(दैनिक समसामयिकी और प्रिलिम्स बूस्टर) यूपीएससी और सभी राज्य लोक सेवा आयोग परीक्षाओं के लिए हिंदी में समाचार पत्रों का संकलन (10 अगस्त 2019)

दैनिक समसामयिकी और प्रिलिम्स बूस्टर


(दैनिक समसामयिकी और प्रिलिम्स बूस्टर) यूपीएससी और सभी राज्य लोक सेवा आयोग परीक्षाओं के लिए हिंदी में समाचार पत्रों का संकलन (10 अगस्त 2019)


:: राष्ट्रीय समाचार ::

भारत रत्न सम्मान

  • देश के सर्वोच्च नागरिक सम्मान भारत रत्न से पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी, दिवंगत भारतीय जनसंघ के नेता नानाजी देशमुख और दिवंगत गायक भूपेन हजारिका को नवाजा गया है। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने गुरुवार को राष्ट्रपति भवन में आयोजित एक भव्य समारोह में प्रणब मुखर्जी, भूपेन हजारिका के बेटे तेज और देशमुख के करीबी रिश्तेदार विक्रमजीत सिंह को भारत रत्न से सम्मानित किया।
  • हजारिका और देशमुख को यह सर्वोच्च सम्मान मरणोंपरांत मिला है। भारत रत्न सम्मान चार साल के अंतराल के बाद दिया जा रहा है। इससे पहले, 2015 में नरेंद्र मोदी सरकार ने पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी और बनारस हिंदू विश्वविद्यालय (BHU) के संस्थापक मदन मोहन मालवीय को भारत रत्न से नवाजा था। मोदी सरकार ने विगत जनवरी में इस पुरस्कार की घोषणा की थी। इन तीन हस्तियों के साथ ही अब 48 प्रख्यात लोगों को भारत रत्न पुरस्कार मिल चुका है।

प्रधानमंत्री किसान मान-धन योजना (पीएम-केएमवाई) योजना

  • प्रधानमंत्री किसान मान-धन योजना (पीएम-केएमवाई) के लिए रजिस्ट्रेशन का काम शुक्रवार से शुरू हो गया है। सरकार ने आम बजट में इस योजना की घोषणा की थी। इस योजना में शमिल किसानों को 60 साल की आयु पूरी करने पर 3,000 रुपये महीने की पेंशन मिलेगी। अगर किसान की मृत्यु हो जाती है तो उसकी पत्नी को 1,500 रुपये की मासिक पेंशन मिलेगी।

प्रधानमंत्री किसान मान-धन योजना से जुड़े महत्वपूर्ण तथ्य

  • यह योजना जम्मू-कश्मीर और लद्दाख सहित पूरे देश में लागू की जाएगी।
  • जिस किसान के पास दो हेक्टेयर तक कृषि भूमि होगी वे इस योजना के पात्र होंगे।
  • 18 से 40 वर्ष की आयु के किसानों के लिए यह एक स्वैच्छिक और योगदान आधारित पेंशन योजना है
  • 60 साल की उम्र तक पेंशन कोष में किसानों को योजना में शामिल होते समय उनकी उम्र के आधार पर 55 से 200 रुपये का मासिक योगदान देना होगा।
  • 18 वर्ष की आयु में योजना में शामिल होने वाले किसान को 55 रुपये और 40 की उम्र में योजना में आने वाले किसान को 200 रुपये की मासिक किस्त देनी होगी।
  • पति अथवा पत्नी अलग-अलग भी 3,000 रुपये की पेंशन प्राप्त करने के हकदार होंगे, लेकिन उन्हें पेंशन कोष में अलग से योगदान करना होगा।
  • 60 साल की आयु पूरी होने से पहले किसान की मृत्यु की स्थिति में पति अथवा पत्नी योजना को जारी रख सकते हैं।
  • अगर किसान की 60 वर्ष की आयु के बाद मृत्यु हो जाती है, तो पति या पत्नी को पारिवारिक पेंशन के रूप में 50 फीसद यानी 1,500 रुपये की मासिक पेंशन मिलेगी।
  • लाभार्थी स्वैच्छिक रूप से पांच वर्षों के नियमित योगदान के बाद योजना से बाहर निकलने का विकल्प चुन सकते हैं।
  • बाहर निकलने पर उनकी पूरा योगदान राशि को पेंशन कोष प्रबंधक जीवन बीमा निगम (एलआईसी) की ओर से बचत बैंक दरों के अनुरूप ब्याज के साथ वापस किया जाएगा।

'पर्यावरण महाकुंभ'

  • उत्तर प्रदेश सरकार ने इसे पौधारोपण अभियान की संज्ञा दे रखी थी, लेकिन लोगों के जोश-खरोश और भागीदारी ने शुक्रवार को क्रांति दिवस पर इसे 'पर्यावरण महाकुंभ' का रूप दे दिया। राज्यपाल ने कासगंज में 'पारिजात' का पौधा रोपा, तो मुख्यमंत्री ने लखनऊ में इस अभियान का शुभारंभ किया और प्रयागराज में गिनीज बुक ऑफ वल्र्ड रिकार्ड समेत कई कीर्तिमानों के साक्षी बने।
  • सरकार ने अपना लक्ष्य 22 करोड़ पौधारोपण का शाम पांच बजे ही हासिल कर लिया था। उसके बाद भी रोपण का सिलसिला चलता रहा। रात दस बजे तक प्रदेश में 22.59 करोड़ पौधे रोपे गए।
  • मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने राजधानी के जैतीखेड़ा गांव से इस अभियान का शुभारंभ किया। उन्होंने घोषणा की कि प्रदेश में जो भी वृक्ष सौ वर्ष की आयु से अधिक के हैं, उन्हें हेरिटेज का दर्जा दिया जाएगा। इस आयोजन को डिजिटल मैपिंग से जोड़ा गया है। जियो टैगिंग की भी व्यवस्था की गई है।

ये रिकार्ड बनाए

  1. प्रयागराज में एक स्थान से निश्चित समय में 66 हजार पौधे वितरित
  2. पहले एक घंटे 9-10 बजे के बीच प्रदेश में हुआ पांच करोड़ पौधारोपण
  3. एक स्थान पर राज्यपाल के सानिध्य में कासगंज में लगे 1.01 लाख पौधे
  4. कुंभ में आए 24 करोड़ श्रद्धालुओं के नाम पर लगाए जा रहे 24 करोड़ पौधे

भारत की पहली अंडर वॉटर ट्रेन

  • आने वाले दिनों ट्रेनें पानी के नीचे भी दौड़ेंगी। ऐसा देश में पहली बार होगा, जब ट्रेनें अंडर वॉटर चलेंगी। जल्द ही पश्चिम बंगाल के कोलकाता शहर स्थित हुगली नदी के नीचे ट्रेनें रफ्तार भरेंगी। ये न सिर्फ शहरवासियों को बेहतर परिवहन व्यवस्था और एक नया विकल्प मुहैया कराएंगी बल्कि उनका कीमती समय भी बचाएंगी।
  • हुगली नदी के नीचे अप और डाउन लाइन की दो ट्रांसपोर्ट सुरंगे बनवा ली हैं। ये रूट लगभग 16 किलोमीटर लंबा है, जो कि सॉल्ट लेक सेक्टर पांच से हावड़ा मैदान तक को कवर करेगा।इस रूट के तहत फेज-1 में सॉल्ट लेक सेक्टर-5 से सॉल्ट लेक स्टेडियम तक का रूट निर्धारित है, जो कि पांच किमी लंबा होगा।

स्तनपान के सन्दर्भ में राष्ट्रीय परिवार स्वास्थ्य सर्वे की रिपोर्ट

  • केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की एक रिपोर्ट में यह खुलासा हुआ है कि दिल्ली और यूपी देश के सबसे फिसड्डी राज्य हैं। जहां ममता के आंचल तक तो शिशु पहुंचता है लेकिन स्तनपान नहीं कर सकता। यही स्थिति उत्तर भारत के सभी राज्यों की है।
  • रिपोर्ट में 28 राज्य व 3 केंद्र शासित प्रदेशों की रैंकिंग जारी की गई है। इसमें सबसे निचले पायदान 31 वें स्थान पर यूपी और 30 वें स्थान पर दिल्ली है। रिपोर्ट में इन राज्यों को क्रमश: 10 में से 3.32 व 3.77 अंक मिले हैं। पहला रैंक मणिपुर का है, जिसे 7.27 अंक मिले हैं।
  • रिपोर्ट के अनुसार दिल्ली में करीब 84.4 फीसदी प्रसव अस्पतालों में हो रहे हैं। बावजूद इसके 39.34 फीसदी सरकारी अस्पतालों में ही नवजात शिशुओं के स्तनपान पर जोर दिया जा रहा है। जबकि महज 17.03 फीसदी निजी अस्पतालों में नवजात को दूध पिलाने के लिए मां को सौंपा जाता है।
  • राष्ट्रीय परिवार स्वास्थ्य सर्वे-4 के आधार पर तैयार हुई रिपोर्ट के मुताबिक दिल्ली में जन्म के पहले एक घंटे के भीतर केवल 28 फीसदी माताएं ही अपने बच्चे को दूध पिला रही हैं। जबकि 0 से 6 माह तक 49.6 फीसदी और 6 से 9 माह के बीच 35.4 फीसदी माताओं ने ही स्तनपान कराया।

‘समग्र शिक्षा-जल सुरक्षा’

केन्द्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री श्री रमेश पोखरियाल ‘निशंक’ और केन्द्रीय जल शक्ति मंत्री श्री गजेन्द्र सिंह शेखावत ने शुक्रवार को ‘समग्र शिक्षा-जल सुरक्षा’ अभियान का शुभारंभ किया।

अभियान के पांच प्रमुख उद्देश्य हैं:

  • विद्यार्थियों को जल संरक्षण के बारे में शिक्षित करना
  • विद्यार्थियों को पानी की कमी के बारे में जागरूक करना
  • प्राकृतिक जल संसाधनों की रक्षा करने के लिए विद्यार्थियों को सशक्त बनाना
  • प्रत्येक विद्यार्थी को प्रति दिन एक लीटर पानी बचाने में सहायता करना
  • विद्यार्थियों को अपने घर और विद्यालय में पानी की न्यूनतम बर्बादी और उचित मात्रा में प्रयोग करने के लिए प्रोत्साहित करना

लक्ष्य

  • एक विद्यार्थी - एक दिन - एक लीटर पानी की बचत
  • एक विद्यार्थी - एक साल - 365 लीटर पानी की बचत
  • एक विद्यार्थी - 10 साल - 3650 लीटर पानी की बचत

पूरे देश में रोटावायरस टीके का विस्तार

  • केन्द्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने पूरे देश में रोटावायरस टीके के विस्तार पर कहा कि स्वास्थ्य मंत्रालय ने नव-निर्वाचित सरकार के 100 दिनों के एजेंडे के तहत एक महत्वाकांक्षी योजना तैयार की है, जिसमें सितंबर, 2019 तक देश के सभी 36 राज्यों/केन्द्र शासित प्रदेशों में प्रत्येक बच्चे को रोटावायरस टीका दिया जाएगा। सरकार 2022 तक डायरिया के कारण बच्चों की रुगण्ता और मौत में कमी लाने के लिए दृढ़प्रतिज्ञ है।
  • भारत में, प्रत्येक वर्ष 1000 बच्चों में से 37 बच्चे अपना 5वां जन्मदिन नहीं देख पाते और डायरिया से होने वाली मौतें इसका प्रमुख कारण है। डायरिया के सभी कारणों में से, रोटावायरस 5 वर्ष से कम उम्र के बच्चों में डायरिया का एक प्रमुख कारण है। एक अनुमान के अनुसार, भारत में प्रति वर्ष रोटावायरस के कारण अस्पताल में भर्ती के 8,72,000 मामले, बाह्य रोगियों के 32,70,000 मामले और मौतों के 78,000 मामले होते हैं।

पृष्ठभूमि

  • रोटावायरस टीका को चरणबद्ध रूप से 2016 में 4 राज्यों में शुरू किया गया था और बाद में 2018 के अंत तक कुल 11 राज्यों में इसका विस्तार किया था। फिलहाल 17 अन्य राज्यों तक इसका विस्तार किया गया है। अब रोटावायरस टीका देश के 28 राज्यों/केन्द्र शासित प्रदेशों- आंध्र प्रदेश, हरियाणा, हिमाचल प्रदेश, झारखंड, ओडिशा, असम, त्रिपुरा, राजस्थान, तमिलनाडु, मध्य प्रदेश, उत्तर प्रदेश, मणिपुर, दमन और दीव, गुजरात, बिहार, सिक्किम, अरुणाचल प्रदेश, छत्तीसगढ़, महाराष्ट्र, दादरा और नगर हवेली, गोवा, चंडीगढ़, नागालैंड, दिल्ली, मिजोरम, पंजाब, उत्तराखंड, और अंडमान और निकोबार द्वीप समूह में उपलब्ध है।
  • सिंतबर, 2019 तक देश के सभी 36 राज्यों/केन्द्र शासित प्रदेशों में इस टीके के उपलब्ध होने की आशा है।

अंतर्राष्‍ट्रीय इलेक्ट्रिक वाहन सम्‍मेलन

  • भारी उद्योग एवं सार्वजनिक उद्यम राज्‍य मंत्री श्री अर्जुन राम मेघवाल ने आज गुरुग्राम के मानेसर स्थित अंतर्राष्‍ट्रीय ऑटोमोटिव प्रौद्योगिकी केन्द्र (आईसीएटी) में आयोजित तीसरे अंतर्राष्ट्रीय इलेक्ट्रिक वाहन (ईवी) सम्मेलन का उद्घाटन किया। इस सम्‍मेलन के आयोजन का मुख्‍य उद्देश्‍य एक ज्ञान साझेदारी प्‍लेटफॉर्म का सृजन करना था, ताकि ऑटोमोटिव क्षेत्र में सभी स्‍तरों पर सूचनाओं का प्रवाह सुनिश्चित किया जा सके।

विश्व जनजाति दिवस पर राजस्थान में ‘लेदर मिशन’ और हनी मिशन

  • खादी एवं ग्रामोद्योग आयोग (केवीआईसी) ने विश्व जनजाति दिवस पर राजस्थान के जनजाति बहुल सिरोही जिले में 50 लेदर-किट और मधुमक्खी पालन के लिए 350 बी-बॉक्स वितरित किए। उल्लेखनीय है कि सिरोही जिला नीति आयोग द्वारा चिह्नित भारत के आकांक्षी जिलों में शामिल है।
  • विश्व जनजाति दिवस पर जनजाति बहुल गांव चंडेला से ‘लेदर मिशन’ नामक नया कार्यक्रम शुरू किया जा रहा है। इस नए कार्यक्रम के तहत केवीआईसी देश भर में चमड़ा दस्तकारों को लेदर-किट वितरित करेगी। इससे न केवल उनकी आय कई गुना बढ़ेगी, बल्कि उन पारंपरिक चर्म दस्तकारों को प्रेरणा भी मिलेगी, जो अपना पारंपरिक कौशल छोड़कर अन्य काम-धंधों की तलाश में बाहर चले गए हैं।
  • समारोह में मधुमक्खी पालन के लिए 350 बी-बॉक्स वितरित किए गए। हनी मिशन ने किसानों, अनुसूचित जातियों/ अनुसूचित जनजातियों और बेरोजगार युवाओं के जीवन में भारी बदलाव किया है। अब तक केवीआईसी ने देशभर में सीमांत समुदायों के बीच 1.15 लाख से अधिक बी-बॉक्स वितरित किए हैं। इससे 11,500 से अधिक लोगों को रोजगार मिला है। इस कदम से न केवल मधुमक्खी पालकों की आय में इजाफा हुआ है, बल्कि मधुमक्खियों द्वारा पराग-कण एक स्थान से दूसरे स्थान पर ले जाने के कारण फसल उत्पादन में भी 30 प्रतिशत तक की वृद्धि हुई है।

‘एक राष्‍ट्र, एक राशन कार्ड’

  • श्री रामविलास पासवान ने आज ‘एक राष्‍ट्र, एक राशन कार्ड’ के लक्ष्‍य की प्राप्ति की दिशा में एक महत्‍वपूर्ण कदम उठाते हुए आंध्र प्रदेश एवं तेलंगाना और गुजरात व महाराष्‍ट्र के दो क्लस्टरों में ‘अंतर-राज्‍य राशन वितरण’ का शुभारंभ किया। इससे दोनों ही क्लस्टरों के लाभार्थी संबंधित दोनों राज्‍यों में से किसी भी राज्‍य में राष्‍ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम के तहत मिलने वाले लाभ को प्राप्‍त कर सकेंगे।
  • श्री पासवान ने अंतर-राज्‍य पोर्टेबिलिटी या अंतर-राज्‍य राशन वितरण का शुभारंभ करने के बाद बताया कि आज राष्‍ट्रीय स्‍तर पर राशन कार्डों की पोर्टेबिलिटी का शुभारंभ हो गया है। इसकी शुरुआत इन दोनों राज्‍य क्‍लस्‍टरों से हुई है।
  • कम्‍प्‍यूटरीकरण योजना के त‍हत हुई प्रगति से लाभ उठाने के बाद 11 राज्‍यों/केंद्र शासित प्रदेशों यथा आंध्र प्रदेश, गुजरात, हरियाणा, झारखंड, कर्नाटक, केरल, महाराष्ट्र, पंजाब, राजस्थान, तेलंगाना और त्रिपुरा ने अपने यहां सार्वजनिक वितरण प्रणाली की किसी भी दुकान से कार्डधारकों को निर्दिष्‍ट राशन या खाद्यान दिलाने के लिए राशन कार्डों की इंट्रा-स्‍टेट पोर्टेबिलिटी को कार्यान्वित कर दिया है। इसके अलावा यह परिकल्‍पना की गई है कि अंतर-राज्‍य पोर्टेबिलिटी को उन 11 राज्‍यों में 1 जनवरी, 2020 से शुरू कर दिया जाएगा जो पहले ही अपने यहां इंट्रा-स्‍टेट पोर्टेबिलिटी को लागू कर चुके हैं।
  • अन्‍य राज्‍य/केंद्र शासित प्रदेश अंतर-राज्‍य पोर्टेबिलिटी की तैयारियां पहले ही कर ली हैं वहां इसे चरणबद्ध ढंग से लागू किया जाएगा। उन्‍होंने कहा कि इससे देश भर में कहीं भी एनएफएसए के तहत रियायती अनाज पाने के लिए राशन कार्डधारकों की राष्‍ट्रव्‍यापी पोर्टेबिलिटी 1 जनवरी, 2020 से संभव हो जाएगी। उन्‍होंने कहा कि इससे वे लोग काफी लाभान्वित होंगे जो रोजगार की तलाश, विवाह अथवा अन्‍य किसी और कारण से देश के एक हिस्‍से से दूसरे हिस्‍से में चले जाते हैं।

विश्‍व जैव ईंधन दिवस

  • विश्‍व जैव ईंधन दिवस हर साल 10 अगस्‍त को मनाया जाता है, जिसका उद्देश्‍य पांरपरिक जीवाश्‍म ईंधनों के विकल्‍प के रूप में गैर-जीवाश्‍म ईंधनों के महत्‍व के बारे में जागरूकता बढ़ाना और जैव ईंधन क्षेत्र में सरकार द्वारा किए गए विभिन्‍न प्रयासों पर प्रकाश डालना है। पेट्रोलियम एवं प्राकृतिक गैस मंत्रालय नई दिल्‍ली स्थित विज्ञान भवन में 10 अगस्‍त, 2019 को विश्‍व जैव ईंधन दिवस पर एक कार्यक्रम आयोजित करेगा।
  • इस वर्ष विश्‍व जैव ईंधन दिवस की थीम ‘प्रयुक्‍त कुकिंग ऑयल (यूसीओ) से जैव डीजल का उत्‍पादन करना’ है।
  • जैव ईंधनों के विभिन्‍न फायदों में आयात निर्भरता में कमी, स्‍वच्‍छ पर्यावरण, किसानों को अतिरिक्‍त आमदनी और रोजगार सृजन शामिल हैं। जैव ईंधन कार्यक्रम इसके अलावा भारत सरकार की ‘मेक इन इंडिया’, स्‍वच्‍छ भारत और किसानों की आमदनी बढ़ाने से जुड़ी पहलों के पूरक के तौर पर भी है। वर्ष 2014 से लेकर अब तक जैव ईंधनों का उत्‍पादन बढ़ाने एवं इन्‍हें मिश्रित करने के लिए अनेक पहल की गई हैं।

‘वूमन ट्रांसफॉर्मिंग इंडिया’ पुरस्कार

  • नीति आयोग 09 अगस्त, 2019 को राजधानी दिल्ली में वूमन ट्रांसफॉर्मिंग इंडिया यानी भारत को बदलने वाली महिलाएं (डब्ल्यूटीआई) पुरस्कारों के चौथे संस्करण की शुरुआत करेगा। इस अवसर पर नीति आयोग के सीईओ श्री अमिताभ कांत, भारत में संयुक्त राष्ट्र की समन्वयक सुश्री रेनेटा लोक-डेसालियन और महिला उद्यमिता मंच (डब्ल्यूईपी) के भागीदार उपस्थित रहेंगे।
  • वूमन ट्रांसफॉर्मिंग इंडिया (डब्ल्यूटीआई) पुरस्कार देश भर की महिला उद्यमियों को पहचान देने के लिए संयुक्त राष्ट्र के सहयोग से आयोजित किए जा रहे हैं। इस वर्ष की थीम ‘वूमन एंड एंटरप्रोन्योरशिप’ यानी महिला एवं उद्यमिता है। यह डब्ल्यूटीआई पुरस्कार 2018 की थीम का विस्तार है।

:: अंतराष्ट्रीय समाचार ::

'लेकीमा' तूफान

  • चीन ने शुक्रवार को भीषण तूफान लेकीमा के लिए रेड अलर्ट जारी किया है क्योंकि शनिवार को यहां के झेंजियांग प्रांत के तटीय इलाकों में भूस्खलन की आशंका जताई जा रही है। सिन्हुआ न्यूज एजेंसी की रिपोर्ट के मुताबिक, सुबह आठ बजे साल का यह नौवा तूफान झेंजियांग के वेनलिंग के दक्षिण-पूर्व में 290 किलोमीटर की दूरी पर था जिसमें हवा की रफ्तार 209 किलोमीटर प्रति घंटे थी।

Article 370 पर वैश्विक प्रतिक्रिया

  • पाकिस्तान की ही नोबेल पुरस्कार प्राप्त सामाजिक कार्यकर्ता मलाला युसुफजई ने भारत सरकार के इस फैसले का समर्थन किया है। मलाला ने ट्वीट कर कहा, 'हर किसी को अमन और चैन की जिंदगी जीने का अधिकार है।' भारत के इस फैसले का समर्थन करने वालों में मलाला अकेली नहीं हैं। जानें- अन्य अंतरराष्ट्रीय सेलिब्रिटीज और संगठनों की क्या है प्रतिक्रिया।
  • जम्मू-कश्मीर मुद्दे पर यूरोपियन यूनियन (EU) ने कहा है कि भारत-पाकिस्तान के बीच अनुच्छेद-370 खत्म करने को लेकर जो तनाव बढ़ा है, उसे कम करने के लिए दोनों देशों को बातचीत के लिए आगे आना चाहिए। बातचीत की मेज पर इस तनाव को कम किया जा सकता है। ईयू की विदेश मामलों और सुरक्षा नीति की उपाध्यक्ष फेडरिका मोगेरिनी ने कहा, 'कश्मीर मामले को भारत-पाक द्विपक्षीय वार्ता के जरिए हल करें।'
  • तालिबान ने पाकिस्तान के विपक्षी नेता और पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ के भाई शाहबाज शरीफ के उस बयान पर कड़ी प्रतिक्रिया जताई है, जिसमें उन्होंने कश्मीर के मौजूदा हालात की तुलना अफगानिस्तान से की थी। तालिबानी प्रवक्ता ने बयान जारी कर कहा है कि कश्मीर मुद्दे को अफगानिस्तान से जोड़े जाने से मसला हल नहीं होगा, क्योंकि अफगानिस्तान का मुद्दा इससे एकदम अलग है।

पृष्ठभूमि

  • भारत ने सोमवार (05-अगस्त-2019) को जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद-370 को खत्म कर विशेष राज्य का दर्जा खत्म कर दिया है। इस मसले को पाकिस्तान लगातार अंतरराष्ट्रीय मंचों पर गलत तरीके से प्रस्तुत करने का प्रयास कर रहा है,हांलाकि उसे हर जगह से नाकामी मिल रही है। बौखलाहट में पाकिस्तान ने भारत से राजनयिक और व्यापारिक संबंध खत्म करने की घोषणा कर दी है। अपने हवाई क्षेत्र (Air Space) को आंशिक तौर पर प्रतिबंधित कर दिया है। भारत-पाकिस्तान के बीच चलने वाली समझौता एक्सप्रेस का संचालन भी निलंबित कर दिया है।

शिमला समझौता

  • जम्मू-कश्मीर में भारत सरकार द्वारा अनुच्छेद 370 खत्म किए जाने के बाद से ही पाकिस्तान तिलमिलाया हुआ है। दोनों देशों के बीच चलने वाली समझौता एक्सप्रेस ट्रेन को भी पाकिस्तान ने रोक दिया है। पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने कहा है कि उनका देश शिमला समझौते की कानूनी वैधता को परखेगा। वहीं, संयुक्त राष्ट्र प्रमुख एंटोनियो गुटेरेस ने भी शिमला समझौते का जिक्र करते हुए दोनों देशों के बीच मध्यस्थता से इनकार कर दिया।
  • 1971 में भारत-पाक युद्ध के बाद उनके 90 हजार से ज्यादा सैनिकों को युद्ध बंदी बनाया गया था। इसके बाद भारत और पाकिस्तान के रिश्तों में सुधार, पाक युद्ध बंदियों को छुड़ाने की कवायद शुरू हुई। फिर दोनों देशों के बीच बेहतर संबंध के लिए 2 जुलाई 1972 को शिमला में एक समझौता हुआ। इसी समझौते को शिमला समझौता के नाम से जाना जाता है।
  • शिमला समझौते पर भारत की तत्कालीन प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी और पाकिस्तान के तत्कालीन राष्ट्रपति जुल्फिकार अली भुट्टो ने हस्ताक्षर किए थे।

शिमला समझौता से जुड़े महत्वपूर्ण तथ्य

  • दोनों देशों ने 17 सितंबर 1971 को युद्ध विराम के रूप में मान्यता दी। तय हुआ कि इस समझौते के 20 दिनों के अंदर दोनों देशों की सेनाएं अपनी-अपनी सीमा में चली जाएंगी।
  • यह भी तय हुआ कि दोनों देशों/सरकारों के अध्यक्ष भविष्य में भी मिलते रहेंगे। संबंध सामान्य बनाए रखने के दोनों देशों के अधिकारी बातचीत करते रहेंगे।
  • दोनों देश सभी विवादों और समस्याओं के शांतिपूर्ण समाधान के लिए सीधी बातचीत करेंगे। तीसरे पक्ष द्वारा कोई मध्यस्थता नहीं की जाएगी।
  • यातायात की सुविधाएं स्थापित की जाएंगी। ताकि दोनों देशों के लोग आसानी से आ-जा सकें।
  • जहां तक संभव होगा, व्यापार और आर्थिक सहयोग फिर से स्थापित किए जाएंगे।
  • अगर दोनों देशों के बीच किसी समस्या का अंतिम निपटारा नहीं हो पाता है और मामला लंबित रहता है, तो दोनों पक्ष में से कोई भी स्थिति में बदलाव करने की एकतरफा कोशिश नहीं करेगा।
  • दोनों पक्ष ऐसे कृत्यों के लिए सहायता, प्रोत्साहन या सहयोग नहीं करेंगे जो शांतिपूर्ण और सौहार्दपूर्ण संबंध बनाए रखने में हानिकारक हैं।
  • दोनों देश एक दूसरे की प्रादेशिक अखंडता और संप्रभुता का सम्मान करेंगे। समानता एवं आपसी लाभ के आधार पर एक-दूसरे के आंतरिक मामले में दखल नहीं देंगे।
  • दोनों सरकारें अपने अधिकार के अंदर ऐसे उग्र प्रॉपेगेंडा को रोकने के लिए हर संभव कदम उठाएंगी जिनके निशाने पर दोनों में से कोई देश हों। दोनों देश इस तरह की सूचनाएं आपस में साझा करने को प्रोत्साहन देंगे।
  • संचार के लिए डाक, टेलिग्राफ सेवा, समुद्र, सीमा डाक समेत सतही संचार माध्यमों, उड़ान समेत हवाई लिंक बहाल करेंगे।
  • शांति की स्थापना, युद्धबंदियों और शहरी बंदियों की अदला-बदला के सवाल, जम्मू-कश्मीर के अंतिम निपटारे और राजनयिक संबंधों को सामान्य करने की संभावनाओं पर काम करने के लिए दोनों पक्षों के प्रतिनिधि मिलते रहेंगे और आपस में चर्चा करेंगे।
  • दोनों देशों के बीच सहमति बनी कि जहां तक संभव होगा आर्थिक और अन्य सहमति वाले क्षेत्रों में व्यापार और सहयोग बढ़ेगा।
  • विज्ञान और संस्कृति के मैदान में आदान-प्रदान को बढ़ावा देने की सहमति बनी।

:: आर्थिक समाचार ::

राज्यों के जीएसडीपी से जुड़े नवीनतम आकड़े

  • वैश्विक और घरेलू कारणों के चलते देश की विकास दर भले ही 5 साल के न्यूनतम स्तर पर आ गई हो, लेकिन राज्यों की आर्थिक वृद्धि दर की रफ्तार बरकरार है। हाल यह है कि वित्त वर्ष 2018-19 में चार राज्यों के जीएसडीपी की सालाना वृद्धि दर 10 फ़ीसद से ऊपर रही है। खास बात यह है अब तक पिछड़ते रहे पश्चिम बंगाल ने वित्त वर्ष 2018-19 में 12.58 प्रतिशत विकास दर हासिल की है जो सब राज्यों में सर्वाधिक है। वहीं गोवा, पंजाब और उत्तर प्रदेश विकास दर के मामले में निचले पायदान पर रहे हैं।
  • वित्त वर्ष 2018-19 के लिए 18 राज्यों और दो केंद्र शासित क्षेत्रों की विकास दर के आंकड़े सांख्यिकी एवं कार्यक्रम कार्यान्वयन मंत्रालय की वेबसाइट पर उपलब्ध हैं, जिन्हें संबंधित प्रदेश सरकारों के आर्थिक और सांख्यिकी निदेशालय से जुटाया गया है। हालांकि, अरुणाचल प्रदेश, असम, गुजरात, जम्मू-कश्मीर, केरल, महाराष्ट्र, मणिपुर, मेघालय, मिजोरम, नागालैंड और त्रिपुरा सहित 11 राज्यों तथा अंडमान निकोबार द्वीप समूह और चंडीगढ़ सहित दो संघ शासित क्षेत्रों की विकास दर के अनुमान अब तक उपलब्ध नहीं है।
  • वित्त वर्ष 2018-19 के लिए जिन प्रदेशों की विकास दर के आंकड़े उपलब्ध हैं, उनमें चार राज्यों- पश्चिम बंगाल, आंध्र प्रदेश, बिहार और तेलंगाना की विकास दर 10 फ़ीसद से अधिक रही है। पश्चिम बंगाल की विकास दर 12.58 प्रतिशत रही है जो सब राज्यों में सर्वाधिक है। संभवत यह पहला मौका है जब बंगाल की विकास दर दहाई के अंक में पहुंची है। वित्त वर्ष 2017-18 में बंगाल की विकास दर 8.88 प्रतिशत थी। पश्चिम बंगाल की विकास दर में उछाल से राज्य की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को बड़ी राहत मिलेगी, क्योंकि 2 साल बाद राज्य में विधानसभा चुनाव होने हैं।
  • विकास दर के मामले में बंगाल के बाद दूसरे नंबर पर आंध्र प्रदेश है देश की आर्थिक वृद्धि दर 11.02 प्रतिशत रही। वित्त वर्ष 2017-18 में भी आंध्र प्रदेश की विकास दर का आंकड़ा लगभग इतना ही था। इसी तरह तीसरे नंबर पर बिहार ने 10.53 प्रतिशत की विकास दर हासिल की है। वित्त वर्ष 2017-18 में भी बिहार की विकास दर दहाई के अंक में थी।
  • दूसरी ओर, वित्त वर्ष 2018-19 में सबसे कम विकास दर गोवा(0.47 प्रतिशत), पंजाब (5.91 प्रतिशत), छत्तीसगढ़ (6.08 प्रतिशत), उत्तर प्रदेश (6.46 प्रतिशत) और उत्तराखंड (6.87 प्रतिशत) की रही है। राज्यों की विकास दर की तेज रफ्तार इसलिए महत्वपूर्ण है, क्योंकि हाल के वर्षों में देश की आर्थिक वृद्धि दर सुस्त पड़ी है। वित्त वर्ष 2018-19 में देश की विकास दर 5 साल के न्यूनतम स्तर 6.8 प्रतिशत पर आ गई है। चालू वित्त वर्ष में भी इसके 7 प्रतिशत से नीचे रहने का अनुमान है।

जून में औद्योगिक उत्पादन की वृद्धि दर गिरकर 2%

  • अर्थव्यवस्था की हालत दिन-प्रतिदिन बदतर होती जा रही है। मंदी के कारण एक तरह से अर्थव्यवस्था हांफ रही है। आर्थिक विकास दर्शाने वाले सभी आंकड़े अर्थव्यवस्था के प्रतिकूल आ रहे हैं। इस बीच जून में औद्योगिक उत्पादन की वृद्धि दर गिरकर 2% पर आ गई है।
  • अर्थव्यवस्था की हालत दिन-प्रतिदिन बदतर होती जा रही है। मंदी के कारण एक तरह से अर्थव्यवस्था हांफ रही है। आर्थिक विकास दर्शाने वाले सभी आंकड़े अर्थव्यवस्था के प्रतिकूल आ रहे हैं। हालात यह है कि मांग और उत्पादन में सामंजस्य बैठाने के लिए महिंद्रा को वाहनों का उत्पादन दो सप्ताह के लिए बंद करने को मजबूर होना पड़ रहा है। यही हाल जून में उद्योगों की रफ्तार का भी रहा है। खनन और मैन्युफैक्चरिंग क्षेत्र के खराब प्रदर्शन के कारण जून महीने में औद्योगिक उत्पादन की वृद्धि दर गिरकर 2 प्रतिशत पर आ गई है।
  • आधिकारिक आंकड़ों में शुक्रवार को इसकी जानकारी दी गई। पिछले साल जून में औद्योगिक उत्पादन सूचकांक (आईआईपी) 7 प्रतिशत की दर से बढ़ा था। जून महीने में मैन्युफैक्चरिंग क्षेत्र की वृद्धि दर पिछले साल के 6.90 प्रतिशत की तुलना में गिरकर 1.20 प्रतिशत पर आ गई। बिजली उत्पादन क्षेत्र की वृद्धि दर भी 8.50 प्रतिशत से घटकर 8.20 प्रतिशत पर आ गई। वहीं, खनन क्षेत्र की वृद्धि दर 6.50 प्रतिशत से कम होकर 1.60 प्रतिशत पर आ गई। इससे पहले आईआईपी मार्च में 2.7 प्रतिशत, अप्रैल में 4.30 प्रतिशत और मई में 4.60 प्रतिशत की दर से बढ़ा था।
  • सांख्यिकी मंत्रालय के आंकड़ों के अनुसार, इस वित्त वर्ष की जून तिमाही में आईआईपी वृद्धि दर पिछले वित्त वर्ष की समान तिमाही के 5.10 प्रतिशत की तुलना में गिरकर 3.60 प्रतिशत पर आ गई। पूंजीगत वस्तुओं के उत्पादन में इस बार जून में 6.5 प्रतिशत की कमी देखी गई जबकि पिछले साल जून में इसमें 9.70 प्रतिशत की तेजी रही थी। वहीं, उपभोक्ता आधारित वर्गीकरण को देखें तो प्राथमिक वस्तुओं में 0.5 प्रतिशत की तथा माध्यमिक वस्तुओं में 12.4 प्रतिशत की तेजी देखने को मिली है। निर्माण संबंधित वस्तुओं में 1.8 प्रतिशत की कमी हुई है। आपको बता दें कि मैन्युफैक्चरिंग क्षेत्र के 23 में से 8 औद्योगिक समूहों में जून महीने में सकारात्मक वृद्धि रही।
  1. जून में कैपिटल गुड्स की ग्रोथ घटकर -6.5 फीसदी रही, जो मई में 0.8 फीसदी रही थी।
  2. जून में कंज्यूमर ड्यूरेबल्स ग्रोथ घटकर -5.5 फीसदी रही, जो मई में 0.1 फीसदी रही थी।
  3. जून में कंज्यूमर नॉन-ड्यूरेबल्स ग्रोथ घटकर मामूली बढ़कर 7.8 फीसदी रही, जो मई में 7.7 फीसदी रही थी।

:: पर्यावरण और पारिस्थितिकी ::

कस्तूरी मृग

  • शर्मिला पशु यानी कस्तृरी मृग भी ग्रेट हिमालयन नेशनल पार्क की शोभा बढ़ा रहा है। वन्य प्राणी विंग की ओर से हिम तेंदुओं की संख्या का पता लगाने के लिए पार्क में लगाए गए सीसीटीसी कैमरों में कस्तूरी मृग भी कैद हुआ है। पार्क में कस्तूरी मृग तीन साल बाद देखा गया है। हिरण प्रजाति से संबंधित कस्तूरी मृग शर्मिला जानवर माना जाता है और आसानी से सामने नहीं आता है। वन्य प्राणी विंग इसे महत्वपूर्ण उपलब्धि मान रहा है।
  • हिम तेंदुआ तेंदुओं की संख्या जानने के लिए लगाए गए सीसीटीवी कैमरों में कस्तूरी मृग की फुटेज सामने आई है। यह दो तीन साल बाद यहां देखा गया है। आमतौर पर यह ऊंचाई वाले क्षेत्रों में ही रहता है। यह जानवर अधिक देर तक एक जगह पर नहीं टिकता है। ग्रेट हिमालयन नेशनल पार्क में इनकी संख्या कितनी है इसकी जानकारी एकत्रित की जाएगी।

कस्तूरी मृग की विशेषता

  • कस्तूरी मृग आमतौर पर 2400 से 3600 फीट की ऊंचाई पर पाया जाता है। इसका शरीर 20 से 30 इंच ऊंचा होता है। नाक से लेकर पीठ तक 750 से 950 मिलीमीटर लंबा होता है। इसकी पूंछ पर बाल नहीं होते हैं। हालांकि मादा मृग की पूंछ घने वालों वाली होती है। पिछली टांगें अगली टांगों से लंबी होती हैं। अपने फुर्तीले स्वभाव के कारण यह ज्यादा देर तक एक जगह पर नहीं रहता और हल्की सी आहट पर भी एकदम गायब हो जाता है। ग्रेट हिमालयन नेशनल पार्क के सीसीटीवी कैमरों में कस्तूरी मृग के पाए जाने के बाद अब वन्य प्राणी विंग की टीम अन्य कैमरों की फुटेज भी जांचेगी। पार्क में विभिन्न स्थानों पर 50 सीसीटीवी कैमरे लगाए गए हैं। इनमें से अभी तक चार से पांच कैमरों को ही खंगाला गया है। इसमें हिम तेंदुआ और कस्तूरी मृग की फुटेज सामने आई है।
  • कस्तूरी मृग की कस्तूरी को प्राप्त करने के लिए शिकारी अवैध रूप से इसे निशाना बनाते हैं। इसका शिकार प्रतिबंधित है। इसके बाद कृत्रिम कस्तूरी का प्रयोग ही इत्रों में होता है। कस्तूरी मृग भारत, नेपाल, पाकिस्तान, तिब्बत, चीन व साइबेरिया आदि देशों में पाया जाता है।

छत्तीसगढ़ समेत 13 सेंचुरी ESZ घोषित

  • पर्यावरण मंत्रालय ने छत्तीसगढ़ में एक टाइगर रिजर्व समेत 13 वन्य जीव अभयारण्यों (वाइल्ड लाइफ सेंचुरीज) को इको-सेंस्टिव जोन (ईएसजेड) घोषित किया है, ताकि पारिस्थितिकीय तंत्र (इकोसिस्टम) का संरक्षण किया जा सके। तमिलनाडु में 11 और छत्तीसगढ़ में एक सेंचुरी को इको-सेंस्टिव जोन (ईएसजेड) घोषित करने के लिए अंतिम अधिसूचना को मंजूरी दे दी है।
  • महाराष्ट्र की वाइल्ड लाइफ सेंचुरी के संबंध में भी अधिसूचना जारी करके उसे अंतिम ईको-सेंस्टिव जोन के दायरे में ला दिया है। तमिलनाडु की 11 सेंचुरी के नाम हैं।
  • छत्तीसगढ़ में अचानकमर टाइगर रिजर्व और महाराष्ट्र के तुंगरेश्वर वाइल्डलाइफ सेंचुरी को भी ईएसजेड के तहत मंजूरी दी गई है।

यह होगा लाभ

  • अंतिम ईकोसेंस्टिव जोन की वैज्ञानिक सरहदबंदी और दस किलोमीटर तक संरक्षित क्षेत्रों से किसानों, ग्रामीणों और छोटे कारोबारियों को मदद मिलेगी। चूंकि संरक्षित क्षेत्र की अब अनिश्चितता खत्म हो गई है।
  • इस अधिसूचना से संरक्षित क्षेत्रों से लगे एक किलोमीटर के दायरे में खनन, पत्थरों के उत्खनन और पत्थर काटना आदि पर प्रतिबंध लग जाएगा। ईएसजे अधिसूचना को पर्यावरण (संरक्षण) अधिनियम, 1986 और पर्यावरण (संरक्षण) नियम, 1986 के तहत लागू किया जाता है।

:: विज्ञान और प्रौद्योगिकी ::

'सोलो'

  • अनुच्छेद-370 हटाने और जम्‍मू-कश्‍मीर के विभाजन के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार को राष्ट्र के नाम अपने संबोधन में लद्दाख और जम्‍मू-कश्‍मीर के क्षेत्रों में पैदा होने वाले कई उत्पादों का जिक्र किया जिनकी पूरी दुनिया में भारी मांग है। प्रधानमंत्री ने खास तौर पर 'सोलो' नाम के पौधे का जिक्र किया, जिसका बड़े पैमाने पर औषधीय इस्‍तेमाल किया जाता है
  • 'सोलो' नाम का यह पौधा मूल रूप से लद्दाख के ठंडे और ऊंचाई वाले इलाकों में पाया जाता है। काफी समय तक स्थानीय लोग इसके व्‍यापक औषधीय गुणों से अज्ञात थे। यह पौधा अत्‍यधिक ऊंचाई वाले इलाकों में सांस लेने में परेशानी होने की समस्‍या से उबरने में बेहद कारगर होता है। आयुर्वेद के जानकारों का दावा है कि इस पौधे की मदद से शरीर को पर्वतीय परिस्थितियों के अनुरूप ढालने में भी मदद मिलती है। कम ऑक्‍सीजन के ऊंचाई वाले इलाकों में तैनात भारतीय सेना के जवान भी इसका इस्तेमाल अपनी शारीरिक प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के लिए करते हैं।
  • 'सोलो' का वैज्ञानिक नाम रहोडियोला (Rhodiola) है। हालांकि, लद्दाख के लोग इसे 'सोलो' के नाम से ही जानते हैं। हिमालय की ऊंची चोटियों पर जिंदगी किसी चुनौती से कम नहीं है। स्‍थानीय लोगों को इन इलाकों में जीवन के लिए काफी संघर्ष करना पड़ता है। स्थानीय लोग इस पौधे के पत्तेदार हिस्सों का इस्तेमाल सब्जी के रूप में करते आए हैं। अब लेह स्थित डिफेंस इंस्‍टीट्यूट ऑफ हाई एल्‍टीट्यड रिसर्च (Defence Institute of High Altitude Research, DIHAR) इस पौधे के औषधीय गुणों का विस्‍तार से अध्ययन कर रहा है।
  • लेह स्थित डिफेंस इंस्‍टीट्यूट ऑफ हाई एल्‍टीट्यड रिसर्च (Defence Institute of High Altitude Research, DIHAR) के वैज्ञानिकों का दावा है कि यह औषधि सियाचिन जैसी प्रतिकूल जगहों पर रह रहे भारतीय सेना के जवानों के लिए चमत्‍कारिक साबित हो सकती है। वैज्ञानिकों का कहना है कि यह पौधा कम ऑक्‍सीजन वाले, ऊंचे इलाकों में रोगप्रतिरोधक प्रणाली को बेहतर रखने और रेडियोएक्टिव प्रभाव से बचाने में कारगर है। यही नहीं यह औषधि अवसाद को कम करने और भूख बढ़ाने में भी लाभकारी है। सियाचिन जैसे दुर्गम इलाकों में जवानों में डिप्रेशन और भूख कम लगने की समस्‍या के इलाज में यह फायदेमंद है।
  • यह पौधा बढ़ती उम्र को रोकने में सहायक है। साथ ही ऑक्सीजन की कमी के दौरान न्यूरॉन्स की रक्षा भी करता है। वैसे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का भी कहना है कि लद्दाख क्षेत्र में कई ऐसी जड़ी बूटियां हैं, जो चिकित्‍सा और रोजगार के क्षेत्र में बेहद मददगार साबित हो सकती हैं।

स्पाइडर मिसाइल

  • राजस्थान के जैसलमेर जिले में स्थित पोखरण फील्ड फायरिग रेंज में शुक्रवार को इजरायली मिसाइल 'स्पाइडर' का सफल परीक्षण किया गया है। यह मिसाइल 15 किलोमीटर दूर से हवा में दुश्मन के ठिकानों को ध्वस्त करने में सक्षम है । भारतीय एयर डिफेंस सिस्टम को और अधिक स्मार्ट बनाने के तहत 'इजरायली मिसाइल' का परीक्षण किया गया है ।
  • यह क्विक रिएक्शन करने के साथ ही सतह से आकाश में (सरफेस टू एयर) मार करने वाली मिसाइल है । शुक्रवार को भारतीय वायुसेना और इजरायली विशेषज्ञों की मौजूदगी में जमीन से आकाश में सटीक निशाना दागने के साथ ही इसकी मारक क्षमता को आंका गया।

दुनिया का सबसे छोटा स्टेंट

  • वैज्ञानिकों ने विश्व का सबसे छोटा स्टेंट बनाने में सफलता हासिल की है। यह वर्तमान में मौजूद अन्य स्टेंट्स की तुलना में अत्यंत छोटा है। वैज्ञानिकों का दावा है कि इसकी मदद से भविष्य में भ्रूण में ही यूरिन की सिकुड़ी हुई नलिकाओं के उपचार संभव हो सकता है। स्विट्जरलैंड के ज्यूरिख स्थित फेडरल इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी के शोधकर्ताओं ने कहा कि पिछले कुछ समय से स्टेंट का उपयोग अवरुद्ध हुई कोरोनरी वाहिकाओं (ब्लॉक कोरोनरी वेसल्स के उपचार के लिए किया जाता रहा है।

‘इनडायरेक्ट 4डी प्रिटिंग’ से बनाया स्टेंट

  • पारंपरिक तरीकों का उपयोग करके इतना छोटा स्टेंट को बना पाना संभव नहीं है। इसके लिए आरगाउ कैंटोनल अस्पताल के बाल रोग सर्जन गैस्टन डी बर्नार्डिस ने ज्यूरिख की मल्टी-स्केल रोबोटिक्स लैब से संपर्क किया, जिसके बाद लैब के शोधकर्ताओं ने मिलकर एक नई विधि विकसित की है। इसकी मदद से उन्होंने 100 माइक्रोमीटर से कम व्यास वाले स्टेंट का निर्माण किया। शोधकर्ताओं ने नई विधि को ‘इनडायरेक्ट 4डी प्रिटिंग’ नाम दिया है।

'हार्मनीओएस'

  • गूगल के एंड्रॉयड को टक्कर देने के लिए हुआवे टेक्नोलॉजी ने शुक्रवार को हार्मनीओएस पेश कर दिया। माना जा रहा है कि यह ऑपरेटिंग सिस्टम एक दिन एंड्रॉयड की जगह लेकर लोगों की अमेरिकी तकनीक पर निर्भरता कम कर देगा। हार्मनी ओएस लॉन्च किए जाने के अवसर पर हुआवे कंज्यूमर बिजनेस के सीईओ रिचर्ड यू ने बताया कि ऑपरेटिंग सिस्टम स्मार्टफोन, स्मार्ट स्पीकर्स के साथ सेंसर्स के लिए भी कंपैटिबल है।
  • यह आजकल मशहूर हो रहे इंटरनेट ऑफ थिंग्स का भी हिस्सा है। 2020 तक यह स्मार्टफोन और कारों में नजर आने वाला एक आम ऑपरेटिंग सिस्टम हो जाएगा। उन्होंने बताया कि हार्मनीओएस माइक्रोकेरनल पर आधारित है, यानी यह कम से कम संसाधनों का इस्तेमाल कर सुनिश्चित करेगा कि ऑपरेटिंग स्पीड तेज हो। इसमें आर्क कम्पाइलर है, जो सी/, सीप्लसप्लस, जावा, जावास्क्रिप्ट और कोटलिन समेत सभी बड़ी लैंग्वेज को सपोर्ट करता है।
  • गौरतलब है कि कुछ महीने पहले हुवावे को अमेरिका में बैन किया गया था। उसके बाद ही कंपनी ने कहा था कि वह अपना ऑपरेटिंग सिस्टम लॉन्च करेगी। बता दें कि हुवावे पर अमेरिकी नागरिकों की जासूसी का आरोप है। हुवावे को अमेरिका ने जासूसी के आरोप में ब्लैकलिस्ट करके एनटिटी लिस्ट में डाल दिया गया था। इस लिस्ट में जाने के बाद कंपनियों को पास अमेरिकी कंपनियों से बिजनेस करने का लाइसेंस नहीं रह जाता है। यह मामला पिछले साल दिसंबर से ही चल रहा है।

:: विविध ::

शाहरुख खान को डॉक्टरेट की मानद उपाधि

  • सुपरस्टार शाहरुख खान को ऑस्ट्रेलिया की मशहूर ला ट्रोब यूनिवर्सिटी ने डॉक्टरेट की मानद उपाधि प्रदान की है। ऐक्‍टर को यह उपाधि शुक्रवार को प्रदान की गई। उनके फैंस इस खबर से बेहद खुश हैं और सोशल मीडिया पर उनकी प्रशंसा कर रहे हैं।
  • शाहरुख को उपाधि देने का मकसद उनके द्वारा वंचित बच्चों की मदद करने और एमईईआर फाउंडेशन के जरिए महिला सशक्तिकरण के लिए किए गए उनके काम को पहचान देना था।

शुभमन गिल

  • इंडिया ए की तरफ से वेस्टइंडीज ए के खिलाफ अंतिम अनाधिकारिक टेस्ट मैच में शुभमन गिल (Shubman Gill) ने दोहरा शतक लगाया। शुभमन ने वेस्टइंडीज के खिलाफ अनाधिकारिक टेस्ट मैच में 257 गेंदों पर 204 रन की पारी खेली और उन्होंने अपनी इस पारी में 19 चौके व दो छक्के जड़े।
  • इस दोहरे शतक के बाद शुभमन गिल फर्स्ट क्लास क्रिकेट में सबसे कम उम्र में ये कमाल करने वाले पहले भारतीय बल्लेबाज बन गए हैं। फर्स्ट क्लास क्रिकेट में शुभमन ने 19 दिन 334 दिन की उम्र में दोहरा शतक लगाया है और उन्होंने गौतम गंभीर (Gautam Gambhir) को पीछे छोड़ दिया है। गंभीर ने ये कमाल 20 वर्ष 124 दिन की उम्र में जिम्बाब्वे के खिलाफ किया था। शुभमन गिल ने 17 साल के बाद गंभीर का ये रिकॉर्ड तोड़ा है।
  • इसके अलावा शुभमन गिल भारत के बाहर विदेशी जमीन पर फर्स्ट क्लास क्रिकेट में दोहरा शतक लगाने वाले सबसे कम उम्र के खिलाड़ी भी बन गए हैं।

66वें राष्ट्रीय फिल्म अवॉर्ड

  • 66वें राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कारों का ऐलान हो गया है। साल 2018 में रिलीज हुई कई बड़ी फिल्मों में से आयुष्मान खुराना की फिल्म 'अंधाधुन' (Andhadhun) को बेस्ट हिंद फिल्म का अवॉर्ड मिला है। इस फिल्म आयुष्मान के साथ, राधिका आप्टे और तब्बू लीड रोल में थे। इसके अलावा संजय लीला भंसाली की फिल्म 'पद्मावत' के 'घूमर' गाने को बेस्ट कोरियोग्राफी का अवॉर्ड मिला है। इस गाने को ज्योति ने कोरियोग्राफ किया था।
  • वहीं बेस्ट म्यूजिक का अवॉर्ड भी भंसाली की फिल्म 'पद्मावत' को मिला है। बेस्ट सिंगर का नेशनल अवॉर्ड अरिजीत सिंह को मिला है। बेस्ट एक्टर मेल का अवॉर्ड इस बार दो एक्टर्स को मिला है। आयुष्मान खुराना और 'उरी द सर्जिकल स्ट्राइक' के लीड एक्टर विक्की कौशल को बेस्ट एक्टर का अवॉर्ड दिया गया है। बॉलीवुड फिल्म 'बधाई हो' में आयुष्मान की दादी का किरदार निभाने वाली सुरेखा सीकरी को बेस्ट सपोर्टिव एक्ट्रेस का अवॉर्ड मिला है।

National Film Awards 2019 List:

  • सर्वश्रेष्ठ हिंदी फिल्म- अंधाधुन
  • बेस्ट फिल्म फ्रैंडली स्टेट- उत्तराखंड
  • बेस्ट कॉरियोग्राफर- ज्योति (घूमर, पद्मावत)
  • बेस्ट शॉर्ट फीचर फिल्म- खरवस
  • बेस्ट स्पोर्ट्स फिल्म- स्विमिंग थ्रू द डार्कनेस
  • बेस्ट फिल्म क्रिटिक (हिंदी)- अनंत विजय
  • बेस्ट मराठी फिल्म- भोंगा
  • बेस्ट राजस्थानी फिल्म- टर्टल
  • सर्वश्रेष्ठ गारो फिल्म- अन्ना
  • सर्वश्रेष्ठ तमिल फिल्म- बरम
  • सर्वश्रेष्ठ उर्दू फिल्म- हामिद
  • सर्वश्रेष्ठ बंगाली फिल्म- एक जे छिलो राजा
  • सर्वश्रेष्ठ मलयालम फिल्म- सुडानी फ्रॉम नाइजीरिया
  • सर्वश्रेष्ठ तेलुगु फिल्म- महांती

आर्मी इंटरनेशनल स्काउट मास्टर्स प्रतियोगिता

  • भारतीय सेना के दक्षिणी कमान के अंतर्गत जैसलमेर मिलिट्री स्टेशन में चल रही आर्मी इंटरनेशनल स्काउट मास्टर्स प्रतियोगिता के पहले चरण में भारतीय सेना की टीम ने प्रथम स्थान प्राप्त किया है। कजाकिस्तान को दूसरा और रूसी सेना की टीम को तीसरा स्थान मिला। भारत में पहली बार पांच से 16 अगस्त 2019 तक आयोजित पांचवी आर्मी इंटरनेशनल स्काउट मास्टर्स प्रतियोगिता में मित्र देशों जैसे आर्मेनियां, बेलारूस, चीन, उजबेकिस्तान, रूस, सूडान और कजाकिस्तान की टीमें यानी कुल 7 टीमें भाग ले रहीं हैं। भारतीय सेना आयोजक के रूप में पहली बार प्रतियोगिता में भाग ले रही है और पहले चरण में भारतीय सेना की टीम का शानदार प्रदर्शन भारतीय सेना में शारीरिक दक्षता प्रशिक्षण और पेशे के उच्च मानकों को दिखाता है।

:: प्रिलिमिस बूस्टर ::

  • हाल ही में देश के सर्वोच्च नागरिक सम्मान भारत रत्न से किन्हें सम्मानित किया गया है? (प्रणब मुखर्जी, नानाजी देशमुख और भूपेन हजारिका)
  • प्रधानमंत्री किसान मान-धन योजना (पीएम-केएमवाई) के तहत पात्र किसानों को 60 साल की उम्र पूरी करने पर कितनी पेंशन प्रदान की जाएगी? (3,000 रुपये प्रति महीने)
  • मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने किस स्थान पर वृक्षारोपण कर पर्यावरण महाकुंभ की स्थापना का शुभारंभ किया? (जैतीखेड़ा-लखनऊ)
  • पर्यावरण महाकुंभ में कुल कितने पौधों के वृक्षारोपण का लक्ष्य रखा गया है? (24 करोड़ पौधे)
  • देश की प्रथम अंडर वाटर ट्रेन की शुरुआत कहां होगी? (हुगली नदी -कोलकाता)
  • हाल ही में स्तनपान के सन्दर्भ में जारी हुए राष्ट्रीय परिवार स्वास्थ्य सर्वे की रिपोर्ट में किस राज्य को निम्नतम रैंकिंग मिली? (उत्तर प्रदेश)
  • हाल ही में स्तनपान के सन्दर्भ में जारी हुए राष्ट्रीय परिवार स्वास्थ्य सर्वे की रिपोर्ट में किस राज्य को प्रथम रैंकिंग मिली? (मणिपुर)
  • बच्चों में डायरिया के कारण होने वाली मौतों में कमी लाने के लिए सरकार के द्वारा किस टीके की उपलब्धता पूरे भारत में सुनिश्चित कराने की घोषणा की गई है? (रोटावायरस)
  • किनके द्वारा ‘समग्र शिक्षा-जल सुरक्षा’ अभियान का शुभारंभ किया गया? (श्री रमेश पोखरियाल ‘निशंक’ और श्री गजेन्द्र सिंह शेखावत)
  • हाल ही में आयोजित हुए अंतर्राष्ट्रीय इलेक्ट्रिक वाहन (ईवी) सम्मेलन का आयोजन कहां किया गया था? (मानेसर-गुरुग्राम)
  • विश्व जनजाति दिवस पर खादी एवं ग्रामोद्योग आयोग के द्वारा कौन से पहल की शुरुआत की गई? (‘लेदर मिशन’ और हनी मिशन)
  • विश्व जनजाति दिवस कब मनाया जाता है? (9 अगस्त)
  • एक राष्ट्र एक राशन कार्ड के लक्ष्य की प्राप्ति हेतु किन दो क्लस्टरों में ‘अंतर-राज्‍य राशन वितरण’ का शुभारंभ किया गया? (आंध्र प्रदेश एवं तेलंगाना और गुजरात व महाराष्‍ट्र)
  • विश्व जैव ईंधन दिवस किस तिथि को मनाया जाता है? (10 अगस्त)
  • विश्व जैव ईंधन दिवस 2019 की थीम क्या है? (‘प्रयुक्‍त कुकिंग ऑयल-यूसीओ से जैव डीजल का उत्‍पादन करना’)
  • वूमन ट्रांसफॉर्मिंग इंडिया (डब्ल्यूटीआई) का आयोजन किस संस्था के सहयोग द्वारा किया जाता है? (संयुक्त राष्ट्र)
  • इस वर्ष आयोजित होने वाली वूमन ट्रांसफॉर्मिंग इंडिया (डब्ल्यूटीआई) की थीम क्या है? (‘वूमन एंड एंटरप्रोन्योरशिप’)
  • हाल ही में किस तूफान के कारण चीन में रेड अलर्ट जारी किया गया है? (लेकीमा)
  • हाल ही में घोषित हुए जीएसडीपी आंकड़ों के अनुसार 2018-19 में किस राज्य की विकास दर सबसे तीव्र रही? (पश्चिम बंगाल)
  • हाल ही में घोषित हुए जीएसडीपी आंकड़ों के अनुसार 2018-19 में किस राज्य की विकास दर सबसे निम्न रही? (गोवा)
  • वर्तमान वित्तीय वर्ष के आंकड़ों के अनुसार जून में औद्योगिक उत्पादन की वृद्धि दर कितनी रही? (2%)
  • हाल ही में चर्चा में रहे ‘सोलो’ नाम का पौधा भारत के किस स्थान पर पाया जाता है? (लद्दाख)
  • हाल ही में परीक्षण किए गए ‘स्पाइडर’ मिसाइल का विकास किस देश के द्वारा किया गया है? (इजराइल)
  • किस देश के वैज्ञानिकों ने विश्व का सबसे छोटा स्टेंट बनाने में सफलता हासिल की है? (फेडरल इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी-स्विट्जरलैंड)
  • हार्मनीओएस का विकास किस संस्था के द्वारा किया गया है? (हुआवे टेक्नोलॉजी)
  • हाल ही में किस संस्था के द्वारा अभिनेता शाहरुख खान को डॉक्टरेट की मानद उपाधि प्रदान की गई है? (ट्रोब यूनिवर्सिटी- ऑस्ट्रेलिया)
  • हाल ही में किस बल्लेबाज के द्वारा सबसे कम उम्र में फर्स्ट क्लास क्रिकेट में दोहरे शतक बनाने की उपलब्धि हासिल की गई है? (शुभमन गिल)
  • 66 वें राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार में सर्वश्रेष्ठ फिल्म का अवार्ड किस फिल्म को प्रदान किया गया? (अंधाधुन)
  • जैसलमेर मिलिट्री स्टेशन में चल रही आर्मी इंटरनेशनल स्काउट मास्टर्स प्रतियोगिता के पहले चरण में किस देश की सेना की टीम ने प्रथम स्थान प्राप्त किया? (भारत)

स्रोत साभार: Dainik Jagran (Rashtriya Sanskaran), Dainik Bhaskar (Rashtriya Sanskaran), Rashtriya Sahara (Rashtriya Sanskaran) Hindustan Dainik (Delhi), Nai Duniya, Hindustan Times, The Hindu, BBC Portal, The Economic Times (Hindi & English), PTI, PIB

<< मुख्य पृष्ठ पर वापस जाने के लिये यहां क्लिक करें