(दैनिक समसामयिकी और प्रिलिम्स बूस्टर) यूपीएससी और सभी राज्य लोक सेवा आयोग परीक्षाओं के लिए हिंदी में समाचार पत्रों का संकलन (13 जून 2020)

दैनिक समसामयिकी और प्रिलिम्स बूस्टर


(दैनिक समसामयिकी और प्रिलिम्स बूस्टर) यूपीएससी और सभी राज्य लोक सेवा आयोग परीक्षाओं के लिए हिंदी में समाचार पत्रों का संकलन (13 जून 2020)


:: राष्ट्रीय समाचार ::

‘सहकार मित्र: इंटर्नशिप कार्यक्रम पर योजना’

चर्चा में क्यों?

  • प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के ‘आत्मनिर्भर भारत’ बनाने के आह्वान, जिसमें स्‍वदेशी उत्‍पादों का गर्व से प्रचार करने पर विशेष जोर दिया गया है, को ध्यान में रखते हुए ‘सहकार मित्र: इंटर्नशिप कार्यक्रम पर योजना (सिप)’ का शुभारंभ केंद्रीय कृषि और किसान कल्याण मंत्री श्री नरेंद्र सिंह तोमर द्वारा कल किया गया। इस योजना की शुरुआत करते हुए श्री तोमर ने कहा कि अद्वितीय सहकारी क्षेत्र विकास वित्त संगठन ‘राष्ट्रीय सहकारी विकास निगम (एनसीडीसी)’ ने क्षमता विकास, युवाओं को सवेतन इंटर्नशिप और स्टार्ट-अप मोड में युवा सहकारी कार्यकर्ताओं को उदार शर्तों पर सुनिश्चित परियोजना ऋणों के माध्‍यम से सहकारी क्षेत्र संबंधी उद्यमिता विकास परिवेश में अनेक पहल की हैं।

योजना के लाभ

  • एनसीडीसी सहकारी क्षेत्र के लिए अभिनव समाधान प्रदान करने में अत्‍यंत सक्रिय रहा है। एनसीडीसी की अनेक पहलों की श्रृंखला में ‘सहकार मित्र: इंटर्नशिप कार्यक्रम पर योजना (सिप)’ नामक नई स्‍कीम से युवा प्रोफेशनलों को सवेतन इंटर्न के रूप में एनसीडीसी और सहकारी समितियों के कामकाज से व्यावहारिक अनुभव प्राप्‍त करने एवं सीखने का अवसर मिलेगा। एनसीडीसी ने स्टार्ट-अप सहकारी उद्यमों को बढ़ावा देने के लिए एक पूरक योजना भी शुरू की है। ‘सहकार मित्र’ योजना इसके साथ ही अकादमिक संस्थानों के प्रोफेशनलों को किसान उत्पादक संगठनों (एफपीओ) के रूप में सहकारी समितियों के माध्यम से नेतृत्व और उद्यमशीलता की भूमिकाओं को विकसित करने का भी अवसर प्रदान करेगी।
  • यह उम्‍मीद की जा रही है कि सहकार मित्र योजना सहकारी संस्थाओं को युवा प्रोफेशनलों के नए और अभिनव विचारों तक पहुंचने में मदद करेगी, जबकि इंटर्न को क्षेत्र यानी फील्‍ड में काम करने का अनुभव प्राप्‍त होगा जो उन्‍हें आत्मनिर्भर होने का विश्वास दिलाएगा। इसके सहकारी समितियों के साथ-साथ युवा प्रोफेशनलों के लिए भी लाभप्रद साबित होने की उम्मीद है।

भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण (NHAI)

चर्चा में क्यों?

  • सबसे बड़े सुधारों में से एक के रूप में, सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय के तहत भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण (एनएचएआई) यूनिक क्लाउड आधारित एवं आर्टिफिशल इंटेलीजेंस संचालित बिग डाटा एनालिटिक्स प्लेटफार्म-डाटा लेक एवं प्रोजेक्ट मैनेजमेंट साफ्टवेयर के लांच के साथ ‘पूरी तरह डिजिटल‘ हो गया है। इस प्रकार NHAI‘पूरी तरह डिजिटल‘ होने वाला पहला निर्माण क्षेत्र का संगठन बन गया है।
  • एडवांस एनालिटिक्स के साथ, डाटा लेक साफ्टवेयर विलंबों, संभावित विवाद का पूर्वानुमान लगायेगा एवं अग्रिम अलर्ट देगा। इस प्रकार, निर्णय निर्माण को त्वरित करने के अतिरिक्त, यह सटीक और सही समय पर निर्णय लिए जाने को भी सुगम बनायेगा क्योंकि सिस्टम द्वारा ऐतिहासिक डाटा पर आधारित विभिन्न विकल्पों के वित्तीय प्रभावों का अनुमान लगाने की संभावना है। इससे बहुत से विवादों में कमी आएगी।

पृष्ठभूमि

  • एनएचएआई का दावों एवं प्रतिदावों की भारी राशि के साथ बड़ी संख्या में लंबित पंचनिर्णय मामलों का इतिहास रहा है। अधिकांश विवाद प्रकृति में सामान्य रहे हैं जैसे ऋणभार मुक्त साइट की सुपुदर्गी में विलंब, यूटिलिटीज की शिफ्टिंग, प्लांट के निष्क्रिय प्रभार, मशीनरी, उपकरण, श्रमबल एवं निर्णय लेने में देरी आदि। इन विवादों को कम किया जा सकता है क्योंकि डाटा लेक सॉफ्टवेयर में इन सभी बाधाओं को ट्रैक करने एवं जांच करने का प्रावधान है और यह सुनिश्चित करेगा कि कार्य पारदर्शी तरीके से समयसीमा के भीतर संपन्न हो जायें। चूंकि सभी प्रक्रियायें पोर्टल आधारित होंगी, निर्णय निर्माण त्वरित गति से होगा एवं अंततोगत्वा भविष्य में मुकदमेबाजी की संभावना कम हो जाएंगी।

भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण (NHAI) के बारे में

  • भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण का गठन भारतीय राष्‍ट्रीय राजमार्ग अधिनियम 1988 “राष्ट्रीय राजमार्गों के विकास, अनुरक्षण और प्रबंध के लिए एक प्राधिकरण का गठन करने तथा उससे संबद्ध या उसके आनुषंगिक विषयों के लिए उपबंध करने हेतु अधिनियम” के द्वारा किया गया था।भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण (एनएचएआई) देश के राष्ट्रीय राजमार्ग के विकास, रखरखाव और प्रबंधन के लिए जिम्मेदार है।

जोजिला दर्रा

चर्चा में क्यों?

  • सरकार ने जम्मू-कश्मीर और लद्दाख केंद्र शासित प्रदेशों के बीच पूरे साल सड़क संपर्क बनाये रखने के लिये जोजिला दर्रे से 14.15 किलोमीटर लंबी सुरंग के निर्माण के लिये नयी निविदाएं मंगायी है। यह सुरंग परियोजना छह साल से अटकी हुई है। इस परियोजना का रणनीतिक महत्व है, क्योंकि जोजिला दर्रा श्रीनगर-कारगिल-लेह राष्ट्रीय राजमार्ग पर 11,578 फीट की ऊंचाई पर स्थित है और सर्दियों के दौरान भारी बर्फबारी के कारण बंद रहता है।

जोजिला दर्रा के बारे में

  • ज़ोजिला दर्रा श्रीनगर को कारगिल और लेह से जोड़ता है एवं यह जास्कर श्रेणी पर स्थित है |जोजिला दर्रा श्रीनगर-करगिल-लेह राष्ट्रीय राजमार्ग पर 11,578 फुट की ऊंचाई पर है जो सर्दी के मौसम में (दिसंबर से अप्रैल) भारी बर्फबारी और हिमस्खलन के कारण लेह-लद्दाख क्षेत्र कश्मीर से कटा रहता है।

:: अंतर्राष्ट्रीय समाचार ::

वेस्ट बैंक

  • अमेरिका में नियुक्त संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) के राजदूत ने जार्डन घाटी और वेस्ट बैंक के अन्य हिस्सों को कब्जे में लिये जाने के खिलाफ इजराइल को को चेतावनी देते हुए कहा कि यह कदम अरब देशों से संबंध बेहतर बनाने के इजराइल के प्रयासों को नुकसान पहुंचाएगा।यूएई के राजदूत युसूफ अल ओताइबा, अरब जगत के उन तीन राजदूतों में शामिल हैं जो अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप द्वारा जनवरी में पश्चिम एशिया योजना पेश किये जाने के कार्यक्रम में शरीक हुए थे।
  • उल्लेखनीय है कि वेस्ट बैंक पश्चिम एशिया के भूमध्य सागर तट के पास स्थित एक भू-आबद्ध क्षेत्र है। अल ओताइबा ने चेतावनी दी है कि जार्डन घाटी और अन्य इलाकों को अपने इलाके में मिलाने की इजराइल की प्रस्तावित योजना हिंसा भड़काएगी और चरमपंथ को बढ़ावा देगी।

क्या है पश्चिम एशिया योजना?

  • अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप द्वारा जनवरी में पश्चिम एशिया योजना पेश किया गया था।यह योजना इजराइल को वेस्ट बैंक के करीब 30 प्रतिशत हिस्से को अपने इलाके में मिलाने की अनुमति देती है। हालांकि, इसे फलीस्तीनियों ने फौरन ही खारिज कर दिया था।

क्या है वेस्ट बैंक विवाद?

  • 1967 में इसराइल ने हमला करके जॉर्डन से वह हिस्सा छीन लिया जिसे आज पश्चिमी तट या वेस्ट बैंक कहा जाता है. इज़राइल के पूर्व में इज़राइल-जॉर्डन सीमा पर स्थित वेस्ट बैंक लगभग 6,555 वर्ग किमी. के भू-भाग में फैला है। जॉर्डन नदी के पश्चिमी तट पर स्थित होने की वजह से इसे वेस्ट बैंक कहा जाता है।
  • फिलीस्तीन वेस्ट बैंक, पूर्वी येरुशलम और गाजा पट्टी को साथ मिलाकर एक देश बनाना चाहता है, लेकिन इजरायल वेस्ट बैंक, पूर्वी येरुशलम पर अपना दावा करता है। इजरायल अब चार लाख यहूदियों की बस्ती का विस्तार कर उसे अपने अधिकार में लेना चाहता है। वेस्ट बैंक की बात करें, तो इजरायल की ओर से यहां पर लाखों यहूदियों को बसाया जा चुका है, लेकिन इस हिस्से में करीब 25 लाख फिलीस्तीनी लोग रहते हैं।

H -1 B वीजा

चर्चामेंक्यों :-

  • अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प एक मीडिया रिपोर्ट के अनुसार कोरोन वायरस महामारी के कारण अमेरिका में बड़े पैमाने पर बेरोजगारी को ध्यान में रखते हुए भारतीय आईटी पेशेवरों के बीच सबसे अधिक मांगवाले एच - B वीजा सहित कई रोजगार वीजा को निलंबित करने पर विचार कर रहे हैं ।

पृष्ठभूमि

  • 2008 की मंदी के उपरांत ही अमेरिका सहित कई विकसित देशों में संरक्षणवाद की मांग आरम्भ हो गई थी । कोरोना वायरस से उत्पन्न बेरोजगारी संकट में अमेरिका फर्स्ट की नीति के अंतर्गत यह कदम उठाया गया है ।
  • कोरोना वायरस की महामारी उपरान्त अमेरिका में बेरोजगारी शीर्ष पर है जिससे स्थानीय लोगों को रोजगार बढाने हेतु इस कवायद की शुरूआत की गयी है

H-1B वीजा क्या है?

  • एच-1 बी आव्रजन और राष्ट्रीयता अधिनियम, धारा 101 (ए) (15) (एच) के तहत संयुक्त राज्य में एक वीजा है जो अमेरिकी नियोक्ताओं को विदेशी कर्मचारियों को अस्थायी रूप से विशेष व्यवसायों में नियोजित करने की अनुमति देता है ।
  • इसको प्राप्त करने के लिए एक विशेष व्यवसाय में पेशेवर ज्ञान के साथ स्नातक की डिग्री या कार्य अनुभव के समकक्ष की आवश्यकता होती है । इसमें रहने की अवधि तीन साल है,जो छह साल तक बढ़ाई जा सकती है; जिसके बाद वीजा धारक को फिर से आवेदन करना पड़ सकता है ।

कोविड-19 एंड चाइल्ड लेबर: एक टाइम ऑफ क्राइसिस, ए टाइम टू एक्ट' रिपोर्ट

चर्चा में क्यों?

  • अंतरराष्ट्रीय बालश्रम निषेध दिवस के मौके पर अंतरराष्ट्रीय श्रम संगठन (आइएलओ) और यूनिसेफ ने 'कोविड-19 एंड चाइल्ड लेबर: एक टाइम ऑफ क्राइसिस, ए टाइम टू एक्ट' रिपोर्ट जारी की।

रिपोर्ट से जुड़ें मुख्य तथ्य

  • भारत, ब्राजील और मैक्सिको जैसे देशों में कोविड-19 महामारी के कारण लाखों और बच्चे बाल श्रम की ओर धकेले जा सकते हैं।
  • इसके मुताबिक, वर्ष 2000 से बाल श्रमिकों की संख्या 9.4 करोड़ तक कम हो गई। लेकिन अब यह सफलता जोखिम में है।
  • कोविड-19 संकट के कारण लाखों बच्चों को बाल श्रम में धकेले जाने की आशंका है। ऐसा होता है तो बीस साल में यह पहली बार है जब बाल श्रमिकों की संख्या में इजाफा होगा।
  • जो बच्चे पहले से बाल श्रमिक हैं उन्हें और लंबे वक्त तक या और अधिक खराब परिस्थतियों में काम करना पड़ सकता है और उनमें से कई तो ऐसी परिस्थितियों से गुजर सकते हैं जिससे उनकी सेहत और सुरक्षा को बड़ा खतरा होगा।
  • रिपोर्ट में कहा गया कि जब परिवारों को और अधिक वित्तीय सहायता की जरूरत होती है तो वे बच्चों की मदद लेते हैं। इसमें कहा गया, ‘‘ब्राजील में माता-पिता का रोजगार छिनने पर बच्चों को अस्थायी तौर पर मदद देने के लिए आगे आना पड़ा। ग्वाटेमाला, भारत, मैक्सिको तथा तन्जानिया में भी ऐसा देखने को मिला।’’
  • वैश्विक महामारी के कारण स्कूलों के बंद होने से भी बाल श्रम बढ़ा है। एजेंसियों ने कहा कि स्कूलों के अस्थायी तौर पर बंद होने से 130 से अधिक देशों में एक अरब से अधिक बच्चे प्रभावित हो रहे हैं।
  • ‘जब कक्षाएं शुरू होंगी तब भी शायद कुछ अभिभावक खर्चा उठाने में सक्षम नहीं होने के कारण बच्चों को स्कूल नहीं भेज पाएंगे।’’ रिपोर्ट के अनुसार, इसका परिणाम यह होगा कि और ज्यादा बच्चे अधिक मेहनत तथा शोषण वाले काम करने को मजबूर होंगे।
  • लैंगिक असमानता और विकट हो जाएगी तथा घरेलू काम और कृषि में लड़कियों का शोषण और बढ़ जाएगा।

:: अर्थव्यवस्था ::

5 उर्वरक संयंत्रों की पुनरुद्धार योजना

चर्चा में क्यों?

  • केंद्रीय रसायन और उर्वरक राज्य मंत्री श्री मनसुख मांडविया ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए 5 उर्वरक संयंत्रों के पुनरुद्धार की प्रगति पर उर्वरक विभाग के अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक की।
  • इनमें हिंदुस्तान उर्वरक रसायन लिमिटेड (एचयूआरएल): गोरखपुर, बरौनी और सिंदरी, रामागुंडम फर्टिलाइजर्स एंड केमिकल्स लिमिटेड (आरएफसीएल) और तलचर फर्टिलाइजर्स लिमिटेड (टीएफएल) शामिल हैं।

पृष्ठभूमि

  • भारत सरकार ने यूरिया क्षेत्र में नए निवेश को बढ़ाने और यूरिया क्षेत्र में भारत को आत्मनिर्भर बनाने के लिए नई निवेश नीति (एनआईपी), 2012 की घोषणा की थी। एनआईपी, 2012 के तहत, भारत सरकार (जीओआई) भारतीय उर्वरक निगम लिमिटेड (एफसीआईएल) और हिंदुस्तान उर्वरक निगम लिमिटेड (एचएफसीएल) के उपरोक्त 5 बंद पड़े उर्वरक संयंत्रों को पुनर्जीवित कर रही है। सार्वजनिक क्षेत्र की जिन इकाइयों का पुनरुद्धार किया जा रहा है, उनमेंरामागुंडम फर्टिलाइजर्स एंड केमिकल्स लिमिटेड (आरएफसीएल), तलचर फर्टिलाइजर्स लिमिटेड (टीएफएल), हिंदुस्तान उर्वारक एवं रसायन लिमिटेड (गोरखपुर, बरौनी और सिंदरी) शामिल हैं।

बैड बैंक

चर्चा में क्यों?

  • मुख्य आर्थिक सलाहकार (सीईए) कृष्णमूर्ति सुब्रमण्यन ने कहा कि बैंकिंग क्षेत्र में अवरुद्ध ऋण (एनपीए) के संकट को दूर करने के लिये एनपीए जमा करने वाले बैड बैंक का गठन कोई कारगर रास्ता शायद ही दे सके।
  • सुब्रमण्यन ने कहा कि जब कोई बैंक एनपीए बेचता है, तो उसे नुकसान (हेयरकट) उठाना पड़ता है। उन्होंने उदाहरण देते हुए कहा कि जब 100 रुपये एनपीए हो जाते हैं, तो इसके बदले जिस वास्तविक राशि की उम्मीद की जा सकती है, वह 100 से कम होती है। ‘‘इसलिये जब बैंक को उस ऋण को एसेट रिकंस्ट्रक्शन कंपनी को या किसी नयी संस्था को बेचना होता है, तो उस स्थिति में उसे हेयरकट लेना पड़ता है। जब वह हेयरकट लेता है, तो यह लाभ एवं हानि के खाते को प्रभावित करेगा। यह ऋणों की बिक्री को प्रभावित करने वाले प्रमुख पहलुओं में से एक है। अत: जब तक इस विशेष पहलू को सही नहीं किया जाता है, एक नयी संरचना का निर्माण समस्या का हल निकालने में खास प्रभावी नहीं हो सकता है।’’
  • अभी भारतीय रिजर्व बैंक के मानदंडों के अनुसार, बैंक एआरसी को अपने खराब ऋण बेचते हैं। अभी 28 एआरसी हैं और उनका काम बैंकों से खराब ऋण लेना और बैड बैंक के रूप में कार्य करना है।

पृष्ठभूमि

  • सरकार ने 2016 में एक बैड बैंक स्थापित करने का विचार सामने रखा था। यहां तक कि 2017 की आर्थिक समीक्षा में भी इस तरह का प्रस्ताव किया गया था।
  • इस महीने की शुरुआत में वित्तीय क्षेत्र के नियामक एफएसडीसी की बैठक में भी बैड बैंक के विचार पर चर्चा हुई थी। बैंकिंग क्षेत्र के उद्यमी उदय कोटक ने कहा था कि बढ़ते एनपीए की समस्या से निपटने के लिये बैड बैंक की स्थापना एक अच्छा विचार नहीं है। जब तक पारदर्शिता और वसूली दर जैसे कुछ प्रमुख पहलुओं पर ध्यान नहीं दिया जाता है, तब तक वांछित परिणाम नहीं मिलेंगे।

क्या था बैड बैंक का कांसेप्ट ?

  • बैंकों पर गैर निष्पादित आस्तियों (एनपीए) के दबाव को कम करने के लिए आर्थिक समीक्षा 2017 में इसका प्रस्ताव किया गया था। इसमें सार्वजनिक क्षेत्र संपत्ति पुनर्वास एजेंसी (पारा) के नाम से बैड बैंक के गठन का सुझाव दिया गया था। बैंक काफी समय से बैड बैंक के गठन की वकालत कर रहे हैं, जिससे मुश्किल समय में उनपर डूबे कर्ज का दबाव कम हो सके।

भोगपुरम अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा

  • विशाखापत्तनम के पास भोगपुरम अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे के विकास के लिए परियोजना की डेवलपर जीएमआर एयरपोर्ट्स लि. के साथ रियायती करार पर हस्ताक्षर किए। इससे पहले चार मार्च को वाई एस जगन मोहन रेड्डी मंत्रिमंडल ने जीएमआर ग्रुप को सार्वजनिक-निजी भागीदारी मॉडल में इस हवाई अड्डे के विकास की अनुमति देते हुए जीएमअर की ‘सबसे ऊंची’बोली को स्वीकार कर लिया था। हालांकि, जीएमआर को प्रस्तावित 2,703 एकड़ के बजाय सिर्फ 2,200 एकड़ जमीन दी जाएगी। राज्य सरकार ने शेष जमीन पर खुद विकास करने का फैसला किया है। ताजा विकास मॉडल के तहत जीएमआर ने सरकार को प्रति यात्री 303 रुपये का शुल्क (पीपीएफ) देने की पेशकश की है।

:: विविध ::

“विश्व बाल श्रम निषेध दिवस” (World Day Against Child Labour)

  • बाल श्रम जैसी वैश्विक चुनौती से निपटने के लिए हर साल 12 जून को “विश्व बाल श्रम निषेध दिवस” (World Day Against Child Labour) मनाया जाता है। 2020 के “विश्व बाल श्रम निषेध दिवस” का विषय – “Protect children from child labour, now more than ever!” है।

विश्व खाद्य पुरस्कार 2020

  • प्रख्यात भारतीय-अमेरिकी मृदा वैज्ञानिक डॉ रतन लाल, जिन्होंने प्रतिष्ठित विश्व खाद्य पुरस्कार 2020 जीता है। विश्व खाद्य पुरस्कार को कृषि के लिए नोबेल पुरस्कार के बराबर माना है।डॉ रतन लाल को छोटे किसानों की मिट्टी की सेहत सुधारने में मदद करके वैश्विक खाद्य आपूर्ति बढ़ाने में उनके योगदान को मान्यता दी गई थी।

उर्दू कवि गुलजार देहलवी का निधन

  • कोविड-19 संक्रमण से उबरने के पांच दिन बाद वरिष्ठ उर्दू शायर आनंद मोहन जुत्शी उर्फ गुलजार देहलवी का शुक्रवार दोपहर को निधन हो गया।वह एक माह बाद आयु के 94 वर्ष पूरा करने वाले थे । पुरानी दिल्ली के गली कश्मीरियां में 1926 में जन्मे स्वतंत्रता सेनानी और जाने-माने ‘इंकलाबी’ कवि देहलवी भारत सरकार द्वारा 1975 में प्रकाशित पहली उर्दू विज्ञान पत्रिका ‘साइंस की दुनिया’ के संपादक भी रह चुके हैं।

2028 ओलंपिक में शीर्ष 10 में रहना लक्ष्य: रीजीजू

  • खेल मंत्री किरेन रीजीजू ने शुक्रवार को कहा कि वह 2028 के लॉस एंजिलिस ओलंपिक की पदक तालिका में भारत को शीर्ष 10 में देखना चाहते हैं।रीजीजू ने कहा, यह लक्ष्य मैंने भारतीय ओलंपिक संघ और सभी राष्ट्रीय खेल महासंघों के साथ मिल कर तय किया है। इसके लिए हमने कुछ योजनाओं और रणनीतियों पर काम किया है।’’
  • कोविड-19 महामारी के कारण 2020 के तोक्यो ओलंपिक को 2021 तक के लिए स्थगित कर दिया गया है। इसके बाद 2024 ओलंपिक की मेजबानी पेरिस करेगा जबकि 2028 की मेजबानी की अधिकारी लास एंजिलिस को मिला है।भारत 2024 खेलों में बेहतर प्रदर्शन करेगा, लेकिन ज्यादा ध्यान 2028 सत्र पर होगा।
  • भारत को ओलंपिक में सफल होने की आवश्यकता है और इसीलिए देश में खेल संस्कृति की शुरुआत की हैं। जिसमें विभिन्न प्रकार की सहायता प्रणाली और जमीनी स्तर पर प्रेरणा के अलावा ‘खेलों इंडिया’, ‘ फिट इंडिया’ जैसे पहल की गयी है।’’

:: प्रिलिम्स बूस्टर ::

  • युवा प्रोफेशनलों को सवेतन इंटर्न के रूप में एनसीडीसी और सहकारी समितियों में व्यावहारिक अनुभव हेतु किस योजना को प्रारंभ किया गया है है? (सहकार मित्र: इंटर्नशिप कार्यक्रम पर योजना -सिप)
  • हाल ही में चर्चा में रहे प्रतिष्ठित ‘विश्व खाद्य पुरस्कार 2020’ किसे प्राप्त हुआ एवं इन्हें किस क्षेत्र में ख्याति प्राप्त है? (भारतीय-अमेरिकी मृदा वैज्ञानिक डॉ रतन लाल, मृदा विज्ञान)
  • प्रतिवर्ष किस तिथि को “विश्व बाल श्रम निषेध दिवस” मनाया जाता है एवं इस वर्ष के इस दिवस की थीम क्या है? (12 जून , “Protect children from child labour, now more than ever!”)
  • पुनरुद्धार कार्यों की समीक्षा से चर्चा में रहे यूरिया में आत्मनिर्भरता हेतु नई निवेश नीति, 2012 के तहत किन उर्वरक संयंत्र का पुनरुद्धार किया जा रहा है? (रामागुंडम, तलचर,गोरखपुर, बरौनी और सिंदरी)
  • मुख्य आर्थिक सलाहकार कृष्णमूर्ति सुब्रमण्यन उल्लेख करने से चर्चा में रहे ‘बैड बैंक’ की स्थापना का प्रस्ताव आर्थिक समीक्षा 2017 में किस उद्देश्य हेतु दिया गया था? (एनपीए ऋण के प्रबंधन हेतु)
  • हाल ही में जीएमआर ग्रुप द्वारा हुए समझौते से चर्चा में रहे अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे ‘भोगपुरम’ की स्थापना कहां की जा रही है? (विशाखापट्टनम के पास आंध्र प्रदेश)
  • खेल मंत्री रीजीजू ने भारतीय ओलंपिक संघ के साथ किस वर्ष तक ओलंपिक में शीर्ष 10 ओलंपिक राष्ट्रों में शामिल होने का लक्ष्य रखा है एवं इस ओलंपिक का आयोजन कहां होगा? (2028, लास एंजिलिस)
  • किन संस्थाओं ने विश्व बाल श्रम निषेध दिवस पर 'कोविड-19 एंड चाइल्ड लेबर: एक टाइम ऑफ क्राइसिस, ए टाइम टू एक्ट' रिपोर्ट जारी की है? (अंतरराष्ट्रीय श्रम संगठन और यूनिसेफ)
  • सरकार द्वारा सुरंग निर्माण हेतु निविदा मंगाने से चर्चा में रहे ‘जोजिला दर्रा’ किन दो स्थानों का आपस में जोड़ती हैं? (जम्मू कश्मीर को लद्दाख से, श्रीनगर-कारगिल-लेह राष्ट्रीय राजमार्ग पर अवस्थित)
  • संयुक्त अरब अमीरात द्वारा टिप्पणी से चर्चा में रहे ‘पश्चिम एशिया योजना’ क्या है एवं इसको किसने प्रस्तुत की थी? (बेस्ट बैंक के 30% इलाके को इजराइल में शामिल करने से, डोनाल्ड ट्रंप)
  • डोनाल्ड ट्रंप के द्वारा निलंबित करने की आशंका से चर्चा में रहे ‘H1B’वीजा को अमेरिका किन्हे जारी किया जाता है? (उच्च कौशल/ पेशेवर क्षमता वाले विदेशियों को)
  • हाल ही में चर्चित शख्सियत का निधन हो गया जिनकी उपलब्धि एक प्रसिद्ध स्वतंत्रता सेनानी, उर्दू विज्ञान पत्रिका के संपादक एवं वरिष्ठ उर्दू शायर के रूप में थी? (आनंद मोहन जुत्शी उर्फ गुलजार देहलवी)

स्रोत साभार: Dainik Jagran (Rashtriya Sanskaran), Dainik Bhaskar (Rashtriya Sanskaran), Rashtriya Sahara (Rashtriya Sanskaran) Hindustan Dainik (Delhi), Nai Duniya, Hindustan Times, The Hindu, BBC Portal, The Economic Times (Hindi & English), PTI, PIB

<< मुख्य पृष्ठ पर वापस जाने के लिये यहां क्लिक करें