जर बेंच में भेजने की अनुशंसा की थी। इसके बाद लार्जर बेंच में मामले की सुनवाई हुई।

:: भारतीय अर्थव्यवस्था ::

CCI ने Make My Trip और Oyo के खिलाफ दिए विस्तृत जांच के आदेश

  • ऑनलाइन ट्रैवल एजेंसी मेक माय ट्रिप और बजट होटल सेवा प्रदाता कंपनी ओयो एक बार फिर विवादों में है। भारतीय प्रतिस्पर्धा आयोग (CCI) ने मेक माय ट्रिप (MMT) और ओयो (OYO) के खिलाफ विस्तृत जांच के आदेश दिए हैं। ट्रीबो होटल के ऑपरेटर द्वारा की गई शिकायत पर आयोग ने सोमवार को ये आदेश जारी किए। ट्रीबो होटल ऑपरेटर ने इन पर अनुचित कारोबारी गतिविधियों में संलग्न होने का आरोप लगाया था।
  • छह महीनों के भीतर यह दूसरा मौका है जब आयोग ने इन दोनों कंपनियों को प्रथम दृष्ट्या स्पर्धा मानकों के उल्लंघन का दोषी पाया है और अनुचित कारोबारी गतिविधियों के आरोप में इस तरह की जांच के आदेश दिए गए हैं।

पृष्ठभूमि

  • सीसीआई ने जांच के लिए आदेश जारी करते हुए कहा कि बाजार में प्रतिस्पर्धा पर उल्लेखनीय प्रतिकूल प्रभाव (AAEC) डालने वाली एक व्यवस्था कायम करने के लिए दोनों कंपनियों के खिलाफ “प्रथम दृष्टया” मामला बनता है। सीसीआई ने कहा, “ प्रतिस्पर्धा आयोग का मानना है कि प्रथम दृष्टया प्रभावशाली स्थिति का गलत प्रयोग करने के लिए एमएमटी के खिलाफ उल्लंघन का मामला बनता ह
  • शिकायतकर्ता रबटब सॉल्यूशंस ट्रीबो होटल्स का संचालन करती है और वह ओयो की स्पर्धी है। रबटब सॉल्यूशंस के मुताबिक, एमएमटी ने ओयो से करार के बाद उसके होटलों को अपने प्लेटफॉर्म से हटा दिया है। एमएमटी ने ट्रीबो के साथ करार का भी उल्लंघन किया है। एमएमटी पर यह भी आरोप है कि ट्रीबो के साथी होटलों पर लगाई गई विशेष शर्तों के कारण वे अपनी प्रॉपर्टी बुकिंग डॉट कॉम या पेटीएम को बेहतर भाव में नहीं दे पाते हैं।

टीसीएस, डीएलएफ ने सेज पर मांगी सरकार से मंजूरी

  • सॉफ्टवेयर कंपनी टीसीएस और जमीन जायदाद के विकास से जुड़ी डीएलएफ ने उत्तर प्रदेश और हरियाणा में सूचना प्रौद्योगिकी (आईटी) क्षेत्र के लिए विशेष आर्थिक क्षेत्र (सेज) गठित करने को लेकर सरकार से मंजूरी मांगी है। इन प्रस्तावों पर सेज के लिए निर्णय लेने वाला शीर्ष निकाय मंजूरी बोर्ड विचार करेगा। अंतर मंत्रालयी निकाय की अध्यक्षता वाणिज्य सचिव करते हैं।
  • बोर्ड बैठक के एजेंडा पत्र के अनुसार टीसीएस ने उत्तर प्रदेश के नोएडा में 19.9 हेक्टेयर क्षेत्र में आईटी और आईटी संबद्ध सेज के गठन का प्रस्ताव किया है। परियोजना में कुल प्रस्तावित निवेश 2,433.72 करोड़ रुपये है। नोएडा सेज के विकास आयुक्त ने सेज स्थापित करने को लेकर औपचारिक मंजूरी के लिए प्रस्ताव की सिफारिश की है।
  • वहीं डीएलएफ ने हरियाणा में दो सेज के गठन का प्रस्ताव किया है। इन दोनों परियोजनाओं में क्रमश: 793.95 करोड़ रुपये और 761.54 करोड़ रुपये के निवेश का प्रस्ताव है। इन दोनों कंपनियों के अनुरोधों को विचार के लिए मंजूरी बोर्ड के समक्ष रखा जाएगा।
  • देश में सेज प्रमुख निर्यात केंद्र है। सरकार इन्हें कई प्रोत्साहन और एकल खिड़की मंजूरी प्रणाली उपलब्ध कराती है। सरकार ने 14 नवंबर 2019 की स्थिति के अनुसार 417 सेज के गठन को मंजूरी दी है। इसमें से 238 क्षेत्र परिचालन में हैं। इन क्षेत्रों से निर्यात 2019-20 की अप्रैल-सितंबर अवधि में करीब 14.5 प्रतिशत बढ़कर 3.82 लाख करोड़ रुपये रहा। पूरे वित्त वर्ष 2018-19 में यह 7.02 लाख करोड़ रुपये था।

क्या है सेज?

  • विशेष आर्थिक क्षेत्र अथवा सेज़ (एसईजेड) उस विशेष रूप से पारिभाषित भौगोलिक क्षेत्र को कहते हैं, जहां से व्यापार, आर्थिक क्रिया कलाप, उत्पादन तथा अन्य व्यावसायिक गतिविधियों को किया जाता है। यह क्षेत्र देश की सीमा के भीतर विशेष आर्थिक नियम कायदों को ध्यान में रखकर व्यावसायिक गतिविधियों को प्रोत्साहित करने के लिए विकसित किए जाते हैं।
  • भारत पहला एशियाई देश है, जिसने निर्यात को बढ़ाने के लिए सन 1965 में कांडला में एक विशेष क्षेत्र की स्थापना की थी। इसे निर्यात प्रकिया क्षेत्र (एक्सपोर्ट प्रोसेसिंग ज़ोन/ईपीजेड) नाम दिया गया था।

एनपीसीआई का ‘यूपीआई चलेगा’ अभियान

  • नेशनल पेमेंट्स कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया (एनपीसीआई) ने पेमेंट ईकोसिस्टम से जुड़ी कंपनियों के साथ मिलकर ‘यूपीआई चलेगा’ अभियान की शुरुआत की है जो यूपीआई को आसान, सुरक्षित और त्वरित भुगतान के रूप में बढ़ावा देने के लिए तैयार किया गया है।
  • इस अभियान का उद्देश्य उपयोगकर्ताओं को यूपीआई के सही उपयोग की दिशा में मार्गदर्शन देना है, ताकि वे अपने दैनिक जीवन में एक आदतन परिवर्तन करते हुए यूपीआई का नियमित तौर पर इस्तेमाल करने लगें। अभियान के दौरान यूपीआई एप पर लेनदेन करते समय सुरक्षा पहलुओं पर भी ध्यान केंद्रित किया जाएगा।

क्या है UPI?

  • मोबाइल प्लेटफ़ॉर्म से किसी दूसरे बैंक अकाउंट में पैसे ट्रांसफर करने के लिए यूनिफाइड पेमेंट इंटरफेस या UPI का इस्तेमाल किया जाता है।यह कई बैंक अकाउंट को एक मोबाइल एप्लीकेशन के जरिये रकम ट्रांसफर करने की इजाजत देता है। इसे नेशनल पेमेंट कॉर्पोरेशन ऑफ़ इंडिया (NPCI) ने विकसित किया है। इसका नियंत्रण रिजर्व बैंक और इंडियन बैंक एसोसियेशन के हाथ में है। डिजिटल पेमेंट का यह इंटरफेस 2 तरह से ऑथेन्टिफिकेशन करता है। इसके बाद ही सिंगल क्लिक से आप किसी को पेमेंट कर सकते हैं। यहां वन टाइम पासवर्ड की जगह पिन का इस्तेमाल किया जाता है। बेहतरीन एनक्रिप्टेड फॉर्मेट होने की वजह से NPCI के सलाहकार नंदन नीलेकणि ने कहा था कि यह पेमेंट का सुरक्षित विकल्प है।
  • नेशनल पेमेंट्स कॉर्पोरेशन ऑफ इंडिया (NPCI) ने UPI का नया वर्जन यूनिफाइड पेमेंट्स इंटरफेस (UPI) 2.0 भारत में लॉन्च कर दिया है। UPI का ये नया वर्जन कई खास फीचर्स जैसे UPI मेंडेट, ओवर-ड्राफ्ट, QR फीचर व इनबॉक्स आदि के साथ है।

:: विज्ञान और प्रौद्योगिकी ::

ऐंड्रॉयड 11

  • गूगल की ओर से मोबाइल ऑपरेटिंग सिस्टम ऐंड्रॉयड के लेटेस्ट वर्जन Android 10 का सक्सेसर नए बदलावों और फीचर्स के साथ रिलीज कर दिया गया है। गूगल ने Android 11 का डिवेलपर प्रिव्यू ढेरों नए फीचर्स के साथ पोस्ट किया है, जिससे पूरा इकोसिस्टम और भी मजबूत होगा। यह नई बात जरूर है कि 2020 में पहला डिवेलपर बिल्ड हर साल के मुकाबले कुछ महीने पहले अवेलेबल है। कई नए APIs और फीचर्स लेटेस्ट ऐंड्रॉयड 11 ओएस का हिस्सा हैं।
  • नेक्स्ट जेनरेशन टेक्नॉलजी सपॉर्ट के अलावा नए ओएस का प्राइमरी फोकस यूजर्स डेटा की सिक्यॉरिटी और प्रिवेसी बढ़ाना है। ऐंड्रॉयड 11 डिवेलपर प्रिव्यू बिल्ड में कनेक्टिविटी बेहतर करने वाले नए APIs से लेकर 5G और फोल्डेबल डिस्प्ले जैसे नए टेक के लिए कई फीचर्स लाए गए हैं। इसके अलावा नए कन्वर्सेशन टैब में नोटिफिकेशन एरिया, फेसबुक जैसे चैट हेड्स, इंप्रूव्ड परमिशंस और प्रोजेक्ट मेनलाइन से ऐक्सेसेबिलिटी आसान हो सकेगी।

ऐंड्रॉयड 11 की विशेषता

  • कई साल के इंतजार के बाद ऐंड्रॉयड की ओर से फेसबुक मेसेंजर जैसे चैट हेड्स को सपॉर्ट दिया गया है। इसकी मदद से मल्टिपल कन्वर्सेशंस एकसाथ आसानी से किए जा सकेंगे।
  • लोकेशंस, माइक्रोफोन और कैमरा के लिए वन-टाइम परमिशंस दी जा सकेंगी और यूजर्स की प्रिवेसी पहले से बेहतर होगी। इसकी मदद से सिस्टम ऐप को स्टॉप करते ही उससे सपॉर्ट वापस ले लेगा। वहीं, ऐप्स को गूगल परमिशन से लोकेशन ऐक्सेस रिक्वेस्ट करनी होगी। केवल गूगल अप्रूव्ड ऐप्स की बैकग्राउंड लोकेशन डेटा ऐक्सेस कर सकेंगे।
  • नोटिफिकेशन पैनल में डेडिकेटेड कन्वर्सेशन टैब दिया जाएगा, जहां मोस्ट रिसेंट मेसेजेस दिखाई देंगे। इसकी मदद से नोटिफिकेशन पैनल में जाकर ही मेसेजेस के रिप्लाइ करना भी आसान हो जाएगा। इतना ही नहीं, यूजर्स नोटिफिकेशंस से ही इमेजेस भी भेज सकेंगे।
  • ऐंड्रॉयड 11 में 5G के नेटिव सपॉर्ट, फोल्डेबल डिवाइसेज और मशीन लर्निंग के लिए APIs दिए गए हैं। इसकी मदद से डिवाइस मैन्युफैक्चरर्स नेक्स्ट-जेनरेशन स्मार्टफोन्स बिना किसी थर्ड-पार्टी कोड की मदद लिए ला सकेंगे। साथ ही लो-लेटंसी विडियो डिकोडिंग, बेहतर कॉल स्क्रीनिंग और गूगल के न्यूरल नेटवर्क APIs भी दिए जाएंगे।
  • ऐंड्रॉयड 11 में यूजर्स अपने फेवरेट सोशल नेटवर्क्स को शेयरिंग मेन्यू के टॉप पर पिन कर सकेंगे। हालांकि, यह फीचर ऐंड्रॉयड 9 के शुरुआती वर्जन में उपलब्ध था लेकिन ऐंड्रॉयड 10 में इसे हटा दिया गया है।
  • गूगल ऐंड्रॉयड 10 में ग्लोबल डार्क मोड लेकर आया है। नए ऐंड्रॉयड 11 में यूजर्स को यह मोड शेड्यूल करने का भी ऑप्शन मिलेगा। रिपोर्ट के मुताबिक, तय किए गए वक्त पर यह मोड अपने आप इनेबल या डिसेबल हो जाएगा।
  • एयरप्लेन मोड ऑन होने पर अब तक यूजर्स ब्लूटूथ ऑन नहीं कर पाते थे लेकिन नए ओएस में यह विकल्प यूजर्स को मिलेगा। स्मार्ट वियरेबल्स या ऑडिया हेडसेट्स से एयरप्लेन मोड ऑन होने पर भी कनेक्टेड रहा जा सकेगा।
  • गूगल ने एक और ऑप्शन सेटिंग्स पैनल से टच सेंसिटिविटी बेहतर करने के लिए दिया है। यूजर्स ग्लव्स पहनने से पहले या फिर स्क्रीन प्रटेक्टर इस्तेमाल करने की स्थिति में इसे बढ़ा पाएंगे। यह फीचर कई स्थितियों में काफी काम का हो सकता है।
  • नए APIs सेट की मदद से यूजर्स कैमरा इस्तेमाल करते वक्त नोटिफिकेशंस को म्यूट कर सकेंगे। विडियो कॉल्स के वक्त यह फीचर काफी काम का साबित हो सकता है।

सघन मिशन इन्द्रधनुष (आईएमआई 2.0)

  • डॉ. हर्षवर्धन सोमवार ने दिल्ली में सघन मिशन इन्द्रधनुष (आईएमआई 2.0) पर एक विशेष सामुदायिक कार्यक्रम में एक वीडियो संदेश प्रतिभागियों के साथ साझा किया गया जिसमें उन्होंने आईएमआई 2.0 के तहत बच्चों और गर्भवती महिलाओं के टीकाकरण के महत्व पर जोर दिया और कहा कि भारत सरकार इनके लिए पूर्ण टीकाकरण का लक्ष्‍य हासिल करने को सर्वोच्‍च प्राथमिकता दे रही है।

पृष्ठभूमि

  • आईएमआई को 2017 में गुजरात के वडनगर से शुरु किया गया था और अब इसे ग्राम स्वराज अभियान और विस्‍तारित ग्राम स्‍वराज अभियान के माध्‍यम से और सशक्‍त बनाया जा रहा है। दिसंबर 2019 से आईएमआई 2.0, 27 राज्यों / केंद्रशासित प्रदेशों के 272 जिलों तथा बिहार और उत्तर प्रदेश के और 109 जिलों के 650 खंडों में चलाया जा रहा है।
  • सघन मिशन इंद्रधनुष 2.0 की शुरुआत के साथ ही देश में पांच वर्ष से कम आयु वाले बच्‍चों की मृत्‍यु दर में कमी लाने और 2030 तक बीमारियों से बचाव के जरिए बाल मृत्‍य दर में कमी के सतत विकास लक्ष्‍य को हासिल करने का मौका है।
  • देश के 190 जिलों में टीकाकरण अभियान पर कराए गए सर्वेक्षण के नतीजों में पाया गया कि राष्‍ट्रीय परिवार स्‍वास्‍थ्‍य सर्वेक्षण-चार की तुलना में पूर्ण टीकाकरण के मामलों में 18.5 प्रतिशत का इजाफा हुआ है। दिसंबर 2019 से फरवरी 2020 के बीच सघन टीकाकरण अभियान के तीन चरण पूरे हो चुके हैं। इसके तहत 29.74 लाख बच्‍चों और 5.90 लाख गर्भवती महिलाओं को टीके लगाए गए। इसका एक और चरण मार्च 2020 में शुरु किया जाएगा।

:: पर्यावरण एवं पारिस्थितिकी ::

हिम तेंदुए

  • जिले में समुद्रतल से 11480 फीट की औसत ऊंचाई पर 630.3 वर्ग किमी क्षेत्रफल में फैले नंदा देवी बायोस्फीयर रिजर्व में 12 हिम तेंदुओं (स्नो लेपर्ड) की मौजूदगी मिली है। इनमें से दो या तीन हिम तेंदुए फूलों की घाटी राष्ट्रीय उद्यान क्षेत्र में हैं। हाल ही में वन कर्मियों को फूलों की घाटी में गेट के पास बर्फ के ऊपर दो हिम तेंदुओं के फुट प्रिंट मिले।

हिम तेंदुए से संपूर्ण तथ्य

  • हिम तेंदुआ मध्य एशिया के पर्वत शृंखलाओं में रहने वाला जानवर है, जो आईयूसीएन के रेड लिस्ट में शामिल संकटग्रस्त और संरक्षित प्राणी है। यह पाकिस्तान का राष्ट्रीय धरोहर पशु है। हिम तेंदुएं 12 देशों में पाए जाते हैं। उन देशों में भारत, नेपाल, भूटान, चीन, मंगोलिया, रूस, पाकिस्तान, अफगानिस्तान, किर्गिस्तान, कजाकिस्तान, ताजिकिस्तान और उज्बेकिस्तान शामिल हैं।
  • हिम तेंदुआ मध्य एशिया के बर्फीले इलाकों में समुद्र तल से 3,350 से 6,700 मीटर की ऊंचाई पर पाया जाता है। यह 'बिग कैट' प्रजाति (जिसमें बाघ, सिंह, जगुआर एवं तेंदुआ आते हैं) के अन्य जीवों से आकार में कुछ छोटा होता है और सिर से पूंछ के आधार तक इसकी लंबाई 75 से 130 सेंटीमीटर तक होती है। मादा हिम तेंदुआ की लंबाई नर के मुकाबले कुछ कम होती है। सामान्यतः इसका वजन 27 से 55 किलोग्राम के बीच होता है। इनका रंग हल्का भूरा होता है और वातावरण के अनुसार इसके शरीर पर स्लेटी व काले धब्बे होते हैं।
  • पहली बार हिम तेंदुए के बारे में 1750 में स्क्रैबर ने बताया था। गर्मियों में यह आम तौर पर पर्वतों के वन क्षेत्र एवं चट्टानी इलाकों में 2,700 से 6,000 मीटर की ऊंचाई पर रहता है, लेकिन सर्दियों में यह भोजन की तलाश में 1,200 से 2,000 मीटर की ऊंचाई पर स्थित जंगलों में आ जाता है। यह उबड़-खाबड़ चट्टानी इलाकों में रहना पसंद करता है और 85 सेंटीमीटर बर्फ में भी आसानी से चल सकता है।
  • हिम तेंदुए काफी हद तक एकाकी जीवन बिताते हैं। दुनिया भर में हिम तेंदुओं की अनुमानित आबादी करीब 4,510 से 7,350 के बीच है। भारत में 75,000 वर्ग किलोमीटर के दायरे में इसकी आबादी करीब 200 से 600 के बीच आंकी गई है।

:: विविध ::

सुश्री जिया राय

  • आईएनएस शिकरा में तैनात आर्म्स द्वितीय में मास्टर चीफ मदन राय की ग्यारह वर्षीय बेटी सुश्री जिया राय सबसे तेज तैराकी कर विश्व रिकॉर्ड बनाने वाली दिव्यांग छात्रा बन गई है। सुश्री जिया राय ने 15 फरवरी, 2020 को खुले पानी में 14 किलोमीटर तैराकी कर विश्व रिकार्ड बनाया। नेवी चिल्ड्रन स्कूल (एनसीएस), मुम्बई की छठी कक्षा की छात्रा सुश्री जिया ने मुम्बई एलिफेंटा द्वीप से गेटवे ऑफ इंडिया तक खुले पानी में तैरते हुए 14 किलोमीटर की दूरी 3 घंटे 27 मिनट और 30 सेकंड में पूरी की। एकल तैराकी का आयोजन भारतीय तैराकी परिसंघ के अधिकृत निकाय महाराष्ट्र तैराकी संघ की देखरेख में किया गया था। सुश्री जिया की यह असाधारण उपलब्धि इंडिया बुक ऑफ रिकार्ड्स, एशिया बुक और लिम्का बुक ऑफ रिकॉर्ड्स में दर्ज करने के लिए योग्य माना गया है। सुश्री जिया दुनिया की सबसे कम उम्र की पहली दिव्यांग लड़की है, जिसने 03 घंटे 27 मिनट और 30 सेकंड में खुले पानी में 14 किलोमीटर की तैराकी पूरी की।

:: प्रिलिम्स बूस्टर ::

  • हाल ही में किस देश को कॉमनवेल्थ निशानेबाजी और तीरंदाजी चैंपियनशिप 2022 की मेजबानी प्रदान की गई है? (भारत)
  • हाल ही में किस स्थान पर 4000 साल पुराने शिल्प ग्राम के अवशेष मिले हैं? (वाराणसी, उत्तर प्रदेश)
  • ‘एसेंबल इन इंडिया’ के तहत निर्यात बाजार में भारत की हिस्सेदारी को बढ़ाकर कितना करने का लक्ष्य रखा गया है? (3.5 फीसद)
  • ‘ पीएम किसान’ सम्मान निधि की प्रथम वर्षगांठ कहां मनाई जाएगी? (चित्रकूट, उत्तर प्रदेश)
  • भारत सरकार ने किस देश से 15वीं शताब्दी की संत तिरुमंकाई अलवार की प्रतिमा को वापस करने का अनुरोध किया है? (ब्रिटेन)
  • हाल ही में आयोजित हुए श्यामा प्रसाद मुखर्जी ग्रामीण मिशन के चौथे वार्षिक समारोह का शीर्षक क्या था? (आत्मा गांव की सुविधा शहर की)
  • हाल ही में अपने पद से इस्तीफा देने वाले महातिर मोहम्मद किस देश के प्रधानमंत्री थे? (मलेशिया)
  • हाल ही में किस राज्य के उच्च न्यायालय ने बाहरी लोगों को आरक्षण लाभ नहीं देने का निर्णय प्रदान किया है? (झारखंड)
  • हाल ही में सीसीआई के द्वारा अनुचित व्यापार गतिविधियों के कारण किन कंपनियों के खिलाफ विस्तृत जांच के आदेश दिए हैं? (मेकमायट्रिप और ओयो)
  • हाल ही में किन दो कंपनियों ने विशेष आर्थिक क्षेत्र गठित करने के लिए सरकार से अनुमति मांगी है? (टीसीएस और डीएलएफ)
  • किस संस्था के द्वारा ‘यूपीआई चलेगा’ अभियान की शुरुआत की गई है? (नेशनल पेमेंट्स कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया)
  • हाल ही में किस टेक कंपनी के द्वारा एंड्राइड 11 को लांच किया गया? (गूगल)
  • सबसे कम उम्र में सर्वाधिक तेज तैराकी की पहली दिव्यांग लड़की का रिकॉर्ड बनाने वाली दिव्यांग छात्रा कौन है? (जिया राय)

स्रोत साभार: Dainik Jagran (Rashtriya Sanskaran), Dainik Bhaskar (Rashtriya Sanskaran), Rashtriya Sahara (Rashtriya Sanskaran) Hindustan Dainik (Delhi), Nai Duniya, Hindustan Times, The Hindu, BBC Portal, The Economic Times (Hindi & English), PTI, PIB

<< मुख्य पृष्ठ पर वापस जाने के लिये यहां क्लिक करें