(दैनिक समसामयिकी और प्रिलिम्स बूस्टर) यूपीएससी और सभी राज्य लोक सेवा आयोग परीक्षाओं के लिए हिंदी में समाचार पत्रों का संकलन (05 अक्टूबर 2019)

दैनिक समसामयिकी और प्रिलिम्स बूस्टर


(दैनिक समसामयिकी और प्रिलिम्स बूस्टर) यूपीएससी और सभी राज्य लोक सेवा आयोग परीक्षाओं के लिए हिंदी में समाचार पत्रों का संकलन (05 अक्टूबर 2019)


:: राष्ट्रीय समाचार ::

‘वर्ल्ड कॉटन डे’

  • कपड़ा मंत्री श्रीमती स्मृति इरानी ‘वर्ल्ड कॉटन डे’ समारोह में भारत का प्रतिनिधित्व करेंगी। यह समारोह 7-11 अक्टूबर, 2019 तक जेनेवा आयोजित होगा। संयुक्त राष्ट्र खाद्य व कृषि संगठन (एफएओ), संयुक्त राष्ट्र व्यापार व विकास सम्मेलन (यूएनसीटीएडी), अंतर्राष्ट्रीय व्यापार केन्द्र (आईटीसी) और अंतर्राष्ट्रीय कपास परामर्श समिति (आईसीएसी) के सहयोग से विश्व व्यापार संगठन (डब्ल्यूटीओ) वर्ल्ड कॉटन डे का आयोजन कर रहा है।
  • बेनिन, बुर्किना फासो, चाड और माली देशों के अनुरोध पर डब्ल्यूटीओ, 7 अक्टूबर को वर्ल्ड कॉटन डे के रूप में संयुक्त राष्ट्र से मान्यता प्राप्त करने के लिए यह कार्यक्रम आयोजित कर रहा है।
  • कपास की खेती पूरे विश्व में होती है और एक टन कपास से औसत पांच लोगों को पूरे वर्ष भर रोजगार प्राप्त होता है। कपास सूखारोधी फसल है। विश्व के केवल 2.1 प्रतिशत कृषि योग्य भूमि में कपास की खेती होती है, लेकिन यह विश्व की वस्त्र जरूरतों के 27 प्रतिशत को पूरा करती है।
  • 2011-18 के दौरान भारत ने सात अफ्रीकी देशों- बेनिन, बुर्किना फासो, माली, चाड, युगांडा, मलावी और नाइजीरिया के लिए कपास प्रौद्योगिकी सहायता कार्यक्रम (कॉटन टीएपी-I) का संचालन किया था। कार्यक्रम की कुल लागत 2.89 मिलियन डॉलर थी।

8वें अंतर्राष्‍ट्रीय शेफ सम्‍मेलन (आईसीसी VII)

  • केन्‍द्रीय स्‍वास्‍थ्‍य और परिवार कल्‍याण मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने नई दिल्‍ली में 8वें अंतर्राष्‍ट्रीय शेफ सम्‍मेलन(आईसीसी VII) में भारतीय खाद्य संरक्षा एवं मानक प्राधिकरण (एफएसएसएआई) का ‘ट्रांस-फैट फ्री’ लोगो जारी किया। यह ट्रांस फैट के खिलाफ अभियान का एक महत्‍वपूर्ण पड़ाव होने के साथ ही एफएसएआई के ईट राइट डंडिया के जनअभियान को नई गति देगा।
  • डाक्‍टर हर्षवर्धन ने इस अवसर पर कहा कि ईट राइट इंडिया प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी के 2022 तक भारत के लोगों के लिए एक ऐसे नये इंडिया के निर्माण के सपने का साकार करना है जिसमें सभी के लिए स्‍वास्‍थ्‍य , सामाजिक सुरक्षा और पोषण युक्‍त आहार उपलब्‍ध हो सके।
  • ट्रांस फैट वसा का एक खराब रूप है जो स्‍वास्‍थ्‍य के लिए हानिकारक है। भारत सरकार ने 2022 तक खाद्य पदार्थों में से ट्रांस फैट को पूरी तरह खत्‍म करने का लक्ष्‍य रखा है। इसके लिए एफएसएसएआई ने 2022 तक औद्योगिक खाद्य उत्‍पादों में ट्रांस फैट की मात्रा चरणबद्ध तरीके से घटाते हुए 2 प्रतिशत से कम तक ले आने का लक्ष्‍य रखा है।
  • केन्‍द्रीय मंत्री ने शेफ 4 ट्रांस फैट फ्री स्‍लोगन भी जारी किया जिसके तहत देश के विभिन्‍न हिस्‍सों से आए एक हजार से ज्‍यादा शेफों ने अपने व्‍यंजनों में ट्रांस फैट फ्री तेल इस्‍तेमाल करने की शपथ ली।
  • स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री ने इस अवसर पर ऐसी दस बेकरियों को सम्‍मानित किया जो अपने उत्‍पादों में ट्रांस फैट रहित तेल का इस्‍तेमाल कर रही हैं या फिर भविष्‍य में ऐसा करने का वायदा किया है।

22वें इंडिया इं‍टरनेशनल सिक्‍योरिटी एक्‍सपो 2019 (रक्षा एवं मातृभूमि सुरक्षा)

  • रक्षा मंत्री श्री राजनाथ सिंह ने रक्षा विनिर्माण में निजी क्षेत्र की और अधिक सक्रिय भागीदारी का आह्वान किया है, ताकि वर्ष 2025 तक 26 अरब डॉलर का भारतीय रक्षा उद्योग सुनिश्चित करने के सरकारी लक्ष्‍य को प्राप्‍त किया जा सके। श्री राजनाथ सिंह नई दिल्‍ली में 22वें इंडिया इं‍टरनेशनल सिक्‍योरिटी एक्‍सपो 2019 (रक्षा एवं मातृभूमि सुरक्षा) के अवसर पर उद्योग जगत की हस्तियों को संबोधित कर रहे थे। उन्‍होंने समावेशी विकास के साथ-साथ वर्ष 2025 तक भारत को 5 ट्रिलियन डॉलर की अर्थव्‍यवस्‍था बनाने के सरकारी लक्ष्‍य की फिर से पुष्टि की।
  • 22वें इंडिया इं‍टरनेशनल सिक्‍योरिटी एक्‍सपो, 2019 (रक्षा एवं मातृभूमि सुरक्षा) का आयोजन 3 से 5 अक्‍टूबर, 2019 तक आयोजित किया जा रहा है। इसका आयोजन भारतीय व्‍यापार संवर्धन संगठन (इटपो) द्वारा पीएचडी वाणिज्‍य एवं उद्योग मंडल, रक्षा मंत्रालय, गृह मंत्रालय, विदेश मंत्रालय, सूक्ष्‍म, लघु एवं मध्‍यम उद्यम (एमएसएमई) मंत्रालय और रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन (डीआरडीओ) इत्‍यादि के सहयोग से किया जा रहा है।

गोवा समुद्री सम्मेलन-2019

  • राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार श्री अजीत कुमार डोभाल ने आज गोवा में गोवा समुद्री सम्मेलन-2019 का उद्घाटन किया। इस सम्मेलन का आयोजन नेवल वॉर कॉलेज कर रहा है।
  • सम्मेलन की थीम है- भारतीय समुद्री क्षेत्र में साझा समुद्री प्राथमिकताएं तथा क्षेत्रीय समुद्री रणनीति की आवश्यकता। सम्मेलन के तीन सत्रों में भारतीय समुद्री क्षेत्र की नौसेनाओं के क्षमता निर्माण पर विचार-विमर्श किया गया। राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय स्तर के विशेषज्ञों ने विभिन्न प्रमुख मुद्दों पर अपने विचार रखे।
  • नौसेना प्रमुख एडमिरल कर्मबीर सिंह, पीवीएसएम, एवीएसएम, एडीसी ने सम्मेलन की मेजबानी की। भारतीय समुद्री क्षेत्र के 10 देशों- इंडोनेशिया, मलेशिया, सिंगापुर, थाईलैंड, बांग्लादेश, म्यांमार, श्रीलंका, सेशल्स, मालदीव और मॉरीशस के नौसेना प्रमुखों और वरिष्ठ प्रतिनिधियों ने इस सम्मेलन में भाग लिया।

सभी मेडिकल कॉलेजों में नामांकन की एकल परीक्षा: NEET

  • अगले शैक्षिक सत्र में देश के सभी मेडिकल कॉलेजों में MBBS में प्रवेश के लिए एक ही परीक्षा होगी। एम्स, पीजीआइ, चंडीगढ़ और जिपमेर, पुद्दुचेरी में नामांकन के लिए अलग से कोई परीक्षा नहीं होगी। सभी मेडिकल कॉलेजों में नामांकन केवल एक NEET परीक्षा के माध्यम से होगी।
  • स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन के अनुसार मानसून सत्र में पारित राष्ट्रीय आयुर्विज्ञान आयोग का गठन तय समय से पहले करने की कोशिश की जा रही है और अगले सत्र यानी 2020-21 से वह देश में मेडिकल शिक्षा की निगरानी और नियमन की बागडोर संभाल लेगा। पहले माना जा रहा था कि इस प्रक्रिया को लागू होने में शायद वक्त लगेगा।
  • दरअसल सभी मेडिकल कॉलेजों में प्रवेश के लिए एक ही परीक्षा का प्रावधान राष्ट्रीय आयुर्विज्ञान आयोग कानून में ही था, लेकिन यह स्पष्ट नहीं था कि इसे कब से लागू किया जाएगा। हर्षवर्धन ने साफ कर दिया कि अगले शैक्षिक सत्र से ही यह प्रावधान लागू कर दिया जाएगा।
  • जाहिर है उसके पहले राष्ट्रीय आयुर्विज्ञान आयोग का गठन भी हो जाएगा। सभी राज्यों से आयोग के लिए स्वास्थ्य विश्वविद्यालयों के उपकुलपति और राज्य मेडिकल कौंसिल के सदस्यों के नाम भेजने को कहा गया है। अभी तक 23 कुलपति और 22 राज्य मेडिकल कौंसिल के सदस्य के नामांकन आ चुके हैं। इनमें से राष्ट्रीय आयुर्विज्ञान आयोग के लिए नौ उपकुलपतियों व 10 राज्य मेडिकल कौंसिल के सदस्यों का चयन लॉटरी से किया जाएगा। हर्षव‌र्द्धन ने कहा कि 14 अक्टूबर को मीडिया के सामने पूरे पारदर्शी तरीके से लॉटरी निकाली जाएगी।

तीस्ता-6 पनबिजली परियोजना

  • सरकारी क्षेत्र की पनबिजली कंपनी एनएचपीसी ने सिक्किम की 500 मेगावाट क्षमता वाली तीस्ता-6 पनबिजली परियोजना का अधिग्रहण करने के लिए एक समझौते पर हस्ताक्षर किया। कंपनी ने दिवाला संहिता के तहत समाधान प्रक्रिया में इस परियोजना को लेने का दाव लगाया था। एनएचपीसी के अध्यक्ष और प्रबंध निदेशक बलराज जोशी ने राजधानी में शुक्रवार को एक संवाददाता सम्मेलन में कहा कि वह इस परियोजना की बिली प्रति यूनिट 4.07 रुपये की दर से बेचेगी। परियोजना पांच वर्षों में पूरी होगा। उन्होंने कहा कि कंपनी अब कुछ राज्यों के साथ नए बिजली खरीद समझौते (पीपीए) करेगी। महाराष्ट्र के साथ उसका मौजूदा पीपीए अब मान्य नहीं रह गया है।

ज्वेलरी / सोने की हॉलमार्किंग अनिवार्य

  • वाणिज्य मंत्रालय ने सोने के गहनों की हॉलमार्किंग अनिवार्य करने के प्रस्ताव को मंजूरी दे दी। लेकिन, वर्ल्ड ट्रेड ऑर्गेनाइजेशन (डब्ल्यूटीओ) में नियम नोटिफाई करने के बाद ही यह लागू होगा। उपभोक्ता मामलों के मंत्री रामविलास पासवान ने शुक्रवार को ये जानकारी दी। तय प्रक्रिया के मुताबिक नियम लागू होने में 2-3 महीने लग सकते हैं।
  • हॉलमार्किंग सोने की शुद्धता का पैमाना होता है। देश में इस वक्त 800 हॉलमार्किंग सेंटर हैं। सिर्फ 40% ज्वेलरी की हॉलमार्किंग होती है। भारत दुनिया में सबसे ज्यादा सोना आयात करता है।

सोने की शुद्धता से जुड़ी 4 बातें

  • बीआईएस मार्का: ब्यूरो ऑफ इंडियन स्टैंडर्ड्स (बीआईएस) द्वारा हॉलमार्क गोल्ड ज्वेलरी पर यह निशान होता है। इससे यह पता चलता है कि लाइसेंसधारक लैब में सोने की शुद्धता की जांच की गई है। बीआईएस की वेबसाइट के मुताबिक यह देश में एकमात्र एजेंसी है जिसे सोने के गहनों की हॉलमार्किंग के लिए सरकार से मंजूरी प्राप्त है। कई ज्वेलर बीआईएस की सेवा लेने की बजाय खुद हॉलमार्किंग करते हैं इसलिए खरीदारी से पहले यह जान लेना चाहिए कि ज्वेलरी बीआईएस हॉलमार्किंग है या नहीं।
  • कैरेट में शुद्धता: यह सोने की शुद्धता बताने का पैमाना है। 24 कैरेट वाला सोना सबसे शुद्ध होता है। लेकिन यह बहुत नरम होने की वजह से ज्वेलरी बनाते समय कुछ मात्रा में चांदी और जिंक जैसी दूसरी धातुएं भी मिलाई जाती हैं। बीआईएस के मुताबिक फिलहाल 3 स्तरों 22 कैरेट, 18 कैरेट और 14 कैरेट के लिए हॉलमार्किंग की जाती है।
  • हॉलमार्किंग प्रमाणित है या नहीं?: जिस लैब में ज्वेलरी की जांच की जाती है वह अपना लोगो डालती है। बीआईएस की वेबसाइट ये यह पता कर सकते हैं कि लैब के पास बीआईएस का लाइसेंस है या नहीं।
  • ज्वेलर की पहचान का निशान: ज्वेलरी पर विक्रेता की पहचान भी अंकित होती है। यह बीआईएस से सर्टिफाइड ज्वेलर या ज्वेलरी बनाने वाले का हो सकता है। बीआईएस की वेबसाइट पर सर्टिफाइड ज्वेलर्स की लिस्ट मौजूद है।

रोहतांग टनल

  • समुद्रतल से करीब साढ़े ग्यारह हजार फीट की ऊंचाई पर बन रही विश्व की सबसे लंबी रोहतांग सुरंग का कार्य युद्धस्तर पर जारी है। रोहतांग सुरंग सहित बारालाचा, लाचुंग ला व तंगलंगला में सुरंग का निर्माण हो जाने से लेह की दूरी मनाली से 100 किलोमीटर कम हो जाएगी, साथ ही सफर भी 7 घंटे कम हो जाएगा।
  • यह सुरंग पीरपंजाल की पहाडिय़ों को भेदकर बनाई गई है। 8.8 किलोमीटर लंबी यह सुरंग लाहुल के लोगों सहित भारतीय सेना के लिए मील का पत्थर साबित होगी। पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी ने 2002 में रोहतांग सुरंग को बनाने वाली सड़क का शिलान्यास किया था, जबकि जून 2010 में यूपीए अध्यक्ष सोनिया गांधी ने रोहतांग सुरंग का शिलान्यास किया था
  • रोहतांग टनल का कार्य युद्ध स्तर पर चल रहा है। बीते सितंबर में रोहतांग टनल में फोन सुविधा आरंभ हो चुकी है। रोहतांग टनल लगभग बनकर तैयार है। इसका कार्य अंतिम चरण में चल रहा है।
  • रोहतांग टनल से 33 केवी की लाइन बिछाई जाएगी, जिससे लाहौल को बिजली पूरा वर्ष भर मिलती रहेगी और लाहौल में पैदा होने वाली बिजली भी देश को मिलेगी। सेरी नाला की वजह से टनल के निर्माण में देरी हुई है। सितंबर 2020 तक टनल में लाइटनिंग, सीसीटीवी कैमरा, वेंटिलेशन, सेंसर, साइड मार्किंग का कार्य सितंबर 2020 तक पूरा हो जाएगा।
  • अक्तूबर के बाद लाहौल के लोगों को आपातकाल के लिए रोहतांग टनल मुहैया करवा दी जाएगी। इसके लिए लाहौल के उपायुक्त से बैठक भी हो चुकी है। टनल के नॉर्थ और साउथ पोर्टल के दोनों ओर पार्किंग के निर्माण की व्यवस्था की जाएगी।

:: अंतर्राष्ट्रीय समाचार ::

हज़्ज़ा अल मंसूरी

  • संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) के पहले अंतरिक्ष यात्री हज़्ज़ा अल मंसूरी ने अंतरिक्ष से इस्लाम के सबसे पवित्र स्थल मक्का की ली एक तस्वीर साझा की है। उन्होंने अपने इंस्टाग्राम हैंडल से ग्रैंड मस्जिद (मस्जिद अल हरम) की तस्वीर साझा करते हुए लिखा- ‘यह वही जगह के रूप में जानी जाती है, जो मुसलमानों के दिलों में रहती है।’ 8 दिन अंतरिक्ष में गुजारने के बाद वे गुरुवार को धरती पर लौट आए।

इराक में सरकार विरोधी प्रदर्शन

  • इराक में पिछले तीन दिनों से चल रहे सरकार विरोधी प्रदर्शन में अब तक 34 लोगों की मौत हो चुकी है। जबकि 1500 से ज्यादा लोग घायल हैं। इराक मानवाधिकार उच्च आयोग के सदस्य अली अकरम अल-बयाती ने मीडिया को बताया कि मरने वालों में 31 प्रदर्शनकारी थे और तीन सुरक्षा जवान। उनके अनुसार, अब तक कम से कम 1518 लोग घायल हुए हैं, जिनमें से 423 इराकी सुरक्षा जवान हैं।
  • इराक के कई दक्षिणी शहरों में सरकार द्वारा कर्फ्यू लगा देने के बावजूद अब तक की सबसे बड़ी संख्या में प्रदर्शनकारी सड़कों पर उतरे। ये सभी भ्रष्टाचार, मूलभूत सेवाओं की कमी और बेरोजगारी का विरोध कर रहे हैं। बगदाद में कई लोग इराक के एक सबसे लोकप्रिय सैन्य अधिकारी लेफ्टिनेंट जेनरल अब्दुलवहाब अल-सादी की तस्वीर लेकर प्रदर्शन कर रहे थे, जिन्होंने इस्लामिक स्टेट (IS) के खिलाफ आतंकविरोधी लड़ाई का नेतृत्व भी किया था। बता दें कि सादी को पिछले हफ्ते सरकार ने उनके पद से हटा दिया था।
  • इराक के प्रधानमंत्री कार्यालय के अनुसार, एक दिन पहले पीएम आदिल अब्दुल महदी ने आपातकालीन सुरक्षा बैठक बुलाई थी। इसमें परिषद ने देश में लोगों और सार्वजनिक संपत्तियों की सुरक्षा के लिए जरूरी व उचित कदम उठाए जाने पर बल दिया। साथ ही कहा गया है कि सरकार प्रदर्शनकारियों की जायज मांगों को पूरा करने की भी कोशिश करेगी।

हांगकांग: नकाब पहनने पर प्रतिबंध

  • हांगकांग की नेता कैरी लैम ने चार महीने से चल रहे सरकार विरोधी प्रदर्शनों पर कड़ा रुख अपनाते हुए शुक्रवार को प्रदर्शनों के दौरान नकाब पहनने पर रोक लगा दी थी, जिसके जवाब में हजारों प्रदर्शनकारियों ने नकाब पहनकर विरोध जताया।
  • लैम ने कहा कि औपनिवेशिक काल में बने आपातकालीन नियामक अध्यादेश के तहत उन्होंने आदेश दिए हैं, जिसके तहत वह विधायिका को नजरअंदाज कर सकती हैं और आपातकाल या सार्वजनिक जोखिम के समय में कोई भी कानून बना सकती हैं।
  • उन्होंने शुक्रवार को कहा कि हमें उम्मीद है कि नया कानून हिंसक प्रदर्शनकारियों और उपद्रवियों को हतोत्साहित करेगा और पुलिस की मदद करेगा।
  • लैम के इस आदेश को लेकर हांगकांग में विरोध प्रदर्शन तेज हो गए। ज्यादातर कामकाजी लोगों की भीड़ ने सड़कों को अवरुद्ध कर दिया और कुछ प्रदर्शनकारियों ने चीन समर्थक बैनर भी फाड़े। पुलिस ने सड़कों पर उतरने, भूमिगत मार्गों में तोड़फोड़ करने और सड़क पर आग लगाने वाले प्रदर्शनकारियों को तितर-बितर करने के लिए कई स्थानों पर आंसू गैस का इस्तेमाल किया।

पाकिस्तानी संविधान के अनुच्छेद 41 और 91 में संसोधन का विधेयक निरस्त

  • पाकिस्तान की संसद में गुरुवार को उस विधेयक को खारिज कर दिया गया, जिसमें किसी गैर-मुस्लिम के देश का राष्ट्रपति या प्रधानमंत्री बनने की बात कही गई थी। दरअसल, पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी (पीपीपी) के सांसद और ईसाई समुदाय से ताल्लुक रखने वाले नावेद आमिर जीवा ने मंगलवार को यह विधेयक पेश किया था। अधिकांश सांसदों ने ध्वनी मत से इसका विरोध किया।
  • सांसद नावेद के मुताबिक, इस विधेयक में पाकिस्तानी संविधान के अनुच्छेद 41 और 91 में संसोधन की बात कही गई थी। चूंकि अब इसे खारिज किया जा चुका है। ऐसे में अब कोई गैर मुस्लिम पाकिस्तान का प्रधानमंत्री या राष्ट्रपति नहीं बन सकेगा। हालांकि जीवा ने कहा कि पाकिस्तान में अल्पसंख्यक पूरी तरह से आजाद हैं। उनकी सुरक्षा और अधिकारों की रक्षा की जा रही है।

मिसाइल हमले की सूचना देने वाला अर्ली वार्निंग सिस्टम

  • रूस ने चीन के साथ सुरक्षा संबंधों को मजबूत बनाने के उद्देश से दुश्मन के मिसाइल हमले की सूचना देने वाला अर्ली वार्निंग सिस्टम (त्वरित चेतावनी व्यवस्था) तैयार करने में सहयोग का एलान किया है। फिलहाल यह सिस्टम सिर्फ अमेरिका और रूस के पास है। इस सिस्टम की मदद से परमाणु बम के हमले के लिए प्रयुक्त होने वाली बैलेस्टिक मिसाइल की आमद को जाना जा सकता है। रूस के राष्ट्रपति ब्लादिमीर पुतिन ने कहा है कि यह चीन के सुरक्षा तंत्र के लिए बहुत गंभीर बात है। अर्ली वार्निंग सिस्टम तैयार हो जाने से चीन की सुरक्षा व्यवस्था में आश्चर्यजनक रूप से इजाफा हो जाएगा। राष्ट्रपति ऑफिस क्रेमलिन के प्रवक्ता दिमित्री पेस्कोव ने यह बताने से साफ इन्कार कर दिया कि चीन का अर्ली वार्निंग सिस्टम कितने दिनों तैयार हो जाएगा।
  • यह प्रेस कॉन्फ्रेंस रूस और चीन संबंधों के मुख्य बिंदुओं को बताने के लिए आयोजित की गई थी। वैसे रूस और चीन के संबंधों पर आशंकाओं के बादल मंडराते रहे हैं। खासतौर से खनिज संपदा से भरपूर देश के पूर्वी हिस्से में चीन के बढ़ते प्रभाव को रूस शंका की दृष्टि से देखता है। दोनों देशों के बीच 4,200 किलोमीटर लंबी सीमा एक-दूसरे को छूती है। कुछ दशक पहले तक दोनों देशों के बीच सीमा को लेकर विवाद भी रहा है। लेकिन 2014 में क्रीमिया विवाद के मद्देनजर अमेरिका और अन्य पश्चिमी देशों के प्रतिबंध लगाने पर रूस ने चीन के साथ अपने संबंधों को मजबूती दी है।

:: राजव्यवस्था और महत्वपूर्ण विधेयक ::

नागरिकता संशोधन विधेयक (Citizenship Amendment Bill)

  • सरकार देशभर में राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर (NRC - National Register of Citizens) लागू करने से पहले नागरिकता संशोधन विधेयक (Citizenship Amendment Bill) पास करना चाहती है। हालांकि प्रस्तावित नागरिकता संशोधन कानून का कई राज्यों में विरोध होना प्रारंभ हो गया है। हाल ही में मणिपुर में इस कानून को लेकर व्यापक तौर पर विरोध और प्रदर्शन की घटनाएं हुई।
  • अब सवाल है कि सरकार क्यों चाहती है कि एनआरसी से पहले नागरिकता संशोधन विधेयक पास हो जाए? यह विधेयक पास होने से वर्तमान कानून में क्या बदल जाएगा? इससे किसे फायदा मिलेगा और देश में रह रहे करोड़ों लोगों पर इसका क्या असर होगा? आगे हम इन सभी सवालों के जवाब बता रहे हैं।

नागरिकता संशोधन विधेयक में क्या है प्रस्ताव?

  • पीआरएस लेजिस्लेटिव रिसर्च (PRS Legislative Research) के अनुसार, नागरिकता (संशोधन) विधेयक 2016 को 19 जुलाई 2016 को लोकसभा में पेश किया गया था।
  • 12 अगस्त 2016 को इसे संयुक्त संसदीय समिति को सौंप दिया गया था। समिति ने इस साल जनवरी में इस पर अपनी रिपोर्ट दी है।
  • अगर यह विधेयक पास हो जाता है, तो अफगानिस्तान, पाकिस्तान और बांग्लादेश के सभी गैरकानूनी प्रवासी हिंदू, सिख, बौद्ध, जैन, पारसी और ईसाई भारतीय नागरिकता के योग्य हो जाएंगे।
  • इसके अलावा इन तीन देशों के सभी छह धर्मों के लोगों को भारतीय नागरिकता पाने के नियम में भी छूट दी जाएगी। ऐसे सभी प्रवासी जो छह साल से भारत में रह रहे होंगे, उन्हें यहां की नागरिकता मिल सकेगी। पहले यह समय सीमा 11 साल थी।

विधेयक पर क्यों है विवाद?

  • इस विधेयक में गैरकानूनी प्रवासियों के लिए नागरिकता पाने का आधार उनके धर्म को बनाया गया है। इसी प्रस्ताव पर विवाद छिड़ा है। क्योंकि अगर ऐसा होता है तो यह भारतीय संविधान के अनुच्छेद 14 का उल्लंघन होगा, जिसमें समानता के अधिकार की बात कही गई है।

छत्तीसगढ़ / हाईकोर्ट ने प्रदेश सरकार के आरक्षण बढ़ाने के फैसले पर लगाई रोक

  • राज्य की भूपेश बघेल सरकार के बढ़ा हुआ आरक्षण देने के निर्णय को झटका लगा है। बिलासपुर हाईकोर्ट ने शुक्रवार को इस पर रोक लगा दी। हाईकोर्ट के चीफ जस्टिस की डिवीजन बेंच ने ये आदेश जारी किया। राज्य में बढ़े हुए आरक्षण के खिलाफ एक्टिविस्ट कुणाल शुक्ला सहित तीन अन्य लोगों ने हाईकोर्ट में याचिका दायर की थी। जबकि समर्थन में एक याचिका लगी थी। आरक्षण के खिलाफ लगी याचिका पर सुनवाई के बाद कोर्ट ने ये फैसला दिया।

नियमों और सुप्रीम कोर्ट की गाइड लाइन का पालन नहीं किया गया आरक्षण देने में

  1. याचिकाकर्ता कुणाल शुक्ला ने बताया कि उनके साथ विवेक ठाकुर और नवनीत तिवारी ने सरकार के कुल 82 प्रतिशत आरक्षण दिए जाने के फैसले के खिलाफ याचिका लगाई थी। इसमें कहा था कि सुप्रीम कोर्ट की गाइडलाइन का पालन नहीं किया जा रहा है। सरकार के आरक्षण बढ़ाने के फैसले के बाद छत्तीसगढ़ में इसका प्रतिशत 82 फीसदी हो गया। संविधान के मुताबिक, माइनॉरिटी ऑफ सीट पर ही आरक्षण की पॉलिसी लागू होगी। सुप्रीम कोर्ट ने साफ कहा था कि 50 फीसदी से ज्यादा आरक्षण नहीं किया जा सकता।
  2. सरकार ने 13 % बढ़ाया था ओबीसी का आरक्षण
जाति पहले आरक्षण (% में) सरकार ने किया (% में)
एसटी 32 32
एससी 13 13
ओबीसी 14 27
सामान्य - 10
कुल आरक्षण 59 82

:: आर्थिक समाचार ::

रेपो रेट में 25 आधार अंकों की कटौती

  • भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) ने अर्थव्यवस्था में तेजी लाने के लिए फिर तोहफा दिया है। आरबीआई ने एक बार फिर रेपो रेट में कटौती की घोषणा की है। इस बार 25 आधार अंकों की कटौती की गई है। इस कटौती के बाद रेपो रेट 5.40 फीसदी से घटकर 5.15 फीसदी पर आ गया है। आरबीआई ने चालू वित्त वर्ष में लगातार चौथी बार और कुल पांचवी बार रेपो रेट में कटौती का तोहफा दिया है।
  • मौद्रिक नीति समिति (एमपीसी) की बैठक के बाद जानकारी देते हुए आरबीआई के अधिकारियों ने बताया कि रिवर्स रेपो रेट में भी 25 आधार अंकों की कटौती की गई है। इस कटौती से बाद यह 5.15 फीसदी से घटकर 4.90 हो गया है। इसके अलावा मार्जिनल स्टेंडिग फेसिलिटी (एमसीएफ) और बैंक रेट भी 25 आधार अंकों की कटौती के बाद 5.40 फीसदी हो गया है। एमपीसी ने कंज्यूमर प्राइस इंडेक्स इन्फ्लेशन के 4 फीसदी के आसपास रहने के आधार पर दरों में कटौती की है।
  • मौद्रिक नीति समिति (एमपीसी) बैठक की जानकारी देते हुए आरबीआई के गवर्नर शक्तिकांत दास ने कहा कि बैठक में 5 सदस्यों ने दरों में कटौती का समर्थन किया था। उन्होंने बताया कि समिति ने वित्त वर्ष 2019-20 के लिए जीडीपी ग्रोथ अनुमान 6.9 फीसदी से घटाकर 6.1 फीसदी कर दिया है। जानकारी के अनुसार एमपीसी के सदस्य ढोलकिया 40 आधार अंकों की कटौती के पक्ष में थे। वहीं एक अन्य सदस्य का कहना है कि ग्रोथ को दोबारा पटरी पर लाने के लिए सुधार जरूरी हैं।
  • आरबीआई की ओर से रेपो रेट में कटौती से आम लोगों को भी फायदा होगा। इस समय भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआई) समेत अधिकांश बैंकों ने अपने होम, ऑटो समेत सभी प्रकार के लोन को रेपो रेट से जोड़ दिया है। ऐसे में आरबीआई की ओर से रेपो रेट में कटौती के बाद बैंकों की ओर से दिए जा रहे लोन पर भी ब्याज की दरें कम हो जाएंगी। इससे लोगों को लोन पर कम ब्याज देनी पड़ेगी और उनका ईएमआई का बोझ घटेगा।

बिजनेस एक्टिविटी इंडेक्स (PMI सेवा क्षेत्र)

  • देश में सर्विस सेक्टर की गतिविधियां सितंबर माह में कमजोर रही. डिमांड कमजोर रहने, प्रतिस्पर्धा का दबाव और चुनौतीपूर्ण बाजार परिस्थितियों की वजह से सितंबर माह में सर्विस सेक्टर की एक्टिविटी फरवरी 2018 के बाद सबसे निचले स्तर तक गिर गई. एक मासिक सर्वेक्षण में शुक्रवार को यह जानकारी सामने आई है.
  • आईएचएस मार्किट इंडिया सर्विसेज बिजनेस एक्टिविटी इंडेक्स (पीएमआई सेवा क्षेत्र) सितंबर में गिरकर 48.7 अंक पर आ गया. इससे पिछले महीने अगस्त में यह 52.4 अंक पर था. यह सर्वेक्षण सेवा क्षेत्र की कंपनियों के बीच किया जाता है. पीएमआई का 50 अंक से नीचे रहना गतिविधियों में गिरावट को दर्शाता है जबकि 50 अंक से ऊपर होना गतिविधियों के बढ़ने का संकेत है.
  • सर्वेक्षण के अनुसार, सितंबर में सर्विस सेक्टर के कमजोर मांग हालातों, कड़ी प्रतिस्पर्धा के चलते अनुचित कीमतों और अर्थव्यवस्था संबंधी चिंताओं का सामना करना पड़ा. सर्वेक्षण के अनुसार सितंबर में निजी क्षेत्र की कंपनियों की गतिविधियां थम सी गई जो पिछले करीब डेढ़ साल से लगातार बढ़ रही थीं.
  • मैन्युफैक्चरिंग और सर्विस सेक्टर का इंटीग्रेटेड पीएमआई इंडेक्स भी सितंबर में घटकर 49.8 अंक पर आ गया जो अगस्त में 52.6 पर था. आईएचएस मार्किट की चीफ इकोनॉमिस्ट पॉलियाना डी लिमा ने कहा, ‘‘देश के प्राइवेट सेक्टर का उत्पादन फरवरी 2018 के बाद पहली बार संकुचित हुआ है. यह बिक्री में कमी को दिखाता है जिससे अर्थव्यवस्था की रफ्तार धीमी पड़ी है. चिंता की बात यह है कि बाजार धारणाा 31 महीने के निचले स्तर तक चली गई.
  • रिजर्व बैंक ने 2019-20 के लिए विकास दर के अनुमान में बड़ी कटौती की है। पहले इसने मौजूदा वित्त वर्ष में 6.9 फीसदी ग्रोथ का अनुमान जताया था, अब इसे घटाकर 6.1 फीसदी कर दिया है। अप्रैल-जून तिमाही में अर्थव्यवस्था की विकास दर छह साल के निचले स्तर, 5 फीसदी पर पहुंच गई थी।

मौद्रिक नीति समीक्षा: रिजर्व बैंक

  • शुक्रवार को जारी मौद्रिक नीति समीक्षा में केंद्रीय बैंक ने कहा है कि 2020-21 में जीडीपी विकास दर फिर से 7 फीसदी पहुंच जाने का अनुमान है। लेकिन निकट भविष्य में जोखिम बने रहेंगे। विकास दर के अनुमान में कटौती के कारण बताते हुए इसने कहा है कि अभी तक निजी निवेश और खपत में बढ़ोतरी नहीं हुई है। विश्व अर्थव्यवस्था में सुस्ती के कारण निर्यात भी जोर नहीं पकड़ सका है।
  • रिजर्व बैंक ने कहा कि सरकार ने अर्थव्यवस्था को गति देने के लिए जो कदम उठाए हैं, उनसे आगे निजी खपत और निवेश में बढ़ोतरी होगी। इससे वित्त वर्ष की दूसरी छमाही में स्थिति में सुधार की उम्मीद है। जुलाई-सितंबर तिमाही में जीडीपी ग्रोथ रेट 5.3 फीसदी, अक्टूबर-दिसंबर में 6.6 फीसदी और जनवरी-मार्च तिमाही में 7.2 फीसदी रहने की उम्मीद है। अगले वित्त वर्ष (2020-21) की पहली तिमाही के लिए इसने 7.2 फीसदी ग्रोथ का अनुमान जताया है। अच्छे मानसून को देखते हुए इसने कृषि क्षेत्र की विकास दर अच्छी रहने की उम्मीद जताई है। इससे घरेलू मांग बढ़ाने में मदद मिलेगी।
  • हालांकि समीक्षा में राजकोषीय घाटे या राजकोषीय प्रबंधन के बारे में चर्चा नहीं की गई है। माना जा रहा है कि अर्थव्यवस्था की गति बढ़ाने के लिए सरकार ने जो कदम उठाए हैं, उनसे राजकोषीय घाटा बढ़ सकता है। सरकार ने हाल के दिनों में कॉरपोरेट टैक्स दर में 10 फीसदी कटौती समेत कई कदम उठाए हैं।
  • केंद्रीय बैंक ने मांग में कमी और एनबीएफसी में नकदी संकट को ऑटोमोबाइल सेक्टर की खराब स्थिति के लिए जिम्मेदार माना है। इसका कहना है कि कारों की सुरक्षा के लिए जो रेगुलेटरी कदम उठाए गए हैं, उनसे भी बिक्री प्रभावित हुई है। आरबीआई का मानना है कि क्षमता का इस्तेमाल बढ़ने के बावजूद कॉरपोरेट सेक्टर निवेश नहीं बढ़ा रहा है। हालांकि हाल में सरकार द्वारा उठाए कदमों के बाद कंपनियां निवेश करेंगी।
  • इसने कहा है कि अक्टूबर 2019 से मार्च 2020 की छमाही में खुदरा महंगाई 3.5 से 3.7 फीसदी रहने के आसार हैं। सितंबर तिमाही में महंगाई दर 3.6 फीसदी रहने की उम्मीद है। रिजर्व बैंक ने लांग टर्म में औसत महंगाई दर 4 फीसदी तय कर रखा है। अगस्त में महंगाई दर 3.8 फीसदी रही थी।

:: विज्ञान और प्रौद्योगिकी ::

फेसबुक मैसेज की एंक्रिप्टेड भाषा (कूट भाषा) का विवाद

  • अमेरिका, ब्रिटेन और ऑस्ट्रेलिया ने सोशल मीडिया कंपनी फेसबुक से कहा है कि वह अपने प्लेटफार्म पर जारी होने वाले मैसेज (संदेश) की भाषा ऐसी न बनाए जिससे सुरक्षा एजेंसियां उसे पढ़ न पाएं। फेसबुक मैसेज की भाषा को पूरी तरह से एंक्रिप्टेड (कूट भाषा) करने की योजना पर काम कर रहा है। हाल के वर्षों में फेसबुक को निजता (प्राइवेसी) के उल्लंघन को लेकर कई विवादों का सामना करना पड़ा है। इसको देखते हुए कंपनी ने अपने ग्रुप के सभी सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर भेजे जाने वाले मैसेज को सुरक्षित करने के लिए उनकी भाषा के एंक्रिप्शन का फैसला किया है।
  • कंपनी ने वाट्सएप मैसेज को पूरी तरह से एंक्रिप्टेड कर भी दिया है। एंक्रिप्टेड के तहत मैसेज की भाषा को कूट शब्दों में कर दिया जाता है, जिसे मैसेज भेजने और उसे रिसीव करने वाले के अलावा और कोई नहीं पढ़ सकता है। अमेरिका और उसके साथी देशों का कहना है कि फेसबुक मैसेज को सुरक्षित करने के साथ ही यह विकल्प भी रखे कि जरूरत पड़ने पर सुरक्षा एजेंसियां उसे पढ़ सकें।
  • अमेरिका के अटॉर्नी जनरल विलियम बर्र, ब्रिटेन की गृह मंत्री प्रीति पटेल और ऑस्ट्रेलिया के गृह मंत्री पीटर डट्टन ने फेसबुक कंपनी के प्रमुख मार्क जुकरबर्ग को एक साझा पत्र भेजा है। पत्र में इन लोगों ने कहा है कि अगर सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर भेजे जाने वाले संदेशों को सुरक्षा एजेंसियां नहीं पढ़ पाएंगी तो उनका दुरुपयोग होने का खतरा होगा। यह भी कहा गया है कि संदेशों को एंक्रिप्टेड करने से सुरक्षा एजेंसियां बाल अश्लीलता, आतंकवाद और अन्य आपराधिक घटनाओं के प्रसार को रोक पाने में असमर्थ हो जाएंगी।
  • इन तीनों नेताओं ने कहा है कि कंपनी ने अपने प्रस्ताव से लोगों पर पड़ने वाले प्रभाव को लेकर उनकी गंभीर चिंताओं को दूर करने का वादा नहीं किया है। फेसबुक ने कहा है कि वह अपने प्लेटफार्म को अत्यधिक सुरक्षित बनाने की कोशिश कर रही है। लेकिन उसने यह भरोसा नहीं दिलाया है कि सुरक्षा एजेंसियां उसके प्लेटफार्म पर भेजे जाने वाले मैसेज को देख या पढ़ पाएंगी या नहीं।

चंद्रयान-2 ऑर्बिटर ने चांद पर 6 तत्व खोजे

  • चंद्रयान-2 के विक्रम लैंडर की सॉफ्ट लैंडिंग भले ही न हो पाई हो, लेकिन ऑर्बिटर ने चांद पर सोडियम, कैल्शियम, एल्यूमीनियम, सिलिकॉन, टाइटेनियम और आयरन ढूंढ निकाले हैं। इसरो ने यह अहम जानकारी देते हुए बताया कि ऑर्बिटर में मौजूद 8 पेलोड ने आवेशित कणों और इसकी तीव्रता का पता लगा लिया है।
  • आर्बिटर के ‘जियोटेल’ या पृथ्वी के मैग्नेटोस्फेयर के भाग से गुजरते समय आवेशित कणों के असमान घनत्व का पता चला है। मैग्नेटोस्फेयर पृथ्वी के आस-पास अंतरिक्ष में एक क्षेत्र है, जहां पृथ्वी का चुंबकीय क्षेत्र सूर्य द्वारा जारी आवेशित कणों को प्रभावित करता है। उधर, जियोटेल पृथ्वी से कई लाख किमी दूर स्थित है। इसरो ने ट्वीट किया- ‘‘हर 29 दिन पर चंद्रमा करीब 6 दिन जियोटेल से गुजरता है। चूंकि चंद्रयान-2 चंद्रमा की कक्षा में है, इसलिए इसे भी यह मौका हासिल हुआ और इस दौरान इसमें लगे उपकरणों ने जियोटेल के गुणों का अध्ययन किया। आर्बिटर के विशेष उपकरण ‘क्लास’ ने इसमें अहम भूमिका निभाई।’’
  • चंद्रयान-2 पर क्लास इंस्ट्रूमेंट को चंद्रमा की मिट्टी पर मौजूद तत्वों को खोजने के लिहाज से डिजाइन किया गया था। इसरो ने जानकारी दी कि पेलोड अपना काम बेहतरीन तरीके से कर रहे हैं। यह ऐसे समय में हुआ जब सूर्य किसी अन्य समय के मुकाबले बेहद शांत अवस्था में था। वहीं भारतीय विज्ञान संस्थान बेंगलुरु में भौतिकी के सहायक प्रोफेसर निरुपम रॉय ने कहा मैग्नेटोस्फेयर से गुजरते समय, पेलोड ने आवेशित कणों में तीव्रता की भिन्नता का पता लगाया। यह अपेक्षित है, क्योंकि सौर हवा इन कणों को असमान रूप से छोड़ती है और यह चुंबकीय क्षेत्र से प्रभावित होती है।

स्वदेशी बुलेटप्रूफ जैकेट 'भाभा कवच' तैयार

  • देश में सुरक्षाबलों के लिए स्वदेश में कारगर बुलेटप्रूफ जैकेट तैयार की गई है। देश के भाभा एटॉमिक रिसर्च सेंटर (बार्क) ने अगली पीढ़ी की इस जैकेट को तैयार किया है। यह जैकेट न सिर्फ वजन में हल्की है, बल्कि विदेश से आयात की जाने वाली जैकेट की तुलना में बेहद सस्ती भी है।
  • ‘भाभा कवच’ को तैयार करने के लिए बार्क के 5 वैज्ञानिकों की टीम ने एक साल तक लगातार काम किया। 2015-16 में शुरू हुए इस प्रोजेक्ट के तहत तैयार स्वदेशी जैकेट को सुरक्षाबलों के लिए बड़ी सौगात माना जा रहा है। अब सीआरपीएफ, इंडो-तिब्बत बॉर्डर पुलिस और सीआईएसएफ की टीमें इसका परीक्षण कर रही हैं। जम्मू-कश्मीर में तैनात सेना की उत्तरी कमान भी इस जैकेट के विशेष संस्करण का परीक्षण कर रही है।
  • स्वदेशी बुलेटप्रूफ जैकेट ने अब तक 30 से ज्यादा कड़े परीक्षण पूरे कर लिए हैं। ‘भाभा कवच’ को सुरक्षा बलों की जरूरत के मुताबिक तीन अलग-अलग प्रकार से तैयार किया गया है। इस जैकेट को अत्यधिक हार्ड बोरोन कार्बाइड सिरेमिक्स पॉलीमर को कार्बन नैनो ट्यूब्स और कंपोसिट पॉलीमर के साथ मिलाकर बनाया गया है। बोरोन कार्बाइड का इस्तेमाल बार्क अपने परमाणु रियेक्टरों की कंट्रोल रॉड में करता है।
  • बार्क ने भाभा कवच की तकनीक हैदराबाद स्थित मिश्र धातु निगम को सौंप दी है। यहां स्वदेशी बुलेटप्रूफ जैकेट का बड़े पैमाने पर उत्पादन हो सकेगा। अनुमान के मुताबिक सुरक्षाबलों को अगले 10 साल तक, हर साल 1 लाख बुलेटप्रूफ जैकेट की जरूरत है।

:: पर्यावरण और पारिस्थितिकी ::

राष्ट्रीय आपदा राहत कोष (एनडीआरएफ)

  • केंद्रीय गृह मंत्री श्री अमित शाह ने सभी बाढ़ प्रभावित राज्यों में जारी बचाव और राहत कार्यों की समीक्षा की है। बिहार और कर्नाटक राज्यों के राज्य आपदा प्रतिक्रिया कोष (एसडीआरएफ) के खाते में निधि की स्थिति और बाढ़ की गंभीरता को ध्यान में रखते हुए, गृह मंत्री ने 'खाते के आधार पर' राष्ट्रीय आपदा राहत कोष (एनडीआरएफ) से बिहार राज्य के लिए 400 करोड़ रुपये और कर्नाटक के लिए 1200 करोड़ रुपये की अग्रिम राहत निधि को जारी करने की स्वीकृति दे दी है। उन्होंने बिहार के लिए वर्ष 2019-20 हेतु एसडीआरएफ में केन्द्र की अंशभागिता की दूसरी किस्त के रूप में 213.75 करोड़ रुपये जारी करने को भी मंजूरी दे दी है।
  • दक्षिण पश्चिम मानसून, 2019 के दौरान, 13 राज्य अप्रत्याशित बाढ़/ भूस्खलन से प्रभावित हुए हैं। 19 अगस्त, 2019 को आयोजित उच्च स्तरीय समिति (एचएलसी) की बैठक में केंद्रीय गृह मंत्री द्वारा लिए गए एक महत्वपूर्ण निर्णय के अनुपालन में, एनडीआरएफ से अतिरिक्त वित्तीय सहायता लेने के लिए संबंधित राज्यों से ज्ञापन प्राप्त होने से पूर्व, गृह मंत्रालय ने 13 राज्यों के लिए अंतर-मंत्रालयी केंद्रीय टीमों (आईएमसीटी) का गठन कर दिया था। आईएमसीटी ने अब तक 12 राज्यों का दौरा किया है और राज्यों द्वारा प्रस्तुत अंतरिम ज्ञापन के आधार पर, बिहार और कर्नाटक के संबंध में आईएमसीटी ने अंतरिम रिपोर्ट सौंप दी है।

एसडीआरएफ

  • केंद्र सरकार बाढ़/भूस्खलन की स्थिति से प्रभावी ढंग से निपटने के लिए राज्य सरकारों को पूर्ण सहायता प्रदान करते हुए समय पर रसद और वित्तीय संसाधन प्रदान कर रही है। प्रदान किए जाने वाले संसाधनों में, राष्ट्रीय आपदा मोचन बल, भारतीय वायु सेना और तटरक्षक हेलीकॉप्टर, सेना के दस्ते, नौसेना और तटरक्षक कर्मियों के पर्याप्त दल एवं आवश्यक बचाव उपकरण शामिल हैं।
  • भारत सरकार, एसडीआरएफ और पूर्व-स्थापित कार्य प्रणाली के माध्यम से राज्य सरकारों के प्रयासों में अपनी तत्काल सहायता प्रदान करके राहत कार्यों में मदद करती है। प्रत्येक राज्य के लिए एक एसडीआरएफ का गठन किया गया है। केंद्र सरकार सामान्य श्रेणी के राज्यों के लिए 75 प्रतिशत और पूर्वोत्तर एवं पहाड़ी राज्यों के लिए 90 प्रतिशत प्रत्येक वर्ष एसडीआरएफ आवंटन का योगदान देती है। राहत व्यय का प्रथम भार एसडीआरएफ संभालता है और गंभीर प्राकृतिक आपदाओं के मामलों में, स्थापित कार्य प्रणालियों के अनुरूप इसे एनडीआरएफ से पूरक के रूप में लिया जाता है।

:: विविध ::

हरमनप्रीत कौर

  • भारतीय महिला टी20 टीम की कप्तान हरमनप्रीत कौर भारत के लिए 100 T20I मैच खेलने वाली पहली खिलाड़ी बन गई हैं। हरमनप्रीत ने यहां दक्षिण अफ्रीका के साथ जारी छठे टी-20 मुकाबले के लिए मैदान पर उतरने के साथ ही यह मील का पत्थर स्थापित किया। इस उपलब्धि के साथ हरमन 100 या इससे अधिक टी20 मुकाबले खेलने वालीं दुनिया की 10वीं खिलाड़ी बन गई हैं।

दुनिया का पहला स्पोर्ट्स बेटिंग एरिना

  • अमेरिका के वॉशिंगटन में दुनिया का पहला स्पोर्ट्स बेटिंग एरिना खोला जा रहा है। इसका नाम कैपिटल वन एरिना है। भव्य इमारत को बेटिंग एरिना के तौर पर तैयार किया गया है। यहां शहरभर के बुकी जुटेंगे और किसी भी स्पोर्ट्स इवेंट के दौरान यहीं बैठकर सट्‌टा लगा सकेंगे।
  • इससे पहले भी एक ही स्थान पर बहुत से बुकी के जुटकर सट्‌टा लगाने का कॉन्सेप्ट रहा है। लेकिन वो बेटिंग कियोस्क कहलाते थे। स्पोर्ट्स स्टेडियम में ही एक काउंटर के जैसा बनाया जाता था और उसे बेटिंग कियोस्क नाम दिया जाता था। लेकिन ये पहली बार है कि किसी शहर में एक अलग इमारत ही बेटिंग के लिए बना दी गई है और उसे बेटिंग एरिना के तौर पर विकसित किया गया है।

तूफान मिताग

  • दक्षिण कोरिया में तूफान मिताग और भारी बारिश के कारण 13 लोगों की मौत हो गई है। 50 लोग लापता हो गए हैं। करीब 500 लोग बेघर हो चुके हैं। करीब 70 हजार घरों में बिजली कट गई है। 330 उड़ानें और 170 जहाज फेरियां रद्द कर दी गई हैं। तूफान की रफ्तार 200 किमी प्रति घंटे है। दक्षिण कोरिया में आने के पहले इस तूफान ने दक्षिणी जापान में तबाही मचाई। यहां 67 हजार घरों में बिजली कट गई।

:: प्रिलिम्स बूस्टर ::

  • वर्ल्ड कॉटन डे किस दिवस को मनाया जाता है? (7 अक्टूबर)
  • 8वें अंतर्राष्‍ट्रीय शेफ सम्‍मेलन(आईसीसी VII) का आयोजन कहां किया गया? (नई दिल्ली)
  • 22वें इंडिया इं‍टरनेशनल सिक्‍योरिटी एक्‍सपो 2019 (रक्षा एवं मातृभूमि सुरक्षा) का आयोजन कहां किया गया? (नई दिल्ली)
  • किस संस्था के द्वारा गोवा समुद्री सम्मेलन-2019 का आयोजन किया गया? (नेवल वॉर कॉलेज)
  • आगामी सत्र से सभी मेडिकल कॉलेजों में नामांकन हेतु कौन सी परीक्षा का आयोजन किया जाएगा? (NEET)
  • हाल ही में किस कंपनी के द्वारा तीस्ता-6 पनबिजली परियोजना का अधिग्रहण किया गया? (पनबिजली कंपनी -एनएचपीसी)
  • हाल ही में संयुक्त अरब अमीरात के किस व्यक्ति ने अंतरिक्ष यात्रा की? (हज़्ज़ा अल मंसूरी)
  • हाल ही में किस देश में प्रदर्शनों के दौरान नकाब पहने पर रोक लगा दी गई है? (हांगकांग)
  • हाल ही में किस देश की संसद के द्वारा किसी गैर-मुस्लिम को देश का राष्ट्रपति या प्रधानमंत्री बनने पर रोक लगा दी गई है? (पाकिस्तान)
  • हाल ही में रूस के द्वारा किस देश को दुश्मन के मिसाइल हमले की सूचना देने वाला अर्ली वार्निंग सिस्टम (त्वरित चेतावनी व्यवस्था) उपलब्ध कराने की घोषणा की गई है? (चीन)
  • हाल ही में रिजर्व बैंक के द्वारा रेपो रेट में की गई कटौती से वर्तमान रेपो रेट की दर क्या रह गई है? (5.15 फीसदी)
  • हाल ही में जारी हुए आईएचएस मार्किट इंडिया सर्विसेज बिजनेस एक्टिविटी इंडेक्स (पीएमआई सेवा क्षेत्र) में सेवा क्षेत्र की इंडेक्स कितनी रही? (48.7 अंक)
  • हाल ही में किस देश के ऑर्बिटर ने चांद पर सोडियम, कैल्शियम, एल्यूमीनियम, सिलिकॉन, टाइटेनियम और आयरन तत्वों की खोज की है? (भारत- chandrayaan-2)
  • हाल ही में सुरक्षाबलों के लिए कौन सी बुलेट प्रूफ स्वदेशी जैकेट तैयार की गई है? (भाभा कवच)
  • भाभा कवच को किस संस्था के द्वारा विकसित किया गया है? (बार्क)
  • हाल ही में केंद्र सरकार के द्वारा बाढ़ प्रभावित किन राज्यों को राष्ट्रीय आपदा राहत कोष (एनडीआरएफ) से अग्रिम राहत निधि को जारी करने की स्वीकृति प्रदान की गई है? (बिहार और कर्नाटक)
  • हाल ही में किस भारतीय महिला खिलाड़ी ने T20 अंतरराष्ट्रीय मैचों में 100 में खेलने का कीर्तिमान अपने नाम किया है? (हरमनप्रीत कौर)
  • दुनिया का पहला स्पोर्ट्स बेटिंग एरिना किस देश में खोला जा रहा है? (अमेरिका)
  • हाल ही में किस तूफान ने दक्षिण कोरिया में दस्तक दी? (तूफान मिताग)

स्रोत साभार: Dainik Jagran (Rashtriya Sanskaran), Dainik Bhaskar (Rashtriya Sanskaran), Rashtriya Sahara (Rashtriya Sanskaran) Hindustan Dainik (Delhi), Nai Duniya, Hindustan Times, The Hindu, BBC Portal, The Economic Times (Hindi & English), PTI, PIB

<< मुख्य पृष्ठ पर वापस जाने के लिये यहां क्लिक करें