(दैनिक समसामयिकी और प्रिलिम्स बूस्टर) यूपीएससी और सभी राज्य लोक सेवा आयोग परीक्षाओं के लिए हिंदी में समाचार पत्रों का संकलन (01 नवम्बर 2019)

दैनिक समसामयिकी और प्रिलिम्स बूस्टर


(दैनिक समसामयिकी और प्रिलिम्स बूस्टर) यूपीएससी और सभी राज्य लोक सेवा आयोग परीक्षाओं के लिए हिंदी में समाचार पत्रों का संकलन (01 नवम्बर 2019)


:: राष्ट्रीय समाचार ::

यूनेस्को की क्रिएटिव सिटी में शामिल हुए मुंबई और हैदराबाद

  • भारत के दो बड़े शहर मुंबई और हैदराबाद समेत विश्व के 66 शहरों को यूनेस्को (संयुक्त राष्ट्र शैक्षणिक, वैज्ञानिक व सांस्कृतिक संगठन) की क्रिएटिव सिटी में शामिल किया गया है। मुंबई का चयन सिनेमा की दुनिया में योगदान के लिए जबकि हैदराबाद का पाक कला के लिए किया गया है।
  • दोनों शहर अब 246 सदस्यों वाले क्रिएटिव सिटी संगठन के नेटवर्क का हिस्सा होंगे। यूनेस्को के अनुसार, यह नेटवर्क उन शहरों को एक साथ लाता है, जिन्होंने अपनी क्रिएटिविटी के दम पर विकास किया है। इनमें संगीत, कला, लोक शिल्प, डिजाइन, सिनेमा, साहित्य, डिजिटल कला और पाक कला आदि क्षेत्र शामिल हैं।

विकास की रणनीति के में संस्कृति

  • यूनेस्को महानिदेशक ऑड्रे अजोले ने गुरुवार को कहा कि क्रिएटिव सिटीज अपने विकास की रणनीति के केंद्र में संस्कृति को रखती हैं और अपने उत्तम अभ्यासों को साझा करती हैं।

क्रिएटिव सिटी में शामिल अन्य शहर

  • संगीत : अंबोन (इंडोनेशिया), हवाना (क्यूबा), पोर्ट ऑफ स्पेन (त्रिनिदाद एवं टोबैगो), रामल्ला (फलस्तीन) आदि।
  • साहित्य : बेरुत (लेबनान), लाहौर (पाकिस्तान), नानजिंग (चीन) आदि।
  • शिल्प व लोक कला : बंदर अब्बास (ईरान), शारजाह (यूएई), त्रिनिदाद आदि।
  • डिजाइन : हनोई (वियतनाम), सैन जोस (कोस्टारिका), फोर्टलेजा (ब्राजील) आदि।
  • मीडिया आ‌र्ट्स : कार्लजूए (जर्मनी), सैंटियागो डे कैली (कोलंबिया) और विबोर्ग (डेनमार्क)।
  • फिल्म : पॉट्सडैम (जर्मनी), सराजेवो (बोस्निया व हर्जेगोविना), वलाडोलिड (स्पेन) और वेलिंगटन (न्यूजीलैंड)।

नेशनल हेल्थ प्रोफाइल-2019 रिपोर्ट

  • भारत में जीवन प्रत्याशा की दर 2012-16 में 68.3 से बढ़कर 68.7 साल हो गई है। 1970-75 में यह सिर्फ 49.7 साल ही थी। यह दावा नेशनल हेल्थ प्रोफाइल-2019 में किया गया है। इस रिपोर्ट के मुताबिक इस दौरान महिलाओं के लिए जीवन प्रत्याशा 70.2 साल और पुरुषों के लिए 67.4 साल आंकी गई। जबकि पिछले साल महिलाओं के लिए जीवन प्रत्याशा 70 साल और पुरुषों के लिए 66.9 साल थी। रिपोर्ट के मुताबिक डेंगू और चिकनगुनिया जैसी बीमारियां बड़ी चिंता बन गई हैं। हर साल हजारों को ये बीमारियां होती हैं, इलाज पर काफी खर्च भी होता है। पिछले 2 दशक में इनकी गंभीरता बढ़ी है।

ग्रामीण इलाकों में प्रजनन दर ज्यादा

  • 2016 में प्रजनन दर 2.3 रही। ग्रामीण इलाकों में 2.5, शहरी में 1.8 थी
  • 2017 में प्रति 1000 पर जन्म दर 20.2, मृत्यु दर 6.3, वृद्धि दर 13.9 रही
  • 2015 में हादसों से 4.13 लाख जानें गईं, 1.33 लाख लोगों ने खुदकुशी की।

शहरी इलाकों में शिशु मृत्यु दर कम

  • 2016 में शिशु मृत्यु दर में कमी दर्ज हुईष 1000 पर यह 33 रही। शहरी इलाकों में 23 और गांवों में यह 37 रही। 2018 में छत्तीसगढ़ में मलेरिया के कारण ज्यादा मौतें हुई हैं। यहां मलेरिया के 77,140 मामले सामने आए जिसमें 26 लोगों की मौत हो गई।

'सघन मिशन इंद्रधनुष 2.0'

  • पल्स पोलियो अभियान की तर्ज पर सरकार देश के सभी बच्चों का टीकाकरण सुनिश्चित किया जाएगा। पल्स पोलियो अभियान की रजत जयंती के अवसर स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने कहा कि अगले महीने दो दिसंबर से देश के 271 जिलों में 'सघन मिशन इंद्रधनुष 2.0' शुरू किया जाएगा, जिनमें टीकाकरण से वंचित रहे बच्चों की संख्या ज्यादा है। इनमें बिहार और उत्तर प्रदेश के 652 ब्लॉक पर विशेष ध्यान दिया जाएगा। देश से सभी बच्चों का टीकाकरण सुनिश्चित करने में पल्स पोलियो अभियान के अनुभवों से सहायता मिलेगी।
  • सरकारी आंकड़ों के मुताबिक, देश में हर साल दो करोड़ 60 लाख बच्चे पैदा होते हैं। इनमें से 87 फीसद बच्चों को टीके के पूरी खुराक मिल जाती है। लेकिन 31 लाख बच्चे ऐसे हैं, जिन्हें किसी न किसी कारण से टीके के पूरी खुराक नहीं मिल पाती है। जाहिर है ऐसे बच्चों के विभिन्न बीमारियों की गिरफ्त में आने की आशंका बनी रहती है।
  • नए अभियान के तहत यह सुनिश्चित किया जाएगा कि दो साल की आयु तक टीके से एक भी बच्चा वंचित नहीं रहेगा। इसके लिए ऐसे जिलों और ब्लॉकों की पहचान की गई है, जहां बच्चे और गर्भवती महिलाएं टीके से वंचित रह जाती है। 'सघन मिशन इंद्रधनुष 2.0' के तहत पल्स पोलियो की तर्ज पर टीकाकरण का अभियान चलाया जाएगा। हर्षवर्धन ने कहा कि दो दिसंबर के बाद हर महीने सात दिनों तक टीकाकरण का अभियान चलेगा।

चक्रवाती तूफान ‘महा’

  • मालदीव-कोमोरिन क्षेत्र पर गहरा दबाव चक्रवाती तूफान ‘महा’ में तब्‍दील हो गया है। लक्षद्वीप और मिनीकॉय (एल और एम) के नौसैनिक प्रभारी तथा कावारत्ती में आईएनएस द्वीपरक्षक जानमाल की रक्षा सुनिश्चित करने के लिए संघ शासित प्रदेश लक्षद्वीप के प्रशासक साथ समन्वय स्थापित करते हुए पूरी ऐहतियात बरत रहे हैं।
  • मंत्रिमंडल सचिव श्री राजीव गाबा ने 30 अक्तूबर, 2019 को वीडियो कॉन्फ्रेंस पर संघ शासित लक्षद्वीप प्रशासन की तैयारियों की समीक्षा की। भारतीय नौसेना के प्रतिनिधियों ने मंत्रिमंडल सचिव को मानवीय सहायता और आपदा राहत सामग्री के साथ लक्षद्वीप में युद्धपोतों को तैनात करने संबंधी भारतीय नौसेना और दक्षिणी नौसैनिक कमान की तैयारियों की जानकारी दी। कावारत्ती, अंद्रोथ और मिनीकॉय में नौसैनिक दलों को निर्देश दिया गया है कि वे लक्षद्वीप प्रशासन को हरसंभव आवश्यक सहायता प्रदान करें।

जी.बी. पंत राष्ट्रीय हिमालय पर्यावरण एवं सतत विकास संस्थान

  • भारतीय हिमालय क्षेत्र के महत्‍व और इसके पारितंत्र के अध्‍ययन की जरूरत को देखते हुए केन्‍द्रीय पर्यावरण, वन और जलवायु परिवर्तन मंत्री श्री प्रकाश जावड़ेकर ने लद्दाख में जी.बी. पंत राष्ट्रीय हिमालय पर्यावरण एवं सतत विकास संस्थान के नए क्षेत्रीय केंद्र स्थापित करने संबंधी प्रस्‍ताव को मंजूरी दी।
  • लद्दाख नया केन्‍द्र शासित प्रदेश बना है। लद्दाख प्रशासन का संबंध संस्‍थान की शुरूआत से ही रहेगा। इस संबंध से दोनों को ही लाभ होगा :- i) संस्‍थान को नए प्रशासन से लाभ होगा (भूमि की उपलब्‍धता, प्रौद्योगिकी पार्क आदि) ii) प्रशासन की प्राथमिकताओं से संस्‍थान सीधे रूप से जुड़ा होगा।
  • नए क्षेत्रीय केन्‍द्र के निम्‍न उद्देश्‍य है :-
  1. शीत मरूस्‍थल समुदायों के लिए आजीविका के वैकल्पिक और नए अवसरों को बढ़ावा देना।
  2. शीत मरूस्‍थल निवास स्‍थानों तथा जैव-विविधता का संरक्षण।
  3. जल की कमी से संबंधित समस्‍याओं से निपटने के लिए दृष्टिकोण/तरीकों को मजबूत करना।
  4. ट्रांस हिमालय क्षेत्र में जलवायु मित्र समुदायों को प्रोत्‍साहन देना।
  • जी.बी. पंत राष्ट्रीय हिमालय पर्यावरण एवं सतत विकास संस्थान का मुख्‍यालय कोसी-कटारमल (उत्तराखंड) में है और इसके क्षेत्रीय केंद्र हिमाचल प्रदेश के मोहाल-कुल्लू में, श्रीनगर में, पंगथांग (गंगटोक) में तथा ईटानगर (अरूणाचल प्रदेश) में हैं। यह संस्‍थान पर्यावरण प्रबंधन, प्राकृतिक संसाधनों का संरक्षण तथा भारतीय हिमालय क्षेत्र में समुदायों के सतत विकास के लिए नीति निर्माण का कार्य करता है।
  • उल्‍लेखनीय है कि ट्रांस हिमालय क्षेत्र के अधिकांश भाग समुद्र तल से 3,000 एमएसएल पर स्थित है। यहां अत्‍यधिक ठंड पड़ती है और वर्षा नहीं के बराबर होती है। वर्ष के 300 से अधिक दिनों में आसमान खुला रहता है। इसे शीत मरूस्‍थल भी कहते है। यहां की संस्‍कृति में विविधता है और प्रकृति में भी जैव-विविधता मौजूद है। यहां बड़ी-‍बड़ी झीलें हैं। संस्‍थान का नया क्षेत्रीय केन्‍द्र पर्यावरण संरक्षण, आजीविका के साधन और सतत विकास के संबंध में रणनीतियां और कार्यान्‍वयन योजनाओं को विकसित करेगा।

:: अंतर्राष्ट्रीय समाचार ::

शंघाई सहयोग संगठन (एससीओ)

  • ताशकंद में शुक्रवार से शुरू होने वाली शंघाई सहयोग संगठन (एससीओ) के शासनाध्यक्षों (सीएचजी) की परिषद की दो दिवसीय बैठक में भारत का प्रतिनिधित्व करेंगे।
  • वर्ष 2017 में एससीओ में भारत के सदस्य बनने के बाद सीएचजी की यह तीसरी बैठक होगी। पिछले वर्ष एससीओ की बैठक ताजिकिस्तान के दुशान्बे में हुई थी, जबकि वर्ष 2017 में रूस के सोची में यह बैठक हुई थी। विदेश मंत्रालय ने कहा, 'भारत क्षेत्र में विभिन्न एससीओ सहयोग गतिविधियों/संवाद तंत्र में शामिल है। हम बहुपक्षीय सहयोग को और विकसित करने के लिए भी प्रयासरत हैं।'
  • ताशकंद में होने वाली बैठक में भाग लेने वाले नेताओं के एससीओ क्षेत्र में बहुपक्षीय आर्थिक सहयोग और विकास को लेकर होने वाली चर्चाओं पर ध्यान केंद्रित करने की संभावना है। एससीओ का उद्देश्य क्षेत्र में शांति, स्थिरता और सुरक्षा को बनाए रखना है।

शुरिजो किला

  • जापान के ओकिनावा प्रांत के नाहा शहर स्थित 600 साल पुराने शुरिजो किले में गुरुवार को आग लग गई। किले का एक बड़ा हिस्सा जलकर खाक हो गया। हालांकि, किसी के हताहत होने की खबर नहीं है। शुरिजो किला यूनेस्को की विश्व धरोहर की सूची में शामिल है। यह ओकिनावा प्रांत को युद्ध की तबाही से उबारने का प्रतीक भी माना जाता है। दूसरे विश्व युद्ध के दौरान हजारों लोगों ने यहां शरण ली थी। इसमें 1429 से 1800 तक के रियाकु शासनकाल की यादें मौजूद हैं।

कुलभूषण जाधव और अंतर्राष्ट्रीय न्यायालय (ICJ)

  • कुलभूषण जाधव मामले में पाकिस्तान को अंतर्राष्ट्रीय न्यायालय (ICJ) की ओर से एक और झटका लगा है। अंतर्राष्ट्रीय न्यायालय (ICJ) का कहना है कि पाकिस्तान ने कुलभूषण जाधव मामले में वियना संधि का उल्लंघन किया है। अंतर्राष्ट्रीय न्यायालय (ICJ) के अध्यक्ष जज अब्दुलाकावी यूसुफ ने संयुक्त राष्ट्र महासभा(UNGA) को दिए अपने संबोधन में यह बड़ा बयान दिया है। आईसीजे के अध्यक्ष जज अब्दुलाकावी यूसुफ ने कहा है कि कुलभूषण जाधव मामले में पाकिस्तान ने वियना संधि के तहत अपने दायित्वों का उल्लंघन किया है।
  • बुधवार को 193 सदस्यीय संयुक्त राष्ट्र महासभा(ICJ) को अंतर्राष्ट्रीय न्यायालय की ओर से एक रिपोर्ट पेश करते हुए यूसुफ ने कहा कि 17 जुलाई के अपने फैसले में संयुक्त राष्ट्र के प्रमुख न्यायिक अंग ने पाया कि पाकिस्तान ने वियना संधि के अनुच्छेद-36 के तहत अपने दायित्वों का उल्लंघन किया था और इसके लिए पाकिस्तान की ओर से उचित उपाय किए गए थे।

पृष्ठभूमि

  • इससे पहले आईसीजे में भारत को एक बड़ी जीत मिली थी।आईसीजे ने फैसला सुनाया था कि पाकिस्तान को जाधव को दी गई मौत की सजा की समीक्षा करनी चाहिए। कुलभूषण जाधव जो एक सेवानिवृत्त भारतीय नौसेना अधिकारी थे, जिन्हें अप्रैल 2017 में एक बंद मुकदमे के बाद जासूसी और आतंकवाद के आरोप में पाकिस्तानी सैन्य अदालत ने मौत की सजा सुनाई थी।
  • भारत ने दलील दी थी कि 1963 के वियना कन्वेंशन ऑन कॉन्सुलर रिलेशंस के उल्लंघन में कुलभूषण के कॉन्सुलर एक्सेस को पाकिस्तान की ओर से अस्वीकार कर दिया गया था। इसके बाद आईसीजे में यूसुफ के नेतृत्व वाली पीठ ने कुलभूषण जाधव की सजा और सजा की प्रभावी समीक्षा और पुनर्विचार का आदेश दिया था।
  • उन्होंने कहा कि कोर्ट को जिन मुद्दों की जांच करनी थी, उनमें से एक सवाल यह था कि क्या वियना संधि के आर्टिकल-36 में निर्धारित कांसुलर एक्सेस से संबंधित अधिकार किसी भी तरह से उस स्थिति में बाहर रखा जाना चाहिए, जहां संबंधित व्यक्ति पर संदेह था कि वह जासूसी की वारदातों को अंजाम दे रहा है।

एटीएम अजहरुल इस्लाम

  • बांग्लादेश के सुप्रीम कोर्ट ने कट्टरपंथी संगठन जमात-ए-इस्लामी के शीर्ष नेता एटीएम अजहरुल इस्लाम की मौत की सजा को बरकरार रखा है। इस्लाम को युद्ध अपराधों की सुनवाई करने वाले इंटरनेशनल क्राइम ट्रिब्यूनल (आइसीटी) ने 30 दिसंबर, 2014 को मौत की सजा सुनाई थी, जिसे उसने देश की सर्वोच्च अदालत में चुनौती दी थी। मुख्य न्यायाधीश महमूद हुसैन की अध्यक्षता वाली सुप्रीम कोर्ट की चार सदस्यीय पीठ ने गुरुवार को इस्लाम की याचिका खारिज कर दी।
  • जमात-ए-इस्लामी के पूर्व सहायक महासचिव इस्लाम ने 1971 में बांग्लादेश के मुक्ति संग्राम के दौरान पाकिस्तानी सेना का साथ दिया था। उस पर 1400 से ज्यादा लोगों की हत्या, कई महिलाओं से दुष्कर्म, अपहरण और यातनाएं देने के आरोप थे। इस्लाम को काशिमपुर जेल में कड़ी सुरक्षा में रखा गया है। बांग्लादेश में युद्ध अपराधों के तहत अब तक छह दोषियों की मौत की सजा पर अमल हो चुका है। इनमें से पांच जमात-ए-इस्लामी के सदस्य और एक विपक्षी दल बांग्लादेश नेशनलिस्ट पार्टी (बीएनपी) का नेता था।

पृष्ठभूमि

  • दरअसल, 1971 में भारत की तत्कालीन प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी ने 3 दिसंबर, 1971 को अमेरिका के विरोध के बावजूद भारतीय सेनाओं ने पूर्वी पाकिस्तान में प्रवेश किया और फिर बांग्लादेश बनवाकर ही वापस लौटी। इस हिसाब से 1971 में बांग्लादेश का मुक्त युद्ध हुआ था। इस दौरान काफी संख्‍या में ऐसे लोग भी थे, जिन्‍होंने पाकिस्‍तान का साथ दिया, जिनमें कट्टरपंथी संगठन जमात ए इस्लामी के नेता एटीएम अजहरुल इस्लाम भी शामिल थे। दरअसल, यह मुक्ति युद्ध 1971 में 24 मार्च से 16 दिसंबर तक चला। इस संग्राम बहुत खून बहा, लेकिन आखिरकार इस जंग जीता बांग्लादेश ने और पाकिस्तान से अपनी स्वाधीनता हासिल कर ली। फिर 18 दिसंबर, 1971 को भारत को एक और पड़ोसी मुल्क मिला, बांग्लादेश।
  • बांग्लादेश बन जाने के बाद शेख हसीना के पिता शेख मुजीबुर रहमान बांग्लादेश के पहले राष्ट्रपति बने। उन्हें शेख मुजीब के नाम से भी जाना जाता है। पाकिस्तान के खिलाफ स्वाधीनता की लड़ाई में मुजीब ही अगुआ थे। पाकिस्तान के ख़िलाफ़ सशस्त्र संग्राम की अगुआई करते हुए बांग्लादेश को मुक्ति दिलाई। फिर 15 अगस्त, 1975 को बांग्लादेश में पाकिस्‍तान की शह पर सैन्य तख्तापलट हुआ, जिसमें शेख मुजीब की हत्या कर दी गई। उस समय बांग्‍लादेश के हालात खराब थे। उनकी बेटी और वर्तमान प्रधानमंत्री शेख हसीना अपने पिता के दर्शन नहीं कर सकीं। इसके बाद शेख हसीना को छह सालों तक भारत में रखा गया था, जिसमें भारत की तत्‍कालीन प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी ने मदद की थी।

:: राजव्यवस्था और महत्वपूर्ण विधेयक ::

राज्‍यसभा समितियां

  • सभापति वेंकैया नायडू ने राज्यसभा की आठ समितियों का पुनर्गठन किया है। इसके तहत भाजपा के प्रभात झा को आचार समिति का अध्यक्ष नामित किया गया है। इसकी घोषणा गुरुवार को की गई।
  • झा पार्टी के सहयोगी नारायण लाल पंचारिया की जगह लेंगे। झा अभी तक याचिका समिति के अध्यक्ष थे। उनका स्थान बीजद के प्रसन्न आचार्य लेंगे। नायडू ने कांग्रेस के टी. सुब्बीरामी रेड्डी को एक बार फिर अधीनस्थ विधान संबंधी समिति के अध्यक्ष पद के लिए नामित किया है। अन्नाद्रमुक के ए. नवनीत कृष्णन को सरकारी आश्वासन समिति और भाजपा के ओम प्रकाश माथुर को आवास समिति का अध्यक्ष नामित किया गया है।
  • नवगठित कार्यमंत्रणा समिति के नए सदस्य के रूप में कांग्रेस के बीके हरिप्रसाद, भाजपा के नारायण लाल पंचारिया व विनय पी. सहस्त्रबुद्धे को शामिल किया गया है। टीआरएस के के. केशव राव एवं नेता प्रतिपक्ष को इस समिति का विशेष आमंत्रित सदस्य बनाया गया है।
  • इसी प्रकार नियम संबंधी समिति में भाजपा के सत्यनारायण जटिया, स्वप्नदास गुप्ता और वाईएस चौधरी, कांग्रेस के पीएल पूनिया, अकाली दल के नरेश गुजराल, निर्दलीय सदस्य सुभाष चंद्रा व अमर सिंह को बतौर सदस्य शामिल किया गया है।
  • राज्यसभा के कार्यवाही संबंधी नियमों के अनुसार उच्च सदन के सभापति कार्यमंत्रणा समिति और नियम संबंधी समिति के पदेन अध्यक्ष होते हैं, जबकि उपसभापति विशेषाधिकार समिति की अध्यक्षता करते हैं। नायडू ने उच्च सदन की विभाग संबंधी आठ समितियों का इस साल सितंबर में पुनर्गठन किया था। इन समितियों का कार्यकाल एक वर्ष होता है।

:: भारतीय अर्थव्यवस्था ::

बुनियादी उद्योगों का उत्पादन सूचकांक

  • आठ बुनियादी उद्योगों का उत्पादन सितंबर में 5.2 प्रतिशत घट गया है। बुनियादी क्षेत्र के आठ उद्योगों में से सात के उत्पादन में सितंबर में गिरावट आई है। गुरुवार को जारी आधिकारिक आंकड़ों के अनुसार सितंबर, 2018 में बुनियादी उद्योगों का उत्पादन 4.3 प्रतिशत बढ़ा था। इस साल सितंबर 2019 में यह सूचकांक 120.6 पर पहुंच गया है, जो कि सितंबर 2018 की तुलना में 5.2 फीसदी कम है।
  • आंकड़ों के अनुसार समीक्षाधीन महीने में कोयला, कच्चा तेल, प्राकृतिक गैस, रिफाइनरी उत्पाद, सीमेंट, इस्पात और बिजली क्षेत्र का उत्पादन घट गया। वहीं इस दौरान उर्वरक क्षेत्र का उत्पादन 5.4 प्रतिशत बढ़ा। चालू वित्त वर्ष की अप्रैल से सितंबर की अवधि में बुनियादी उद्योगों की वृद्धि दर घटकर 1.3 प्रतिशत रह गई। इससे पिछले वित्त वर्ष की समान अवधि में यह 5.5 प्रतिशत रही थी।

लगातार दूसरी बार गिरावट

  • आठ प्रमुख इंडस्ट्रीज के सूचकांक में कोयला, कच्चा तेल, स्टील, सीमेंट, बिजली, उर्वरक और रिफाइनरी उत्पाद शामिल है। ये आठ इंडस्ट्रीज इंडेक्स ऑफ इंडस्ट्रियल प्रॉडक्शन(IIP) के करीब 40 फीसदी हिस्से का प्रतिनिधित्व करते हैं। आठों प्रमुख उद्योगों में यह गिरावट लगातार दूसरी बार है। इससे पहले अगस्त 2019 में चार साल में पहली बार इस सूचकांक में 0.5 फीसदी गिरावट देखने को मिली थी।

सिर्फ उर्वरक क्षेत्र का उत्पादन बढ़ा

  • आंकड़ों के अनुसार कोयला, कच्चा तेल, प्राकृतिक गैस, रिफाइनरी उत्पाद, सीमेंट, इस्पात और बिजली क्षेत्र का उत्पादन घट गया है। वहीं इस दौरान उर्वरक क्षेत्र का उत्पादन 5.4 प्रतिशत बढ़ा है। चालू वित्त वर्ष की अप्रैल से सितंबर की अवधि में प्रमुख उद्योगों की वृद्धि दर घटकर 1.3 प्रतिशत रह गई है। इससे पिछले वित्त वर्ष की समान अवधि में यह 5.5 प्रतिशत रही थी। यह इंडेक्स, इंडेक्स ऑफ इंडस्ट्रियल प्रॉडक्शन का 40.27 फीसदी होना इस बात की ओर इशारा करता है कि वर्तमान आंकड़ा नवंबर में जारी होने वाले इंडस्ट्रियल प्रॉडक्शन के आंकड़े पर भी असर डाल सकता है।

राजकोषीय घाटा

  • देश का राजकोषीय घाटा सितंबर महीने के अंत तक चालू वित्त वर्ष के बजट अनुमान के करीब 93 प्रतिशत के बराबर पर पहुंच गया। पिछले वित्त वर्ष में यह सितंबर अंत तक बजट अनुमान के 95.30 प्रतिशत पर था। गुरुवार को महालेखानियंत्रक द्वारा जारी आंकड़ों के अनुसार, 30 सितंबर की स्थिति के अनुसार राजकोषीय घाटा (सरकार के खर्च और राजस्व के बीच की खाई) 6,51,554 करोड़ रुपए था। सरकार ने चालू वित्त वर्ष में राजकोषीय घाटा 7.03 लाख करोड़ रुपए रहने का अनुमान व्यक्त किया है।
  • सरकार का लक्ष्य राजकोषीय घाटा को सकल घरेलू उत्पाद के 3.30 प्रतिशत पर सीमित रखने का है। आंकड़ों के अनुसार, चालू वित्त वर्ष में अप्रैल से सितंबर के दौरान राजस्व संग्रह बजट अनुमान का 41.60 प्रतिशत रहा। पिछले वित्त वर्ष में समान अवधि में यह 40.10 प्रतिशत रहा था। इस दौरान 8,16,467 करोड़ रुपए के राजस्व का संग्रह हुआ। पूरे वित्त वर्ष में 19.62 लाख करोड़ रुप का राजस्व जमा होने का अनुमान है।
  • इस दौरान कुल पूंजीगत खर्च बजट अनुमान का 55.5 प्रतिशत रहा, जो पिछले वित्त वर्ष में 54.20 प्रतिशत रहा था। कुल खर्च बजट अनुमान का 53.40 प्रतिशत यानी 14.88 लाख करोड़ रुपए रहा। सरकार ने आम बजट में पूरे वित्त वर्ष में कुल खर्च 27.86 लाख करोड़ रुपए रहने का अनुमान व्यक्त किया है।

सूचीबद्ध बैंकों को तुरंत करना होगा फंसे कर्जों का खुलासा

  • शेयर बाजार नियामक सेबी संकट में फंसे कर्जों को लेकर सूचीबद्ध बैंकों खासा सख्त हो गया है। सेबी ने बृहस्पतिवार को सूचीबद्ध बैंकों से कहा कि संकट में फंसे कर्जों (बैड लोन) के लिए प्रावधान एक सीमा से ऊपर होने के बाद जोखिम आकलन रिपोर्ट मिलने के बारे में 24 घंटे के भीतर इसका खुलासा करना होगा। यह रिपोर्ट रिजर्व बैंक (आरबीआई) द्वारा बैंकों को जारी की जाती है।
  • गौरतलब है कि बीते एक अरसे से देश का बैंकिंग उद्योग संकट में फंसे कर्जों की समस्या से जूझ रहा है और कई बैंकों का एनपीए तो खतरनाक स्तर तक बढ़ चुका है। सेबी ने एक सर्कुलर के माध्यम से कहा कि यह फैसला आरबीआई के साथ परामर्श के बाद लिया गया है।
  • इस क्रम में बाजार नियामक ने फैसला किया कि आरबीआई द्वारा उल्लिखित सीमा से ऊपर विचलन या प्रावधान होने की स्थिति में सूचीबद्ध बैंकों को जल्द से जल्द खुलासा करना होगा और यह अवधि आरबीआई की अंतिम जोखिम आकलन रिपोर्ट (आरएआर) मिलने के बाद 24 घंटे से ऊपर नहीं होनी चाहिए। साथ ही बैंकों को इसके लिए अपने वार्षिक वित्तीय नतीजों का भी इंतजार नहीं करना चाहिए। आरबीआई के बयान के मुताबिक, यह व्यवस्था तत्काल प्रभाव से लागू हो गई है।

:: पर्यावरण और पारिस्थितिकी ::

एनर्जी पॉलिसी इंस्टिट्यूट एट द यूनिवर्सिटी ऑफ शिकागो (EPIC)

  • इंडो गंगेटिक प्लेन (सिंधु-गंगा मैदानी क्षेत्र) के सात राज्यों में रहने वाले लोगों पर प्रदूषण बुरा बसर डाल रहा है। इन सात राज्यों और केंद्र शासित प्रदेश में देश की 40 पर्सेंट आबादी यानी 480 मिलियन लोग रहते हैं। 2016 तक यहां 72 पर्सेंट प्रदूषण बढ़ा है, जिसकी वजह से लोगों की जिंदगी 3.4 से 7.1 वर्ष तक कम हुई है। यह स्टडी द एनर्जी पॉलिसी इंस्टिट्यूट एट द यूनिवर्सिटी ऑफ शिकागो(EPIC) ने जारी की है। यह स्टडी 1998 से 2016 के दौरान की गई। स्टडी में सबसे अधिक प्रदूषित दिल्ली को बताया गया है।
  • स्टडी में दावा किया गया है कि 1998 में प्रदूषण लोगों की जिंदगी को औसतन 3.7 साल कम कर रहा था। इस दौरान प्रदूषण 72 पर्सेंट तक बढ़ा। इसलिए लोगों की जिंदगी इससे भी 3.4 से 7.1 तक छोटी हो रही है। देश के अन्य हिस्सों की तुलना में इंडो गंगेटिक प्लेन की हवा तीन गुना तक प्रदूषित है। भारत में 2019 के दौरान जो नैशनल क्लीन एयर प्रोग्राम (NCAP) लॉन्च किया गया है। अगर वह सफल रहता है और 25 पर्सेंट तक प्रदूषण कम होता है तो देश के लोगों की उम्र 1.3 साल और इंडो गंगेटिक प्लेन में रहने वाले लोगों की उम्र दो साल तक बढ़ सकती है।
  • स्टडी में बताया गया है कि दिल्ली में 2016 के दौरान पीएम 2.5 का स्तर 114 एमजीसीएम रहा। प्रदूषण की वजह से 1998 से 2016 के दौरान लोगों की उम्र 4.3 साल कम हुई है। यह देश में सबसे अधिक है। अगर एनसीएपी यहां बढ़ जाता है तो यहां लोगों की उम्र 2.8 साल बढ़ सकती है। इस मामले में दूसरे नंबर पर यूपी है। यहां पीएम 2.5 का स्तर 2016 में 98 रहा। यहां लोगों की उम्र इस दौरान 3.8 साल कम हुई। एनसीएपी के सफल होने पर यहां लोग 2.4 साल ज्यादा जी पाएंगे। हरियाणा में इस दौरान लोगों की उम्र 3.7 साल कम हुई और एनसीएपी के सफल होने से यहां लोगों की उम्र 2.1 साल बढ़ सकती है। इस हिस्से में सबसे कम प्रभावित पश्चिम बंगाल के लोग हैं। स्टडी के दौरान यहां के लोगों की उम्र 2.3 प्रतिशत कम हुई। एनसीएपी के सफल होने से यहां लोगों की उम्र 1.2 साल बढ़ सकती है।

:: विज्ञान और प्रौद्योगिकी ::

स्पाईवेयर पेगासस

  • व्हाट्सएप ने पर्दाफाश किया है कि कुछ अज्ञात इकाइयां इसराइल के स्पाईवेयर पेगासस के जरिए दुनियाभर में जासूसी कर रही हैं और इसके शिकार भारतीय पत्रकार और मानवाधिकार कार्यकर्ता भी बने हैं। इस पर भारत के सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय ने व्हाट्सएप से चार नवंबर तक विस्तृत जवाब मांगा है।
  • फेसबुक की स्वामित्व वाली कंपनी व्हाट्सएप ने कहा कि उसने मंगलवार को कैलिफोर्निया की संघीय अदालत में इसराइल की साइबर इंटेलिजेंस कंपनी एनएसओ ग्रुप के खिलाफ मुकदमा दायर किया है। माना जा रहा है कि एनएसओ समूह ने ही वह प्रौद्योगिकी विकसित की है जिसके जरिए अज्ञात इकाइयों ने जासूसी के लिए करीब 1,400 लोगों के फोन हैक किए हैं। चार महाद्वीपों के यूजर्स इसका शिकार बने हैं। इनमें राजनयिक, विपक्षी नेता, पत्रकार और वरिष्ठ सरकारी अधिकारी शामिल हैं। हालांकि,व्हाट्सएप ने यह नहीं बताया है कि किसके कहने पर पत्रकारों और सामाजिक कार्यकर्ताओं के फोन हैक किए गए हैं। उसने यह जानकारी भी नहीं दी कि भारत में कितने लोगों की जासूसी की गई।
  • व्हाट्सएप ने कहा कि मई में उसे एक ऐसे साइबर हमले का पता चला था जिसमें उसकी वीडियो कॉलिंग प्रणाली के जरिए यूजर्स को मालवेयर भेजा गया। व्हाट्सएप ने कहा कि उसने करीब 1,400 यूजर्स को विशेष वाट्‌सएप संदेश भेजकर इस बारे में जानकारी दी है। वाट्‌सएप के प्रवक्ता ने बताया कि इस सप्ताह जिन लोगों से संपर्क किया गया, उनमें भारतीय यूजर्स भी शामिल हैं। उल्लेखनीय है कि पूरी दुनिया में वाट्‌सएप के 1.5 अरब यूजर्स हैं। इनमें करीब 40 करोड़ भारतीय हैं।

फोल्डस्कोप डिवाइस

  • चाय भारत की एक प्रमुख फसल है, लेकिन इसकी पत्तियों पर लगने वाली फफूंद के कारण इसके उत्पादकों को भारी नुकसान झेलना पड़ता है क्योंकि इसके रोगजनकों (जीवाणुओं) की पहचान नहीं हो पाती। इसके लिए भारतीय शोधकर्ताओं ने एक नए अध्ययन में फोल्डस्कोप नामक एक बेहद सस्ते माइक्रोस्कोप को कारगर पाया गया है। शोधकर्ताओं का दावा है कि फोल्डस्कोप के जरिये फसलों में रोगों की पहचान आसानी से की जा सकती है।
  • इस अध्ययन में क्लेडोस्पोरियम क्लेडोस्पोरोइड्स, जाइलेरिया हाइपोक्सिलीन, कलेक्टोरिकम कॉफिएनम, अल्टरनेरिआ अल्टेनाटा समेत कई फफूंद प्रजातियों की पहचान की गई है। इन फफूंद नमूनों को चाय में लीफ स्पॉट और लीफ ब्लाइट रोगों के लिए जिम्मेदार पाया गया है। नर बहादुर भंडारी डिग्री कॉलेज, सिक्किम यूनिवर्सिटी के शोधकर्ताओं ने फोल्डस्कोप का उपयोग चाय की पत्तियों में कवक रोगजनकों के सर्वेक्षण और उनकी पहचान करने में किया है।
  • शोधकर्ताओं को कहना है कि सस्ती और पोर्टेबल तकनीकें दूरदराज के इलाकों में आसानी से पहुंचाई जा सकती हैं, जिसका लाभ स्थानीय लोगों को मिल सकता। फोल्डस्कोप ऐसी ही एक सामान्य-सी तकनीक है, जो फसलों में रोगों पहचान करने में उपयोगी हो सकता है। वैज्ञानिकों की मानें तो फफूंद के कारण चाय की फसल खराब हो जाती है। इस यंत्र की मदद से फफूंद की पहचान करके उससे निजात पाकर चाय की गुणवत्ता और आमदनी बढ़ाई जा सकती है।

फोल्डस्कोप

  • फोल्डस्कोप एक पोर्टेबल फील्ड माइक्रोस्कोप है। शोध कार्यों में उपयोग होने वाले पारंपरिक अनुसंधान सूक्ष्मदर्शी की तरह इसे ऑप्टिकल गुणवत्ता देने के लिए विशेष रूप से डिजाइन किया गया है। इसे कागज की पट्टी पर लेंस लगाकर बनाया जा सकता है और कैमरा फोन से जोड़कर बेहतर रिजॉल्यूशन प्राप्त की जा सकती है।

:: विविध ::

मैरी कॉम ओलिंपिक खेलों के विशिष्ट दूत समूह में शामिल

  • 6 बार की वर्ल्ड चैंपियन एमसी मैरी कॉम को अगले साल होने वाले टोक्यो ओलिंपिक खेलों के लिए 10 सदस्यीय खिलाड़ी दूत समूह में शामिल किया है। अंतरराष्ट्रीय ओलिंपिक समिति (आईओसी) ने ओलिंपिक गेम्स से पहले मुक्केबाजों का प्रतिनिधित्व करने के लिए इन खिलाड़ियों को चुना है।

खिलाड़ी दूत समूह इस प्रकार है

  • पुरुष- लुकमो लावल (अफ्रीका), जूलियो सेजार ला क्रूज (अमेरिका), जियांगयुआन असियाहु (एशिया), वासिल लामाचेनको (यूरोप), डेविड निका (ओसिनिया)।
  • महिला- खदीजा मार्दी (अफ्रीका), मिकाइला मायर (अमेरिका), एमसी मेरीकॉम (एशिया), सारा ओरोमोने (यूरोप) और शेली वाट्स (ओसिनिया)।

ओलंपिक टेस्ट इवेंट

  • ओलंपिक टेस्ट इवेंट में भारतीय अभियान का बेहतरीन अंदाज में अंत हुआ। स्टार मुक्केबाज शिवा थापा (63 किग्रा) और पूजा रानी (75 किग्रा) ने गुरुवार को गोल्ड मेडल जीता तो आशीष (69 किग्रा) की झोली में सिल्वर मेडल आया। चार बार के एशियन चैंपियन शिवा ने कजाकिस्तान के राष्ट्रीय चैंपियन और एशियन कांस्य पदक विजेता सांतली टॉल्टयेय को 5-0 से धूल चटाई।
  • एशियाई खेलों की पूर्व कांस्य पदक विजेता पूजा रानी ने ऑस्ट्रेलिया की कैटलिन पारकर को मात दी तो आशीष को जापान के सिवोन से खिताबी मुकाबले में हारकर सिल्वर से संतोष करना पड़ा। इसके पहले जूनियर वर्ल्ड चैंपियनशिप में निखत जरीन (51), सिमरनजीत कौर (60), सुमित सांगवान (91) ने अपने-अपने सेमीफाइनल बाउट गंवाकर कांस्य पदक पाया था।

भारत-जापान संयुक्‍त सैन्‍य अभ्‍यास: धर्म गार्जियन- 2019

  • भारत और जापान संयुक्‍त द्विपक्षीय अभ्‍यासों की श्रृंखला में, आपसी संबंधों को बल प्रदान करते हुए अगले स्‍तर तक ले जाने के लिए एक बार फिर एक साथ आए। भारत और जापान की सेनाओं के बीच द्विपक्षीय सैन्‍य अभ्‍यास का दूसरा संस्‍करण धर्म गार्जियन- 2019, 31 अक्‍टूबर, 2019 को मिजोरम के वैरेंगटे स्थित काउंटर ‘इन्सर्जेंसी एंड जंगल वारफेयर स्कूल (सीआईजेडब्लूएस) में संपन्‍न हुआ।
  • इस अभ्‍यास में सै‍न्‍य टुकडि़यों को पहाड़ी क्षेत्र में विद्रोही गतिविधियों और आतंकवादी गतिविधियों से निपटने की कार्रवाइयों के लिए प्रशिक्षित और चाकचौबंद करने पर मुख्‍य रूप से ध्‍यान केंद्रित किया गया। प्रशिक्षण के पूरे पाठ्यक्रम की योजना क्रमिक रूप से की गई, जिसमें शुरुआत में प्रतिभागियों को संयुक्‍त समरिक अभ्‍यासों का प्रशिक्षण देने से पहले एक-दूसरे के संगठन, हथियारों और युद्ध कौशलों से परिचित कराया गया।
  • यह अभ्‍यास भारत और जापान के बीच आपसी समझ और विश्वास को बढ़ावा देने के अलावा, द्विपक्षीय सुरक्षा और रक्षा सहयोग को और मजबूत करने की प्रतिबद्धता को दर्शाता है।

भारत-फ्रांस संयुक्‍त प्रशिक्षण अभ्‍यास शक्ति- 2019

  • भारत-फ्रांस संयुक्‍त प्रशिक्षण अभ्‍यास शक्ति-2019 महाजन में 31 अक्‍टूबर, 2019 को प्रारंभ हुआ। इसके उद्घाटन समारोह में दोनों देशों के राष्‍ट्रीय ध्‍वज फहराए गये और दोनों देशों के राष्‍ट्रगान- ‘जन गण मन’ और "ला मारसिलाइज़" गान हुआ।
  • अभ्यास का उद्देश्य दोनों सेनाओं के बीच आपसी समझ, सहयोग और पारस्परिकता को बढ़ाना है। इस अभ्यास का समापन 36 घंटे के वैलिडैशन फेज के साथ होगा, जिसमें किसी गांव के ठिकाने में मौजूद आतंकवादियों का सफाया करना शामिल होगा।
  • संयुक्‍त अभ्‍यास दोनों सेनाओं को एक दूसरे को बेहतर ढंग से समझने, अपने अनुभवों को साझा करने तथा सूचना के आदान’-प्रदान के माध्‍यम से परिस्थितियों के प्रति सजगता बढ़ाना शामिल होगा।

:: प्रिलिम्स बूस्टर ::

  • हाल ही में किन भारतीय शहरों को यूनेस्को की क्रिएटिव सिटी में शामिल किया गया है? (मुंबई और हैदराबाद)
  • हाल ही में जारी हुए नेशनल हेल्थ प्रोफाइल-2019 रिपोर्ट के अनुसार भारत में जीवन प्रत्याशा की दर कितनी है? (68.7)
  • हाल ही में जारी हुए नेशनल हेल्थ प्रोफाइल-2019 रिपोर्ट के अनुसार भारत में महिलाओं और पुरुषों की जीवन प्रत्याशा दर क्रमशः कितनी है? (70.2 साल और 67.4 साल)
  • देश के सभी बच्चों का टीकाकरण सुनिश्चित करने के लिए 'सघन मिशन इंद्रधनुष 2.0'कार्यक्रम की शुरुआत कब से की जाएगी? (2 दिसंबर)
  • देश के सभी बच्चों का टीकाकरण सुनिश्चित करने के लिए 'सघन मिशन इंद्रधनुष 2.0' कार्यक्रम की शुरुआत कितने जिलों में की जाएगी? (271)
  • हाल ही में किस चक्रवाती तूफान ने लक्षदीप और मिनिकॉय में दस्तक देने की संभावना के कारण अलर्ट जारी किया गया है? (चक्रवाती तूफान महा)
  • हाल ही में किस स्थान पर जी.बी. पंत राष्ट्रीय हिमालय पर्यावरण एवं सतत विकास संस्थान के नए क्षेत्रीय केंद्र स्थापित करने संबंधी प्रस्‍ताव को मंजूरी दी गई है? (लद्दाख)
  • शंघाई सहयोग संगठन (एससीओ) के शासनाध्यक्षों (सीएचजी) की परिषद की दो दिवसीय बैठक का आयोजन कहाँ किया जा रहा है? (ताशकंद)
  • हाल ही में चर्चा में रहे यूनेस्को की विश्व धरोहर की सूची में शामिल शुरिजो किला किस देश में स्थित है? (जापान- नाहा शहर ओकिनावा प्रांत)
  • हाल ही में बांग्लादेश के सुप्रीम कोर्ट ने जमात-ए-इस्लामी के किस शीर्ष नेता की मौत की सजा को बरकरार रखा है? (एटीएम अजहरुल इस्लाम)
  • हाल ही में किसे सरकारी आश्वासन समिति का अध्यक्ष नामित किया गया है? (ए. नवनीत कृष्णन)
  • हाल ही में किसे आवास समिति का अध्यक्ष नामित किया गया है? (ओम प्रकाश माथुर)
  • हाल ही में जारी हुए आंकड़ों के अनुसार आठ बुनियादी उद्योगों के उत्पादन में कितने प्रतिशत की गिरावट आई है? (5.2%)
  • हाल ही में व्हाट्सएप के द्वारा किस जासूसी स्पाइवेयर को लोगों की जासूसी करने के संदर्भ में सूचना प्रकट की गई है? (स्पाईवेयर पेगासस)
  • हाल ही में किस भारतीय खिलाड़ी को ओलिंपिक खेलों के लिए 10 सदस्यीय खिलाड़ी दूत समूह में शामिल किया है? (एमसी मैरी कॉम)
  • हाल ही में किन भारतीय मुक्केबाजों ने ओलंपिक टेस्ट इवेंट में गोल्ड मेडल जीता? (शिवा थापा और पूजा रानी)
  • हाल ही में द्विपक्षीय सैन्य अभ्यास धर्म गार्जियन- 2019, किन दो देशों के मध्य आयोजित की गई? (भारत और जापान)
  • हाल ही में किन दो देशों के मध्य संयुक्त प्रशिक्षण अभ्यास शक्ति 2019 की शुरुआत की गई? (भारत और फ्रांस)

स्रोत साभार: Dainik Jagran (Rashtriya Sanskaran), Dainik Bhaskar (Rashtriya Sanskaran), Rashtriya Sahara (Rashtriya Sanskaran) Hindustan Dainik (Delhi), Nai Duniya, Hindustan Times, The Hindu, BBC Portal, The Economic Times (Hindi & English), PTI, PIB

<< मुख्य पृष्ठ पर वापस जाने के लिये यहां क्लिक करें