(दैनिक समसामयिकी और प्रिलिम्स बूस्टर) यूपीएससी और सभी राज्य लोक सेवा आयोग परीक्षाओं के लिए हिंदी में समाचार पत्रों का संकलन (09 दिसंबर 2019)

दैनिक समसामयिकी और प्रिलिम्स बूस्टर


(दैनिक समसामयिकी और प्रिलिम्स बूस्टर) यूपीएससी और सभी राज्य लोक सेवा आयोग परीक्षाओं के लिए हिंदी में समाचार पत्रों का संकलन (09 दिसंबर 2019)


:: राष्ट्रीय समाचार ::

‘पाइका विद्रोह स्मारक’

  • पाइका विद्रोह के दो सौ साल पूरे होने के मद्देनजर राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने ओडिशा में रविवार को ‘पाइका विद्रोह स्मारक’ की आधारशिला रखी। ओडिशा के पाइका समुदाय के लोगों ने 1817 में ब्रिटिश हुकूमत के खिलाफ विद्रोह किया था। इसे भारत में आजादी के लिए पहली बगावत के तौर पर देखा जाता है।
  • ‘पाइका विद्रोह स्मारक’ का निर्माण ओडिशा के खुरदा जिले स्थित बरुनेई हिल की तलहटी में किया जा रहा है। यह दस एकड़ दायरे में फैला होगा। इंडियन ऑयल कॉरपोरेशन इसके निर्माण का जिम्मा संभाल रही है।

भारत चीन संयुक्त सैन्य प्रशिक्षण अभ्यास ‘हैंड-इन-हैंड’ 2019

  • भारत और चीन के बीच संयुक्त सैन्य प्रशिक्षण अभ्यास 'हैंड-इन-हैंड-2019' का 8वां संस्करण मेघालय के उमरोई स्थित संयुक्त प्रशिक्षण नोड में 07 दिसंबर 2019 को शुरू हुआ। इस अभ्यास में चीन की पीपुल्स लिबरेशन आर्मी (पीएलए) की तिब्बत सैन्य कमान और भारतीय थल सेना की टुकड़ी शामिल है। यह संयुक्त अभ्यास 14 दिनों तक चलेगा।
  • इस संयुक्त प्रशिक्षण अभ्यास का उद्देश्य आतंकवाद विरोधी अभियानों में एक-दूसरे के अनुभवों से लाभ उठाना है। आतंकवाद निरोधी अभियानों के अलावा, मानवीय सहायता और आपदा राहत कार्यों के संचालन पर चर्चा भी अभ्यास का एक हिस्सा होगी।
  • यह अभ्यास दुनिया को यह सशक्त संदेश देगा कि भारत और चीन दोनों आतंकवाद के उभरते खतरों को अच्छी तरह से समझते हैं और दुनिया को नुकसान पहुंचाने वाले इस खतरे का मुकाबला करने के लिए कंधे से कंधा मिलाकर खड़े हैं।

देश का सबसे बड़ा म्यूजिकल फ्लोटिंग फाउंटेन

  • मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल के बड़े तालाब में देश का सबसे बड़ा म्यूजिकल फ्लोटिंग फाउंटेन की तकनीकी टेस्टिंग हो चुकी है और अब सोमवार से इसे शुरू किया जा रहा है। इस शानदार म्यूजिकल फ्लोटिंग फाउंटेन का शुभारंभ सीएम कमलनाथ करेंगे। सबसे पहले महात्मा गांधी की कहानी दिखाई देगी। इसके अलावा भोपाल के इतिहास पर आधारित फिल्म दिखायी जाएगी।

कौशल विकास योजना

  • केंद्र सरकार प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना (पीएमकेवीवाई) का तीसरा चरण वित्त वर्ष 2020-21 में शुरू कर सकती है। कौशल विकास एवं उद्यमिता मंत्री महेंद्र नाथ पांडे ने कहा कि इस चरण को मार्च, 2020 के बाद पेश किया जाएगा। इसका दायरा बड़ा होगा और इसमें ज्यादा पहलुओं को शामिल किया जाएगा।
  • केंद्रीय मंत्री ने मौजूदा योजना के विस्तार के सवाल पर कहा कि आप जानते हैं कि युवाओं को प्रशिक्षण देना और कुशल बनाना सरकार का प्रमुख उद्देश्य है। हम मौजूदा समय में चल रही योजना के तहत 90 फीसदी लक्ष्य प्राप्त कर लेंगे। आने वाले समय में प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना का तीसरा चरण भी पेश करेंगे। उन्होंने सार्वजनिक और निजी क्षेत्र की कंपनियों से अप्रेंटिसशिप कार्यक्रम पर जोर देने की अपील करते हुए कहा कि मैं आश्वासन देता हूं कि मेरा मंत्रालय हर प्रकार की मदद करेगा।

पृष्टभूमि

  • सरकार ने 2015 में प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना शुरू की थी। 2020 तक एक करोड़ लोगों को कुशल बनाने के लक्ष्य के साथ 2016 में इसमें सुधार किया था। आधिकारिक आंकड़ों के मुताबिक, 11 नवंबर तक प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना के तहत देशभर में 69 लाख से अधिक लोगों को प्रशिक्षित किया गया है।

:: अंतर्राष्ट्रीय समाचार ::

सार्क संगठन

  • दक्षिण एशियाई देशों के बीच रिश्तों को बेहतर बनाने के उद्देश्य से 35 वर्ष पहले स्थापित सार्क संगठन का भविष्य़ अभी अंधकारमय ही दिख रहा है। सार्क के स्थापना दिवस पर (8 दिसंबर) को पीएम नरेंद्र मोदी ने सार्क सचिवालय को पत्र लिख कर एक समृद्ध व शांतिपूर्ण दक्षिण एशिया के आगे बढ़ने की उम्मीद जताई है तो उन्होंने परोक्ष तौर पर यह भी बता दिया है कि पड़ोसी देश पाकिस्तान की वजह से ही सार्क पर ग्रहण लगा है। पीएम मोदी ने यह भी संकेत दे दिया है कि जब तक पाकिस्तान की तरफ से आतंकवाद के खिलाफ ठोस व निर्णायक कार्रवाई नहीं की जाती है तब तक सार्क सदस्यों के बीच भरोसे का संचार भी नहीं हो सकता।
  • पाकिस्तान के पीएम इमरान खान ने भी इस अवसर पर औपचारिक संदेश देते हुए उम्मीद जताई है कि सार्क की राह में जो अड़चनें पैदा की गई हैं वे जल्द समाप्त की जाएंगी।

पृष्टभूमि

  • भारत व पाकिस्तान के प्रधानमंत्रियों की तरफ से सार्क दिवस पर संदेश उस समय आये हैं जब इस संगठन का भविष्य पूरी तरह से अनिश्चत है। सार्क देशों की पिछली शिखर बैठक वर्ष 2016 में पाकिस्तान की राजधानी इस्लामाबाद में होनी तय थी, लेकिन जनवरी, 2016 में पठानकोट और उसके बाद उरी हमले के बाद पाकिस्तान समर्थित आतंक के खिलाफ भारत ने बेहद सख्त रणनीति अख्तियार कर ली है। अफगानिस्तान, बांग्लादेश व भारत समेत सभी अन्य देशों की विरोध की वजह से सार्क शिखर बैठक नहीं हो सकी।
  • भारत ने सार्क को दरकिनार कर उसकी जगह एक दूसरे क्षेत्रीय सहयोग संगठन बिम्सटेक को बढ़ावा देने की रणनीति अपना ली। उसके बाद सार्क सहयोग भी तकरीबन बिखरा हुआ है। बिम्सेटक में पाकिस्तान, अफगानिस्तान व मालदीव के अलावा सार्क के शेष देश व साथ ही म्यांमार व थाइलैंड भी शामिल है।
  • सार्क को लेकर भारत के बदले मिजाज को पीएम मोदी के दूसरे शपथग्रहण समारोह से भी पता चलता है। वर्ष 2014 के शपथ ग्रहण में सार्क के सभी सदस्यों के राष्ट्राध्यक्षों को बुलाया गया था जबकि मई, 2014 में बिम्सटेक देशों के सदस्यों को बुलाया गया था।

अंतरराष्ट्रीय अदालत में रोहिंग्याओं के मुद्दे पर सुनवाई

  • नोबेल शांति पुरस्कार से सम्मानित आंग सान सू की रोहिंग्या मुसलमानों के नरसंहार के आरोपों का अंतरराष्ट्रीय अदालत में अपने देश म्यांमार का बचाव करेंगी। रोहिंग्या मुस्लिमों के नरसंहार और लाखों की संख्या में उनके पलायन का मामला अब हेग स्थित संयुक्त राष्ट्र के इंटरनेशनल कोर्ट ऑफ जस्टिस (आईसीजे) की चौखट तक पहुंच चुका है। इस पर 10 दिसंबर से सुनवाई होनी है। आईसीजे में सू की अपने देश का प्रतिनिधित्व करेंगी।

पृष्टभूमि

  • 57 मुस्लिम राष्ट्रों की तरह से अफ्रीकी देश गाम्बिया ने म्यांमार के खिलाफ अंतरराष्ट्रीय अदालत में अपील दायर की है। गाम्बिया ने आईसीजे से म्यांमार में रोहिंग्या मुस्लिमों के नरसंहार को रोकने के लिए अंतरिम उपायों की घोषणा करने की मांग की है। इन देशों का आरोप है कि दो साल पहले म्यांमार की सेना ने बड़ी संख्या में रोहिंग्याओं का कत्ल किया गया। सेना की कार्रवाई से बचने के लिए 10 लाख से अधिक रोहिंग्याओं को म्यांमार से भागकर बांग्लादेश जैसे देशों में शरण लेना पड़ा।

अमेरिकी सांसद प्रमिला जयपाल

  • भारतीय मूल की अमेरिकी सांसद प्रमिला जयपाल ने अमेरिकी संसद में जम्मू-कश्मीर पर एक प्रस्ताव पेश किया है। इसमें भारत से वहां लगाए गए संचार माध्यमों पर लगाए प्रतिबंधों को जल्द से जल्द हटाने और सभी निवासियों की धार्मिक स्वतंत्रता संरक्षित रखे जाने की अपील की गई है। जयपाल के इस कदम का अमेरिकी में रहने वाले भारतीय समुदाय ने कड़ा विरोध किया है। जबकि, भारत भी बार-बार यह स्पष्ट कर चुका है कि कश्मीर मसला उसका आंतरिक मामला है और किसी तीसरे पक्ष का हस्तक्षेप वह बर्दाश्त नहीं करेगा।
  • चेन्नई में पैदा हुई प्रमिला जयपाल पिछले कई सप्ताह से संसद में यह प्रस्ताव पेश करने के प्रयास में थीं, लेकिन उन्हें कोई सहयोगी प्रस्तावक नहीं मिल रहा था। बड़ी मुश्किल से वह रिपब्लिकन पार्टी के स्टीव वाटकिंस का समर्थन पाने में सफल रहीं। यह एक सामान्य प्रस्ताव है, जिस पर संसद के उच्च सदन सीनेट में वोट नहीं किया जा सकता है और यह कानून नहीं बनेगा।
  • प्रस्ताव में भारत से पूरे जम्मू-कश्मीर में संचार सेवाओं पर लगे प्रतिबंधों को हटाने, इंटरनेट सेवाओं को बहाल करने और हिरासत में लिए गए लोगों को रिहा करने की अपील की गई है। भारत सरकार के पांच अगस्त को जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 को हटाने और उसे केंद्र शासित प्रदेश घोषित करने के बाद से ही वहां कई प्रतिबंध लगे हुए हैं।
  • इस प्रस्ताव को पेश किए जाने से पूर्व अमेरिका भर से भारतीय मूल के लोगों ने विभिन्न मंचों से इसका विरोध किया था। समझा जाता है कि जयपाल के कार्यालय को इस प्रस्ताव को पेश नहीं करने के लिए भारतीय अमेरिकियों के 25 हजार से अधिक ईमेल प्राप्त हुए। भारतीय अमेरिकियों ने कश्मीर पर प्रस्ताव पेश करने के उनके कदम के खिलाफ उनके कार्यालय के बाहर शांतिपूर्ण तरीके से प्रदर्शन भी किया।

:: भारतीय राजव्यवस्था ::

रेप मामलों के लिए खुलेंगे 1023 फास्ट ट्रैक कोर्ट

  • केंद्रीय कानून व सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कहा कि देश में हो रहीं रेप की घटनाएं दुर्भाग्यपूर्ण हैं। रेप के मामलों के शीघ्र निष्पादन के लिए देशभर में 1023 फास्ट ट्रैक कोर्ट खोले जाएंगे। इसके लिए केंद्र सरकार ने विशेष पहल की है।
  • देश में 400 फास्ट ट्रैक कोर्ट खोलने के लिए केंद्र व राज्य सरकारों के बीच सहमति भी बन गई है। इसके लिए 90 करोड़ रुपये स्वीकृत किए गए हैं। फिलहाल, देशभर में 107 फास्ट ट्रैक कोर्ट कार्यरत हैं। उच्चतम न्यायालय की निगरानी में बच्चियों के साथ रेप के मामलों की सुनवाई होगी। इसके लिए देश के मुख्य न्यायाधीश से बातचीत हुई है। इसके लिए वे खुद भी हाईकोर्ट के जजों व राज्यों के मुख्यमंत्रियों को पत्र लिखेंगे।
  • बच्चियों के साथ रेप के मामलों की जांच दो माह में पूरी करने के लिए कानून बना है और इसे सख्ती से लागू करने के लिए मुख्यमंत्रियों से बात की जा रही है। पुलिस को दो माह में जांच पूरी करनी है। बच्चियों के साथ रेप के मामले में स्पीडी ट्रायल व फांसी का प्रावधान है। उन्होंने हाईकोर्ट के जजों के साथ ही राज्यों के मुख्यमंत्रियों से आग्रह किया है कि बच्चियों के साथ रेप के मामले में दोषियों को शीघ्र सजा दिलायी जाए। इसके लिए केंद्र सरकार व विधि मंत्रालय विशेष पहल कर रहा है।

लोकसभा, विधानसभाओं में एससी, एसटी का आरक्षण

  • लोकसभा और राज्य विधानसभाओं में अनुसूचित जाति (एससी) एवं अनुसूचित जनजाति (एसटी) के लिए आरक्षण की सीमा 10 वर्ष और बढ़ाई जाएगी, लेकिन विधायिका में आंग्ल-भारतीय समुदाय के व्यक्ति को मनोनीत करने की व्यवस्था अगले वर्ष जनवरी में समाप्त हो जाएगी। संसद के निचले सदन में सोमवार को पेश किए जाने के लिए सूचीबद्ध एक विधेयक में ये प्रस्ताव किए गए हैं। उल्लेखनीय है कि लोकसभा और राज्य विधानसभाओं में इन श्रेणियों के लिए आरक्षण 25 जनवरी 2020 को समाप्त होने वाला है।
  • संविधान (126वां) संशोधन विधेयक के मुताबिक जब संविधान लागू हुआ था, तब लोकसभा और राज्य विधानसभाओं में अनुसूचित जाति एवं अनूसूचित जनजाति के लिए आरक्षण की अवधि 70 वर्ष निर्धारित की गई थी। अनुसूचति जाति एवं अनुसूचित जनजाति समुदायों के लिए आरक्षण विधेयक को 25 जनवरी 2030 तक बढ़ाने का प्रस्ताव है जबकि आंग्ल भारतीय समुदाय के लिए यह व्यवस्था समाप्त की जा रही है। संविधान के अनुच्छेद 334 के मुताबिक इन समुदायों को विधायिका में 70 वर्षों के लिए 25 जनवरी 2020 तक आरक्षण की व्यवस्था थी।
  • संसद में अनुसूचित जाति के 84 सदस्य और अनुसूचित जनजाति के 47 सदस्य हैं। देश भर की राज्य विधानसभाओं में अनुसूचित जाति के 614 सदस्य और अनुसूचित जनजाति के 554 सदस्य हैं। लोकसभा की वेबसाइट के मुताबिक अभी आंग्ल भारतीय समुदाय के दो सदस्यों को लोकसभा में मनोनीत करने का प्रावधान है लेकिन अभी तक उन्हें मनोनीत नहीं किया गया है।

:: भारतीय अर्थव्यवस्था ::

सोने के गहनों की हॉलमार्किंग

  • सोने के गहनों की हॉलमार्किंग 15 जनवरी, 2021 से होगी अनिवार्य होने वाली है, लेकिन पूर्वोत्तर के राज्यों और पांच केंद्र शासित प्रदेशों में सोने की शुद्धता की पहचान और हॉलमार्किंग की कोई व्यवस्था नहीं है। आंकड़ों के मुताबिक, अरुणाचल प्रदेश, मणिपुर, मेघालय, मिजोरम, नगालैंड, सिक्किम, लद्दाख, अंडमान निकोबार द्वीप समूह, दादरा एवं नगर हवेली, दमन व दीव तथा लक्षद्वीप में एक भी गोल्ड हॉलमार्किंग सेंटर नहीं है।
  • इस बारे में केंद्रीय उपभोक्ता मामले मंत्रालय के एक अधिकारी ने कहा कि सोने की शुद्धता की पहचान और हॉलमार्किंग सेंटर की स्थापना स्थानीय स्तर पर निजी कारोबारियों द्वारा की जाती है। जिन बाजारों में ऐसे केंद्रों की जरूरत महसूस हुई है, वहां निजी कंपनियों ने अपनी लाभ-हानि को देखते हुए वहां ऐसे केंद्र स्थापित किए हैं। वर्तमान में देशभर के 234 जिलों में ऐसे सेंटर काम कर रहे हैं। सबसे ज्यादा 123 सेंटर महाराष्ट्र में हैं। दिल्ली में इस वक्त 41 ऐसे केंद्र काम कर रहे हैं।
  • करीब एक सप्ताह पहले उपभोक्ता मामलों के मंत्री राम विलास पासवान ने शुक्रवार को एलान किया कि 15 जनवरी, 2021 से देशभर में सोने के गहनों और कलाकृतियों की हॉलमार्किंग अनिवार्य होगी। इसके लिए अधिसूचना अगले वर्ष 15 जनवरी तक जारी कर दी जाएगी, और जौहरियों को पुराना स्टॉक निकालने के लिए एक वर्ष की मोहलत दी जाएगी। हॉलमार्किंग अनिवार्य किए जाने से ग्राहकों को शुद्ध सोना मिलेगा। वर्तमान में सोने के गहनों पर हॉलमार्किंग ऐच्छिक है।

क्या होती है हॉलमार्किंग

  • हॉलमार्किंग सोने की शुद्धता का प्रमाण होता है। भारतीय मानक ब्यूरो (बीआइएस) सोने के गहनों पर हॉलमार्किंग के लिए अधिकृत अथॉरिटी है। बीआईएस उपभोक्ता मामलों के मंत्रालय के अधीन है। ब्यूरो ने सोने के गहनों की हॉलमार्किंग के लिए तीन ग्रेड 14 कैरट, 18 कैरट और 22 कैरट में स्टैंडर्ड निर्धारित किए हैं। मंत्रालय के अनुसार, ग्राहकों के हितों की रक्षा के लिए सोने के गहनों की हॉलमार्किंग अनिवार्य है।

भारती एयरटेल

  • भारती एयरटेल की प्रमोटर भारती टेलीकॉम ने 4,900 करोड़ रुपए का विदेशी निवेश (एफडीआई) जुटाने के लिए दूरसंचार विभाग से मंजूरी मांगी है। इसकी इजाजत मिली तो देश की सबसे पुरानी टेलीकॉम ऑपरेटर विदेशी कंपनी बन जाएगी, क्योंकि इतने एफडीआई के बाद भारती टेलीकॉम में विदेशी शेयरहोल्डिंग 50% से ज्यादा हो जाएगी।
  • भारती टेलीकॉम ने सिंगापुर की सिंगटेल और कुछ अन्य विदेशी कंपनियों से निवेश जुटाने की मंजूरी के लिए आवेदन किया है। दूरसंचार विभाग से इसी महीने मंजूरी मिलने की उम्मीद है। विभाग एक बार पहले भारती का एफडीआई आवेदन नामंजूर कर चुका है, क्योंकि उस वक्त यह स्पष्ट नहीं बताया गया कि विदेशी निवेशक कौन हैं।
  • भारती टेलीकॉम में सुनील भारती मित्तल और उनके परिवार की करीब 52% हिस्सेदारी है। भारती टेलीकॉम के पास एयरटेल के 41% शेयर हैं जबकि विदेशी प्रमोटर होल्डिंग 21.46% है। करीब 37% शेयर आम निवेशकों के पास हैं।
  • भारती एयरटेल में विदेशी निवेशकों की शेयरहोल्डिंग अभी 43% है। इसकी प्रमोटर भारती टेलीकॉम का स्वामित्व विदेशी फर्मों के पास जाने के बाद एयरटेल में विदेशी हिस्सेदारी बढ़कर 84% हो जाएगी। एयरटेल पहले ही एफडीआई की सीमा बढ़ाकर 100% करने का आवेदन कर चुकी है।
  • भारती एयरटेल एडजस्टेड ग्रॉस रेवेन्यू (एजीआर) मामले में बकाया और अन्य देनदारियां चुकाने के लिए रकम जुटा रही है। कंपनी पर एजीआर मामले में 43,000 करोड़ रुपए बकाया हैं।

:: विज्ञान और प्रौद्योगिकी ::

'प्रोजेक्ट नेत्र'

  • सरकार ने अंतरिक्ष में भारतीय उपग्रहों को मलबे और अन्य खतरों से सुरक्षित रखने वाले इसरो के 'प्रोजेक्ट नेत्र' के लिए 33.30 करोड़ रुपये के अनुदान का प्रस्ताव किया है। अनुदान की पूरक मांगों के दस्तावेज से यह जानकारी मिली है। वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण ने अनुदान के लिए प्रस्ताव रखा था जिसे पिछले सप्ताह लोकसभा ने पारित कर दिया।
  • सितंबर में भारत ने अंतरिक्ष में अपने उपग्रहों एवं अन्य संपत्तियों के मलबे एवं अन्य वस्तुओं से सुरक्षा के लिए प्रारंभिक चेतावनी प्रणाली नेत्र (नेटवर्क फॉर स्पेस आब्जेक्ट) लांच किया था। इस पर 400 करोड़ रुपये की लागत का अनुमान है। वैज्ञानिकों का कहना है कि मानव की 50 वर्षो की अंतरिक्ष खोज ने पृथ्वी की कक्षा में कचरे की एक पट्टी बना दी है जो मानव निर्मित उपग्रहों के लिए खतरा है।

पृष्टभूमि

  • भूस्थैतिक कक्षा में इस समय भारत के 15 संचार उपग्रह सक्रिय हैं। इसके अलावा निम्न भू कक्षा (2,000 किलोमीटर के दायरे) में 13 रिमोट सेंसिंग उपग्रह तथा पृथ्वी की मध्यम कक्षा में आठ नेविगेशन उपग्रह स्थापित हैं। इसके अलावा भी कई छोटे उपग्रह अंतरिक्ष में मौजूद हैं।
  • सतीश धवन अंतरिक्ष केंद्र के पूर्व वरिष्ठ वैज्ञानिक डॉ. एमवाईएस प्रसाद ने कहा कि भारत एक जिम्मेदार अंतरिक्ष शक्ति है और इस तरह की निगरानी क्षमता अंतरिक्ष संपत्ति की सुरक्षा के लिए जरूरी है।
  • एक रिपोर्ट के अनुसार करीब 17000 मानव निर्मित वस्तुएं अंतरिक्ष में निगरानी में हैं। इनमें से सात फीसद सक्रिय हैं। एक समय के बाद ये निष्कि्रय हो जाते हैं और अंतरिक्ष में घूमने के दौरान एक दूसरे से टकराते रहते हैं।
  • हर साल अंतरिक्ष में बेकार हो गई वस्तुओं के टकराव की कई घटनाएं होती हैं। मृत उपग्रह और अन्य प्रकार के मलबे पृथ्वी की कक्षा में मौजूद हैं। ये मलबे किसी भी सक्रिय उपग्रह को नुकसान पहुंचा सकते हैं।

सर्रा रोग

  • देश में घोड़ों, गाय, भैंस, ऊंट जैसे अन्य पालतू जानवर हर साल सर्रा नामक बीमारी से दम तोड़ देते हैं। संक्रामक टेबेनस मक्खी से फैलने वाले इस रोग के कारण ग्रसित पशुओं में खून की कमी, कार्य क्षमता में कमी, गर्भपात आदि विकार उत्पन्न हो जाते हैं। इस बीमारी पर पिछले लंबे समय से हिसार के राष्ट्रीय अनुसंधान केन्द्र (एनआरसीई) के वैज्ञानिकों को सफलता मिली है। वैज्ञानिकों ने इस रोग को डाइग्नोज करने के लिए विभिन्न तकनीकें विकसित की हैं, जिसमें एलाइजा विधि, पीसीआर विधि व आरटी पीसीआर विधि शामिल हैं। डाइग्नोज की इस तकनीक के विकसित होने के बाद जल्द से जल्द रोग की पहचान कर ली जा रही है। इसके साथ ही अब इस रोग से पशुओं को निदान दिलाने के लिए नई दवाओं के खोज पर अध्ययन शुरू कर दिया गया है।
  • सर्रा रोग के अधिकांश मामले गुजरात, राजस्थान, पंजाब और उत्तर प्रदेश, बंगाल, महाराष्ट्र व मध्य प्रदेश में हर साल मिलते हैं। खास बात है कि अभी तक यह भी नहीं पता था कि इससे कितने धन की हानि होती है, एनआरसीई की रिसर्च में सामने आया कि देश में 4 हजार करोड़ रुपये का पशुधन प्रत्येक वर्ष बर्बाद हो जाता है। वहीं सर्रा रोग भारत, वर्मा, श्रीलंका, दक्षिणी चीन, स्याम सुमात्रा, जावा, फिलीपींस, ईरान तथा अरब देशों में पाया जाता है।

ट्रिपेनोसोमा इवंसाई परजीवी

  • टेबेनस मक्खी में ट्रिपेनोसोमा इवंसाई नाम का परजीवी पाया जाता है। इन मक्खियों का चक्रित विकास न होने के कारण यह एक-एक कर पशु का रक्त चूसती हैं। इस तरीके से शीघ्रता से परजीवी को एक पशु से दूसरे पशु में फैलाता जाता है। बरसात के मौसम में इस मक्खी के अधिक प्रजनन के कारण यह रोग इस मौसम में अधिक फैलता है। यह रोग अगस्त के अंत से शुरू होकर शीत ऋतु तक चलता है। संक्रमित जानवरों में तनाव की स्थिति में यह रोग जल्दी पनपता है। इस रोग को फैलने का मुख्य कारण टेबेनस मक्खी को माना जाता है।

सर्रा रोग के लक्षण

  • टेबेनस मक्खी जब परजीवी को जानवर में छोड़ती है तो यह परजीवी लसिका उत्तकों में विभाजित होते हैं और विभाजन के बाद ये परजीवी इन्हीं उत्तकों में अपना स्थान बना लेते हैं। बाद में परजीवी जानवर के परिसंचरण तंत्र को धीरे-धीरे समाप्त करने लगता है। इसके कारण पहले पशुओं को बुखार आता है। बाद में कमजोरी, पशु आहार लेना बंद कर देता है, उत्पादन क्षमता कम हो जाती है फिर प्राकृतिक संक्रामण तथा रोग की तीव्र अवस्था में ज्यादातर 1 से 2 सप्ताह के बीच पशु की मृत्यु हो जाती है।

‘डूचीफैट-3’

  • इस्राइल के तीन स्कूली छात्र अगले हफ्ते भारत आएंगे और खुद के डिजाइन से बनाए उपग्रह ‘डूचीफैट-3’ को इसरो की मदद से पृथ्वी की कक्षा में स्थापित करेंगे। 11 दिसंबर को प्रस्तावित पीएसएलवी सी 48 रॉकेट प्रक्षेपण के जरिए इसे अंतरिक्ष में भेजा जाएगा। यह इस्राइल के स्कूली बच्चों द्वारा तैयार किया गया तीसरा उपग्रह है।
  • छात्रों के अनुसार यह एक फोटो सैटेलाइट है, जिसका काम पृथ्वी के वातावरण का अध्ययन होगा, इसका किसान भी लाभ ले सकेंगे। प्रोजेक्ट के प्रायोजकों में शामिल जीव मिलर ने बताया कि ‘डूचीफैट-3’ रिमोट सेन्सिंग उपग्रह है, इसके जरिए देश के वायु व जल प्रदूषण और जंगलों के हालात की निगरानी भी की जा सकती है।
  • उपग्रह की योजना, अंतरिक्ष में उसकी कार्यप्रणाली और जमीन से सॉफ्टवेयरों के जरिए उससे संपर्क आदि को छात्रों ने ही तैयार किया। यह केवल 2.3 किलो का है। इसे तैयार करने में करीब ढाई वर्ष लगे। कुल 60 विद्यार्थियों ने मिलकर इसे तैयार किया है। सभी निर्णय इन्हाने ने ही मिलकर लिए। उनसे संबंधित वरिष्ठ लोग केवल सुझावदाता की भूमिका में रहे। छात्रों ने कम बजट के बावजूद उपग्रह से डाटा ट्रांसफर सुनिश्चित करने के लिए उपग्रह द्वारा ली जाने वाली तस्वीरों को कंप्रेस करके पृथ्वी पर भेजने की तकनीक का उपयोग किया है।

:: पर्यावरण और पारिस्थितिकी ::

'इको वॉरियर्स'

  • औरंगाबाद के सोलापुर की वेदा लोलगे ने यूनेस्को की मदद से 'इको वॉरियर्स' गेम तैयार किया है। इस गेम को मॉरीशस के शिक्षा विभाग की मंजूरी के बाद पूरे देश में स्कूली पाठ्यक्रम में शामिल किया गया है। यह गेम पर्यावरण संरक्षण के साथ-साथ कचरा प्रबंधन की सीख भी देता है।
  • वेदा ने सितंबर में 'पांडा एंड वुल्फ होल्डिंग' कंपनी की ओर से इको वॉरियर्स गेम लॉन्च किया है। गेम से मॉरीशस में 6 से 11 वर्ष आयु समूह के बच्चों को पर्यावरण संरक्षण की सीख दी जा रही है।
  • 4 लेवल और 10 सब-लेवल पार करने के बाद अंतिम लेवल तक पहुंचने वाला बच्चा इको वॉरियर बनकर पर्यावरण संरक्षण के लिए तैयार होता है। इसमें मॉरिशस के इतिहास, भूगोल और वन्यजीवन की भी जानकारी दी जाती है।

भारत में कचरा निस्तारण

  • देश के 93 प्रतिशत शहरी निकाय स्वच्छ भारत अभियान के जरिए घरों से रोजाना कचरा उठा रहे हैं। यहां से 1.45 लाख टन कचरा निकल रहा है, लेकिन 57 प्रतिशत ही निस्तारण हो रहा है। केंद्रीय आवास एवं शहरी विकास मंत्रालय ने यह जानकारी संसद में दी। मंत्रालय द्वारा प्रस्तुत रिपोर्ट में बताया गया कि कचरा प्रबंधन में सबसे आगे छत्तीसगढ़ है। वहीं बड़े राज्य महाराष्ट्र और यूपी बहुत पीछे छूट गए हैं। 14 राज्यों में सारे शहरी निकाय घरों से कचरा उठा रहे हैं।

महत्वपूर्ण तथ्य

  1. 84000 शहरी निकाय देश में
  2. 79000 निकास घरों से कचरा उठा रहे
  3. 1.45 लाख टन कचरा देश में हर रोज निकल रहा
  4. 57 प्रतिशत कचरा ही रिसाइकल या प्रोसेस हो रहा

बाकी कचरा कहां?

  • बाकी कचरा जमीन पर ही बिखरा जा रहा है, या जमीन में दफनाया जा रहा है।

यह होना चाहिए

  • केंद्र ने स्वच्छ भारत अभियान में 5023.96 करोड़ रुपये जारी किए गए। उसका लक्ष्य 2022 तक देश के सभी शहरों में कचरा प्रबंधन लागू करना है। प्रदेश सरकारों को प्लास्टिक से सड़क बनाने, सीमेंट उद्योग में उपयोग करने, आरडीएफ ईंधन तैयार करने जैसी तकनीकें दी जा रही हैं।

कचरा निस्तारण में अग्रणी राज्य

  1. छत्तीसगढ़ : 1,650 टन कचरा हर रोज 3,217 शहरी निकाय जमा कर रहे हैं। 90 प्रतिशत प्रोसेस हो रहा
  2. मध्यप्रदेश : 6,424 टन कचरा 6,999 निकाय जमा कर रहे, 84 प्रतिशत का निस्तारण

कचरा निस्तारण में फिसड्डी राज्य :

  • महाराष्ट्र के शहरों से रोजाना 23,450 टन कचरा जमा हो रहा है, जो देश में सर्वाधिक है। लेकिन निस्तारण केचल 57 प्रतिशत का हो रहा है। यूपी में 58 और तमिलनाडु में 62 प्रतिशत ही कचरा निस्तारण हो पा रहा है। पश्चिम बंगाल व जम्मू और कश्मीर में नौ, मेघालय में चार और अरुणाचल प्रदेश में शून्य प्रतिशत कचरा निस्तारण हो रहा है।

विद्यमान नियम

  • केंद्रीय वन एवं पर्यावरण मंत्रालय ने ठोस कचरा प्रबंधन नियमावली 2016 जारी की थी। इसके जरिए शहरों में बढ़ते कचरे के पहाड़ खत्म करने और जमीन में इन्हें भरने की समस्या रोकने का प्रयास किया गया। इसके अनुसार कचरे को जमा करने, उसके विभाजन, निस्तारण और रिसाइकल का काम प्रदेश सरकारों को ही करना है।

:: विविध ::

लियोनल मेस्सी

  • लियोनल मेस्सी ने ला लीगा में 35वीं हैट्रिक के साथ नया रिकॉर्ड बनाया । बार्सिलोना के स्ट्राइकर लियोनल मेसी की यह ला लिगा में रिकॉर्ड 35वीं हैट्रिक है। इस मामले में उन्होंने युवेंट्स के क्रिस्टियानो रोनाल्डो को पीछे छोड़ दिया।

हेनरिक स्टेनसन

  • स्वीडन के हेनरिक स्टेनसन ने पार पांच के 15वें होल में ईगल के साथ यहां एक शॉट से हीरो विश्व चैलेंज गोल्फ टूर्नामेंट का खिताब जीत लिया।

‘दिवाली-पावर ऑफ वन’ 2019

  • संयुक्त राष्ट्र में नियुक्त चार प्रसिद्ध राजनयिकों को सुरक्षित एवं शांतिपूर्ण दुनिया बनाने की दिशा में उनके कार्यों और विशेष रूप से अमेरिका में किए गए उनके कार्यों को लेकर ‘दिवाली-पावर ऑफ वन’ पुरस्कार से सम्मानित किया गया है।
  • इस पुरस्कार को ‘कूटनीति के ऑस्कर’ के रूप में जाना जाता है। इसे 2017 में दिवाली फाउंडेशन यूएसए, इंक ने शुरू किया था। इन राजनयिकों में कजाखस्तान के पूर्व विदेश मंत्री एवं संयुक्त राष्ट्र में स्थायी प्रतिनिधि कैरात अब्दराखमानोव, साइप्रस के पूर्व स्थायी प्रतिनिधि निकोलस एमिलीयू, स्लोवाकिया के स्थायी प्रतिनिधि फ्रांतीसेक रूजिका और यूक्रेन के स्थायी प्रतिनिधि वी येलचेंको शामिल हैं।

मानव ठक्कर

  • भारत के युवा टेबल टेनिस खिलाड़ी मानव ठक्कर ने यहां आईटीटीएफ चैलेंज प्लस बेनेक्स विर्गो नॉर्थ अमेरिकन ओपन का खिताब जीतकर रविवार को इतिहास रच दिया। मानव 2017 के बाद से इस खिताब को जीतने वाले पहले भारतीय बन गए हैं।

:: प्रिलिम्स बूस्टर ::

  • ‘पाइका विद्रोह स्मारक’ का निर्माण कहां किया जा रहा है? (खुरदा - ओडिशा)
  • किन दो देशों के मध्य संयुक्त सैन्य प्रशिक्षण अभ्यास ‘हैंड-इन-हैंड’ 2019 का आयोजन किया जा रहा है? (भारत और चीन)
  • देश सबसे बड़ा म्यूजिकल फ्लोटिंग फाउंटेन किस शहर में स्थित है? (भोपाल, मध्य प्रदेश)
  • किस तिथि को सार्क के स्थापना दिवस के रुप में मनाया जाता है? (8 दिसंबर)
  • मुस्लिम राष्ट्रों की तरफ से किस देश के द्वारा रोहिंग्या मुस्लिमों पर अत्याचार के खिलाफ अंतरराष्ट्रीय अदालत में अपील दायर की गई थी? (गाम्बिया)
  • भारतीय मूल के किस अमेरिकी सांसद के द्वारा अमेरिकी संसद में जम्मू-कश्मीर पर एक प्रस्ताव प्रस्तुत किया गया है? (प्रमिला जयपाल)
  • भारत में किस तिथि से सोने के गहनों की हॉलमार्किंग अनिवार्य हो जाएगी? (15 जनवरी, 2021)
  • अंतरिक्ष में भारतीय उपग्रहों को मलबे और अन्य खतरों से सुरक्षित रखने के लिए हाल ही में सरकार के द्वारा किस प्रोजेक्ट को मंजूरी प्रदान की गई है? (प्रोजेक्ट नेत्र)
  • पालतू जानवरों में होने वाला सर्रा नामक बीमारी का वाहक कौन होता है? (टेबेनस मक्खी)
  • 11 दिसंबर को प्रस्तावित पीएसएलवी सी 48 से प्रक्षेपित होने वाला ‘डूचीफैट-3’ उपग्रह को किस देश के विद्यार्थियों द्वारा तैयार किया गया है? (इजरायल)
  • यूनेस्को की मदद से तैयार किए गए ‘ इको वॉरियर्स गेम’ को किसने बनाया है? (वेदा लोलगे)
  • हाल ही में किस खिलाड़ी ने ला लिगा टूर्नामेंट में क्रिस्टियानो रोनाल्डो के हैट्रिक के रिकॉर्ड को तोड़ दिया है? (लियोनल मेस्सी)
  • हाल ही में किस खिलाड़ी ने विश्व चैलेंज गोल्फ टूर्नामेंट का खिताब जीता? (हेनरिक स्टेनसन)
  • कूटनीति के ऑस्कर के रूप में विख्यात ‘दिवाली-पावर ऑफ वन’ पुरस्कार किस संस्था के द्वारा प्रदान किया जाता है? (दिवाली फाउंडेशन यूएसए, इंक)
  • हिंदी में किस खिलाड़ी के द्वारा आईटीटीएफ चैलेंज प्लस बेनेक्स विर्गो नॉर्थ अमेरिकन ओपन का खिताब जीता गया? (मानव ठक्कर)

स्रोत साभार: Dainik Jagran (Rashtriya Sanskaran), Dainik Bhaskar (Rashtriya Sanskaran), Rashtriya Sahara (Rashtriya Sanskaran) Hindustan Dainik (Delhi), Nai Duniya, Hindustan Times, The Hindu, BBC Portal, The Economic Times (Hindi & English), PTI, PIB

<< मुख्य पृष्ठ पर वापस जाने के लिये यहां क्लिक करें