(दैनिक समसामयिकी और प्रिलिम्स बूस्टर) यूपीएससी और सभी राज्य लोक सेवा आयोग परीक्षाओं के लिए हिंदी में समाचार पत्रों का संकलन (07 सितंबर 2019)

दैनिक समसामयिकी और प्रिलिम्स बूस्टर


(दैनिक समसामयिकी और प्रिलिम्स बूस्टर) यूपीएससी और सभी राज्य लोक सेवा आयोग परीक्षाओं के लिए हिंदी में समाचार पत्रों का संकलन (07 सितंबर 2019)


:: राष्ट्रीय समाचार ::

राष्‍ट्रीय पशु रोग नियंत्रण कार्यक्रम और राष्‍ट्रीय कृत्रिम गर्भाधान कार्यक्रम

  • प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी 11 सितंबर, 2019 को मथुरा में खुरपका और मुंहपका की बीमारी तथा ब्रुसेलोसिस के लिए राष्‍ट्रीय पशु रोग नियंत्रण कार्यक्रम का शुभारंभ करेंगे। इस अवसर पर प्रधानमंत्री राष्‍ट्रीय कृत्रिम गर्भाधान कार्यक्रम को भी लॉन्‍च करेंगे।
  • प्रधानमंत्री श्री मोदी पशु विज्ञान एवं आरोग्‍य मेले में भी शामिल होंगे तथा बाबूगढ़ सेक्‍स सीमेन सुविधा और देश के सभी 687 जिलों के कृषि विज्ञान केंद्रों में कार्यशाला का शुभारंभ करेंगे। कार्यशाला का विषय है- टीकाकरण और रोग नियंत्रण, कृत्रिम गर्भाधान एवं उत्‍पादकता आदि।
  • खुरपका और मुंहपका रोग तथा ब्रुसेलोसिस के लिए राष्‍ट्रीय पशु रोग नियंत्रण कार्यक्रम का शत प्रतिशत वित्‍त पोषण केंद्र सरकार करेगी। इस मद में 2019 से 2024 के लिए 12,652 करोड़ रुपये आवंटित किए गए हैं। कार्यक्रम का उद्देश्‍य टीकाकरण के माध्‍यम से खुरपका और मुंहपका रोग तथा ब्रुसेलोसिस को 2025 तक नियंत्रित करना तथा 2030 तक पूरी तरह समाप्‍त करना है।

69वीं इंटर-सर्विसेज एथलेटिक्स चैम्पियनशिप

  • आर्मी स्पोर्ट इंस्टीट्यूट, पुणे में सात से 10 सितंबर, 2019 तक 69वीं इंटर-सर्विसेज एथलेटिक्स चैम्पियनशिप का आयोजन किया जाएगा। इस चार दिवसीय आयोजन में देश के कुछ बेहतरीन एथलीट चैम्पियनशिप में एक-दूसरे से प्रतिस्पर्धा करेंगे।
  • आर्मी स्पोर्ट इंस्टीट्यूट को एक जुलाई, 2019 को शुरू किया गया था। वहां तीरंदाजी, एथलेटिक्स, मुक्केबाजी, डाइविंग, भारोत्तोलन और कुश्ती की उत्कृष्ट सुविधाएं मौजूद हैं। भारतीय सेना ओलम्पिक के लिए इन सुविधाओं के तहत तैयारी करती है। अप्रैल, 2018 में तलवारबाजी को जोड़ा गया था।

स्मार्ट सिटीज मिशन टेक्नोलॉजी प्रदर्शनी

  • स्मार्ट सिटीज मिशन ने इन्वेस्ट इंडिया तथा भारत सरकार के प्रधान वैज्ञानिक सलाहकार के कार्यालय की साझेदारी में पुणे में स्मार्ट सिटीज मिशन टेक्नोलॉजी प्रदर्शनी का आयोजित किया। इसके लिए पुणे स्मार्ट सिटी विकास निगम लिमिटेड मेजबान स्मार्ट सिटी थी। 30 अगस्त, 2019 को हुए इस आयोजन का उद्देश्य चार निम्नलिखित क्षेत्रों में श्रेण टेक्नोलॉजी का सामने लाना थाः
  1. यातायात प्रबंधन, परिवहन तथा मोबिलिटी, प्रदूषण प्रबंधन
  2. जल, स्वच्छता तथा ठोस कचरा प्रबंधन
  3. रक्षा, निगरानी और सुरक्षा
  4. सामाजिक (स्वास्थ्य, शिक्षा तथा नागरिक भागीदारी)
  • फोकस वाले इन क्षेत्रों में समाधान से भारतीय स्मार्ट सिटी की महत्वपूर्ण समस्याओं के समाधान में सहायता मिलेगी। यह प्रदर्शनी स्मार्ट सिटीज के विकास में नवाचारी प्रणाली को निकट लाने की दिशा में पहला कदम है।
  • गोलमेज चर्चा के दौरान स्टार्ट-अप तथा राष्ट्रीय विज्ञान और टेक्नोलॉजी अनुसंधान प्रयोगशालाओं ने स्मार्ट सिटीज के मुख्य कार्यकारी अधिकारियों (सीईओ) के समक्ष अपने समाधान प्रस्तुत किए। प्रत्येक सीईओ ने नॉलेज पार्टनरों के साथ स्टार्ट-अप तथा अनुसंधान प्रयोगशालओं से बातचीत की ताकि उनके समाधानों को बेहतर तरीके से समझा जा सके और संभावित तालमेल की पहचान की जा सके। नॉलेज पार्टनरों ने समाधान के लिए अपने इनपुट दिए ताकि स्मार्ट सिटी के लिए उनके नवाचार से मदद मिल सके।
  • समारोह में महाराष्ट्र तथा गुजरात के 12 स्मार्ट सिटी के सीईओ, विभिन्न नॉलेज पार्टनरों तथा विकास और अनुसंधान प्रयोगशालाओं के साथ शामिल हुए। कुल 9 स्टार्ट-अप को अपनी टेक्नोलॉजी प्रस्तुत करने तथा विभिन्न हितधारकों के साथ संवाद करने का अवसर मिला।
  • स्मार्ट सिटीज के मुख्य कार्यकारी अधिकारियों ने स्टार्ट-अप के साथ कार्य करने की इच्छा व्यक्त की। इस पहल को आगे ले जाने के लिए इन्वेस्ट इंडिया तथा आवास शहरी कार्य मंत्रालय के स्मार्ट सिटीज मिशन के साथ भारत के अन्य क्षेत्रों में इसी तरह की टेक्नोलॉजी प्रदर्शनी आयोजित करेगी।

राखीगढ़ी

  • आर्य बाहर (विदेश) से आए थे या यहीं (भारत) के निवासी थे? इस सवाल का जवाब मिल गया है। दरअसल, हरियाणा के हिसार जिले के राखीगढ़ी में हुई हड़प्पाकालीन सभ्यता की खोदाई में कई राज से पर्दा उठा है। राखीगढ़ी में मिले 5000 साल पुराने कंकालों के अध्ययन के बाद जारी की गई रिपोर्ट से खुलासा हुआ है कि आर्य यहीं के मूल निवासी थे, बाहर से नहीं आए थे। यह भी पता चला है कि भारत के लोगों के जीन में पिछले हजारों सालों में कोई बड़ा बदलाव नहीं हुआ है।

बाहर से नहीं आये थे आर्य

  • इस रिसर्च में सामने आया है कि आर्यन्स भारत के ही मूल निवासी थे। इसे लेकर वैज्ञानिकों ने राखीगढ़ी में मील नरकंकालों के अवशेषों का डीएनए टेस्ट किया था। डीएनए टेस्ट से पता चला है कि यह रिपोर्ट प्राचीन आर्यन्स की डीएनए रिपोर्ट से मेल नहीं खाती है। ऐसे में जाहिर आर्यों के बाहर से आने की थ्योरी ही गलत साबित हो जाती है।

9000 साल पहले भारत में हुई थी कृषि की शुरुआत

  • रिसर्च में सामने आया है कि 9000 साल पहले भारत के लोगों ने ही कृषि की शुरुआत की थी। इसके बाद ये ईरान व इराक होते हुए पूरी दुनिया में पहुंची। भारत के विकास में यहीं के लोगों का योगदान है। कृषि से लेकर विज्ञान तक, यहां पर समय समय पर विकास होता रहा है। भारतीय पुरातत्व विभाग (Archaeological Survey of India) और जेनेटिक डाटा से इस बात को पूरी दुनिया ने माना है।
  • गौरतलब है कि इतिहास सिर्फ लिखित तथ्यों को मानता है, लेकिन वैज्ञानिक सबूतों का ज्यादा महत्व होता है। राखीगढ़ी में मिले 5000 साल पुराने कंकालों के अध्ययन के बाद जारी की गई रिपोर्ट में यह बात भी सामने आई है कि हड़प्पा सभ्यता में सरस्वती की पूजा होती थी। इतना ही नहीं यहां पर हवन भी होता था।

चैडविक हाउस- देश का पहला सीएजी म्यूजियम

  • सीएजी महात्मा गांधी की 150वीं जयंती के मौके पर बापू को अनूठे अंदाज में याद करने जा रहा है। आजादी के आन्दोलन के दौरान गांधीजी शिमला के जिस चैडविक हाउस में अक्सर ठहरते थे, उसे सीएजी अपना म्यूजियम बनाने जा रहा है। देश का यह पहला ऑडिट म्यूजियम होगा और इसमें सीएजी के 169 साल के इतिहास की झलक देखने को मिलेगी।

चैडविक हाउस एक ऐतिहासिक इमारत

  • शिमला के समरहिल रिज पर स्थित चैडविक हाउस एक ऐतिहासिक इमारत है। सीएजी ने इस इमारत का इस्तेमाल स्टाफ ट्रेनिंग कालेज के रूप में किया था और इंडियन ऑडिट एंड अकाउंट सर्विस के शुरुआती दो बैच के अधिकारियों यहीं ट्रेनिंग दी गयी थी। अब यह इमारत जीर्णावस्था में है और सीएजी ने इसका जीर्णोद्धार कर इसे म्यूजियम बनाने का बीड़ा उठाया है।
  • सीएजी की स्थापना 16 नवंबर 1860 को हुई थी। सर एडमंड को पहला ऑडिटर जनरल नियुक्त किया गया था। वी नरहरि राव आजाद भारत के पहले सीएजी बने। प्रस्तावित म्यूजियम में मिनी आर्किटेक्चरल मॉडल और उन ऐतिहासिक इमारतों के फोटोग्राफ होंगे जहां फिलहाल सीएजी के ऑफिस स्थित हैं।
  • महात्मा गांधी ने 1921 से 1946 तक करीब दर्जनभर बार शिमला का दौरा किया। वह अक्सर चैडविक हाउस के लॉन में प्रार्थना करते थे। चैडविक हाउस का लंबा इतिहास है। 1880 के दशक में तत्कालीन पंजाब के चीफ इंजीनियर जीएफएल मार्शल ने इसका निर्माण कराया था। 1890 के दशक में विशप मैथ्यू ने उनसे यह इमारत खरीद ली। उसके बाद 1904 में कपूरथला के राजा सरदार चरणजीत सिंह ने मैथ्यू से यह बंगला खरीदा।

नानावटी आयोग

  • प्रदेश सरकार ने शुक्रवार को गुजरात उच्च न्यायालय को बताया कि वह 2002 के गुजरात दंगों पर न्यायमूर्ति नानावटी-मेहता आयोग की रिपोर्ट के दूसरे भाग को बजट सत्र में विधानसभा में पेश करेगी। यह बयान पूर्व आईपीएस अधिकारी आर बी श्रीकुमार द्वारा दायर एक जनहित याचिका के जवाब में आया है जिसमें रिपोर्ट को सार्वजनिक करने के लिये प्रदेश सरकार को निर्देश देने की मांग की गई थी।

पृष्ठभूमि

  • गुजरात के तत्कालीन मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी ने 28 फरवरी 2002 को एक दिन पहले गोधरा में ट्रेन जलाए जाने के कारणों की जांच के लिये एक सदस्यीय आयोग के गठन की घोषणा की थी। ट्रेन जलाए जाने की घटना के बाद गुजरात में बड़े पैमाने पर हिंसा हुई थी। सरकार ने बाद में आयोग को पुनर्गठित कर दो सदस्यीय बना दिया था। सर्वोच्च न्यायालय के पूर्व न्यायाधीश न्यायमूर्ति जी टी नानावटी उसके अध्यक्ष बनाए गए और उच्च न्यायालय के पूर्व न्यायाधीश न्यायमूर्ति के जी शाह को इसका सदस्य बनाया गया। शाह के निधन के बाद उच्च न्यायालय के एक और पूर्व न्यायाधीश न्यायमूर्ति ए के मेहता ने आयोग में उनकी जगह ली थी। सरकार ने आयोग के संदर्भ बिंदुओं को बढ़ाते हुए इसके दायरे में दंगों के दौरान मुख्यमंत्री, मंत्रियों और पुलिस अधिकारियों की भूमिका और आचरण को भी लाया गया।

:: अंतराष्ट्रीय समाचार ::

सीपीईसी प्राधिकरण

  • चीन-पाकिस्तान आर्थिक गलियारा (सीपीईसी) पर पाकिस्तान सरकार को झटका देते हुए संसदीय समिति ने सीपीईसी प्राधिकरण गठित करने के प्रस्ताव को शुक्रवार को सर्वसम्मति से अस्वीकार कर दिया। इसके तहत 60 अरब डॉलर की परियोजना से संबंधित सभी कार्य एक ही एजेंसी के पास रहने की बात कही गई थी।
  • समिति ने बृहस्पतिवार को हुई बैठक में सीपीईसी प्राधिकरण के गठन को गैर जरूरी बताते हुए कहा कि इससे अरबों डालर की इस महत्वाकांक्षी परियोजना के क्रियान्वयन को लेकर ज्यादा भ्रांतियां उत्पन्न होंगी। एक्सप्रेस ट्रीब्यून की रिपोर्ट के मुताबिक, संयुक्त संसदीय समिति ने सरकार के उस फैसले का भी विरोध किया है, जिसमें प्राधिकरण का गठन राष्ट्रपति के अध्यादेश से किए जाने की बात कही गई है।
  • समिति का कहना है कि इससे सरकार की साख पर बट्टा लगेगा। इस हफ्ते संघीय मंत्रिमंडल ने राष्ट्रपति के अध्यादेश के जरिये सीपीईसी परियोजनाओं के क्रियान्वयन पर नजर रखने के लिए सीपीईसी प्राधिकरण के गठन को मंजूरी दी थी। समिति के एक सदस्य ने नाम गोपनीय रखने की शर्त पर बताया कि सदस्यों ने हाथ खड़े कर सीपीईसी प्राधिकरण गठन प्रस्ताव को खारिज कर दिया।
  • पाकिस्तान के सैन्य प्रतिष्ठान ने 2016 में सीपीईसी प्राधिकरण का विचार दिया था। तब तत्कालीन प्रधानमंत्री नवाज शरीफ ने इससे इनकार कर दिया था।

छठी भारत-चीन रणनीतिक आर्थिक वार्ता

  • छठी भारत-चीन रणनीतिक आर्थिक वार्ता (एसईडी) 7-9 सितंबर, 2019 तक नई दिल्‍ली में आयोजित की जाएगी। इस वार्ता के अंतर्गत ढांचागत संरचना, ऊर्जा, उच्‍च प्रौद्योगिकी, संसाधन संरक्षण, औषधि तथा नीति समन्‍वय पर संयुक्‍त कार्यकारी समूहों (जेडब्‍ल्यूजी) की गोलमेज बैठकें आयोजित की जाएगी। इसके बाद प्रौद्योगिकी स्‍थलों का दौरा किया जाएगा तथा जी-2 जी बैठकें होंगी। भारतीय पक्ष का नेतृत्‍व नीति आयोग के चैयरमेन तथा चीनी पक्ष का नेतृत्‍व एनडीआरसी के चैयरमेन करेंगे। दोनों पक्षों के नीति-निर्माता तथा उद्योग एवं शिक्षा जगत के प्रतिनिधि इस वार्ता में भाग लेंगे।

संरचना :

  • भारतीय पक्ष की तरफ से नीति आयोग और चीनी पक्ष की ओर से नेशनल डेवलपमेंट एंड रिफोर्म्‍स कमीशन (एनडीआरसी) एसईडी व्‍यवस्‍था का नेतृत्‍व करते हैं। इसके तहत प्रति वर्ष एक वार्षिक वार्ता का आयोजन क्रमश: दोनों देश की राजधानियों में किया जाता है।

पृष्‍ठभूमि:

  • एसईडी का गठन दिसंबर, 2010 में चीनी प्रधानमंत्री की भारत यात्रा के दौरान किया गया था। द्विपक्षीय सहयोग के प्रभावी व्‍यवस्‍था के रूप में एसईडी योगदान दे रहा है। एसईडी वार्ता के तहत दोनों पक्ष सर्वोत्‍तम अभ्‍यासों तथा क्षेत्र विशेष पर आधारित चुनौतियों और अवसरों पर विचार-विमर्श करते हैं।
  • 5वीं एसईडी का आयोजन 14 अप्रैल, 2018 को बीजिंग में हुआ था। भारतीय प्रतिनिधिमंडल का नेतृत्‍व नीति आयोग के वाइस चैयरमेन डॉ. राजीव कुमार ने किया था। इस वार्ता के दौरान संयुक्‍त कार्य समूहों की प्रगति तथा परस्‍पस्‍पर सहयोग के संभावित क्षेत्रों पर विचार-विमर्श किया गया था।

:: भारतीय राजव्यवस्था और महत्वपूर्ण विधेयक ::

सांसदों और विधायकों को लोक सेवक घोषित करने की याचिका की खारिज

  • सुप्रीम कोर्ट ने सांसदों और विधायकों को लोक सेवक(Public Servants) घोषित करने और अदालतों में वकील के रूप में प्रैक्टिस करने से रोकने की मांग से जुड़ी नई याचिका खारिज कर दी है।
  • मार्च 2017 में भाजपा नेता अश्विनी कुमार उपाध्याय द्वारा सर्वोच्च न्यायालय में एक जनहित याचिका (PIL) दायर की गई थी। जनहित याचिका में लोक सेवकों, निर्वाचित प्रतिनिधियों और न्यायपालिका के सदस्यों को एक साथ अन्य व्यवसायों का अभ्यास करने और इसे आपराधिक कदाचार के रूप में घोषित करने पर प्रतिबंध लगाने की मांग की गई।
  • बीसीआई नियम(BCI Act) 49 के अनुसार, एक वकील किसी भी व्यक्ति, सरकार, फर्म, निगम या चिंता का पूर्णकालिक वेतनभोगी कर्मचारी नहीं होगा, इसलिए जब तक वह इस तरह के किसी भी रोजगार को लेने के लिए प्रैक्टिसजारी रखेगा। बीसीआई नियम और एक वकील के रूप में अभ्यास करना बंद कर देगा, इसलिए जब तक वह इस तरह के रोजगार में है।'

यूएपीए में संशोधनों की वैधानिकता को चुनौती

  • उच्चतम न्यायालय ने गैरकानूनी गतिविधियां (रोकथाम) कानून में संशोधनों की संवैधानिक वैधता को चुनौती देने वाली याचिकाओं पर शुक्रवार को केन्द्र को नोटिस जारी किया। प्रधान न्यायाधीश रंजन गोगोई और न्यायमूर्ति अशोक भूषण की पीठ ने संजय अवस्थी और गैर सरकारी संगठन ‘एसोसिएशन फॉर प्रोटेक्शन ऑफ सिविल राइट्स’ की याचिका पर संक्षिप्त सुनवाई के बाद केन्द्र को नोटिस जारी किया। इन याचिकाओं में गैरकानूनी गतिविधियां (रोकथाम) कानून में किये गये संशोधनों को कई आधारों पर चुनौती दी गयी है।
  • इनमें कहा गया है कि इन संशोधनों से नागरिकों के मौलिक अधिकारों का हनन होता है और यह जांच एजेन्सियों को किसी भी व्यक्ति को आतंकवादी घोषित करने का अधिकार देते हैं। गैरकानूनी गतिविधियां (रोकथाम) कानून में संशोधनों को संसद ने दो अगस्त को मंजूरी दी थी और राष्ट्रपति ने नौ अगस्त को इसे अपनी संस्तुति प्रदान की थी।
  • संशोधित कानून केन्द्र को किसी भी व्यक्ति को आतंकवादी घोषित करने और उसकी संपत्ति जब्त करने का अधिकार देता है। इसी तरह, ये संशोधन एक बार आतंकवादी घोषित किये गये व्यक्ति के यात्रा करने पर पाबंदी लगाते हैं। याचिका के अनुसार, इन संशोधनों से निर्धारित प्रक्रिया का पालन किये बगैर ही संविधान के अनुच्छेद 21 में प्रदत्त प्रतिष्ठा और गरिमा के मौलिक अधिकारों का हनन होता है।
  • याचिका में कहा गया है कि सिर्फ सरकार के मान लेने मात्र के आधार पर किसी व्यक्ति को बदनाम करना अनुचित, अन्याय पूर्ण है और निर्धारित प्रक्रिया का उल्लंघन है। याचिका में कहा गया है कि कानून की संशोधित धारा 35 में इस बात का कोई जिक्र नहीं है कि किस समय एक व्यक्ति को आतंकवादी घोषित किया जा सकता है। याचिका में कहा गया है कि सरकार के सिर्फ विश्वास के आधार किसी व्यक्ति को आतंकी घोषित करने की कार्रवाई मनमानी और ज्यादती वाली है क्योंकि संबंधित व्यक्ति को कभी यह नहीं बताया जाता कि उसे किन आधारों पर इस तरह अधिसूचित किया गया है।
  • इस तरह, आतंकी घोषित करने संबंधी अधिसूचना को धारा 36 के तहत चुनौती देने का प्रावधान निरर्थक हो जाता है। याचिका में संशोधित कानून की धारा 35 और 36 को असंवैधानिक और शून्य घोषित करने का अनुरोध किया गया है क्योंकि इससे नागरिकों के मौलिक अधिकारों का हनन होता है।

:: आर्थिक समाचार ::

GST में कटौती का मुद्दा

  • केंद्र सरकार ऑटोमोबाइल पर जीएसटी कम करने के इंडस्ट्री के प्रपोजल को जीएसटी कौंसिल के सामने रखेगी। वित्त राज्य मंत्री अनुराग ठाकुर ने शु्क्रवार को यह बात कही है। उन्होंने केंद्र की तरफ से इस सेक्टर को हर संभव सहायता देने की बात भी कही। इस समय ऑटोमोबाइल पर जीएसटी की दरें 28 फीसदी हैं। न्यूज एजेंसी पीटीआइ के अनुसार, अनुराग ठाकुर ने वाहन कंपनियों से माल एवं सेवा कर (जीएसटी) में कटौती का मुद्दा जीएसटी परिषद में शामिल राज्य के वित्त मंत्रियों के सामने भी उठाने को कहा है।
  • गौरतलब है कि वाहन और कलपुर्जे बनाने वाली कंपनियां ऑटोमोबाइल पर जीएसटी रेट को 28 फीसद से घटाकर 18 फीसद करने की मांग कर रही हैं। ऑटोमोबाइल पर जीएसटी रेट में कटौती को लेकर अनुराग ठाकुर ने वाहनों के कल-पुर्जे बनाने वालों के संगठन (ऑटोमोटिव कम्पोनेन्ट मैनुफैक्चरर्स एसोसिएशन) के सालाना सम्मेलन में कहा, ‘‘आपको पता है कि जीएसटी दर में किसी भी प्रकार की कटौती के लिये पहले फिटमेंट कमेटी से और उसके बाद GST परिषद से अनुमति लेनी होती है। मैं आप सभी से GST परिषद में शामिल राज्यों के वित्त मंत्रियों से मिलने और उनके सामने अपनी बात रखने का आग्रह करता हूं।’’
  • सम्मेलन के बाद ठाकुर ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि राज्यों के वित्त मंत्रियों को वाहन निर्माताओं की चुनौतियों के बारे में पता होना चाहिए। उन्होंने कहा कि वाहन निर्माता उन्हें भी इस बारे में अवगत करायें ताकि जब भी जीएसटी कौंसिल में इस विषय पर चर्चा हो, तो हर किसी का इस पर अपना मत होना चाहिए।
  • साथ ही ठाकुर ने कहा कि केंद्र इस मामले पर विचार के लिये उसे जीएसटी परिषद में ले जाने के लिये तैयार है। जीएसटी परिषद की अगली बैठक 20 सितंबर को गोवा में आयोजित होगी।

एमनेस्टी इंटरनेशनल

  • एमनेस्टी इंटरनेशनल को प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने कारण बताओ नोटिस जारी किया है. एमनेस्टी पर विदेशी मुद्रा कानून (फेमा) के तहत 51 .72 करोड़ रुपये के लेन-देन में नियमों का उल्लंघन करने का आरोप है.
  • ईडी ने मानवाधिकारों की रक्षा के लिए कार्य करने वाले संगठन एमनेस्टी इंटरनेशनल को यह नोटिस 25 जुलाई को ही जारी कर दी थी. ईडी की ओर से विदेशी मुद्रा प्रबंधन अधिनियम (फेमा) के उल्लंघन के मामले में जारी किया गया है.
  • आरोप है कि संगठन ने भारत में सिविल सेवा गतिविधियों के नाम पर 51 करोड़ रुपये से अधिक के प्रबंधन में फेमा के प्रावधानों का उल्लंघन किया. एमनेस्टी को नोटिस जारी कर कारण बताने के लिए कहा गया है. ईडी के अधिकारियों के अनुसार एमनेस्टी इंटरनेशनल को यह नोटिस फेमा के तहत जांच पूरी होने के बाद जारी की गई है.
  • जानकारी के अनुसार एमनेस्टी इंटरनेशनल को यह नोटिस ईडी के न्याय निर्णय प्राधिकरण ने जारी की है. प्राधिकरण में विशेष निदेशक स्तर का अधिकारी होता है.
  • एमनेस्टी इंटरनेशनल पहले भी केंद्रीय एजेंसियों के रडार पर रहा है. पिछले साल भी केंद्रीय जांच एजेंसी ने संगठन के कार्यालय पर छापेमारी हुई थी. तब छापेमारी की वजह विदेशी चंदा नियमन कानून (एफसीआरए) के उल्लंघन का था. जांच एजेंसी ने संगठन के बेंगलुरु स्थित कार्यालय पर छापेमारी की थी.
  • एमनेस्टी को जिस मामले में नोटिस जारी की गई है, वह मामला देश में नागरिक सामाजिक गतिविधियों के लिए 51.72 करोड़ रुपये की उधारी और ऋण से संबंधित है. आरोप है कि संगठन ने यह राशि अपने मूल निकाय एमनेस्टी इंटरनेशनल, ब्रिटेन से सेवाओं के निर्यात के नाम पर प्राप्त की थी. इसी मामले में विशेष निदेशक द्वारा मेसर्स एमनेस्टी इंटरनेशनल इंडिया प्राइवेट लिमिटेड को कारण बताओ नोटिस जारी किया गया है.

:: विज्ञान और प्रौद्योगिकी ::

शांति गन

  • दंगाइयों से निपटने के लिए मोहाली के एक साइंटिस्ट ने नायाब गन बनाई है। इसकी मदद से उनकी पहचान करना आसान हो जाएगा। इंडियन इंस्टीटयूट ऑफ साइंस एजुकेशन एंड रिसर्च (आईआईएसईआर) के प्रोफेसर डॉ. सम्राट घोष ने ऐसी गन बनाई है, जिससे स्याही लगी रबड़ की गोली निकलेगी। इससे शरीर को कोई नुकसान भी नहीं होगा और स्याही के कारण उनकी पहचान आसानी से हो जाएगी।
  • हां, गोली लगते ही दंगाइयों को थप्पड़ की चोट जितना अहसास जरूर होगा। खास बात यह है कि इस गन के चलने पर पर्यावरण में चमेली, लैवेंडर, चंदन, लैमन ग्रास की खूशबू फैल जाएगी। साइंटिस्ट डॉ. घोष ने बताया कि उन्होंने इस गननुमा डिवाइस को ‘शांति’ नाम दिया है। क्योंकि दंगे में शामिल लोग कोई दुश्मन नहीं होते हैं। बल्कि अपने देश के नागरिक होते हैं। वहीं, सुरक्षा एजेंसियां भी अपनी होती हैं। ऐसे में कोशिश यही थी कि इसी बहाने शांति की जाए। यह गन मेक इन इंडिया मुहिम के तहत बनाई गई। इसमें प्लास्टिक की खाली बोतलों और आसानी से घर में मिलने वाले सामान का प्रयोग किया गया है। वहीं, जो इसमें रबड़ की गोलियां प्रयोग की हैं, वह नोएडा की एक कंपनी से उन्होंने मंगवाई है।
  • उन्होंने बताया कि जब यह गन चलेगी तो उसकी आवाज एक असली गन की तरह ही आएगी। इससे लोगों में एकदम दहशत मच जाएगी। लेकिन असली गन में प्रयोग होने वाले छर्रों की अपेक्षा इससे नुकसान कम होता है। क्योंकि छर्रे तेजी से निकलते हैं और शरीर को नुकसान भी पहुंचाते हैं। उन्होंने यह गन शॉक एंड अ प्रोसेस पर बनाई है।
  • घोष ने बताया कि इस गन को तैयार करने में करीब छह महीने का समय लगा है। दो महीने गन को असेंबलिंग में लगे हैं। क्योंकि गन में कलर और रबड़ का एक साथ प्रयोग आसान नहीं था। यह करीब पचास मीटर तक एरिया कवर पाएगी। वहीं, इसका रंग बिखरेगा नहीं। उन्हें उम्मीद है कि यह प्रयोग पूरी तरह से कामयाब रहेगा। इसकी जानकारी केंद्र सरकार को भेज दी गई है। साथ ही गुजारिश की गई है कि इसे सुरक्षा एजेंसियों में शामिल करें।
  • इससे पहले डॉ. सम्राट घोष पॉल्यूशन फ्री पटाखे बनाकर सुर्खियों में आए थे। उनके इन पटाखों को केंद्र सरकार ने भी खूब सराहा था। इसके बाद उन्होंने फायर सेफ्टी उपकरण तैयार किया था। जिसे कोई भी आसानी से प्रयोग कर सकता है। इसके अलावा पानी को प्यूरीफाई करने फार्मूला भी तैयार कर चुके हैं

:: विविध ::

रॉबर्ट मुगाबे

  • जिम्बाब्वे के फाउंडिंग फादर कहे जाने वाले पूर्व प्रधानमंत्री और तानाशाह रॉबर्ट मुगाबे का शुक्रवार को निधन हो गया। सिंगापुर के एक अस्पताल में उन्होंने 95 साल की उम्र में अंतिम सांस ली। राष्ट्रपति इमर्सन म्नांगगवा के मुताबिक, मुगाबे 1980 से लेकर 2017 तक सत्ता में रहे। 1980 से 87 तक वह देश के प्रधानमंत्री रहे। उन्हें नवंबर 2017 में राष्ट्रपति की गद्दी छोड़नी पड़ी थी। उन्होंने 37 साल देश का नेतृत्व किया।

लता टंडन

  • शेफ लता टंडन द्वारा लगातार चार दिन से भोजन पकाया जा रहा है। यह गिनीज बुक आफ वर्ल्ड रिकार्ड के लिए हो रहा है। उन्होंने अब तक सबसे अधिक समय तक भोजन पकाने के अमेरिकी रिकार्ड को तोड़ दिया है।
  • अब वह खुद का नया रिकार्ड बनाने की तैयारी में जुट गई हैं। चौथे दिन भी दिन भी पूरी ऊर्जा के साथ लता भोजन पकाने में जुटी हैं। कुछ समय के लिए थकान महसूस हो रही थी इसलिए छोटा ब्रेक लेकर खुद को तरोताजा किया और फिर जुट गईं। रीवा का नाम गिनीज बुक में दर्ज होने जा रहा है।

'बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ' पुरस्कार

  • प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की महत्वाकांक्षी 'बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ' योजना को सफलतापूर्वक लागू करने तथा लिंगानुपात में सुधार के लिए दिल्ली, हरियाणा, उत्तराखंड, राजस्थान और उत्तर प्रदेश को सम्मानित किया गया है।
  • केंद्रीय महिला एवं बाल विकास मंत्री स्मृति ईरानी ने शुक्रवार को यहां आयोजित 'बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ पुरस्कार 2019' समारोह में इन राज्यों के प्रतिनिधियों को अपने अपने क्षेत्रों में जन्म के समय के लिंगानुपात बढ़ाने के लिए पुरस्कृत किया। इस अवसर केंद्रीय महिला एव बाल विकास राज्य मंत्री देबाश्री चौधरी तथा कई वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।
  • समारोह में जन्म के समय लिंगानुपात में सुधार के लिए दस जिलों को भी सम्मानित किया गया। इन जिलों में अरुणाचल प्रदेश का पूर्वी केमांग, हरियाणा के महेंद्रगढ़ और भिवानी, उत्तराखंड का उधमसिंह नगर, तमिलनाडु का नामाक्कल, महाराष्ट्र का जलगांव, उत्तर प्रदेश का इटावा, छत्तीसगढ़ का रायगढ़, मध्य प्रदेश का रीवा और राजस्थान का जोधपुर शामिल है।
  • इनके अलावा स्मृति ईरानी ने दस जिलों को 'बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ' योजना के बारे में जागरुकता फैलाने तथा इसे बेहतर तरीके से लागू करने के लिए भी पुरस्कृत किया। इनमें हिमाचल प्रदेश के मंडी, शिमला और सिरमौर, तमिलनाडु का तिरुवल्लूर, गुजरात का अहमदाबाद, जम्मू-कश्मीर का किश्तवाड़, कनार्टक का गडग, नागालैंड का वोखा, उत्तर प्रदेश का फरुर्खाबाद और राजस्थान का नागौर शामिल है।

युद्धाभ्यास 2019

  • भारत और अमेरिका की सेना ने वाशिंगटन में दो सप्ताह तक चलने वाला विशाल सैन्य अभ्यास शुरू कर दिया है। इस संयुक्त सैन्य अभ्यास का मकसद दोनों देशों के बीच रक्षा सहयोग को मजबूती देना है। संयुक्त सैन्य युद्धाभ्यास 2019 ज्वाइंट बेस लेविस मैकॉर्ड में गुरुवार से शुरू हो गया।
  • युद्धाभ्यास 2019 दोनों देशों के बीच होने वाले संयुक्त सैन्य अभ्यासों का 15वां संस्करण है। दोनों देश बारी-बारी से इसका आयोजन करते हैं। भारत और अमेरिका की सेना संयुक्त रूप से प्रशिक्षण लेंगी। इसके अलावा इसके दौरान विभिन्न प्रकार के खतरों को शून्य करने के लिए सुविकसित अभियान संचालित करेंगे।
  • वर्ष 2004 में 40-45 जवानों से शुरू संयुक्त सैन्य युद्ध अभ्यास अब डिवीजन स्तर पर वृहद आकार ले चुका है। यह युद्धाभ्यास अमेरिका के साथ जन्मों की लंबी दोस्ती

मेग लेनिंग

  • ऑस्ट्रेलिया की महिला क्रिकेट टीम ने गुरूवार को एंटीगुआ में खेले गए वनडे मैच में मेजबान वेस्टइंडीज को 178 रनों के बड़े अंतर से मात दी। मेग लेनिंग ने 146 गेंदों में 12 चौकों और 4 छक्कों की मदद से 121 रनों की पारी खेली।
  • लेनिंग के वनडे करियर का ये 13वां वनडे शतक था। इसके साथ ही वह इंटरनेशनल क्रिकेट में सबसे तेज 13 शतक (पुरुष और महिला क्रिकेट दोनों) लगाने वाली खिलाड़ी बन गईं।उन्होंने 76वीं पारी में ये कारनामा किया और इस मामलें में साउथ अफ्रीका के दिग्गज बल्लेबाज हाशिम अमला को पीछे छोड़ दिया। अमला ने 83 पारियों में 13 वनडे शतक जड़े थे। मेग लेनिंग वनडे क्रिकेट में सबसे ज्यादा शतक लगाने वाली महिला क्रिकेटर भी हैं।

28वां इंडो-थाई कॉरपेट

  • भारतीय नौसेना और थाईलैंड की शाही नौसेना के बीच 5 से 15 सितंबर, 2019 तक 28वां भारत-थाईलैंड की समन्वयन गश्त (इंडो-थाई कॉरपेट) का आयोजन किया जाएगा। कॉरपेट में भारतीय नौसेना पोत केसरी और थाईलैंड की शाही नौसेना पोत क्राबुरी भाग लेंगे। इसके अलावा दोनों नौसेनाओं के समुद्री गश्ती हवाई जहाज भी शामिल होंगे।
  • अंडमान-निकोबार कमान के भारतीय नौसेना के पोत और हवाई जहाज वर्ष 2003 से थाईलैंड की शाही नौसेना के साथ दो वर्ष में एक बार कॉरपेट में हिस्सा लेते रहे हैं। इंडो-थाई कॉरपेट का मकसद संयुक्त राष्ट्र सामुद्रिक कानून समझौते का कारगर क्रियान्वयन है। इसके तहत प्राकृतिक संसाधनों और समुद्री पर्यावरण का संरक्षण, गैर-कानूनी रूप से मछली पकड़ने की गतिविधियों/ मादक पदार्थों की तस्करी/समुद्री डाकुओं की गतिविधियों को रोकना, तस्करी, गैर-कानूनी अप्रवासन की रोकथाम तथा समुद्र में तलाशी और बचाव गतिविधियां चलाना शामिल हैं।
  • 28वें इंडो-थाई कॉरपेट से भारत और थाईलैंड के बीच रिश्ते मजबूत होंगे और समुद्री सहयोग बढ़ेगा। क्षेत्र में बेहतर समुद्री शांति व्यवस्था के जरिए हिंद महासागर को शांतिपूर्ण बनाने की दिशा में प्रगति होगी।
    44वें टोरंटो अंतर्राष्‍ट्रीय फिल्‍म महोत्‍सव 2019
  • कनाडा में भारत के उच्‍चायुक्‍त श्री विकास स्‍वरूप ने आज 44वें टोरंटो अंतर्राष्‍ट्रीय फिल्‍म महोत्‍सव (टीआईएफएफ) 2019 में भारत पवेलियन का उद्घाटन किया। टीआईएफएफ 2019 में भारत पवेलियन के उद्घाटन से विदेशी बाजारों में भारतीय सिनेमा को दर्शाने के लिए एक मंच मिलने के साथ-साथ व्‍यापार के नये अवसर भी मिलेंगे।
  • इस वर्ष बाद में गोवा में आयोजित भारतीय अंतर्राष्‍ट्रीय फिल्‍म महोत्‍सव(आईएफएफआई) का स्‍वर्ण जयंती आयोजन इस उद्घाटन की मुख्‍य विशेषताओं में शामिल है। इस अवसर पर भारतीय अंतर्राष्‍ट्रीय फिल्‍म महोत्‍सव 2019 के पोस्‍टर और ब्रोशर का भी विमोचन किया गया। भागीदारों ने महोत्‍सव में वर्टिकलों, रेट्रोस्‍पेक्टिवों, मास्‍टरक्‍लासों और वार्तालाप सत्रों जैसे विभिन्‍न कार्यक्रमों में गहरी रूचि दिखाई। उनमें से कई भागीदारों ने आईएफएफआई में आयोजित तकनीकी अधिवेशनों के लिए सिनेमा के प्रशंसकों और भागीदारों के रूप में गोवा आने के प्रति अपनी गहरी रूचि दर्शायी।

स्‍वच्‍छता पुरस्‍कार

  • राष्‍ट्रपति श्री रामनाथ कोविंद ने 2018-19 के लिए स्‍वच्‍छता कार्य योजना के कार्यान्‍वयन के लिए भारतीय रेल को सर्वश्रेष्‍ठ मंत्रालय का पुरस्‍कार प्रदान किया। भारतीय रेल की ओर से रेलवे बोर्ड की चैयरमेन श्री विनोद कुमार यादव ने पुरस्‍कार प्राप्‍त किया। राष्‍ट्रपति ने स्‍वच्‍छ भारत मिशन के तहत छत्रपति शिवाजी महाराज टर्मिनस (सीएसटी), मुंबई को सव्रश्रेष्‍ठ स्‍वच्‍छ प्रतिष्ठित स्‍थल का पुरस्‍कार प्रदान किया। 2018 के स्‍वच्‍छता सर्वेक्षण के तीन सबसे स्‍वच्‍छ स्‍टेशनों- जोधपुर, जयपुर और तिरुपति को भी पुरस्‍कार प्राप्‍त हुए।
  • रेल, वाणिज्‍य एवं उद्योग मंत्री श्री पीयूष गोयल ने सभी रेल कर्मियों से आग्रह किया कि वे स्‍वच्‍छता को संगठन की संस्‍कृति बनाए तथा 2 अक्‍टूबर, 2019 से 10 दिनों के लिए सभी ट्रेनों और स्‍टेशनों में स्‍व्‍च्‍छता कार्यक्रम चलाए।

:: प्रिलिमिस बूस्टर ::

  • सरकार द्वारा 11 सितंबर 2019 को लांच किए जाने वाले राष्ट्रीय पशु रोग नियंत्रण कार्यक्रम को किन बीमारियों के उन्मूलन के लिए लांच किया जा रहा है? (खुरपका और मुंहपका तथा ब्रुसेलोसिस)
  • राष्ट्रीय पशु रोग नियंत्रण कार्यक्रम का शुभारंभ किस स्थान से किया जाएगा? (मथुरा)
  • प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी द्वारा 11 सितंबर, 2019 को मथुरा में किन राष्ट्रव्यापी कार्यक्रमों का आयोजन किया जाएगा? (राष्‍ट्रीय पशु रोग नियंत्रण कार्यक्रम और राष्‍ट्रीय कृत्रिम गर्भाधान कार्यक्रम)
  • 69वीं इंटर-सर्विसेज एथलेटिक्स चैम्पियनशिप प्रतियोगिता का आयोजन कहां किया जाएगा? (आर्मी स्पोर्ट्स इंस्टीट्यूट- पुणे)
  • स्मार्ट सिटीज मिशन टेक्नोलॉजी प्रदर्शनी का आयोजन कहां किया गया? (पुणे)
  • हाल ही में चर्चा में रही हड़प्पाकालीन स्थल राखीगढ़ी कहां स्थित है? (हरियाणा)
  • देश का पहला ऑडिट म्यूजियम कहां पर स्थापित किया जा रहा है? (चैडविक हाउस- शिमला)
  • हाल ही में चर्चा में रहे नानावटी मेहता आयोग किससे संबंधित है? (2002 के गुजरात दंगों से)
  • किस पाकिस्तानी संस्था के द्वारा चीन पाकिस्तानी आर्थिक गलियारे के तहत सीपीईसी प्राधिकरण के गठन को अस्वीकार कर दिया गया? (पाकिस्तान संसदीय समिति)
  • छठी भारत-चीन रणनीतिक आर्थिक वार्ता (एसईडी) 7-9 सितंबर, 2019 का आयोजन कहां किया जा रहा है? (नई दिल्ली)
  • हाल ही में किस संस्था को फेमा के तहत 51 .72 करोड़ रुपये के लेन-देन में नियमों का उल्लंघन करने प्रवर्तन निदेशालय( ईडी) के द्वारा कारण बताओ नोटिस जारी किया गया है? (एमनेस्टी इंटरनेशनल)
  • हाल ही में चर्चा में रहे ‘शांति गन’ को किसके द्वारा निर्मित किया गया है? (सम्राट घोष)
  • हाल ही में रॉबर्ट मुगाबे का निधन हो गया है वह किस देश के पूर्व राष्ट्रपति थे? (जिम्बाब्वे)
  • हाल ही में भारत के किस शेफ के द्वारा सबसे ज्यादा समय तक भोजन बनाने का रिकॉर्ड बनाया गया है? (लता टंडन)
  • 'बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ' योजना के सफलतापूर्वक क्रियान्वयन हेतु किन राज्यों को पुरस्कृत किया गया है? (दिल्ली, हरियाणा, उत्तराखंड, राजस्थान और उत्तर प्रदेश)
  • 'बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ' योजना के अंतर्गत लिंगानुपात में सुधार के लिए कितने जिलों को पुरस्कृत किया गया है? 10 (अरुणाचल प्रदेश का पूर्वी केमांग, हरियाणा के महेंद्रगढ़ और भिवानी, उत्तराखंड का उधमसिंह नगर, तमिलनाडु का नामाक्कल, महाराष्ट्र का जलगांव, उत्तर प्रदेश का इटावा, छत्तीसगढ़ का रायगढ़, मध्य प्रदेश का रीवा और राजस्थान)
  • युद्धाभ्यास 2019 किन दो देशों के बीच आयोजित किया जा रहा है? (भारत- अमेरिका)
  • 28वां भारत-थाईलैंड की समन्वयन गश्त (इंडो-थाई कॉरपेट) में भारत का कौन सा युद्धपोत भाग ले रहा है? (नौसेना पोत केसरी)
  • राष्‍ट्रपति श्री रामनाथ कोविंद द्वारा 2018-19 के लिए स्‍वच्‍छता कार्य योजना के कार्यान्‍वयन हेतु सर्वश्रेष्ठ मंत्रालय का पुरस्कार प्रदान किया गया? (रेलवे)
  • स्‍वच्‍छ भारत मिशन के तहत किस स्थल को सव्रश्रेष्‍ठ स्‍वच्‍छ प्रतिष्ठित स्‍थल का पुरस्‍कार प्रदान किया गया? (छत्रपति शिवाजी महाराज टर्मिनस -सीएसटी, मुंबई)
  • 2018 के स्‍वच्‍छता सर्वेक्षण के अंतर्गत तीन सबसे स्वच्छ स्टेशनों में कौन से स्टेशन शामिल है? (जोधपुर, जयपुर और तिरुपति)

स्रोत साभार: Dainik Jagran (Rashtriya Sanskaran), Dainik Bhaskar (Rashtriya Sanskaran), Rashtriya Sahara (Rashtriya Sanskaran) Hindustan Dainik (Delhi), Nai Duniya, Hindustan Times, The Hindu, BBC Portal, The Economic Times (Hindi & English), PTI, PIB

<< मुख्य पृष्ठ पर वापस जाने के लिये यहां क्लिक करें