(दैनिक समसामयिकी और प्रिलिम्स बूस्टर) यूपीएससी और सभी राज्य लोक सेवा आयोग परीक्षाओं के लिए हिंदी में समाचार पत्रों का संकलन (15 जनवरी 2020)

दैनिक समसामयिकी और प्रिलिम्स बूस्टर


(दैनिक समसामयिकी और प्रिलिम्स बूस्टर) यूपीएससी और सभी राज्य लोक सेवा आयोग परीक्षाओं के लिए हिंदी में समाचार पत्रों का संकलन (15 जनवरी 2020)


:: राष्ट्रीय समाचार ::

रायसीना डायलॉग

  • दिल्ली में रायसीना डॉयलॉग 2020 की शुरुआत हो चुकी है। यहां 12 देशों को विदेश मंत्री और 100 देशों के लगभग 700 विशेषज्ञ शामिल हुए है। इसके उद्धाटन सत्र में पीएम मोदी के साथ विदेश मंत्री एस जयशंकर मौजूद थे।
  • प्रतिष्ठित रायसीना डायलॉग के पांचवे संस्करण का आयोजन विदेश मंत्रालय और ऑर्ब्जवर रिसर्च फाउंडेशन संयुक्त रूप से कर रहे हैं। इसमें करीब 100 देशों के 700 अंतरराष्ट्रीय प्रतिनिधि शामिल होंगे।

एम फार्म

  • भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के राष्ट्रीय महासचिव तथा जम्मू-कश्मीर के प्रभारी राम माधव ने ओडिशा में कहा कि केंद्र सरकार कश्मीरी पंडितों को एक और सौगात दे सकती है। यह सौगात एम फार्म को हटाने को लेकर मिल सकती है।

क्या होता है एम फार्म?

  • हर चुनाव में कश्मीरी पंडितों को एम फार्म भरना अनिवार्य होता है, तब वो मतदान करने के योग्य होते हैं।

‘बंगबंधु’ पर मिलकर बायोपिक बनायेंगे भारत-बंगलादेश

  • भारत और बंगलादेश ने बंगलादेश के पहले राष्ट्रपति ‘बंगबंधु’ शेख मुजीबुर रहमान पर मिलकर बायोपिक फिल्म बनाने के लिए आज एक करार किया ।
  • सूचना एवं प्रसारण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर और बंगलादेश के उनके समकक्ष मुहम्मद महमूद ने यहाँ सूचना एवं प्रसारण मंत्रियों की बैठक में इस औपचारिक करार पर हस्ताक्षर किए गए। इस बायोपिक को श्री रहमान की जन्मशती पर जारी किया जायेगा। बंगलादेश की सरकार ने 17 मार्च 2020 से 17 मार्च 2021 तक ‘मुजीब वर्ष’ के नाम से उनका जन्मशती समारोह आयोजित करने का फैसला किया है।

देश में 2021 से केवल हालमार्क वाले आभूषण

  • सरकार ने सोने के आभूषण में सौ फीसदी हालमार्किंग की योजना को लागू करने के लिए अधिसूचना जारी करने वाली है। इसमें प्रावधान है कि 15 जनवरी 2021 से देश के सभी सुनार सिर्फ हालमार्क निशान वाला स्वर्ण आभूषण बेच पाएंगे। हालमार्किंग भी सिर्फ तीन कैरेट की ही होगी। यदि कोई स्वर्णाभूषण विक्रेता इसका उल्लंघन करेगा तो उस पर कम से कम एक लाख रुपए का जुर्माना और एक साल तक की कैद की सजा हो सकेगी।
  • केंद्रीय खाद्य एवं उपभोक्ता मामलों के मंत्री राम विलास पासवान ने मंगलवार को इसकी जानकारी दी। उन्होंने बताया कि बुधवार (15 जनवरी) को इस आशय की अधिसूचना जारी की जा रही है। इसके एक साल बाद, मतलब 15 जनवरी 2021 से यह देश भर में लागू हो जाएगा। एक साल का समय इसलिए दिया गया है ताकि पहले बन चुके आभूषण का स्टॉक खत्क किया जा सके। इस बीच देश के हर जिले में हालमार्किंग सेंटर खोलने की कवायद की जाएगी, ताकि कहीं भी सुनारों को हालमार्किंग करवाने में दिक्कत नहीं हो।

पृष्ठभूमि

  • इस समय बाजार में नौ से 22 कैरेट तक के स्वर्ण आभूषण बनाए और बेचे जा रहे हैं। ऐसी शिकायत मिलती है कि छोटे शहरों और गांवों में 19 कैरेट का स्वर्ण आभूषण 22 कैरेट का कह कर बेचा जाता है। इसलिए नई व्यवस्था में सिर्फ तीन श्रेणी 14 कैरेट, 18 कैरेट और 22 कैरेट के आभूषण ही बनेंगे और बेचे जाएंगे।

हालमार्क वाले आभूषण की विशेषता

  • स्वर्ण आभूषण पर चार निशान होंगे। पहला निशान होगा बीआईएस का। दूसरा निशान कैरेट का होगा, जो बताएगा कि आभूषण कितने कैरेट का है। तीसरा निशान हालमार्किंग सेंटर का होगा, जबकि चौथा निशान आभूषण बनाने वाले का होगा। ग्राहकों को यदि शक है तो वह किसी केंद्र में जाकर डेढ़ से दो सौ रुपए देकर अपने आभूषण की जांच करवा सकेगा। यदि धोखाधड़ी हुई है तो फिर विक्रेता पर कम से कम एक लाख रुपए या आभूषण की कीमत के पांच गुने की राशि का जुर्माना होगा।
  • हालमार्किंग की अनिवार्यता सिर्फ विक्रेता के लिए है। यदि किसी के घर में पुराना आभूषण है, जिस पर हालमार्क नहीं है, उसे बेचते वक्त यह निशान नहीं देखा जाएगा। उस आभूषण को विक्रेता फिर से बेच नहीं पाएंगे, उसे गलाना होगा।

:: अंतर्राष्ट्रीय समाचार ::

अमेरिकी सांसद डेबी डिंगल

  • अमेरिका की महिला सांसद डेबी डिंगल ने नवगठित केन्द्र शासित क्षेत्र में नजरबंद लोगों को छोड़ने और संचार सेवाओं पर लगी पाबंदियों को हटाने की अपील करने वाले प्रस्ताव का समर्थन करते हुए कहा कि कश्मीर के हालत मानवाधिकारों का उल्लंघन हैं। गौरतलब है कि भारतीय मूल की अमेरिकी सांसद प्रमिला जयपाल ने प्रतिनिधिसभा में इस संबंध में प्रस्ताव नंबर 745 पिछले साल पेश किया गया था। इसे कुल 36 लोगों का समर्थन हासिल है। इनमें से दो रिपब्लिकन और 34 विपक्षी डेमोक्रेटिक पार्टी के सदस्य हैं।

तिब्बत में जातीय एकता अनिवार्य बनाने वाला विधेयक पारित

  • तिब्बत ने पहली बार जातीय एकता को अनिवार्य करने वाला कानून बनाया है। इसमें सुदूर हिमालयी क्षेत्र के आर्थिक और सामाजिक विकास में इसकी अहम भूमिका की झलक मिलती है। तिब्बत की पीपुल्स कांग्रेस ने शनिवार को विधेयक पारित किया। यह एक मई से अमल में आएगा।

विधेयक से सम्बंधित मुख्य तथ्य

  • नए कानून में कहा गया है कि तिब्बत प्राचीन काल से चीन का अभिन्न हिस्सा है।
  • क्षेत्रीय एकीकरण को सुरक्षित रखना सभी जातीय समूहों के लोगों की संयुक्त जिम्मेदारी है।
  • जातीय एकता को मजबूत किया जाए तथा अलगाववाद के खिलाफ स्पष्ट रुख अपनाया जाए।
  • ‘पूरे चीन के स्वायत्तशासी क्षेत्र में जातीय एकता पर यह पहला कानून है।’

पृष्ठभूमि

  • मालूम हो कि तिब्बत में 40 से ज्यादा जातीय अल्पसंख्यक समुदाय हैं जो कुल आबादी 30 लाख का 95 फीसद हैं। पिछले साल अप्रैल में आध्यात्मिक गुरु दलाई लामा ने कहा था कि वह अलगाववादी नहीं हैं लेकिन तिब्बत के लोग सन 1974 से चीन के साथ परस्पर स्वीकार्य समाधान चाहते हैं। उन्‍होंने आरोप लगाया था कि बीजिंग लोगों की मांग पर विचार करने के लिए तैयार नहीं है। दलाई लामा ने यह भी कहा था कि मैं कई मंचों से कह चुका हूं कि मैं तिब्बत के चीन से अलगाव का पक्षधर नहीं हूं लेकिन चीन सरकार मुझे हमेशा अलगाववादी कहती है।

हाफिज सईद

  • मुंबई हमलों के मास्टरमाइंड हाफिज सईद ने टेरर फंडिंग के दो मामलों में खुद को निर्दोष बताया है। आतंकी समूहों पर नकेल कसने के बढ़ते अंतरराष्ट्रीय दबाव के बीच जमात उद दावा के सरगना ने मंगलवार को यहां आतंकवाद रोधी अदालत में अपना बयान दर्ज कराया। पाक के आतंकवाद रोधी विभाग ने पंजाब प्रांत के विभिन्न शहरों में आतंकवाद के लिए वित्तीय मदद देने के मामलों में सईद और उसके सहयोगियों के खिलाफ 23 प्राथमिकी दर्ज की थीं और उसे 17 जुलाई को गिरफ्तार किया था। उसे लाहौर के कोट लखपत जेल में रखा गया है।
  • गौरतलब है कि जेडीयू (जमात-उद-दावा) की लीडरशिप इन दिनों टेरर फंडिंग और मनी लॉन्ड्रिंग के दो दर्जन से अधिक मामलों का सामना कर रही है जो पांच अलग अलग शहरों में दर्ज हैं। रिपोर्टों के मुताबिक, जमात-उद-दावा वह संगठन है जो आतंकी संगठन लश्कर-ए-तैयबा के लिए धन का इंतजाम करता था।
  • इसकी भूमिका को लेकर पाकिस्‍तान एफएटीएफ और अमेरिका के निशाने पर रहा है। लश्कर ने ही 2008 के मुंबई हमले को अंजाम दिया था जिसमें छह अमेरिकी नागरिकों समेत 166 लोग मारे गए थे। लश्कर ने भारत में दर्जनों आतंकी हमले किए हैं।

पृष्ठभूमि

  • ज्ञात हो कि अक्टूबर में फाइनेंशियल एक्शन टास्क फोर्स (एफएटीएफ) ने पाकिस्तान को चेतावनी देते हुए कहा था कि अगर पाकिस्तान 27 फरवरी तक एफएटीएफ द्वारा दिए गए लक्ष्यों को पूरा नहीं करता है और अपने देश से आतंकी फंडिंग को नियंत्रित नहीं करता है, तो उसे ब्लैकलिस्ट कर दिया जाएगा।
  • पिछले दिनों अमेरिका ने पाकिस्तान से मुंबई आतंकी हमले के मास्टरमाइंड हाफिज सईद के मामले की अदालत में तथ्यपरक और त्वरित गति से सुनवाई सुनिश्चित करने के लिए कहा था। अंतरराष्ट्रीय समुदाय मुंबई हमला मामले में न्याय होते देखना चाहता है।

:: भारतीय राजव्यवस्था ::

नागरिकता संशोधन कानून को केरल सरकार द्वारा चुनौती

  • नागरिकता संशोधन कानून को लागू करने के केंद्र सरकार के फैसले को केरल सरकार ने चुनौती दी है। देश के अलग-अलग हिस्सों में हो रहे प्रदर्शनों के बीच नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ केरल सरकार सुप्रीम कोर्ट पहुंची है। इस कानून के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाने वाला ऐसा पहला राज्य बन गया है। बता दें कि सुप्रीम कोर्ट पहले से ही इस कानून के खिलाफ करीब 60 याचिकाओं की सुनवाई कर रहा है।
  • बता दें कि बीते दिनों केरल विधानसभा ने नागरिकता कानून (सीएए) को रद्द करने की मांग वाला प्रस्ताव पारित किया है। सत्तारूढ़ सीपीएम के नेतृत्व वाले गठबंधन एलडीएफ और कांग्रेस के नेतृत्व वाले विपक्षी गठबंधन यूडीएफ ने विधानसभा में सीएए के विरोध में पेश प्रस्ताव का समर्थन किया, जबकि भाजपा के एकमात्र सदस्य ने इसका विरोध किया था।

पृष्ठभूमि

  • नए नागरिकता कानून को संसद से 11 दिसंबर 2019 को पारित किया गया था। सीएए के तहत पाकिस्तान, बांग्लादेश और अफगानिस्तान से 31 दिसंबर, 2014 तक भारत आए हिंदू, सिख, बौैद्ध, जैन, पारसी और ईसाई समुदाय के लोगों को अवैध शरणार्थी के रूप में नहीं देखा जाएगा। इन तीन पड़ोसी इस्लामिक देशों में धर्म के आधार पर प्रताडि़त किए गए इन अल्पसंख्यकों को भारतीय नागरिकता प्रदान की जाएगी।

:: भारतीय अर्थव्यवस्था ::

मुद्रास्फीति पर इकोरैप रिपोर्ट

  • भारतीय स्टेट बैंक की शोध इकाई की एक रिपोर्ट के अनुसार सब्जियों के दाम में वृद्धि को देखते हुए जनवरी माह में उपभोक्ता मूल्य सूचकांक (सीपीआई) पर आधारित मुद्रास्फीति 8 प्रतिशत से ऊपर जा सकती है लेकिन उसके बाद इसके नरम पड़ने की उम्मीद है। एसबीआई रिसर्च की रिपोर्ट इकोरैप में यह भी कहा गया है कि मार्च तक खुदरा मुद्रास्फीति सात प्रतिशत से ऊपर बनी रह सकती है और इसे देखते हुए आरबीआई नीतिगत दर वर्तमान स्तर पर बनाए रख सकता है।

रिपोर्ट के मुख्य बिंदु

  • इस रिपोर्ट में कहा गया है कि अगर खाद्य वस्तुओं की महंगाई दर में कमी नहीं आती है, हम गतिहीन मुद्रास्फीति (स्टैगफ्लेशन) की स्थिति में जा सकते है जहां आर्थिक वृद्धि कमजोर रहने के साथ महंगाई दर ऊंची होती है।
  • उल्लेखनीय है कि सोमवार को जारी खुदरा महंगाई दर दिसंबर 2019 में उछलकर 64 महीनों (रिपीट 64 महीनों) के उच्च स्तर 7.35 प्रतिशत पहुंच गयी। यह इससे पिछले महीने नवंबर में 5.54 प्रतिशत थी।
  • रिपोर्ट के अनुसार महंगाई दर में वृद्धि का प्रमुख कारण प्याज, आलू और अदरक के दाम में उल्लेखनीय तेजी है। इसके अलावा दूरसंचार शुल्क में वृद्धि के कारण मुद्रास्फीति में 0.16 प्रतिशत का प्रभाव पड़ा है।
  • इसमें कहा गया है, ‘‘इसे देखते हुए सीपीआई आधारित महंगाई दर इस महीने 8 प्रतिशत के ऊपर निकल सकती है। हालांकि उसके बाद स्थिति में सुधार की संभावना है।’’
  • इकोरैप के अनुसार, ‘‘हालांकि महंगाई दर में वृद्धि को देखते हुए रिजर्व बैंक मुद्रास्फीति और वृद्धि के अनुमानों पर पुनर्विचार करने के लिये बाध्य हो सकता है। लेकिन हमारे विचार से रुख में बदलाव अवांछित होगा। इसका कारण खपत में उल्लेखनीय रूप से कमी है।’’
  • रिपोर्ट में कहा गया है कि रिजर्व बैंक के पास दिसंबर में नीतिगत दर में कटौती का अच्छा मौका था। उस समय अक्टूबर में मुद्रास्फीति 4.62 प्रतिशत थी।
  • इसके अनुसार, ‘‘खाद्य वस्तुओं के दाम में अगर नरमी नहीं आती है, हम गतिहीन मुद्रास्फीति की स्थिति में जा सकते हैं।’’
  • महंगाई दर में नरमी के बारे में इकोरैप में कहा गया है, ‘‘इसमें सितंबर 2020 के बाद नरमी की उम्मीद है। दिसंबर 2020 से जनवरी 2021 में सकल मुद्रास्फीति घटकर 3 प्रतिशत के नीचे जा सकती है। इसका मतलब है कि आरबीआई 2020 में यथास्थिति बनाये रख सकता है।’’
  • आरबीआई मौद्रिक नीति पर विचार करते समय मुख्य रूप से सीपीआई आधारित महंगाई दर पर विचार करता है। केंद्रीय बैंक छह फरवरी को मौद्रिक नीति समीक्षा पेश करेगा।
  • रिपोर्ट में यह भी कहा गया है कि सब्जी के दाम में तेजी को देखते हुए आने वाले समय में अंडा, मांस, मछली जैसे प्रोटीन युक्त खाने के सामान की महंगाई दर बढ़ सकती है। इसका कारण लोग महंगी सब्जी के बजाए दाल, अंडा, मांस के उपभोग को बढ़ा सकते हैं जिससे इनकी कीमतें बढ़ सकती हैं।
  • इकोरैप में सीपीआई की गणना के तरीके पर भी पुनर्विचार पर जोर दिया गया है। इसमें कहा गया है, ‘‘केंद्रीय सांख्यिकी कार्यालय (सीएसओ) सीईएस (प्रतिस्थापन की स्थिर लोचशीलता) सर्वे का उपयोग करता है। इससे सीपीआई आधारित महंगाई दर में 2 प्रतिशत की वृद्धि हो रही है। सीपीआई के अनुमान में इस तरीके पर विचार करने की जरूरत है।’’

:: विज्ञान और प्रौद्योगिकी ::

दुनिया का सबसे बड़ा टेलीस्कोप

  • चीन ने आधिकारिक रूप से दुनिया का सबसे बड़ा रेडियो टेलीस्कोप लॉन्च कर दिया। चीन इस टेलीस्कोप का इस्तेमाल स्पेस रिसर्च के लिए करेगा। पांच सौ मीटर अपर्चर गोलाकार टेलीस्कोप का साइज 30 फुटबॉल के मैदानों के बराबर है और इसे दक्षिण-पश्चिमी प्रांत गुइझोऊ के एक पहाड़ पर बनाया गया है। इसे चीन में 'स्काई आई' के नाम से भी जाना जाता है।
  • चीनी एजेंसी शिन्हुआ की रिपोर्ट के अनुसार, टेलीस्कोप की शुरुआत के लिए स्वीकृति मिल गई। इसका निर्माण कार्य साल 2016 में ही पूरा हो गया था और अभी तक टेस्ट किए जा रहे थे। टेलीस्कोप का ट्रायल अब तक स्थिर है। इसकी सेंसिटिविटी दुनिया के दूसरे सबसे बड़े टेलीस्कोप के 2.5 गुना से अधिक है। रिपोर्ट में बताया गया है कि प्रोजेक्ट के दौरान कुछ जरूरी वैज्ञानिक डेटा भी प्राप्त किए गए हैं और अगले तीन से पांच वर्षों में कम आवृत्ति वाले गुरुत्वाकर्षण लहर का पता लगाने जैसे क्षेत्रों में कुछ मदद मिलने की उम्मीद है।
  • बता दें कि चीन के स्पेस प्रोग्राम को आगे बढ़ाना बीजिंग के लिए प्राथमिकता है और देश ने साल 2030 तक एक प्रमुख अंतरिक्ष शक्ति बनने का लक्ष्य रखा है।

जीनोबोट्स

  • अमेरिका के वैज्ञानिकों ने स्टेम सेल के जरिए पहली सजीव मशीन बनाने में कामयाबी हासिल की है। इन सजीव रोबोट्स को ‘जीनोबोट्स’ का नाम दिया गया है। एक इंच के 25वें हिस्से के बराबर इन रोबोट्स को कैंसर कोशिकाओं के खात्मे में इस्तेमाल किया जा सकता है। इन्हें समुद्र से माइक्रोप्लास्टिक एकत्रित करने के काम में लाया जा सकता है। यह शोध ‘प्रोसिडिंग्स ऑफ द नेशनल अकेडमी ऑफ साइंस’ में प्रकाशित हुआ है। भविष्य में इन रोबोट्स के अन्य प्रभावी उपयोग सामने आ सकते हैं।

इस तरह आए अस्तित्व में

  • वैज्ञानिकों ने इन छोटे रोबोट्स को वेरमाउंट विश्वविद्यालय और टफ्ट्स विश्वविद्यालय में विकसित किया है। इसके लिए अफ्रीका के मेढक जीनोपस लेविस के भ्रूण से स्टेम सेल लिए गए। अमेरिका ने मुहैया कराया धन इस शोध को अमेरिका के डिफेंस एडवांस्ड रिसर्च प्रोजेक्ट्स एजेंसी के लाइफ लांग लर्निंग मशीन प्रोग्राम ने धन मुहैया कराया है। इसका उद्देश्य मशीनों में जैविक शिक्षा प्रक्रियाओं को फिर से बनाना हैं।

क्रम विकास एल्गोरिदम

  • रोबोट्स में क्रम विकास को एल्गोरिदम के जरिए सुपर कंप्यूटर में रन कराया जाता है। यह कार्यक्रम पांच सौ से एक हजार त्वचा और हृदय कोशिकाओं के क्रम रहित थ्रीडी कॉन्फिगरेशन के जरिए शुरू होता है। प्रत्येक डिजाइन को एक आभासी वातावरण के जरिए परीक्षण किया जाता है।

रोबोट लेकिन पारंपरिक नहीं

  • शोध से जुड़े वैज्ञानिकों का ये भी कहना है कि यह न तो कोई पारंपरिक रोबोट है और न ही जंतुओं की कोई ज्ञात प्रजाति है। उनका दावा है कि यह नए ‘कृत्रिम सेल’ लक्ष्य के अनुसार किसी भी तरह की शक्ल ले सकते है। साथ ही यह खत्म नहीं होते और स्वयं की मरम्मत करने में भी सक्षम है। शोधकर्ता जोशुआ बोंगार्ड के मुताबिक, यह न पारंपरिक रोबोट है और न ही जंतुओं की कोई ज्ञात प्रजाति। यह मानव द्वारा निर्मित एक नई प्रजाति है, एक जीवित और प्रोग्राम योग्य जीव है।

ये है उद्देश्य

  • इस शोध का उद्देश्य इन रोबोट के निर्माण से कहीं अधिक चीजें हासिल करना है। इसका उद्देश्य जीवन के सॉफ्टवेयर को समझना है। यदि आप जन्म के दोष, कैंसर, उम्र से संबंधित बीमारियों के बारे में सोचते हैं, तो इन सभी चीजों को हल किया जा सकता है। यदि हमें यह पता है कि जैविक संरचना कैसे बनाई जाए, तो विकास और आकार पर अंतिम नियंत्रण हो जाता है।

खुद खत्म हो जाते हैं

  • यह जीनोबोट्स जब अपना काम पूरा कर लेते हैं तो सात दिनों में पूरी तरह से खत्म हो जाते हैं और एक मृत कोशिका के रूप में रह जाते हैं।

मानवता को होंगे लाभ

  • इस बारे में शोध करने वालों का अनुमान है कि इससे मानवता को काफी लाभ होंगे। हालांकि वे यह भी स्वीकारते हैं कि इससे जुड़े कुछ नैतिक मसले भी सामने आ सकते हैं।

रोगों में कारगर

  • इन रोबोट की चौड़ाई एक इंच का 25वां भाग है। इस कारण से यह शरीर के किसी भी हिस्से में दवा पहुंचाने का काम भी बहुत ही सहजता से कर सकते हैं। जिस हिस्से में दवा की जरूरत है वहां पर सीधे दवा पहुंचा सकते हैं। इस तरह से यह कैंसर जैसी बीमारियों में कारगर हो सकते हैं।

चीन में निमोनिया का नया वायरस

  • चीन में निमोनिया का नया वायरस सामने आया है। अनुसंधानकर्ताओं का कहना है कि उन्होंने पहले ऐसा वायरस नहीं देखा है। इससे वुहान शहर में 40 से ज्यादा लोग बीमार हो गए हैं और एक शख्स की मौत हो गई है। वैज्ञानिकों को आशंका है कि यह वायरस तेजी से दूसरे देशों में फैल सकता है। इस बीच, चीन से बाहर इस अज्ञात वायरस का पहला केस थाईलैंड में सामने आया है। वुहान की महिला यहां पर्यटन के लिए आई थी, जिसमें लक्षण नजर आने के बाद अस्पताल में भर्ती कराया गया है। हालांकि, विश्व स्वास्थ्य संगठन का कहना है कि वुहान के सिंगल सी-फूड मार्केट के कारण वहां यह वायरस फैला है और इस बात की आशंका कम है कि यह बाकी शहरों में भी फैले। जो मरीज सामने आए हैं, उनमें से अधिकांश इस समुद्री खाद्य बाजार में काम करते थे। यहां तीतर और सांप के साथ ही खरगोश के अंग भी बेचे जाते थे। निमोनिया के मामले सामने आने के बाद से यह बाजार बंद है।
  • समाचार एजेंसी शिन्हुआ के अनुसार, अब तक इस वायरस के इंसान से इंसान में फैलने से संकेत नहीं मिले हैं, लेकिन पूरी सावधानी बरती जा रही है। हर संदिग्ध की निगरानी की जा रही है। मरीजों से सम्पर्क में रह चुके लोगों की लगातार जांच की जा रही है।
  • इससे पहले चीनी मीडिया में जारी रिपोर्ट में इस बीमारी के लिए कोरोना वायरस को जिम्मेदार बताया गया था। बता दें, चीन में साल 2003 में यह सीवियर एक्यूट रेस्पिरेटरी सिन्ड्रोम (एसएआरएस) फैला था और तब 646 लोगों की मौत हुई थी। पूरी दुनिया में मरने वालों का आंकड़ा 813 था। एसएआरएस के 14 से 15 फीसद मामलों में मरीज की जान चली जाती है।

:: पर्यावरण और पारिस्थितिकी ::

ऑस्ट्रेलिया में 5 हजार ऊंटों की मौत

  • दक्षिणी ऑस्ट्रेलिया के सूखाग्रस्त इलाकों में स्थानीय समुदायों के लिए खतरा पैदा करने वाले पांच हजार से अधिक ऊंटों को मार डाला गया।

पृष्ठभूमि

  • आदिवासी नेताओं ने बताया कि ऊंटों के बड़े झुंड सूखे और ज्यादा गर्मी की वजह से गांवों की ओर आ गए थे। ये भोजन-पानी के साथ साथ बुनियादी ढांचे को नुकसान पहुंचा रहे थे।
  • गौरतलब है कि साल 2019 ऑस्ट्रेलिया का सबसे गर्म साल रहा। वहीं, सूखे की वजह से कुछ कस्बों में पानी भी खत्म हो गया। ऑस्ट्रेलिया में ऊंट पहली बार 1840 के दशक में लाए गए थे। इसके बाद छह दशकों में भारत से 20,000 से अधिक आयात किए गए थे।

:: विविध ::

माइकल पात्रा

  • माइकल पात्रा को रिजर्व बैंक का नया डिप्टी गवर्नर नियुक्त किया गया है। वह अगले 3 साल तक इस पद पर रहेंगे। RBI के मौजूदा कार्यकारी निदेशक व मौद्रिक नीति समिति (एमपीसी) के सदस्य माइकल पात्रा को यह पद विरल आचार्य के इस्तीफा देने के बाद से खाली पड़ा हुआ था। आचार्य से पहले उर्जित पटेल इस पद पर रहे थे।

भारत-ऑस्ट्रेलियाई - वनडे क्रिकेट

  • भारतीय टीम के खिलाफ डेविड वार्नर और एरोन फिंच की जोड़ी ने वनडे क्रिकेट की सबसे बड़ी साझेदारी बनाने के मामले में इतिहास रच दिया। डेविड वार्नर और फिंच ने मिलकर पहले विकेट के लिए 258 रन की साझेदारी की जो कि भारत के खिलाफ सबसे बड़ी साझेदारी है।

ATP Rankings: एटीपी रैंकिंग

  • सोमवार को एटीपी की नई रैंकिंग जारी की गई जिसमें नडाल शीर्ष पर बरकरार हैं। दुसरे स्थान पर सर्बियाई स्टार जोकोविक है। ताजा एटीपी रैंकिंग में स्विट्जरलैंड के दिग्गज खिलाड़ी रोजर फेडरर तीसरे स्थान पर हैं।
  • विश्व महिला रैंकिंग में ऑस्ट्रेलिया की एश्ले बार्टी शीर्ष पर बरकरार हैं लेकिन दूसरे स्थान पर काबिज चेक गणराज्य की कैरोलिना प्लिस्कोवा ने अंकों का फासला कम कर लिया है। जापान की नाओमी ओसाका एक स्थान के फायदे के साथ तीसरे स्थान पर पहुंच गईं।

कैप्टन तानिया शेरगिल

  • चौथी पीढ़ी की महिला सैन्य अफसर कैप्टन तानिया शेरगिल इस साल गणतंत्र दिवस पर पहली महिला परेड सहायक होंगी। सेना के सिग्नल कोर की कैप्टन तानिया शेरगिल परेड की अगुआई करेंगी। इलेक्ट्रॉनिक्स एवं कम्युनिकेशंस में बीटेक तानिया मार्च 2017 में चेन्नई के ऑफिसर ट्रेनिंग अकादमी से सेना में शामिल हुई थी।

:: प्रिलिम्स बूस्टर ::

  • प्रतिष्ठित रायसीना डायलॉग 2020 का आयोजन किस संस्था के द्वारा करवाया जा रहा है? (विदेश मंत्रालय और ऑर्ब्जवर रिसर्च फाउंडेशन)
  • भारत में किस तिथि से सोने के आभूषण में 100 फ़ीसदी हॉलमार्किंग योजना अनिवार्य हो जाएगी? (15 जनवरी 2021)
  • बगबंधु पर बायोपिक बनाने हेतु भारत ने किस देश के साथ करार किया है? (बांग्लादेश)
  • बंगबंधु बायोपिक किस व्यक्तित्व के जीवनी पर आधारित होगा? (शेख मुजीबुर रहमान)
  • नागरिकता कानून को चुनौती प्रदान करने वाला प्रथम राज्य सरकार कौन है? (केरल)
  • किस देश के द्वारा आधिकारिक रूप से दुनिया का सबसे बड़ा रेडियो टेलीस्कोप लांच किया गया है? (चीन)
  • स्टेम सेल के जरिए पहली सजीव मशीन या सजीव रोबोट्स को क्या नाम दिया गया है? (‘जीनोबोट्स’)
  • हाल ही में किस देश ने स्थानीय समुदायों के लिए खतरा पैदा करने वाले 5000 से अधिक ऊंटों को मार दिया है? (ऑस्ट्रेलिया)
  • हाल ही में किसे रिजर्व बैंक का नया डिप्टी गवर्नर नियुक्त किया गया है? (माइकल पात्रा)
  • हाल ही में किन क्रिकेट खिलाड़ियों के द्वारा भारत के विरुद्ध पहले विकेट के लिए सबसे बड़ी साझेदारी का रिकॉर्ड अपने नाम किया है? (डेविड वॉर्नर और फिंच- ऑस्ट्रेलिया)
  • हाल ही में जारी एटीपी रैंकिंग में शीर्ष स्थान पर काबिज टेनिस खिलाड़ी कौन है? (पुरुष वर्ग राफेल नडाल, महिला वर्ग एश्ले बार्टी)
  • गणतंत्र दिवस परेड में पहली महिला परेड सहायक की उपलब्धि हासिल करने वाली सैन्य अधिकारी कौन है? (कैप्टन तानिया शेरगिल)

स्रोत साभार: Dainik Jagran (Rashtriya Sanskaran), Dainik Bhaskar (Rashtriya Sanskaran), Rashtriya Sahara (Rashtriya Sanskaran) Hindustan Dainik (Delhi), Nai Duniya, Hindustan Times, The Hindu, BBC Portal, The Economic Times (Hindi & English), PTI, PIB

<< मुख्य पृष्ठ पर वापस जाने के लिये यहां क्लिक करें